Announcement

Collapse
No announcement yet.

Jhuggia toot gayi : Encroachment Free Faridabad Bye Pass Road

Collapse
X
Collapse

Jhuggia toot gayi : Encroachment Free Faridabad Bye Pass Road

Last updated: September 24 2017
573 | Posts
  • Time
  • Show
Clear All
new posts

  • Re : Jhuggia toot gayi : Encroachment Free Faridabad Bye Pass Road

    विवाद निपटाने को जल्द होगी मीटिंग

    Aug 7, 2013, 08.00AM IST एनबीटी न्यूज ॥ फरीदाबाद : हूडा अधिकारी रेलवे लाइन के पास एक जमीन के विवाद को खत्म कर मलेरना रेलवे ओवर ब्रिज प्रोजेक्ट को रफ्तार देने के लिए रेलवे अधिकारियों से जल्द मीटिंग करेंगे। इस प्रोजेक्ट के तहत रेलवे लाइन के ऊपर रेलवे ने गार्डर रखने का काम कर लिया है। वहीं दोनों तरफ हूडा की ओर से पुल बनाने का काम किया जा चुका है। लेकिन बीच में कुछ जमीन ऐसी बची हुई है, जहां पर कोई भी विभाग काम करने को तैयार नहीं हैं। इस मामले को सुलझाने के लिए हूडा अधिकारी जल्द ही रेलवे अधिकारियों के साथ मीटिंग करेंगे। हूडा एसई एल. के. आहूूजा ने बताया कि मलेरना रेलवे ओवर ब्रिज पर बचे हुए काम को पूरा करने के लिए जल्द ही रेलवे अधिकारियों के साथ मीटिंग करेंगे। इसके लिए सितंबर की डेडलाइन तय की हुई है और हमारा पूरा प्रयास है कि इस डेडलाइन तक काम पूरा कर लिया जाए।

    Comment


    • Re : Jhuggia toot gayi : Encroachment Free Faridabad Bye Pass Road

      Originally posted by yogesh98712 View Post
      agreed on ur most comments but huda have to complete bypass road within time , as soon as construction will start on nh-2 they have no option ...............
      answer to ur query is given by pgarg2000.this seems like an endless journey...
      अब पेड़ बने बाईपास रोड की नई बाधा

      एनबीटी न्यूज ॥ फरीदाबाद
      बाईपास रोड के रास्ते में एक बार फिर बाधा आ गई है। इस बार इसका कारण बने हैं किसान व मजदूर कॉलोनी के पास खड़े करीब 25 पेड़। हूडा अधिकारियों ने पेड़ों को काटने के लिए वन विभाग से लगातार संपर्क कर रहे हैं। वहीं वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बाईपास रोड पर लगे ये पेड़ काफी बड़े हैं। इसलिए इन्हें ग्रीन बेल्ट या रोड की सेंटर वर्ज में लेकर बचाया जा सकता है। इन्हें काटा नहीं जाएगा।
      हूडा ने मार्च में किसान व मजदूर कॉलोनी में अवैध निर्माण तोड़कर रोड बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी थी। इसके बाद अधिकारी 4 अक्टूबर तक इस हिस्से में रोड बनाने की बात कह रहे थे, लेकिन यहां पर खड़े हुए लगभग 25 पेड़ रोड के निर्माण में बाधा बन गए हैं। इन पेड़ों को काटने के लिए हूडा द्वारा लगातार वन विभाग के अधिकारियों से संपर्क किया जा रहा है, लेकिन अभी तक पेड़ काटने का काम शुरू भी नहीं हो पा रहा है। हूडा ईएक्सईएन भूपेंद्र सिंह का कहना है कि 2008 में बाईपास रोड का निर्माण शुरू किया गया था, उस समय इसके साथ खड़े पेड़ों को काटने की मंजूरी वन विभाग से ले ली गई थी। अब जब किसान मजदूर कॉलोनी मंे अवैध निर्माण हटे तो हमने वन विभाग के पेड़ काटने के लिए बोला है, लेकिन उनकी ओर से पेड़ काटने का काम शुरू नहीं किया गया है। वहीं डिस्ट्रिक्ट फॉरेस्ट ऑफिसर भूप सिंह यादव का कहना है कि बाईपास रोड पर जो पेड़ खड़े हुए हैं, वो काफी बड़े हैं। पेड़ों को इतना बड़ा करने में काफी समय लगाता है, इसलिए इन पेड़ों को काटना सही नहीं है। रोड का अलाइनमेंट थोड़ा बदल कर इन पेड़ों को रोड की सेंटर वर्ज या ग्रीन बेल्ट में लिया जा सकता है। पेड़ों को तभी कटाना सही है जब बिल्कुल मजबूरी बन गई हो। अगर इन्हें बचाया जा सकता है तो इसके लिए प्रयास करने चाहिए।

      Comment


      • Re : Jhuggia toot gayi : Encroachment Free Faridabad Bye Pass Road

        Originally posted by rambohick1 View Post
        answer to ur query is given by pgarg2000.this seems like an endless journey...



        25
        4 , 25 , 2008 , , , ,
        Hmmmm....... Hum ko kaatne mein HUDA, Govt. Builders ne koi kasar nai chodi ..... Tou ped kaatne mein nakhra kyo.


        I am very sure Dec 2013tak road shayad chala le

        Sent from my GT-I9100 using Tapatalk 4

        Comment


        • Re : Jhuggia toot gayi : Encroachment Free Faridabad Bye Pass Road

          The whole concept on planning is lost in haryana, well planned city like chandigarh ki nakal nai kar paya. Zig zag master roads now zig zag bypass..... Hmmmm such useless fellows

          Sent from my GT-I9100 using Tapatalk 4

          Comment


          • Re : Jhuggia toot gayi : Encroachment Free Faridabad Bye Pass Road

            Originally posted by rambohick1 View Post
            answer to ur query is given by pgarg2000.this seems like an endless journey...
            अब पेड़ बने बाईपास रोड की नई बाधा

            एनबीटी न्यूज ॥ फरीदाबाद
            बाईपास रोड के रास्ते में एक बार फिर बाधा आ गई है। इस बार इसका कारण बने हैं किसान व मजदूर कॉलोनी के पास खड़े करीब 25 पेड़। हूडा अधिकारियों ने पेड़ों को काटने के लिए वन विभाग से लगातार संपर्क कर रहे हैं। वहीं वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बाईपास रोड पर लगे ये पेड़ काफी बड़े हैं। इसलिए इन्हें ग्रीन बेल्ट या रोड की सेंटर वर्ज में लेकर बचाया जा सकता है। इन्हें काटा नहीं जाएगा।
            हूडा ने मार्च में किसान व मजदूर कॉलोनी में अवैध निर्माण तोड़कर रोड बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी थी। इसके बाद अधिकारी 4 अक्टूबर तक इस हिस्से में रोड बनाने की बात कह रहे थे, लेकिन यहां पर खड़े हुए लगभग 25 पेड़ रोड के निर्माण में बाधा बन गए हैं। इन पेड़ों को काटने के लिए हूडा द्वारा लगातार वन विभाग के अधिकारियों से संपर्क किया जा रहा है, लेकिन अभी तक पेड़ काटने का काम शुरू भी नहीं हो पा रहा है। हूडा ईएक्सईएन भूपेंद्र सिंह का कहना है कि 2008 में बाईपास रोड का निर्माण शुरू किया गया था, उस समय इसके साथ खड़े पेड़ों को काटने की मंजूरी वन विभाग से ले ली गई थी। अब जब किसान मजदूर कॉलोनी मंे अवैध निर्माण हटे तो हमने वन विभाग के पेड़ काटने के लिए बोला है, लेकिन उनकी ओर से पेड़ काटने का काम शुरू नहीं किया गया है। वहीं डिस्ट्रिक्ट फॉरेस्ट ऑफिसर भूप सिंह यादव का कहना है कि बाईपास रोड पर जो पेड़ खड़े हुए हैं, वो काफी बड़े हैं। पेड़ों को इतना बड़ा करने में काफी समय लगाता है, इसलिए इन पेड़ों को काटना सही नहीं है। रोड का अलाइनमेंट थोड़ा बदल कर इन पेड़ों को रोड की सेंटर वर्ज या ग्रीन बेल्ट में लिया जा सकता है। पेड़ों को तभी कटाना सही है जब बिल्कुल मजबूरी बन गई हो। अगर इन्हें बचाया जा सकता है तो इसके लिए प्रयास करने चाहिए।
            yes these trees are a new bottleneck for bypass road . shyad iss liye huda 2 lane hi bana raha hai i think that 2 extra lanes will ready by sep end and rest will take time ......... kal hoga kya kya khabar kya pata.......

            Comment


            • Re : Jhuggia toot gayi : Encroachment Free Faridabad Bye Pass Road

              बाईपास पर रूल्स को कर रहे 'बाईपास'

              बदरपुर बॉर्डर से शुरू होने वाली बाईपास रोड भविष्य मंे शहर की लाइफलाइन बननी तय है। देरी है तो बस मलेरना रेलवे ओवरब्रिज के बनने की है। इस आरओबी के बनने के बाद बाईपास नैशनल हाइवे से सीधे कनेक्ट हो जाएगा। फिलहाल शहर में बस चुके सेक्टरों और नहरों के बीच मौजूद बाईपास पर प्रतिदिन लाखों गाडि़यां दौड़ती हैं। इसको देखते हुए प्रशासन ने बाईपास रोड पर जगह जगह ट्रैफिक सिग्नल भी लगाए गए हैं, जिससे यातायात सुचारु रूप से चल सके। दूसरी तरफ हकीकत यह है कि इनमें से कुछ ट्रैफिक सिग्नल बंद पड़े हैं। जो चल रहे हैं लोग उनकी परवाह नहीं करते। ट्रैफिक पुलिस की मौजूदगी न होने और यहां पर चालान न होने के चलते हालात बदतर हो चुके हैं। बाईपास रोड पर हालात का जायजा लिया पवन जाखड़ ने :
              बाईपास रोड स्थित पल्ला चौक
              रविवार दोपहर 1 बजे यहां पर ट्रैफिक सिग्नल बंद पड़े थे, जबकि यह बेहद व्यस्त चौक है। यहां पर दुर्घटना होने का अंदेशा ज्यादा रहता है। ट्रैफिक लाइट बंद होने से सभी गाडि़यां बेतरतीब निकल रही थीं। यहां से मैं जब बल्लभगढ़ की तरफ आगे बढ़ा तो दूसरा ट्रैफिक सिग्नल सेक्टर-17/18 मोड़ पर मिला। यहां पर भी ट्रैफिक सिग्नल बंद पड़ा था। लोग अपनी मनमर्जी से वाहन निकाल रहे थे। कोई ट्रैफिक पुलिसकर्मी भी मौके पर मौजूद नहीं था। यहां से जब मैं आगे बढ़ा तो बीपीटीपी चौराहे पर ट्रैफिक सिग्नल चालू हालात में मिले। यह देखकर लगा कि चलो यहां स्थिति सही है, लेकिन यहां के हालात तो उन जगहों से भी खराब दिखे जहां सिग्नल बंद पड़े थे। रेड सिग्नल होने के बावजूद वाहन धड़ल्ले से निकल रहे थे। ट्रैफिक सिग्नल की कोई परवाह नहीं कर रहा था। फिर मैं जब बल्लभगढ़ की तरफ चला तो सेक्टर-8 मोड़ पर ट्रैफिक सिग्नल चालू हालात में मिले, लेकिन यहां भी लोग धड़ल्ले से रेड लाइट जंप कर रहे थे। इसके बाद मंै तिगांव मोड़ सेक्टर-3 के पास पहुंचा। यहां पर ट्रैफिक सिग्नल चालू हालात में दिखा, लेकिन लोग उसकी परवाह नहीं कर रहे थे। मैं आखिर में चंदावली मोड़ पर पहुंचा, जहां पर ट्रैफिक सिग्नल बंद पड़े थे।
              वर्जन
              हमारी जानकारी में बाईपास रोड पर सभी ट्रैफिक सिग्नल नहीं चल रहे हैं। इसके चलते वहां रेड लाइट जंप पर फिलहाल चालान नहीं हुए हैं। मैं अपने स्तर पर इसका पता लगाऊंगा। यदि चालू ट्रैफिक सिग्नल की अनदेखी लोग कर रहे हैं तो चालान किया जाएगा।
              -अमित कुमार, एसएचओ ट्रैफिक थाना

              Comment


              • Re : Jhuggia toot gayi : Encroachment Free Faridabad Bye Pass Road

                new deadline for bypass
                Attached Files

                Comment


                • Re : Jhuggia toot gayi : Encroachment Free Faridabad Bye Pass Road

                  Originally posted by yogesh98712 View Post
                  new deadline for bypass
                  Hi
                  Greetings

                  Chaata banwa do huda ko bye pass jitna bada.

                  Cheers

                  Comment


                  • Re : Jhuggia toot gayi : Encroachment Free Faridabad Bye Pass Road

                    bhai mandi ke mazee le rehe hoo.................
                    mandi mai chatee ka kya karooge . the clouds of mandi has now taken faridabad in its arms and it is benefit for end users . bhai resale aur registery rates mai antar bhaut jayada ho chuka hai . one of dealer told me that bptp now doing as many as 40-45 registry daily in tigaon tehsil . loan vapis na karne waloo ke liye sunhera mauka hai circle rate 4000 aur resale rate 2500 hai PP mai .

                    Comment


                    • Re : Jhuggia toot gayi : Encroachment Free Faridabad Bye Pass Road

                      Originally posted by BlessU View Post
                      Hi
                      Greetings

                      Chaata banwa do huda ko bye pass jitna bada.

                      Cheers
                      bhai projects late hona koi badi bat nahi hai India mai kabhi barish kabhi toofan , kabhi elections aur kabhi 36 tarahaa ke adengee ,
                      KMP , DEW , OKHLA RUB , FNG , KGP , Signature bridge (worth 1200 crore )many flyovers and underpass ( budget 100 crore plus for 800 meter bridge ) ,foot over bridges in delhi (worth 7 crore each ) 7crore mai bridge ban raha hai faridabad mai , all are late . in sab projects mai 1 thing is conman that 50-60 % work will complete in time . and for rest deadline new deadline and then another new deadline . because no one can take action against vote bank . batane ki jarurat nahi hai DMRC has completed almost 75% piller work on mathura road but HUDA is still running behind time till date not able to acquire some of stations land . u can not change the system of working in HUDA .

                      Comment

                      Have any questions or thoughts about this?
                      Working...
                      X