Announcement

Collapse
No announcement yet.

IMT Faridabad

Collapse
X
Collapse

IMT Faridabad

Last updated: May 17 2015
57 | Posts
  • Time
  • Show
Clear All
new posts
  • #41

    #41

    Re : IMT Faridabad

    draw of imt plots dainik bhaskar
    Attached Files

    Comment

    • #42

      #42

      Re : IMT Faridabad

      आईएमटी में कोई काम नहीं होने देंगे किसान

      Faridabad | अंतिम अपडेट 16 जून 2013 5:30 AM IST पर

      फरीदाबाद। इंडस्ट्रियल मॉडल टाउनशिप (आईएमटी) में सरकारी और निजी कोई भी काम नहीं होने दिया जाएगा। सरकार पहले किसानों की मांगाें को पूरा करे, उसके बाद काम शुरू करे। यह चेतावनी उन पांच गांवाें के आंदोलनरत किसानों ने दी है, जिनकी जमीन पर आईएमटी बन रहा है।
      हरियाणा स्टेट इंडस्ट्रियल इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (एचएसआईआईडीसी) ने भले ही सैकड़ों औद्योगिक प्लॉटों का आवंटन उद्यमियों को कर दिया है, लेकिन काम बिल्कुल ठप है। किसानों ने कहा है कि यदि कोई उद्योगपति अपने प्लॉट पर निर्माण कर रहा है तो उसे भी नहीं होने दिया जाएगा। किसानों ने जिला प्रशासन पर आंदोलन को तोड़ने की साजिश का आरोप लगाया है। किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष राम निवास नागर ने कहा कि किसानों के हितों की अनदेखी सरकार को काफी महंगी पड़ेगी। जल्द ही किसान अपने आंदोलन का स्वरूप बदलने जा रहे हैं, अभी तक शांतिपूर्वक आंदोलन चल रहा है। इसके बाद सरकार को खुद ही बातचीत करने के लिए मौके पर आना पड़ेगा।
      उल्लेखनीय है कि मच्छगर, सोतई, चंदावली, मुझेड़ी और नवादा के किसान अपनी मांगों को लेकर पांच जून से धरने पर बैठे हुए हैं। उन्होंने आईएमटी में विकास कार्य रोका हुआ है। एसडीएम की मध्यस्थता में किसानों एवं एचएसआईआईडीसी के अधिकारियों की दो दौर की वार्ता बेनतीजा रही है।

      Comment

      • #43

        #43

        Re : IMT Faridabad

        huda is charging more than 2000 from farmers 10200 from normal costumers (industry) and 12200 from farmers inki neetia kaun banata hai
        Attached Files

        Comment

        • #44

          #44

          Re : IMT Faridabad

          जिला प्रशासन ने दिया नया फॉर्मूला

          Faridabad | अंतिम अपडेट 29 जून 2013 5:30 AM IST पर
          फरीदाबाद। जिला प्रशासन ने आईएमटी किसानों को एचएसआईआईडीसी की उस इंडस्ट्रियल मैनेजमेंट पॉलिसी में शामिल करने का आश्वासन दिया है, जिसको पहले ही प्रदेश के उद्यमी नकार चुके हैं और पूरी पॉलिसी को कोर्ट में चुनौती दे रखी है। आईएमटी के किसान जिला प्रशासन के इस आश्वासन को सरकारी लॉलीपॉप मान रहे हैं। लेकि न किसानों ने शनिवार शाम तक जवाब देने के लिए समय मांगा है।
          आईएमटी किसानों का आंदोलन समाप्त करने के लिए सेक्टर-12 स्थित उपायुक्त कार्यालय पर शुक्रवार को बैठक बुलाई गई, जिसकी अध्यक्षता जिला उपायुक्त बलराज सिंह मोर ने की। इस बैठक में पांचों गांव के सरपंच, किसान संघर्ष समिति के 11 सदस्य, एसडीएम बल्लभगढ़ कैप्टन मनोज, एचएसआईआईडीसी एजीएम भागमल, वरिष्ठ कार्यकारी अभियंता, एजीएम फाइनेंस सलिल नारंग उपस्थित रहे। उपायुक्त ने किसानों से कहा कि उनकी मांग पर सरकार व एचएसआईआईडीसी अधिकारियों से विचार- विमर्श किया गया है, जिसके बाद यह तय हुआ कि आईएमटी किसानों की मांग को वर्ष 2010 में एचएसआईआईडीसी की ओर से जारी की गई इंडस्ट्रियल मैनेजमेंट पॉलिसी (ईएमपी) में शामिल कराया जाएगा, जिसके बाद किसानों को एचएसआईआईडीसी की ओर से मिलने वाला रिहायशी प्लॉट 5950 रुपये प्रति वर्ग गज की दर से दिया जाएगा। इस पर किसानों ने सभी 2610 किसानों की सहमति के बाद ही फैसला लेने की बात कही है, जिसका जवाब एसडीएम बल्लभगढ़ के माध्मय से शनिवार की शाम तक देने को कहा है।


          अभी तक किसानों को वर्ष 2007 की ईएमपी के हिसाब से रिहायशी प्लॉट दिया जा रहा था, जिसमें सरकार की ओर से औद्योगिक एरिया में तय बेस रेट सहित 20 फीसदी अधिक दर वसूलने का प्रावधान था। जिसका किसान विरोध कर रहे थे। लेकिन वर्ष 2010 की ईएमपी में सरकार की ओर से तय बेस रेट से 20 फीसदी कम पर रिहायशी प्लाट देने का प्रावधान शामिल किया गया है।
          -राम निवास नागर, अध्यक्ष किसान संघर्ष समिति।

          Comment

          • #45

            #45

            Re : IMT Faridabad

            किसानों के तेवर में आई नरमी
            किसानों के तेवर में आई नरमी - Softening of attitude of farmers - Navbharat Times
            Jul 25, 2013, 08.00AM IST
            एनबीटी न्यूज॥ बल्लभगढ़
            आईएमटी में 5 जून से धरना दे रहे किसानों ने अपने तेवरों में नरमी दिखाते हुए बुधवार को कंपनी को डेवलपमेंट का काम शुरू करने की इजाजत दे दी। हालांकि उन्होंने शर्त रखी कि कंपनी को पहले किसानों को मिलने वाले प्लॉट के स्थान पर डिवेलपमेंट करना होगा। इस स्थान तक जाने के लिए अधूरे पडे़ रोड का भी निर्माण किया जाए। किसानों की ओर से हरी झंडी मिलने के बाद कंपनी की मशीनें काम में जुट गई हैं। इस काम को शुरू करने के लिए डीसी के साथ हुई मीटिंग में फैसला हो गया था।
            आईएमटी परिसर में आंदोलनरत 5 गांवों चंदावली, सोतई, मुजेड़ी, नवादा व मच्छगर के किसान अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठे हुए हैं। किसानों ने प्रशासन के समक्ष अपनी मांगों का पत्र सौंप दिया है। जिसमें अधिकांश मांगों पर सहमति भी बन गई है, लेकिन प्लॉट के रेट को लेकर कोई सहमति नहीं बन पा रही है। किसान आईएमटी परिसर मेें मिलने वाले रेजीडेंशल प्लॉट नो प्रोफिट नो लॉस पर मांग रहे हैं। जिला प्रशासन ने मीटिंग में किसानों के समक्ष प्लॉट का रेट 12 हजार 200 रुपये प्रति वर्ग गज तय किया था। इस रेट पर किसान प्लॉट लेने को तैयार नहीं है। जिसके बाद फिर से डीसी के साथ किसानों की मीटिंग हुई, तो उसमें प्लॉट का रेट 7 हजार रुपये प्रति वर्ग गज के करीब रखा गया। डीसी बलराज सिंह ने बताया कि डिवेलपमेंट चार्ज लगने के बाद प्लॉट इसी रेट पर मिलना संभव है। मगर किसान इस रेट पर भी प्लॉट लेने को तैयार नहीं हो रहे हैं। प्लॉट के लिए 1780 किसानों ने आवेदन किया है। डीसी ने किसानों से कहा कि पहले प्लॉट वाले स्थान को डेवलप होने दें, उसके बाद रेट तय कर लिया जाएगा।
            एसडीएम मनोज कुमार ने बताया कि किसानों की सहमति से ही मच्छगर गांव के पास बनने वाले रेजीडेंशल जोन में दिए जाने वाले प्लॉट के स्थान को डेवलप करने के लिए कंपनी ने काम शुरू कर दिया है। उम्मीद है कि किसानों की सभी मांगों पर जल्द सहमति बन जाएगी और आंदोलन समाप्त हो जाएगा। वहीं किसान संघर्ष समिति के प्रधान राम निवास नागर ने कहा कि कंपनी को फिलहाल अस्थायी तौर पर रेजिडेंशल जोन में काम करने की इजाजत दी गई है। लिखित में रेट और समझौता होने पर ही आंदोलन को खत्म किया जाएगा।

            Comment

            • #46

              #46

              Re : IMT Faridabad

              IMT : अब 2 महीने और लगेंगे

              Aug 1, 2013, 08.00AM IST एनबीटी न्यूज॥ बल्लभगढ़
              आईएमटी को डिवेलप करने वाली कंपनी के लिए मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। पहले 52 दिनों तक किसानों के आंदोलन के चलते डिवेलपमेंट वर्क ठप रहा, अब बारिश की वजह से काम नहीं हो पा रहा है। किसान आंदोलन के कारण हुए नुकसान को लेकर कंपनी के अधिकारियों ने आकलन शुरू कर दिया है। कंपनी को काम बंद रहने की वजह से 8 करोड़ रुपये सेे अधिक का घाटा होने का अनुमान है। आईएमटी को जुलाई 2013 तक पूरी तरह से विकसित करने की डेडलाइन तय की गई थी, लेकिन 5 जून से किसान आंदोलन के चलते यहां काम ठप पड़ गया था।
              यहां सड़कों का करीब 80 फीसदी काम पूरा किया जा चुका है। वहीं, बरसाती पानी की निकासी के लिए नालों का निर्माण कार्य भी करीब 75 फीसदी पूरा हो चुका है। आईएमटी में पीने के पानी के लिए दो ऊपरी टैंक बनाए जा चुके हैं। बूस्टरों का निर्माण कार्य भी करीब 70 फीसदी तक हो चुका है। इस क्षेत्र को डिवेलप करने के लिए 310.56 करोड़ रुपये का टेंडर छोड़ा गया था। कंपनी मैनेजर रवि सिंह ने बताया कंपनी को हुए नुकसान के बारे में आकलन किया जा रहा है। आंदोलन के कारण सारी मशीनें साइटों पर खड़ी रहीं। इनको ऑपरेट करने वाले कर्मचारियों को बिना काम कराए सैलरी देनी पड़ी है। अब बरसात के कारण काम बंद पड़ा है। मौसम ठीक होने के 2 माह बाद कार्य पूरा कर दिया जाएगा। एचएसआईआईडीसी के ईएक्सईएन एस. के. वर्मा का कहना है कि आंदोलन समाप्त होने के बाद अब तेजी से यहां अधूरे पड़े विकास कार्य को पूरा कराया जाएगा। आईएमटी का करीब 80 फीसदी काम पूरा हो चुका है। आगे यदि सब कुछ ठीक रहा तो अगले दो माह में काम पूरा कर लिया जाएगा।

              Comment

              • #47

                #47

                Re : IMT Faridabad

                आईएमटी में पौधे लगाने का काम शुरू

                Aug 17, 2013, 08.00AM ISTएनबीटी न्यूज ।। फरीदाबाद : सेक्टर-2 के पास डिवेलप हो रहे इंडस्ट्रियल मॉडल टाउन में हरियाली लाने के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों ने काम करना शुरू कर दिया है। आईएमटी की सड़कों के साथ पौधे लगाने का काम शुरू कर दिया गया है। पौधों को सुरक्षित रखा जा सके, इसके लिए पौधे लगाने के साथ ही उनके साथ ट्री गार्ड भी लगाए जा रहे हैं। एचएसआईआईडीसी द्वारा सेक्टर-2 के सामने 1832 एकड़ जमीन पर डिवेलप हो रहे इंडस्ट्रियल मॉडल टाउन पौधे लगाए जा रहे हैं। एचएसआईआईडीसी के ईएक्सईएन एस. के. वर्मा ने बताया कि विभाग का प्रयास है कि बारिश के मौसम में अधिक से अधिक पौधे लगा दिए जाएं।

                Comment

                • #48

                  #48

                  Re : IMT Faridabad

                  imt updates
                  Dainik Jagran - Faridabad ePaper, Hindi ePaper Delhi City, Hindi Newspaper Faridabad
                  Attached Files

                  Comment

                  • #49

                    #49

                    Re : IMT Faridabad

                    आईएमटी में कंपनियों ने शुरू किया निर्माण &#232

                    बल्लभगढ़ के निकट करीब 1832 एकड़ एरिया में बसाई जा रही आईएमटी में विकास कार्य अभी पूरे नहीं हुए है, लेकिन तीन कंपनियों ने अपने-अपने प्लॉट में बाउंड्री करने का काम शुरू कर दिया है। आईएमटी में 539 प्लॉट अलॉट किए जा चुके हैं।
                    गौरतलब है कि आईएमटी में किसानों के आंदोलन के चलते विकास कार्य पूरा नहीं हो सका है। प्रदेश सरकार ने आईएमटी को डेवलप करने के लिए हैदराबाद की एक कंपनी के साथ एग्रीमेंट कर टेंडर दिया था। जिसकी समय सीमा अप्रैल में ही पूरी हो चुकी है, लेकिन विकास कार्य सिर्फ 80 से 85 फीसदी ही हुआ है। इस वजह से समयसीमा और बढ़ा दी गई है। आईएमटी में उद्योगों के लिए 6 सेक्टर बनाए जा रहे हैं। इनमें सेक्टर-66, 67, 68, 69, 70 और 71 शामिल हैं। आईएमटी में अंडरग्राउंड बिजली लाइन डाली गई है। यहां बनने वाली सड़कें 50 से 100 मीटर चौड़ी हैं। इसके अलावा तीन शॉपिंग मॉल बनाए जा रहे हैं। सीवर लाइन, ड्रेनेज सिस्टम की लाइन 3 मीटर चौड़ी होगी। यहां अलग-अलग टाइप के कुल 955 इंडस्ट्रियल प्लॉट तय किए गए हैं। एचएसआईडीसी ने ड्रॉ के द्वारा 539 प्लॉट अलॉट भी कर दिए हैं। इस क्षेत्र में ऑटोमोबाइल से लेकर सॉफ्टवेयर बनाने वाली कंपनी होंगी। इसमें फरीदाबाद के उद्योगों के लिए 50 फीसदी प्लॉट आरक्षित किए गए हैं।
                    वर्जन
                    आईएमटी में डिवेलपमेंट का कार्य तेजी से चल रहा है। जिन उद्योगपतियों को प्लॉट अलॉट हो चुके हैं, उनमें से कुछ ने नवरात्र को शुभ मानते हुए कार्य शुरू करा दिया है। नियम अनुसार अलॉटमेंट के 2 साल के अंदर कार्य शुरू करना होता है। - भागमल, मैनेजर, एचएसआईआईडीसी


                    आईएमटी में कंपनियों ने शुरू किया निर्माण कार्य - IMT began construction companies in - Navbharat Times
                    NEVER BUY ANY PROPERTY BY SEEING COMMENTS ALWAYS VISIT LOCATION

                    Comment

                    • #50

                      #50

                      Re : IMT Faridabad

                      आईएमटी में जमीन अधिग्रहण के मामले में शासन की शर्त

                      Oct 17, 2013, 08.00AM IST

                      आईएमटी के लिए एक्वायर की गई जमीन के बदले किसानों को मिलने वाले रिहाइशी प्लॉट का मामला फंसता नजर आ रहा है। जिला प्रशासन ने बताया कि शासन ने शर्त लगाई है कि जिन किसानों की कुल रकबे में से 75 फीसदी जमीन ली गई है, उन्हीं को प्लॉट दिए जाएंगे। प्रशासन की इस शर्त के दायरे में आधे से अधिक किसान नहीं आ रहे हैं। इस वजह से उन्हें प्लॉट नहीं मिल सकेगा। अब किसान सीएम से मुलाकात कर हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाने की तैयारी में जुट गए हैं।
                      गौरतलब है कि आईएमटी के लिए चंदावली, मुजेड़ी, मच्छगर, सोतई और नवादा गांव की 1832 एकड़ जमीन प्रशासन ने एक्वायर किया है। अब प्लॉट दिए जाने के मामले में प्रदेश सरकार ने शर्त रखी है कि जिन किसानों की 75 फीसदी जमीन एक्वायर हो चुकी है, सिर्फ उन्हें ही प्लॉट दिया जाएगा। इस शर्त की वजह से करीब 1500 किसानों को प्लॉट नहीं पाएगा। अब यह पेच फंसाया जा रहा है कि प्लॉट 31 जुलाई 2006 के आधार पर दिया जाएगा। जबकि जमीन का अवार्ड 2008 से दिया गया। दो वर्ष की अवधि में पांचों गांवों के करीब 100 से अधिक किसानों की मौत हो चुकी थी। जमीन का पैसा उनके बेटों ने अलग-अलग प्राप्त किया था। मगर प्लॉट पुराने नियम के अनुसार दिया जा रहा है।
                      आईएमटी किसान यूनियन के प्रधान राम निवास नागर व संयोजक बृज मोहन टोंगर के अनुसार सरकार यह शर्त लगाकर प्लॉट देने के मामले को लटकाना चाहती है। किसान इसे किसी भी सूरत में मंजूर नहीं करेंगे। जिन किसानों को अवार्ड मिला है, उन सबको प्लॉट मिलना चाहिए। इस संबंध में सीएम से मुलाकात की जाएगी। उसके बाद हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे। किसान आईएमटी का काम रोक भी सकते हैं।
                      वर्जन
                      किसानों से मंगलवार को बातचीत हुई है। प्लॉट में फंसे पेंच को सुलझाने का प्रयास किया जा रहा है। - जितेंद्र दहिया, एसडीएम

                      Comment

                      Have any questions or thoughts about this?
                      Working...
                      X