What is the current status to enhance the connectivity between existing Sectors and Neharpar sectors.

Apart from Khedi Bridge and BPTP private bridge, how many other bridges are in pipeline? Especially sector 86/81 dividing road , I heard is getting connectivity from sector 16/17 dividing road.

Please provide updates.
Read more
Reply
462 Replies
Sort by :Filter by :
  • Hi
    Greetings

    Based on this RTI revert, I think GFWA lawyer can present the facts in front of the Honble High court regarding delays in such important projects for which HUGE AMOUNT of EDC/IDC has been collected by govt.

    Why budgets are not being approved and why Tenders being awaited since so long for the bridges?? Why were licenses issued for providing habitation for 1000s of families while their was no existing INFRA or planning for the same on ground.

    Similarly RTI asking about planning/tender for Master water pipeline, Master Sewerage, Effluent Treatment Plant, Electrical Substations, etc should also be filed

    Point here to note is that why govt did not pay any heed to infra development for 7 long years while 1000s of acres were licensed to private builders and EDC increased Retrospectively without any work.

    Cheers
    CommentQuote
  • पुलों और रोड का बजट मंजूरी के लिए भेजा - Bridges and road forward for approval of the budget - Navbharat Times


    पुलों और रोड का बजट मंजूरी के लिए भेजा


    एनबीटी न्यूज ॥ फरीदाबाद : ग्रेटर फरीदाबाद को फरीदाबाद से जोड़ने के लिए आगरा नहर पर बनने वाले 4 पुलों का बजट हूडा ने मंजूरी के लिए उच्च अधिकारियों के पास भेज दिया है। इसके अलावा आगरा नहर के साथ बने हुए रोड को चौड़ा करने का बजट भी मंजूरी के लिए भेजा गया है। बजट को मंजूरी मिलने के बाद पैसा यूपी सिंचाई विभाग को सौंप दिया जाएगा। इसके बाद पुलों और सड़क को चौड़ा करने का काम शुरू होगा। ग्रेटर फरीदाबाद और फरीदाबाद के बीच आगरा व गुड़गांव नहर पर चार पुलों का निर्माण किया जाना है। आगरा नहर पर बनने वाले पुलों के निर्माण के लिए यूपी सिंचाई विभाग ने हूडा से 43 करोड़ रुपये मांगे हैं। इसके साथ आगरा नहर के साथ बने हुए रोड को सेक्टर-75 के पास तिगांव पुल से कालिंदी कुंज की तरफ फरीदाबाद की सीमा तक चौड़ा करने के लिए लगभग 42 करोड़ रुपये मांगे हैं। दोनों योजनों के लिए बजट को हूडा ने मंजूरी के लिए उच्च अधिकारियों के पास भेज दिया है। हूडा एसई टी. डी. चोपड़ा ने बताया कि रोड को चौड़ा करने और पुलों के निर्माण के लिए बजट मंजूरी के लिए भेज दिया गया है। जल्द ही बजट को मंजूरी मिल जाएगी।
    CommentQuote
  • मंजूरी के लिए भेजी पुलों की डिजाइन - Sent for approval of the design of bridges - Navbharat Times

    मंजूरी के लिए भेजी पुलों की डिजाइन

    एनबीटी न्यूज ॥ फरीदाबाद
    गुड़गांव व आगरा नहर पर बनने वाले चार पुलों का निर्माण कार्य जल्द शुरू कराने की कवायद हूडा ने तेज कर दी है। हूडा ने चारों पुलों के डिजाइन को उच्च अधिकारियों के पास मंजूरी के लिए भेज दिया है। हाल ही में यूपी सिंचाई विभाग ने डिजाइन हूडा अधिकारियों के पास जमा कराए थे। पुलों के डिजाइन और बजट को मंजूरी मिलने के तुरंत बाद पुलों का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा।
    ग्रेटर फरीदाबाद और फरीदाबाद को जोड़ने के लिए आगरा और गुड़गांव नहर पर 4 पुलों का निर्माण किया जाना हैं। आगरा नहर पर पुलों का निर्माण यूपी सिंचाई विभाग को करना है। पुलों के निर्माण में आने वाली लागत का ब्यौरा पिछले दिनों यूपी सिंचाई विभाग ने हूडा को दिया था। चारों पुलों के डिजाइन भी हूडा को सौंप दिए थे। हूडा ने डिजाइन को मंजूरी के लिए उच्च अधिकारियों के पास भेज दिया है। हूडा अधिकारियों के मुताबिक, यूपी सिंचाई विभाग ने आईआईटी रुड़की से पुलों का डिजाइन तैयार कराया है। पुलों का डिजाइन तैयार करने के लिए हूडा ने यूपी सिंचाई विभाग को 50 लाख रुपये दिए थे। अधिकारियों के अनुसार नहर पर चार सिक्स लेन पुलों का निर्माण किया जाना है, जिस पर लगभग 43 करोड़ रुपये खर्च किए जाने हैं। अधिकारियों द्वारा जल्द से जल्द डिजाइन को मंजूरी मिलने की बात कही जा रही है। हूडा ईएक्सईएन सतपाल दहिया ने बताया कि आगरा नहर पर बनने वाले चारों पुलों के डिजाइन मंजूरी के लिए उच्च अधिकारियों के पास भेजे जा चुके हैं। डिजाइन और बजट को मंजूरी मिलने के बाद पैसा यूपी के अधिकारियों को जारी कर दिया जाएगा, जिसके बाद पुलों का निर्माण कार्य शुरू हो सकेगा।
    CommentQuote
  • ग्रेएफ से आवागमन होगा आसान
    link Dainik Jagran E- Paper - city. Local news from 37 locations on Dainik Jagran Yahoo! India E-paper
    जागरण संवाद केंद्र, फरीदाबाद : ग्रेटर फरीदाबाद से शहर की ओर आना-जाना अब और आसान हो जाएगा। इसके लिए आगरा व गुड़गांव नहर पर चार नए पुल बनाने की प्रक्रिया ने रफ्तार पकड़ ली है। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (हुडा) को उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग ने आगरा नहर पर चार जगह बनने वाले पुलों का डिजाइन सौंप दिया है। हुडा ने इन डिजाइन को मंजूरी के लिए हुडा मुख्यालय भेज दिया है। मालूम हो कि ग्रेटर फरीदाबाद में सेक्टर-75 से 89 तक 15 नए सेक्टर विकसित किए जा रहे हैं। फिलहाल यहां से आने-जाने के लिए पल्ला पुल व खेड़ी पुल सहित बीपीटीपी पुल ही मुख्य रास्ता है। इन 15 नए सेक्टरों में हजारों फ्लैट व प्लाट निजी बिल्डरों द्वारा तैयार किए जा चुके हैं। निजी बिल्डरों द्वारा तैयार कई ग्रुप हाउसिंग सोसायटी में तो लोगों ने रहना भी शुरू कर दिया है। निजी बिल्डरों ने सरकार को इन सेक्टरों के चारों तरफ मूलभूत सुविधाएं जुटाने के लिए बाह्य विकास शुल्क के रूप में बड़ी राशि दी है। हालांकि सरकार बाह्य विकास शुल्क की राशि से अभी तक ग्रेटर फरीदाबाद में मास्टर रोड तैयार करने का काम भी पूरा नहीं कर पाई है। इससे यहां के बिल्डर जहां अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे हैं वहीं इन सेक्टरों में निवेश कर चुके लोग ठगे हुए महसूस कर रहे हैं। वहीं अब फरीदाबाद शहर से ग्रेटर फरीदाबाद के बीच में बह रही आगरा व गुड़गांव कैनाल पर चार नए पुलों के निर्माण की प्रक्रिया में तेजी आने से बिल्डर लॉबी सहित निवेशकों को राहत मिलेगी। शहर से बेहतर कनेक्टिविटी होने पर इस क्षेत्र में थमे हुए प्रॉपर्टी कारोबार में भी तेजी आने की संभावना है। यहां बनेंगे चार नए पुल : इन चार पुलों की महत्वाकांक्षी योजना हुडा ने तैयार की थी। इसके चलते हुडा ने हरियाणा व उत्तर प्रदेश के सिंचाई विभाग के अधिकारियों से दोनों नहरों पर पुल बनाने की बात की। दोनों विभाग पुल बनाने के लिए सहमत हो गए। पुल बनाने के लिए मवई गांव के पास, तिगांव रोड माडर्न दिल्ली पब्लिक स्कूल के सामने, गांव बुढ़ैना के पास और सेक्टर-75 गांव बड़ौली के पास जगह सुनिश्चित की गई है।
    CommentQuote
  • Guys, what do you think. Is it possible that tenders for all 4 bridges are floated by the end of this year? Kindly give your thoughts along with your reasons. It will be a good discussion.
    CommentQuote
  • Hopefully before the elections!!! However i am not sure on the time frame that was taken to build the bridge near IMT. I assume it was quite quick.
    CommentQuote
  • Originally Posted by miketest
    Guys, what do you think. Is it possible that tenders for all 4 bridges are floated by the end of this year? Kindly give your thoughts along with your reasons. It will be a good discussion.


    Hi
    Greetings

    Wish they would but cannot trust until find the financial approvals, tender floated and awarded.

    Design tayaar ho gaya hai.. mitti bharne ki tayaari ho gayi hai.. engineer ne narikshan kar liya hai.. pandit ji nein haan bhar di hai... are all bogus speculative news in hindi newspapers of nil credence.

    These bridges are a must and these should have been awarded by now.

    Cheers
    CommentQuote
  • गुड़गांव नहर पर बेखटके बनेंगे चारों पुल
    गुड़गांव नहर पर बेखटके बनेंगे चारों पुल - 'll Defiantly at around Gurgaon canal bridge - Navbharat Times
    Mar 3, 2013, 08.00AM IST
    एनबीटी न्यूज॥ फरीदाबाद
    फरीदाबाद और ग्रेटर फरीदाबाद को जोड़ने के लिए बनने वाले पुलों के निर्माण में पेड़ों के कारण आने वाली रुकावट को दूर करने के लिए हूडा ने कवायद शुरू कर दी है। गुड़गांव नहर पर बनने वाले 3 पुलों के रास्ते में आने वाले पेड़ों को हटाने के लिए हूडा जल्द ही वन विभाग के पास पैसे जमा करा देगा। इसके लिए 18.75 लाख रुपये का बजट तैयार किया गया है। वहीं, चौथे पुल के लिए वन विभाग को 6.25 लाख रुपये पहले ही दिए जा चुके हैं।
    गौरतलब है कि ग्रेटर फरीदाबाद और फरीदाबाद को जोड़ने के लिए आगरा व गुड़गांव नहर पर 4 पुलों का निर्माण किया जाना है। गुड़गांव नहर पर बनने वाले पुलों के सामने लगभग 0.64 हेक्टेयर जमीन पर पेड़ लगे हुए हैं। इन्हें काटे बिना पुलों का निर्माण पूरा नहीं हो सकता है। पेड़ों को जल्द से जल्द रास्ते से हटाने के लिए हूडा ने प्रयास शुरू कर दिए हैं। फिलहाल सेक्टर-3 और 8 की डिवाइडिंग रोड के पास गुड़गांव नहर पर पुल का निर्माण कार्य चल रहा है। इसके सामने से पेड़ों को हटाने के लिए हूडा ने वन विभाग को 6.25 लाख रुपये सौंप दिए हैं। वहीं, बाकी 3 पुलों के लिए हूडा जल्द ही लगभग 18.75 लाख रुपये वन विभाग को दे देगा। पैसा पहुंचने के बाद पेड़ों को काटने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी और पुलों के रास्ते में किसी प्रकार की रुकावट नहीं आएगी। आगरा नहर पर पुल बनाने का काम यूपी सिंचाई विभाग करेगा। हूडा अधिकारियों के मुताबिक, आगरा नहर पर बनने वाले पुलों के रास्ते में आने वाले पेड़ों को हटवाने की जिम्मेदारी भी यूपी सिंचाई विभाग के अधिकारियों की ही होगी।
    हूडा एसई टी. डी. चोपड़ा ने बताया कि पुलों के निर्माण में पेड़ों को बाधा नहीं बनने दिया जाएगा। एक पुल के पेड़ों को हटाने के लिए वन विभाग को रकम दे दी गई है। जल्द ही, दूसरे पुलों का पैसा भी संबंधित विभाग के पास भेज दिया जाएगा।
    CommentQuote
  • Saw the board in front of the bridge site sec 75 ,completion date mentioned was Dec 2013....does anyone has details whether tenders are called or passed....has anyone filed rti in this regards
    CommentQuote
  • Bless u bhai throw sum light
    CommentQuote
  • Originally Posted by flathunt
    Bless u bhai throw sum light


    Hi
    Greetings

    Even the smallest of progress brightens up the prospects of Neharpar like rain falling on parched land.

    These dates however have no relevance in sarkari works, unless there is some vested interest being couriered by babus at the instance of politicians/builders.

    Bottom line is, if one has holding capacity, stay invested or if planning to invest, projects where title of property is available and quality of construction/connectivity can be checked.

    Cheers
    CommentQuote
  • Hi
    Greetings

    Is this some kind of shadow from clouds bearing water in them??;);)

    Is this a possibility in near future??


    Cheers
    Attachments:
    CommentQuote
  • if this happen , NP can beat DEW
    CommentQuote
  • NP can beat DEW without this happeing as well
    CommentQuote
  • CommentQuote