One more day has gone.. with hope I travel daily that it would be cleared and the road promised to us (Greater Fairdabad) would become a reality ... Every evening I come back from the same Jam same congested enchroached road near sector 29...kehri pull ...that 1km stretch that big pain in ASSS...

hearing LAZY HUDA will demolish it to make wider road ... but its been 2years now ....every time there is a news, in hindi papers n nothing in concerte ...

Those slum dewellers mock me everyday like others ... they stand on my way and tease me ... i feel cheated as I paid my hard earned money ... EDC , which is used to build thier EWS, I pay taxes to build infra of the nation ....but they take that money as compensation .... i feel pitty ....

I wonder they are poor or am I ? as they have cars, they afford mutton chicken everyday i guess drinks too ... they have no liability to pay hefty electrcity and DG charges , I paid amount for my car parking and they freely parked thier entire family on the road (thats free of cost).. .......the list goes on and on ... than I think its not only my story its the story of this nation..... its a failure of goverment


but I will start my journey tomorrow again with hope.... One day I will get what I was Promised
Read more
Reply
563 Replies
Sort by :Filter by :
  • If faridabad stops to supply water to Delhi then half of South Delhi with die from thirst. It's politics
    CommentQuote
  • http://www.bhaskar.com/news/HAR-FAR-OMC-MAT-latest-faridabad-news-021503-2342722-NOR.html

    सिंचाई विभाग की जमीन से हटाई 650 झुग्गियां
    Bhaskar News Network | Apr 06, 2017, 02:15 IST


    फरीदाबाद| सेक्टर-8बाइपास रोड पर बुधवार को सिंचाई विभाग की जमीन से अवैध निर्माण हटाया गया। विभाग द्वारा भारी पुलिस बल की मौजूदगी में तोड़फोड़ की कार्रवाई की गई। कार्रवाई के दौरान लगभग 650 झुग्गियों को हटा दिया गया। बाइपास रोड और गुड़गांव नहर के बीच में सिंचाई विभाग की काफी जमीन है। सेक्टर-8 के पास विभाग की जमीन पर लगभग हजार झुग्गियां हैं। इन्हें हटाने के लिए कई बार कार्रवाई की जा चुकी है, लेकिन लोग फिर से निर्माण कर लेते हैं। पिछले दिनों सतर्कता एवं निगरानी कमेटी की बैठक में केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर डीसी समीरपाल ने इस विषय में सिंचाई विभाग के अधिकारियों को फटकार भी लगाई थी और जमीन को खाली कराने के लिए कहा था। बुधवार को विभाग ने मौके पर तोड़फोड़ की कार्रवाई की। सिंचाई विभाग के कार्यकारी अभियंता बीएस रावत ने बताया कि कार्रवाई के दौरान हमने लगभग 650 झुग्गियों को हटा दिया है। बची हुई झुग्गियों को हटाने के लिए आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी। उन्होंने कहा जमीन पर दोबारा अवैध निर्माण हो, इसके लिए कंटीले तार की बाड़ लगाई जाएगी। इसके साथ ही जमीन पर गहरे गड्ढे भी खोदे जाएंगे।

    CommentQuote
  • CommentQuote
  • http://navbharattimes.indiatimes.com...w/58055315.cms

    दो दिन में हटा दीं 1000 झुग्गियां

    | Updated: Apr 7, 2017, 08.00AM IST


    बाईपास रोड पर सेक्टर 8 के सामने बनी झुग्गियों को हटाने के लिए सिंचाई विभाग की कार्रवाई दूसरे दिन भी जारी रही। गुरूवार को विभाग ने अपनी जमीन से सभी झुग्गियों को हटा दिया। सेक्टर 8 के पास बाईपास रोड और गुड़गांव नहर के बीच में सिंचाई विभाग की खाली जमीन पर लगभग 1000 झुग्गियां थीं। बुधवार को कार्रवाई कर लगभग 650 झुग्गियों को हटाया गया। वहीं गुरूवार को बची हुई झुग्गियों को हटाने के लिए फिर से कार्रवाई की गई। सिंचाई विभाग के ईएक्सईएन वीएस रावत ने बताया कि बुधवार को जिन झुग्गियों को हटाया गया था, उनमें से काफी लोगों ने रात को दोबारा से तिरपाल डालकर जमीन पर कब्जा कर लिया था। वन विभाग की ओर से शुक्रवार को भी खाली हुई जमीन पर पौधे लगाए जाएंगे।
    CommentQuote
  • http://www.bhaskar.com/news/HAR-FAR-...90492-NOR.html

    बाइपास बनेगा सिग्नल फ्री कॉरिडोर, खर्च होंगे 400 करोड़ रुपए, पांच लाख लोगों को मिलेगा फायदा

    May 05, 2017, 07:12 IST

    फरीदाबाद.एनएच-2 की तरह बाइपास सिक्सलेन रोड भी सिग्नल फ्री कॉरिडोर बनेगा। सीएम मनोहर लाल ने बल्लभगढ़ में हुई विकास रैली में इसकी घोषणा की थी। इस योजना को पंचकूला हेडक्वार्टर से हरी झंडी मिल गई है। बदरपुर बॉर्डर से कैली गांव तक 26 किलोमीटर लंबी इस सड़क को सिग्नल फ्री बनाने के लिए हुडा ने प्रारंभिक एस्टीमेट भी तैयार कर लिया है। करीब 400 करोड़ रुपए की लागत इसके निर्माण पर आएगी। दिल्ली से सीधे आगरा की ओर जाने वाले वाहन चालकों के लिए फरीदाबाद शहर में एनएच-2 के बाद यह दूसरा वैकल्पिक मार्ग होगा। इनके अलावा ग्रेटर फरीदाबाद में रह रहे लोगों की कनेक्टिविटी और मजबूत हो जाएगी। करीब 5 लाख लोगों को सीधे तौर पर इसका फायदा मिलेगा।
    बदरपुर बॉर्डर से कैली गांव तक एनएच-2 पर दूरी 20 किलोमीटर से कम है लेकिन बाइपास रोड की लंबाई कैली गांव तक 26 किलोमीटर बैठ जाती है। इस लिहाज से एनएच-2 पर अभी जितने फ्लाईओवर बने हैं, वीयूपी बने हैं, उतने ही फ्लाईओवर, वीयूपी बाइपास पर बनने चाहिए। बाइपास रोड पर जंक्शन प्वाइंट बहुत कम हैं। इसलिए यहां फ्लाईओवर और वीयूपी की संख्या कम रखी गई है। बाइपास रोड पर 5 फ्लाईओवर, तीन वीयूपी, दो फुटओवर ब्रिज बनाने की डीपीआर तैयार की जा रही है।

    यात्रियों के लिए बनेंगे क्यूशेल्टर

    हुडा ने प्रस्ताव सिक्स लेन बाइपास के दोनों तरफ बस और ऑटो की सवारी के लिए क्यू शेल्टर बनाने का भी निर्णय लिया है। एनएच-2 पर क्यू शेल्टर की कमी लोगों को अभी खल रही है। बाइपास रोड फरीदाबाद के पुराने पॉश क्षेत्र और ग्रेटर फरीदाबाद के बीच लिंक सड़क है। इस पर ट्रैफिक का दबाव एनएच-2 के बराबर हो गया है। बाइपास रोड का प्रयोग नोएडा आने-जाने वाले लोग ज्यादा करते हैं। हरियाणा रोडवेज परिवहन निगम की बस के अलावा प्राइवेट बस और ऑटो बाइपास रोड पर बहुत ज्यादा चलते हैं। धूल-धूप और बरसात से लोगों को बचाने के लिए बाइपास रोड पर प्रत्येक दो किलोमीटर पर क्यू शेल्टर बनाने का निर्णय लिया है।
    कहां क्या बनेगा
    हुडा जो डीपीआर तैयार कर रहा है, उसके तहत पल्ला पुल, सेक्टर-28-29 चौक, खेड़ी पुल, बीपीटीपी पुल, तिगांव पुल पर फ्लाईओवर बनेंगे। सेक्टर-30 पुलिस लाइन, सेक्टर-8 वाईएमसीए और आईएमटी के निकट व्हीकल अंडर पास बनेगा। फुटओवर ब्रिज के लिए अभी सर्वे चल रहा है।

    4 मीटर चौड़ा साइकिल ट्रैक भी बनेगा

    बाइपास सड़क के एक तरफ 4 मीटर चौड़ा साइकिल ट्रैक भी बनाया जाएगा। हुडा की टीम सर्वे कर रही है कि बाइपास पर घनी आबादी वाला क्षेत्र कौन सा है, जहां साइकिल पर चलने वालों की संख्या बहुत ज्यादा होती है। सर्वे पूरा होने के बाद साइकिल ट्रैक कहां तक बनना है, यह तय होगा।

    दोनों तरफ ग्रीन बेल्ट, फूल अौर फलदार वृक्ष लगेंगे

    जिस तरह चंडीगढ़ में सड़क के साथ ग्रीन बेल्ट और छायादार वृक्ष लोगों का मन लुभाते हैं, वैसे ही बाइपास रोड के दोनों तरफ ग्रीन बेल्ट विकसित होगी। इसमें फलदार पौधे लगाए जाएंगे। इसके अलावा फूलदार पौधे भी लगेंगे। ग्रीन बेल्ट विकसित करके न केवल वायु प्रदूषण को नियंत्रण किया जाएगा बल्कि इसके कारण सौंदर्यीकरण भी बढ़ेगा।
    CommentQuote
  • that was an unexpectedly swift move on the part of govt. to improve the bypass road. Where did the push for it come from? This is a big news...
    CommentQuote
    1 Comments
    • faridabadfan2 years ago
      the news is good.. but i join you in raising this question - where did the push for it come from ?
  • https://www.bhaskar.com/news/HAR-FAR-OMC-MAT-latest-faridabad-news-040003-56223-NOR.html
    CommentQuote
  • फरीदाबाद|दिल्ली-एनसीआर कीबेहतर कनेक्टिविटी के लिए स्मार्ट सिटी में बाइपास रोड पहला वर्ल्ड क्लास स्मार्ट रोड बनाया जाएगा। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत
    CommentQuote