नई दिल्ली : राजधानी के अलग-अलग औद्योगिक इलाकों के 2,000 कारोबारियों के प्लॉट रद्द किए जा सकते हैं। दिल्ली सरकार ने साल 1999 से 2006 के बीच आवासीय क्षेत्रांे से करीब 22,749 फैक्ट्रियों को विभिन्न औद्योगिक इलाकों में भेजा था, लेकिन 2007 में पाया गया कि कुछ आवंटियों ने निर्माण कार्य शुरू ही नहीं किया था। लगातार चेतावनी के बावजूद पिछले साल तक 8,123 प्लॉटों में निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाया। उद्योग विभाग के ताजा सर्वे में पाया गया कि करीब 2,000 प्लाटों में निर्माण का काम अब भी शुरू नहीं हो पाया है। विभाग का कहना है कि इस साल के शुरू में सरकार ने निर्माण कार्य शुरू करने के लिए तय समयसीमा को बढ़ाकर 30 जून कर दिया था। अब यह समय भी खत्म हो चुका है। अब विभाग इनके आवंटन रद्द करने की कार्रवाई शुरू कर सकता है।

-navbharat times
Read more
Reply
0 Replies
Sort by :Filter by :
No replies found for this discussion.