One more day has gone.. with hope I travel daily that it would be cleared and the road promised to us (Greater Fairdabad) would become a reality ... Every evening I come back from the same Jam same congested enchroached road near sector 29...kehri pull ...that 1km stretch that big pain in ASSS...

hearing LAZY HUDA will demolish it to make wider road ... but its been 2years now ....every time there is a news, in hindi papers n nothing in concerte ...

Those slum dewellers mock me everyday like others ... they stand on my way and tease me ... i feel cheated as I paid my hard earned money ... EDC , which is used to build thier EWS, I pay taxes to build infra of the nation ....but they take that money as compensation .... i feel pitty ....

I wonder they are poor or am I ? as they have cars, they afford mutton chicken everyday i guess drinks too ... they have no liability to pay hefty electrcity and DG charges , I paid amount for my car parking and they freely parked thier entire family on the road (thats free of cost).. .......the list goes on and on ... than I think its not only my story its the story of this nation..... its a failure of goverment


but I will start my journey tomorrow again with hope.... One day I will get what I was Promised
Read more
Reply
563 Replies
Sort by :Filter by :
  • HUDA does not stick to any timelines , we are growing as an organic growth.
    The Byepass road is now become a regular road with several cuts, jams and even you can't drive more than 30-40km because of the Jay walkers and the roaming animals.

    This road should be built like what is expressway in Noida, anyways "Apna No-1 Haryana" song is playing in the FM channels.
    CommentQuote
  • Originally Posted by drajeev
    HUDA does not stick to any timelines , we are growing as an organic growth.
    The Byepass road is now become a regular road with several cuts, jams and even you can't drive more than 30-40km because of the Jay walkers and the roaming animals.

    This road should be built like what is expressway in Noida, anyways "Apna No-1 Haryana" song is playing in the FM channels.

    I like it that way, regular road means population is there and with population property prices increase.

    As I call it population population population

    Rohit
    CommentQuote
  • Originally Posted by pgarg2000
    नवंबर में करें मलेरना आरओबी पर सफर

    Jul 12, 2014, 08.00AM IST

    एनबीटी न्यूज, फरीदाबाद

    मलेरना रेलवे ओवरब्रिज के रास्ते में आ रही सभी प्रकार की तकनीकी बाधाएं दूर होने हो गई हैं। हूडा अधिकारियों का दावा है कि इस साल अक्टूबर के आखिर तक रेलवे ओवरब्रिज को पूरी तरह से तैयार कर लिया जाएगा और इसे लोगों के लिए खोल दिया जाएगा।
    बाईपास रोड पर सेक्टर-59 व 61 के पास मलेरना रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण किया जा रहा है। ओवरब्रिज का काम 2008 में शुरू हुआ था, लेकिन इसके काम में शुरू से कई सारी बाधाएं आ रही थी, लेकिन अब इसके रास्ते में आ रही सभी बाधाएं दूर होने की बात हूडा अधिकारी कह रहे हैं। हूडा अधिकारियों के अनुसार मलेरना रेलवे ओवरब्रिज के रास्ते में आ रही सभी तकनीकी बाधाएं दूर कर ली गई हैं। रेलवे ने अपने हिस्से का काम लगभग पूरा कर लिया है। अब केवल फिनिशिंग का काम हो रहा है, जो लगभग 10 दिन में पूरा हो जाएगा। इसके साथ ही हूडा ने भी तेजी से अपने हिस्से का काम शुरू किया हुआ है। हूडा ईएक्सईएन सतपाल दहिया ने बताया मलेरना रेलवे ओवरब्रिज के रास्ते में आ रही सभी बाधाएं दूर हो गई हैं। अब अक्टूबर के अंत तक इसका काम पूरा कर लिया जाएगा। नवंबर से लोग ओवरब्रिज का इस्तेमाल शुरू कर सकेंगे।


    Don't know if Malerna RoB is good for Gr Faridabad... One can expect lots of heavy vehicles coming on Bypass & making it more congested.
    CommentQuote
  • Originally Posted by cgd3psg
    Don't know if Malerna RoB is good for Gr Faridabad... One can expect lots of heavy vehicles coming on Bypass & making it more congested.


    yes, but once six laning starts and ROB is operational bypass road will see a surge in traffic....this will make HUDA officials move off their lazy asses and do something about it
    CommentQuote
  • बाइपास में बाधक है 200 मीटर जमीन

    Publish Date:Saturday,Jul 19,2014 01:02:18 AM

    जागरण संवाददाता, बल्लभगढ़:

    बाइपास मार्ग के निर्माण में अभी भी सेक्टर-59 में 200 मीटर का एक टुकड़ा बाधा बना है। इसका समाधान अभी तक हुडा (हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण) नहीं कर सका है। जब तक यह मसला हल नहीं होगा, बाइपास का पूरी तरह इस्तेमाल नहीं हो पाएगा।

    हुडा ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों के बढ़ते दबाव को कम करने के लिए बदरपुर बार्डर से लेकर कैल गांव तक 122 करोड़ रुपये की लागत से 34 किलोमीटर लंबा बाइपास बनाया है। बाइपास रेलवे ट्रैक पर निर्माणाधीन पुल के तैयार होने के बाद पूरा हो पाएगा। पुल से पहले हुडा को एक और समस्या का समाधान करना पड़ेगा। सेक्टर-59 में बाइपास रोड के बीच गांव जाजरू के पास एक दवा कंपनी की जमीन रोड़ा बनी है। इस कंपनी ने अपनी जमीन बाइपास रोड के लिए देने से इन्कार कर दिया था। कंपनी इस मामले को अदालत में ले गई, जहां यह अभी विचाराधीन है। हुडा ने बीते साल सितंबर में निर्णय लिया था कि जब तक मामले का स्थायी समाधान नहीं हो जाता है, गांव जाजरू के पास बाइपास रोड के अलाइमेंट में अस्थायी बदलाव कर दिया जाए, जिसके तहत गांव के पास जमीन अधिग्रहण करने का फैसला लिया गया। हुडा ने सेक्शन चार, छह व नौ की कार्रवाई को पूरा करते हुए जमीन अधिग्रहण के लिए किसानों को अवार्ड सुनाया था। भूमि अर्जन अधिकारी ने किसानों को कार्यालय बुलाया था। किसानों को प्रति एकड़ 60 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाना था, लेकिन किसानों ने अभी तक मुआवजा नहीं लिया। अभी तक यह समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है।

    --------------
    बाइपास की भूमि अभी तक अधिग्रहण की गई है या नहीं यह तो पता नहीं है। इसमें क्या कार्रवाई की जा चुकी है, यह भी हुडा के भूमि अर्जन अधिकारी को ही पता होगा। जल्द ही रेलवे ट्रैक पर निर्माणाधीन छह लेन पुल तैयार होने वाला है। उससे पहले सेक्टर-59 के 200 मीटर भूमि के टुकड़े का फैसला होने वाला नहीं है। इस स्थान पर अस्थायी तौर पर सड़क में मोड़ देकर रास्ता बनाया जाएगा। इसके लिए करीब 450 मीटर भूमि की आवश्यकता होगी। जल्द यहां पर भूमि खरीद कर सड़क को बना दिया जाएगा।

    -भूपेंद्र सिंह, कार्यकारी अभियंता, हुडा।
    CommentQuote
  • बाइपास-एनएच पुल 31 अक्टूबर तक होगा तैयार

    Publish Date:Sunday,Jul 27,2014 01:01:51 AM

    जागरण संवाददाता, बल्लभगढ़ :
    बाइपास सेक्टर-59 व 61 के बीच निर्माणाधीन छह लेन रेलवे पुल के निर्माण कार्य में अभी दोनों तरफ की साइड और ट्रैक के ऊपर बनाए गए हिस्से को जोड़ा नहीं गया है। रेलवे ने अब ट्रैक का भाग हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (हुडा) को सौंप दिया है। ट्रैक की साइड और दोनों तरफ उतरने के लिए बनाई गई साइडों को जोड़ने का काम शुरू किया जाएगा। विभाग ने दावा किया है कि पुल 31 अक्टूबर 2014 तक बनकर तैयार हो जाएगा।
    राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों के दवाब को देखते हुए फरीदाबाद में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण ने 122 करोड़ रुपये की लागत से छह लेन बाइपास बनाया है। यह बाइपास बदरपुर बार्डर से कैल गांव तक बनाया गया है। बाइपास को राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ने के लिए सेक्टर-61 व 59 के बीच में रेलवे ट्रैक के ऊपर 40 करोड़ रुपये की लागत से पुल बनाया जा रहा है। पुल का निर्माण कार्य धीमी गति से चल रहा है। पिछले शुक्रवार को हुई तेज बारिश में सेक्टर-61 की साइड से काफी मिट्टी का कटाव हो गया। इसके भराव में काफी समय लग जाएगा।
    -----------
    अभी तक सेक्टर-59-61 के बीच बनाए जाने वाली पुल की न तो दोनों तरफ उतार की साइड तैयार की गई है, न ही साइड में मुंडेर बनाई गई है। अभी तक हुडा ने दोनों तरफ उतरने के लिए बनाई साइडों को भी तारकोल-कंक्रीट का नहीं बनाया है। पता नहीं कितने दिन में यह पुल बनकर तैयार होगा।
    -रणधीर सिंह सारंग, गांव साहुपुरा
    ------------
    रेलवे ने ट्रैक के ऊपर बनी हुई साइड अब हमें दे दी है। अब ट्रैक की साइड को सेक्टर-59 व 61 की साइडों से जोड़ा जाएगा। दोनों तरफ की साइड से रेलवे की साइड को जोड़ने का काम रेलवे कंपनी को करना था, लेकिन रेलवे ने यह कार्य नहीं किया। अब हुडा साइड को जोड़ने के लिए लोहे के जाल तैयार करा रहा हैं। बारिश में मिट्टी का बहना बड़ी बात नहीं है। जल्द ही इसका भराव करवा दिया जाएगा। पुल को 31 अक्टूबर-2014 तक तैयार करके देना है।
    - सतपाल सिंह दहिया, कार्यकारी अभियंता, हुडा विभाग।
    CommentQuote
  • कूड़ा हटाने के लिए हूडा निगम को लिखेगा पत्र

    Aug 1, 2014, 08.00AM IST

    एनबीटी न्यूज, फरीदाबाद : बाईपास रोड पर सेक्टर-8 के पास लगे गंदगी के ढेर को लेकर हूडा हरकत में आ गया है। इस गंदगी को हटाने के लिए हूडा नगर निगम को पत्र लिखेगा। सेक्टर-8 के पास बाईपास रोड पर नगर निगम कर्मचारी काफी लंबे समय से कूड़ा डाल रहे हैं। काफी सारा कूड़ा बाईपास रोड के ऊपर भी आ गया है, जिससे यहां से गुजरने वाले लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करा पड़ता है। इस ढेर पर आवारा पशुओं की भरमार रहती है। हूडा ईएक्सईएन भूपेंद्र सिंह ने बताया कि सेक्टर-8 के पास बाईपास रोड पर काफी कूड़ा पड़ा रहता है। इस संबंध में पिछले चार महीनों सें कई बार नगर निगम अधिकारियों से पत्राचार हो गया है। पिछले कुछ दिनों से कूड़ा काफी अधिक बढ़ गया है। इसिलए हम एक बार फिर कूड़ा हटा कर बाईपास रोड को साफ करने के लिए हूडा अधिकारियों को लिख रहे हैं।
    CommentQuote
  • आरओबी के काम में देरी पर अधिकारियों को लगी फटकार

    Aug 6, 2014, 08.00AM IST
    एनबीटी न्यूज, फरीदाबाद
    मलेरना रेलवे ओवर ब्रिज (आरओबी) के निर्माण को लेकर हूडा काफी गंभीर हो गया है। इसके लिए हूडा अधिकारियों ने रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण कर रही कंपनी के अधिकारियों को फटकार लगाते हुए काम में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। हूडा अधिकारियों का कहना है कि किसी भी हालत में अक्टूबर महीने के अंत तक आरओबी का निर्माण कार्य पूरा कर इसे शुरू कर दिया जाएगा।
    बाईपास रोड की लाइफ लाइन कहे जाने वाले मलेरना आरओबी का निर्माण कार्य साल 2008 में शुरू हुआ था, लेकिन अभी तक इसका काम पूरा नहीं हो पाया है। कई तरह की बाधाओं के कारण बार - बार रेलवे ओवर ब्रिज की डेडलाइन बढ़ाई जाती रही है। अब रेलवे ओवर ब्रिज के रास्ते में आ रही सभी बाधाएं दूर हो गई हैं। ऐसे में हूडा जल्द से जल्द रेलवे ओवर ब्रिज का काम पूरा करना चाहता है। काम को तेजी से पूरा करने के लिए हूडा प्रशासक ने रेलवे ओवर ब्रिज का काम कर रही कंपनी के अधिकारियों को फटकार लगाई है। अधिकारियों के अनुसार कंपनी की तरफ से काफी धीमी गति से काम किया जा रहा है। ऐसे में कंपनी के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि रेलवे ओवर ब्रिज के काम में तेजी लाई जाए और 31 अक्टूबर तक हर हाल में आरओबी का काम पूरा कर लिया जाए।
    हूडा प्रशासक सुप्रभा दहिया ने बताया कि आरओबी का काम जल्द से जल्द पूरा करने के लिए संबंधित कंपनी के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं। काम पहले से ही काफी देरी से चल रहा है, इसलिए इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने बताया कि हमारा पूरा प्रयास है कि 31 अक्टूबर तक रेलवे ओवर ब्रिज का काम पूरा कर इसे लोगों से लिए शुरू कर दिया जाए।
    CommentQuote
  • बदरपुर फ्लाइओवर को बाईपास रोड से जोड़ने की योजना

    नवभारत टाइम्स | Aug 7, 2014, 02.40AM IST
    बाईपास रोड पर बदपुर बॉर्डर के पास रोजाना जाम लगने से लोगों को काफी परेशानी होती है। इस समस्या का स्थायी हल निकालने के लिए हूडा ने प्लानिंग की है। इसके तहत बदरपुर फ्लाईओवर के एक हिस्से को सीधा बाईपास रोड से कनेक्ट किया जाए। ताकि बाईपास रोड से दिल्ली की तरफ आने जाने वाले वाहन सीधा फ्लाईओवर पर जा सकें।

    अभी फ्लाईओवर पर चढ़ने के लिए लोगों को फरीदाबाद की ओर जाकर यू टर्न लेना पड़ता है, जिससे वहां पर जाम लग जाता है। इस प्लानिंग को सिरे चढ़ाने के लिए हूडा प्रशासक सुप्रभा दहिया ने केंद्रीय सड़क एवं परिवहन राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर से भी सिफारिश की है।

    अभी लगता है काफी जाम : बदरपुर बॉर्डर के पास बाईपास रोड के इस पॉइंट पर दिल्ली की तरफ जाने वाले वाहनों को पहले थोड़ा फरीदाबाद की तरफ चलना पड़ता है और यहां से यू टर्न लेकर दिल्ली की तरफ जाते हैं। इस पॉइंट के थोड़ा संकरा होने के कारण यू टर्न पर वाहन काफी धीमे हो जाते हैं, जिससे जाम लग जाता है।

    दिल्ली की तरफ से काफी सारे वाहन बदरपुर फ्लाईओवर के नीचे से आते हैं, वह भी इस पॉइंट पर आकर जाम में फस जाते हैं। इसके अलावा जो लोग बाईपास रोड के लिए फ्लाईओवर से उतरते हैं, उन्हें भी इस पॉइंट पर आकर जाम का सामना करना पड़ता है। यहां पर काफी संख्या में ऑटो चालक और रेहड़ी खोमचे वाले भी होते हैं, जिससे हालात और ज्यादा बिगड़ जाते हैं।

    हो रही है प्लानिंग : हूडा प्रशासक सुप्रभा दहिया ने बताया कि इस जगह पर जाम की समस्या को खत्म करने के लिए बदरपुर फ्लाईओवर के एक हिस्से को सीधा बाईपास रोड से कनेक्ट किया जाए, ताकि लोग सीधे फ्लाईओवर पर चढ़कर दिल्ली की तरफ आ जा सकें। क्योंकि बदरपुर फ्लाईओवर और उसके नीचे की सड़क एनएचएआई के पास है, इसलिए हम वहां कुछ नहीं कर पा रहे हैं।

    इसके लिए हमने केंद्रीय सड़क एवं परिवहन राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर से भी सिफारिश की है कि इस समस्या को खत्म करने के लिए वह अपनी तरफ से पहल करें। उनके प्रयास करने से यह समस्या पूरी तरह खत्म हो सकती है।

    अभी अस्थायी है समाधान : हूडा प्रशासक सुप्रभा दहिया ने बताया कि इस पॉइंट पर जाम न लगे इसके लिए समय-समय पर ऑटो चालकों को भी यहां से हटाया जाता है। इसके साथ ही हम रोड की सेंटर वर्ज को छोटा कर रोड को भी चौड़ा कर रहे हैं, लेकिन ये सभी समाधान अस्थायी हैं। क्योंकि मलेरना रेलवे ओवरब्रिज के शुरू होने और ग्रेटर फरीदाबाद के पूरी तरह से बस जाने के बाद इस रोड पर ट्रैफिक काफी बढ जाएगा और इस पॉइंट पर जाम की समस्या भी काफी बढ़ जाएगी।
    CommentQuote
  • This is a good plan...but what about toll ?
    CommentQuote
  • No Worry , it will be a plan only as the case is between the NHAI & HUDA.

    The U turn one at the bypass road and one at the Mathura road with complete removal of Auto stand could solve the purpose.

    But Its all about illegal money extortion and poor planning.
    CommentQuote
  • बाईपास रोड की होगी 'सिमेंट सर्जरी'


    Aug 8, 2014, 08.00AM IST

    एनबीटी न्यूज, फरीदाबाद
    हूडा का बाईपास रोड अभी पूरी तरह से तैयार नहीं हुआ है, लेकिन अभी से रोड कई जगहों से टूटने लगा है। एक-दो जगह ऐसे पॉइंट हैं, जहां पर रोड पर पानी जमा हो जाता है और उसके कारण बार -बार वहां पर रोड टूड जाता है। ऐसे में हूडा ने ऐसी जगहों पर सिमेंटेड रोड तैयार करने की प्लानिंग की है। इसके लिए मुख्य हूडा प्रशासक ने भी अपनी मंजूरी दे दी है। जल्द ही हूडा अधिकारी इसका एस्टिमेट तैयार कर उच्च अधिकारियों के पास भेजेंगे।
    बाईपास रोड शहर की लाइफ लाइन बन चुका है। अभी से इस रोड का इस्तेमाल काफी बढ़ गया है। मलेरना रेलवे ओवर ब्रिज के तैयार हो जाने के बाद बाईपास रोड पर ट्रैफिक और भी बढ़ जाएगा। बाईपास रोड का यूज कर पलवल से दिल्ली की तरफ आने जाने वाले लोग फरीदाबाद में नैशनल हाइवे पर लगने वाले जाम से बच सकेंगे। लेकिन बाईपास रोड पर अभी से कुछ पॉइंट्स पर टूटी हुई सड़क स्पीड़ ब्रेकर बन रही है। रोड पर एक दो पॉइंट्स ऐसे हैं जहां पर रोड या तो टूटी हुई है या फिर नीचे की तरफ धंस गई है। सेक्टर 9 के पास बाईपास रोड के साथ काफी सारे ट्यूबवेल्स चलते हैं। यहां से टैंकरों में पानी भर कर शहर में अलग-अलग जगहों पर भेजा जाता है। ट्यूबवेल्स का पानी बाईपास रोड पर आ जाता है, जिसके कारण इस पॉइंट पर रोड टूट जाती है। शुरुआत में हूडा ने यहां पर तारकोल की सड़क बनाई थी, लेकिन वह पानी के कारण काफी जल्दी टूट गई थी। उसके बाद हूडा ने यहां पर इंटर लॉकिंग टाइलें लगाकर रोड का निर्माण किया था। लेकिन अब वो भी नीचे धंसने लगी है या फिर उखड़ने लगी है। यहां पर लगभग 400 मीटर का हिस्सा टूटा हुआ है। पिछले दिनों मुख्य हूडा प्रशासक भी फरीदाबाद के दौरे पर आए थे। उस समय फरीदाबाद की हूडा प्रशासक सुप्रभा दहिया ने उन्हें यह रोड दिखाया था और इस जगह को सिमेंटेड करने की मंजूरी मांगी थी। मुख्य हूडा प्रशासक ने उस पॉइंट को सिमेंटेड करने की मंजूरी दे दी है। हूडा प्रशासक सुप्रभा दहिया ने बताया कि मुख्य हूडा प्रशासक की मंजूरी के बाद जिन जगहों पर बाईपास रोड टूट हुआ है, वहां पर उसे सिमेंटेड किया जाएगा। इसके लिए संबंधित अधिकारियों को एस्टिमेट तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं।
    CommentQuote
  • बड़ा मुद्दा: बाइपास का रेलवे पुल पांच वर्ष में भी नहीं हुआ तैयार

    Publish Date:Fri, 29 Aug 2014 01:13 AM (IST) | Updated Date:Fri, 29 Aug 2014 01:13 AM (IST)

    जागरण संवाददाता, बल्लभगढ़:
    बाइपास पर सेक्टर-59 व 61 के बीच रेलवे पुल का निर्माण कार्य पिछले पांच वर्ष से कछुआ गति से चल रहा है। यदि जनप्रतिनिधि इसके निर्माण में रुचि लेते तो यह अब तक बनकर तैयार हो जाता। पुल का तैयार न होना विधानसभा चुनाव में बड़ा मुद्दा बनेगा। इसे लेकर लोग जनप्रतिनिधियों से सवाल पूछ सकते हैं।
    राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों की संख्या काफी बढ़ गई है। शहर के चौराहों पर जाम जैसी स्थिति बनी रहती है। ग्रेटर फरीदाबाद भी विकसित किया जा रहा है। राजमार्ग के वाहनों को शहर से बाहर दिल्ली तक निकालने और ग्रेटर फरीदाबाद को राष्ट्रीय राजमार्ग तथा दिल्ली से जोड़ने के लिए हुडा ने 122 करोड़ रुपये की लागत से 39 किलोमीटर लंबा बाइपास बनाया है। यह बाइपास बदरपुर बार्डर से कैल गांव के पास राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ा गया है। बाइपास को राजमार्ग से जोड़ने के लिए सेक्टर-59-61 के बीच रेलवे ट्रैक पर 40 करोड़ रुपये की लागत से छह लेन पुल बनाया जा रहा है। पुल की आधारशिला मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने 8 जून 2008 को रखी थी। तब अधिकारियों ने बताया था कि पुल को बनाने का लक्ष्य 18 महीने निर्धारित किया गया है।
    -----------
    पुल पूरा न होने के लिए जनप्रतिनिधि दोषी हैं। यदि वे इसके निर्माण में रुचि लेते तो यह तय समय में बनकर तैयार हो जाता और इसका लोग लाभ उठाते।
    -अवतार सिंह सारंग, गांव साहुपुरा।
    -----------
    रेलवे पुल तैयार न होने से फरीदाबाद का विकास रुक गया है। पुल के कारण बाइपास की कनेक्टिविटी राजमार्ग से न होने के कारण आइएमटी में अभी तक एक भी मदर यूनिट नहीं आई है। इसके लिए जनप्रतिनिधि जिम्मेवार हैं।
    -राजीव बंसल, बल्लभगढ़।
    -------------
    रेलवे पुल का निर्माण कार्य पूरा न होने से लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बाइपास पर लोग बदरपुर बार्डर से चलकर पुल तक पहुंच जाते हैं, जब पुल अधूरा दिखाई देता है तो फिर वहां से वापस गांवों के रास्तों से भटकते हुए राजमार्ग पर पहुंचते हैं।
    -वेद प्रकाश वशिष्ठ, बल्लभगढ़।
    ------------
    रेलवे पुल समय पर बन जाता तो इससे ग्रेटर फरीदाबाद का विकास तेजी से होता, जो अभी तक अधूरा पड़ा हुआ है। पुल न बनने से शहर की व्यावसायिक गतिविधियां भी काफी प्रभावित हुई हैं। राजमार्ग से ट्रकों को आने-जाने में खासी दिक्कत होती है। यदि पुल बन जाए तो फिर बाइपास से वाहनों को निकलने में परेशानी नहीं होगी। इसके लिए जनप्रतिनिधियों को सोचना चाहिए।
    -राजकुमार मंगला, आढ़ती, अनाज मंडी बल्लभगढ़।
    ---------
    रेलवे पुल के तैयार होने में अब अधिक समय नहीं है। पुल 31 अक्टूबर तक बनकर तैयार हो जाएगा। अब सिर्फ पुल को जोड़ने का काम शेष बचा है। पुल का निर्माण कई कारणों से लटका रहा।
    -सतपाल दहिया, कार्यकारी अभियंता, हुडा, फरीदाबाद।
    CommentQuote
  • मलेरना आरओबी के निर्माण में तेजी

    Sep 2, 2014, 08.00AM IST
    एनबीटी न्यूज, फरीदाबाद : बाईपास रोड को हाइवे से कनेक्ट करने के लिए बन रहे मलेरना रेलवे ओवर ब्रिज (आरओबी) काफी तेजी से चल रहा है। हूडा अधिकारियों का दावा है कि अक्टूबर महीने के अंत तक आरओबी का काम पूरा कर लिया जाएगा। उसके बाद इसे लोगों के लिए खोल दिया जाएगा। हूडा ने जहां रेलवे ओवर ब्रिज की एक साइड में स्लैब डालने का काम पूरा कर लिया है, वहीं दूसरी तरफ से अप्रोच रोड को ओवर ब्रिज से जोड़ने के लिए स्लैब डालने का काम शुरू कर दिया है। इसके साथ ही हूडा ने मलेरना आरओबी के आगे जाजरु गांव के पास भी खाली पड़ी हुई जमीन पर रोड बनाने का काम शुरू कर दिया है। जमीन पर स्टे होने के कारण हूडा फिलहाल यहां पर सिंगल रोड बनाने का काम कर रहा है। इसके साथ ही हूडा ने हाइवे पर उस जगह चौराहा बनाने की प्लानिंग भी शुरू कर दी है, जहां पर बाईपास रोड नैशनल हाइवे पर जाकर मिलेगा। कैली गांव में इस हिस्से पर चौराहा बनाने के लिए हूडा जल्द ही एनएचएआई से मंजूरी भी ले लेगा। हूडा ईएक्सईएन सतपाल दहिया ने बताया कि रेलवे ने अपने हिस्से का काम पूरा कर लिया है। अब हम लोगों ने भी काम में तेजी ला दी गई है। हम लोग अगले महीने के अंत तक आरओबी को पूरी तरह से तैयार कर इसे लोगों के आवागमन के लिए खोल देंगे।
    CommentQuote
  • ^^^^
    I dont think it can be operational before Mar15
    CommentQuote