One more day has gone.. with hope I travel daily that it would be cleared and the road promised to us (Greater Fairdabad) would become a reality ... Every evening I come back from the same Jam same congested enchroached road near sector 29...kehri pull ...that 1km stretch that big pain in ASSS...

hearing LAZY HUDA will demolish it to make wider road ... but its been 2years now ....every time there is a news, in hindi papers n nothing in concerte ...

Those slum dewellers mock me everyday like others ... they stand on my way and tease me ... i feel cheated as I paid my hard earned money ... EDC , which is used to build thier EWS, I pay taxes to build infra of the nation ....but they take that money as compensation .... i feel pitty ....

I wonder they are poor or am I ? as they have cars, they afford mutton chicken everyday i guess drinks too ... they have no liability to pay hefty electrcity and DG charges , I paid amount for my car parking and they freely parked thier entire family on the road (thats free of cost).. .......the list goes on and on ... than I think its not only my story its the story of this nation..... its a failure of goverment


but I will start my journey tomorrow again with hope.... One day I will get what I was Promised
Read more
Reply
563 Replies
Sort by :Filter by :
  • बाईपास रोड पर बनने वाले गोलचक्कर की ड्राइंग हुई तैयार

    Jun 5, 2014, 08.00AM IST

    एनबीटी न्यूज, फरीदाबाद : बाईपास रोड को आकर्षक बनाने के लिए हूडा ने कुछ जगहों पर गोलचक्कर बनाने की प्लानिंग की है। इसके लिए हूडा ने खेड़ी पुल के पास बाईपास रोड पर बनने वाले गोलचक्कर की ड्राइंग तैयार कर ली है। ट्रैफिक मैनेजमेंट इंस्टिट्यूट ने यह ड्राइंग तैयार की है। अब जल्द ही हूडा इस पर काम शुरू करेगा। खेड़ी पुल के पास अवैध कब्जों से खाली हुई जमीन पर हूडा ने रोड बनाने का काम पूरा कर लिया है। यहां से शिफ्ट हुई पुलिस चौकी की जगह पर ही रोड बनाने का काम बाकी है। खेड़ी पुल के पास बनने वाल चौराहे को आकर्षक बनाने के लिए हूडा यहां पर गोलचक्कर तैयार करने वाला है। इसके लिए हूडा ने ड्राइंग तैयार करा ली है। हूडा अधिकारियों को अनुसार गोलचक्कर की ड्राइंग ट्रैफिक नियामों को ध्यान में रखकर बनाई गई है, ताकी गोलचक्कर बनने के बाद खेड़ी पुल पर जाम की स्थित न बने। गोल चक्कर पर ट्रैफिक लाइटें लगाई जाएंगी। इसके साथ ही रोशनी के लिए हाई मास्ट लाइट भी लगाई जाएगी। ग्रीनरी का भी ध्यान रखा गया है। हूडा अधिकारियों के अनुसार जल्द ही रोड बनाने का काम करने के बाद गोलचक्कर बनाने का काम शुरू कर दिया जाएगा। हूडा प्रशासक सुप्रभा दहिया ने बताया कि गोलचक्कर की ड्राइंग तैयार कर ली गई है। जल्द ही यहां पर रोड बनाने का काम पूरा कर गोलचक्कर बनाने का काम शुरू कर दिया जाएगा।
    CommentQuote
  • There is huge encroachment near old Faridabad road by meat seller and some old furniture seller. If the Kheri Pul is constructed within one month as being told by HUDA officers then also there will huge traffic problem near Old Faridbad road merge with By-pass road. Who will remove this illegal encroachment. Actually this road will never be encroachment/trouble free. I bat if HUDA construct 10-15 lacs houses under Ashiana these people will never remove their encroachment from here, nor administration has any power to remove these people from here. Kya Haryana ke bhi "Kabhi Achhe Din Ayange"
    CommentQuote
  • any idea when construction of GOL CHAKKAR will start near Kheri Pull

    Can anyone share the design of That Gol Chakkar
    CommentQuote
  • JCB were digging a small part of bypass road today in at least 2 places. Not sure why? Monsoon is yet to arrive but have the faults started to appear already?
    CommentQuote
  • Originally Posted by greenhorn
    JCB were digging a small part of bypass road today in at least 2 places. Not sure why?


    The cemented road expands in summer ( if not properly made). That expansion created some unwanted speed breakers on the road. They are fixing those areas
    CommentQuote
  • Originally Posted by pgarg2000
    The cemented road expands in summer ( if not properly made). That expansion created some unwanted speed breakers on the road. They are fixing those areas


    Ohhh.....and i thought that this might be something to do with bridges getting build over canal.
    CommentQuote
  • सर्विस रोड बनाने का प्रस्ताव हुआ रद्द

    Jun 18, 2014, 08.00AM IST

    एनबीटी न्यूज, फरीदाबाद
    बाईपास रोड पर बन रहे मलेरना रेलवे ओवर ब्रिज के कारण गांव झाड़सैंतली के लोगों का खेतों तक जाने वाला रास्ता बंद हो गया है। ऐसे में लोगों की मांग पर हूडा ने गांव के लिए सर्विस रोड बनाने की प्लानिंग की थी। इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर उच्च अधिकारियों के पास भेजा गया था, लेकिन अब यह प्रस्ताव भी रद्द हो गया है, जिसके कारण गांव झाड़सैंतली के लोगों को परेशानियां और बढ़ गई हैं। हालांकि हूडा अधिकारियों द्वारा दोबारा से प्रस्ताव तैयार कर मंजूरी के लिए भेजने की बात कही जा रही है।
    बाईपास रोड पर सेक्टर 59 और 61 के पास मलेरना रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण किया जा रहा है। इसके चलते झाड़सैंतली के कुछ रास्ते बंद हो गए हैं। गांव के सतवीर डागर ने बताया कि आरओबी के निर्माण से गांव के 4 रास्तों पर असर पड़ा है। इन रास्तों के बंद हो जाने के कारण गांव के खेतों तक जाने वाला रास्ता बंद हो गया है। रेलवे ओवर ब्रिज शुरू होने के बाद यह रास्ता पूरी तरह से बंद हो जाएगा। हूडा ने गांव के लिए 900 मीटर लंबा रोड बनाने का प्रस्ताव तैयार कर उच्च अधिकारियों के पास भेज भी दिया था। इस रोड के निर्माण पर लगभग 90 लाख रुपये खर्च होने थे, लेकिन उच्च अधिकारियों ने इस प्रस्ताव को रद्द कर दिया है। हूडा एसई ए. के. गुलाटी ने बताया कि कुछ तकनीकी कारणों के चलते गांव झाड़सैंतली के लिए बनने वाली सर्विस रोड का प्रस्ताव रद्द हो गया है। हम दोबारा से प्रस्ताव तैयार कर उच्च अधिकारियों के पास भेज रहे हैं।
    CommentQuote
  • Dost if we can justify bastiyan and jhuggis, then we can also justify murders, extortion etc. Do you know how many EWS flats are allotted with each Group Housing Society or these EWS flats that government builds for these people. They put them on rent and make jhuggis again. And actually its not even their jhuggis.

    Most of the jhuggi cluster belongs to "The GUNDA" of the area who takes monthly rent from them.
    CommentQuote
  • Dear Miketest,
    My purpose of posting the two liner was to spark off discussion on this important topic of national importance.I think that I was successful to some extent.
    First ,who allows shanties to come up on Govt. land?
    Can poor people afford a decent living space any where in India?
    Who allows illegal colonies to come up and subsequently make illegal colonies---LEGAL?
    If these questions are honestly answered,the pointer goes to our so called our Honourable POLITICIANS.
    Now coming to story of EWS flats.Previously it was all free for builders to allot EWS flats.It was all in their hands and these used to be allotted in the name of fictitious persons,later sold by builders as their own inventory at a premium.
    After the allotment to BPL card holders the scenario improved a little bit but as you are right these are sold or rented and jhuggi dwellers are again on the road.This is how the vicious circle goes on.I hope things will change for good in the future.
    BOLO MERA BHARAT MAHAAN
    CommentQuote
  • https://www.indianrealestateforum.com/forum/important-threads/iref%C2%AE-rules/5499-iref-rules--please-read?t=6437

    English Only
    IndianRealEstateForum (IREF) is an English-only forum. All content posted in publicly viewable areas of the forum must be written in English. Please always review your posts for potential spelling mistakes and grammatical mistakes before posting and also pay attention to the proper use of upper and lower case. Make sure that you phrase your posts in a way that is easily understandable to others. Please use a reasonable thread title/headline, without the use of upper case letters, or the unnecessary accumulation of punctuation marks, exclamation marks etc. Please write in a clearly laid out manner and review your posts using the "preview" button in order to remove all unnecessary punctuation and lines.

    A few members are using “Hindi’ and ‘Hinglish’ on our forums. Please limit their use as we would like to maintain a consistent language across our board.
    CommentQuote
  • Originally Posted by miketest
    Dost if we can justify bastiyan and jhuggis, then we can also justify murders, extortion etc. Do you know how many EWS flats are allotted with each Group Housing Society or these EWS flats that government builds for these people. They put them on rent and make jhuggis again. And actually its not even their jhuggis.

    Most of the jhuggi cluster belongs to "The GUNDA" of the area who takes monthly rent from them.

    MY DEAR MIKETEST,
    My two liner post have been deleted by IREF moderator
    My reply is given in Post 460
    CommentQuote
  • बाइपास रोड पर अब नहीं लगेंगे हिचकौले

    Publish Date:Monday,Jun 30,2014 12:58:51 AM |

    जागरण संवाददाता, फरीदाबाद:
    बदरपुर बार्डर से सेक्टर-59 कैल गांव तक 28 किलोमीटर लंबे बाइपास रोड पर अब आवागमन सुगम होने जा रहा है। बाइपास रोड जहां-जहां जर्जर हाल है, वहां रोड को बनाने का काम शुरू हो गया है।
    हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (हुडा) ने राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर दो पर वाहनों का दबाव कम करने के मकसद से बाइपास रोड का निर्माण कराया है। इस रोड को बनाने में करीब 130 करोड़ रुपये खर्च किए गए। लेकिन यह रोड कई जगह से जर्जर हाल है, जिस कारण वाहन चालकों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। कई जगह खतरनाक गड्ढों की वजह से सड़क दुर्घटना हो चुकी हैं। विशेष रूप से सेक्टर-30 गांव एतमादपुर के पास रोड का दम निकला हुआ था, जिससे जाम लग जाता था। हुडा डिवीजन नंबर-दो ने जर्जर रोड को बनाने का काम शुरू करा दिया है। गांव एतमादपुर के पास जर्जर रोड को बनाने का काम शुरू किया है। यहां पहले तारकोल की सड़क थी, अब सीमेंटेड रोड बनाई जा रही है। खेड़ी पुल चौकी की इमारत के कारण यहां बाइपास रोड का कुछ हिस्सा बनने से शेष रह गया था। अब यहां पर भी रोड बनाया जा रहा है। साथ ही यहां पर यातायात व्यवस्था को बेहतर ढंग से बनाने के लिए गोल चक्कर बनाया जाएगा। इससे वाहन पंक्ति में चलने से जाम से छुटकारा मिलेगा।
    CommentQuote
  • फिर बढ़ी मलेरना आरओबी की डेडलाइन

    Jul 1, 2014, 08.00AM IST
    एनबीटी न्यूज, फरीदाबाद : मलेरना रेलवे ओवर ब्रिज की डेडलाइन को हूडा ने एक महीने और बढ़ा दिया है। अब हूडा ने काम पूरा करने के लिए सितंबर महीने की डेडलाइन तय की है। अभी तक इस ओवर ब्रिज के लिए अगस्त महीने की डेडलाइन तय की गई थी। बाईपास रोड पर सेक्टर 59 और 61 के पास मलेरना आरओबी का निर्माण किया जा रहा है। लेकिन मलेरना आरओबी के लिए इंतजार बढ़ता ही जा रहा है। हूडा ने एक बार फिर मलेरना रेलवे ओवर ब्रिज की डेडलाइन को एक महीना बढ़ा दिया है। अभी तक रेलवे ओवर ब्रिज का काम पूरा करने के लिए अगस्त महीने के अंत तक की डेडलाइन तय की गई थी, लेकिन अब सितंबर महीने के अंत तक काम पूरा होने की बात कही जा रही है। हूडा अधिकारियों के अनुसार आरओबी के रास्ते में आ रही बिजली की तारों को शिफ्ट करने में रेलवे ने काफी समय लगाया है, जिसके कारण यह प्रोजेक्ट इतना लेट हुआ है। अब रेलवे का काम लगभग पूरा हो गया है, जिसके बाद हूडा भी अपने हिस्से का काम जल्द ही पूरा कर लेगा। हूडा ईएक्सईएन सतपाल दहिया ने बताया कि आरओबी के लिए सितंबर महीने के अंत की डेडलाइन तय की गई है। हमारा पूरा प्रयास है कि इस समय तक आरओबी का काम पूरा कर लिया जाए।
    CommentQuote
  • खेड़ी पुल के पास दूर होगी जाम की दिक्कत

    Jul 2, 2014, 08.00AM IST

    एनबीटी न्यूज, फरीदाबाद
    बाईपास रोड पर खेड़ी पुल के पास बचे हुए हिस्से में रोड बनाने का काम तेजी से हो रहा है। हूडा अधिकारियों के अनुसार कुछ ही दिनों में इस हिस्से में रोड बनाने का काम पूरा कर लिया जाएगा, जिसके बाद खेड़ी पुल पर गोलचक्कर डिवेलप करने के लिए काम शुरू किया जाएगा।
    खेड़ी पुल के पास बाईपास रोड पर बने अवैध निर्माणों को हटाने के बाद इस हिस्से में हूडा ने रोड बनाने का काम लगभग पूरा कर लिया था। केवल खेड़ी पुल के पास थोड़ी सी जगह रह गई थी। दरअसल इस हिस्से में पुलिस चौकी बनी हुई थी, जिसके कारण हूडा इस हिस्से में रोड बनाने का काम पूरा नहीं कर पाया था। पिछले दिनों यहां से पुलिस चौकी शिफ्ट होने के बाद रोड बनाने का काम शुरू नहीं हो पाया था, जिसके चलते लोगों को काफी दिक्कतें हो रही थी। अब हूडा ने इस रोड को बनाने का काम शुरू कर दिया है। इस सड़क को बनाने के बाद यहां पर हूडा गोलचक्कर डिवेलप करेगा। हूडा ईएक्सईएन भूपेंद्र सिंह ने बताया कि खेड़ी पुल के पास बाईपास रोड के बचे हुए हिस्से को बनाने का काम शुरू कर दिया गया है। अब हम लोग जल्द ही इस हिस्से में रोड का काम पूरा कर गोलचक्कर बनाने का काम शुरू कर देंगे।
    CommentQuote
  • नवंबर में करें मलेरना आरओबी पर सफर

    Jul 12, 2014, 08.00AM IST

    एनबीटी न्यूज, फरीदाबाद

    मलेरना रेलवे ओवरब्रिज के रास्ते में आ रही सभी प्रकार की तकनीकी बाधाएं दूर होने हो गई हैं। हूडा अधिकारियों का दावा है कि इस साल अक्टूबर के आखिर तक रेलवे ओवरब्रिज को पूरी तरह से तैयार कर लिया जाएगा और इसे लोगों के लिए खोल दिया जाएगा।
    बाईपास रोड पर सेक्टर-59 व 61 के पास मलेरना रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण किया जा रहा है। ओवरब्रिज का काम 2008 में शुरू हुआ था, लेकिन इसके काम में शुरू से कई सारी बाधाएं आ रही थी, लेकिन अब इसके रास्ते में आ रही सभी बाधाएं दूर होने की बात हूडा अधिकारी कह रहे हैं। हूडा अधिकारियों के अनुसार मलेरना रेलवे ओवरब्रिज के रास्ते में आ रही सभी तकनीकी बाधाएं दूर कर ली गई हैं। रेलवे ने अपने हिस्से का काम लगभग पूरा कर लिया है। अब केवल फिनिशिंग का काम हो रहा है, जो लगभग 10 दिन में पूरा हो जाएगा। इसके साथ ही हूडा ने भी तेजी से अपने हिस्से का काम शुरू किया हुआ है। हूडा ईएक्सईएन सतपाल दहिया ने बताया मलेरना रेलवे ओवरब्रिज के रास्ते में आ रही सभी बाधाएं दूर हो गई हैं। अब अक्टूबर के अंत तक इसका काम पूरा कर लिया जाएगा। नवंबर से लोग ओवरब्रिज का इस्तेमाल शुरू कर सकेंगे।
    CommentQuote