Announcement

Collapse
No announcement yet.

Greater Faridabad News Updates Progress

Collapse
This is a sticky topic.
X
X
Collapse

Greater Faridabad News Updates Progress

Last updated: January 24 2018
204 | Posts
  • Time
  • Show
Clear All
new posts
  • #21

    #21

    Re : Greater Faridabad News Updates Progress

    सीवर लाइन के काम की बढ़ी डेडलाइन

    Jan 2, 2014, 08.00AM IST

    सचिन हुड्डा ॥ फरीदाबाद
    ग्रेटर फरीदाबाद में सीवर लाइन डालने का काम अब लगभग चार महीने देरी से पूरा होगा। काम को पूरा करने के लिए हूडा ने नई डेडलाइन जून 2014 तय कर दी है। अभी तक यह काम फरवरी के अंत तक पूरा किया जाना था। हूडा ने अभी तक लगभग 15 किलोमीटर एरिया मंे सीवर लाइन डालने का का पूरा कर लिया है, जबकि ग्रेटर फरीदाबाद में 31.865 किलोमीटर लंबी सीवर लाइन डालने का काम किया जाना है।
    ग्रेटर फरीदाबाद में कुल 31.865 किलोमीटर लंबी सीवर लाइन डाली जानी है। पिछले साल नवंबर तक इसमें से 11.641 किलोमीटर सीवर लाइन डालने का काम पूरा किया जा चुका था। दिसंबर महीने तक लगभग 15 किलोमीटर लंबी लाइन डालने का काम पूरा हो चुका है। यहां पर सीवर लाइन में 797 सीवर मैन हॉल बनाए जाने हैं, जिसमें से 128 का निर्माण पूरा किया जा चुका है। मार्च 2012 में सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने सीवर लाइन डालने के काम का शिलान्यास किया था। उसके बाद सितंबर 2012 में सीवर लाइन डालने का काम शुरू कर दिया गया है। उस समय काम पूरा करने के लिए फरवरी 2014 डेडलाइन तय की गई है। लेकिन अभी तक काफी काम होना बाकी है, जिसके चलते हूडा ने सीवर लाइन का काम पूरा करने की डेडलाइन को बढ़ा दिया है। हूडा ईएक्सईएन भूपेंद्र सिंह ने बताया कि ग्रेटर फरीदाबाद में मास्टर रोड के साथ सीवर लाइन डालने का काम थोड़ा देरी से शुरू हो पाया है। इसलिए फरवरी महीने तक काम पूरा नहीं हो पाएगा। हम लोग जून महीने तक सीवर लाइन डालने का काम पूरा कर लेंगे।

    Comment

    • #22

      #22

      Re : Greater Faridabad News Updates Progress

      http://digitalimages.bhaskar.com/cph...1812-large.jpg
      Attached Files

      Comment

      • #23

        #23

        Re : Greater Faridabad News Updates Progress

        ग्रेटर फरीदाबाद में 2 एसटीपी का रास्ता साफ

        Jan 4, 2014, 08.00AM IST

        एनबीटी न्यूज ॥ फरीदाबाद
        ग्रेटर फरीदाबाद में 2 सीवेज ट्रीटमेंट प्लांटों (एसटीपी) के लिए जमीन अधिग्रहण का रास्ता साफ हो गया है। पिछले दिनों हूडा ने जमीन अधिग्रहण के लिए सेक्शन 4 लागू करने के बाद लोगों से आपत्तियां मांगी थीं। हूडा अधिकारियों के पास लगभग दो दर्जन आपत्तियां आई थीं, जिन्हें निपटा दिया गया है। उच्च अधिकारियांे से सेक्शन 6 का नोटिफिकेशन लागू करने की भी मंजूरी मिल चुकी है। एक-दो दिनों में सेक्शन 6 का नोटिफिकेशन लागू कर दिया जाएगा।
        हूडा ने ग्रेटर फरीदाबाद में दो सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाने की प्लानिंग की है। एक प्लांट सेक्टर-77 में और दूसरा सेक्टर-89 में बनाया जाना है। दोनों के लिए हूडा को लगभग 34.88 एकड़ जमीन का अधिग्रहण करना है। इसमें से 11.49 एकड़ जमीन का अधिग्रहण सेक्टर-77 में बनने वाले प्लांट के लिए किया जाएगा। इस प्लांट की क्षमता 25 मिलियन गैलन होगी। सेक्टर-89 में बनने वाले प्लांट लिए 23.19 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया जाना है। इस प्लांट की क्षमता 85 मिलियन गैलन होगी। जमीन अधिग्रहण के लिए पिछले दिनों लागू किए गए सेक्शन 4 के अनुसार गांव पलवली में 23.19 एकड़ और गांव बादशाहपुर में 11.49 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया जाना है। सेक्शन चार के बाद लोगों से आपत्तियां मांगी गई थी। हूडा ने सभी आपत्तियों को दूर कर दिया है और अब सेक्शन 6 लागू करने की तैयारी की जा रही है। भूमि अर्जन अधिकारी राजेंद्र कुमार गहलोत ने बताया कि ग्रेटर फरीदाबाद में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांटों के लिए जमीन अधिग्रहण करने के लिए सेक्शन 6 के नोटिफिकेशन को मंजूरी मिल चुकी है। अगले एक या दो दिनों मंे सेक्शन 6 का नोटिफिकेशन लागू कर दिया जाएगा।

        Comment

        • #24

          #24

          Re : Greater Faridabad News Updates Progress

          हाईराइज बिल्डिंगों को भी मिलेगी फायर सेफ्टी

          Jan 4, 2014, 08.00AM IST

          पवन जाखड़ ॥ फरीदाबाद
          डिस्ट्रिक्ट डिजास्टर मैनेजमेंट कमिटी ने फायर डिपार्टमेंट को हाइड्रॉलिक प्लैटफॉर्म खरीदने के लिए कहा है। इससे जरूरत पड़ने पर हाईराइज बिल्डिंग में रहने वाले लोगों की मदद की जा सकेगी। कमिटी पदाधिकारी का कहना है कि अगर नगर निगम इसे खरीदने में सक्षम नहीं है तो फिर डिजास्टर मैनेजमेंट फंड से इसे खरीदा जाएगा। दूसरी तरफ नगर निगम ने इसको पास कर प्रस्ताव उच्चाधिकारियों के पास भेज दिया है।
          नगर निगम के तहत आने वाले फायर डिपार्टमेंट के पास वर्तमान में बड़ी और छोटी मिलाकर कुल 12 फायर ब्रिगेड हैं। इनमें से एक भी ऐसी नहीं है जो कि हाईराइज बिल्डिंग में जरूरत पड़ने पर आग बुझा सके या फिर लोगों का बचाव कर सके। फायर ऑफिसर बी. के. नंदा ने माना कि वर्तमान में जो फायर ब्रिगेड उपलब्ध हैं, वह ज्यादा से ज्यादा तीसरी मंजिल तक बचाव कार्य कर सकती हैं। दूसरी तरफ गे्रटर फरीदाबाद में तैयार हो रहे हाउसिंग प्रोजेक्ट्स में हाईराइज बिल्डिंग खड़ी हो चुकी हैं, जहां तक इन फायर ब्रिगेड की पहुंच नहीं है। जिला राजस्व अधिकारी और डिस्ट्रिक्ट डिजास्टर मैनेजमेंट कमिटी के नोडल ऑफिसर पी. डी. शर्मा ने बताया कि जिस तेजी के साथ ग्रेटर फरीदाबाद में हाईराइज बिल्डिंग खड़ी हो रही हैं, उनको देखते हुए जरूरी है कि फरीदाबाद के पास भी हाइड्रॉलिक प्लैटफॉर्म हो, जिससे आसानी से वहां जरूरत पड़ने पर आपदा प्रबंधन किया जा सके। उन्होंने कहा कि इसको लेकर कमिटी की तरफ से फायर डिपार्टमेंट को कहा गया है कि वह इसको खरीद लें। फायर ऑफिसर बी. के. नंदा ने बताया कि हाइड्रॉलिक प्लैटफॉर्म का प्रस्ताव नगर निगम ने पास कर उच्चाधिकारियों के पास भेज दिया है। उम्मीद है कि जल्द ही यह यहां पर आ जाएगा।

          Comment

          • #25

            #25

            Re : Greater Faridabad News Updates Progress

            Originally posted by pgarg2000 View Post
            हाईराइज बिल्डिंगों को भी मिलेगी फायर सेफ्टी

            Jan 4, 2014, 08.00AM IST

            पवन जाखड़ ॥ फरीदाबाद
            डिस्ट्रिक्ट डिजास्टर मैनेजमेंट कमिटी ने फायर डिपार्टमेंट को हाइड्रॉलिक प्लैटफॉर्म खरीदने के लिए कहा है। इससे जरूरत पड़ने पर हाईराइज बिल्डिंग में रहने वाले लोगों की मदद की जा सकेगी। कमिटी पदाधिकारी का कहना है कि अगर नगर निगम इसे खरीदने में सक्षम नहीं है तो फिर डिजास्टर मैनेजमेंट फंड से इसे खरीदा जाएगा। दूसरी तरफ नगर निगम ने इसको पास कर प्रस्ताव उच्चाधिकारियों के पास भेज दिया है।
            नगर निगम के तहत आने वाले फायर डिपार्टमेंट के पास वर्तमान में बड़ी और छोटी मिलाकर कुल 12 फायर ब्रिगेड हैं। इनमें से एक भी ऐसी नहीं है जो कि हाईराइज बिल्डिंग में जरूरत पड़ने पर आग बुझा सके या फिर लोगों का बचाव कर सके। फायर ऑफिसर बी. के. नंदा ने माना कि वर्तमान में जो फायर ब्रिगेड उपलब्ध हैं, वह ज्यादा से ज्यादा तीसरी मंजिल तक बचाव कार्य कर सकती हैं। दूसरी तरफ गे्रटर फरीदाबाद में तैयार हो रहे हाउसिंग प्रोजेक्ट्स में हाईराइज बिल्डिंग खड़ी हो चुकी हैं, जहां तक इन फायर ब्रिगेड की पहुंच नहीं है। जिला राजस्व अधिकारी और डिस्ट्रिक्ट डिजास्टर मैनेजमेंट कमिटी के नोडल ऑफिसर पी. डी. शर्मा ने बताया कि जिस तेजी के साथ ग्रेटर फरीदाबाद में हाईराइज बिल्डिंग खड़ी हो रही हैं, उनको देखते हुए जरूरी है कि फरीदाबाद के पास भी हाइड्रॉलिक प्लैटफॉर्म हो, जिससे आसानी से वहां जरूरत पड़ने पर आपदा प्रबंधन किया जा सके। उन्होंने कहा कि इसको लेकर कमिटी की तरफ से फायर डिपार्टमेंट को कहा गया है कि वह इसको खरीद लें। फायर ऑफिसर बी. के. नंदा ने बताया कि हाइड्रॉलिक प्लैटफॉर्म का प्रस्ताव नगर निगम ने पास कर उच्चाधिकारियों के पास भेज दिया है। उम्मीद है कि जल्द ही यह यहां पर आ जाएगा।

            Itni jaldi kya hai. Do chaar buildings mein aag lag jane do, phir planning kar lena fire brigade ki.

            I'm surprised how things work in our country. The govt. was giving licenses to buildings since 2005, but never cared to plan for essential services like Fire Brigade and Police for these areas. So sad.

            Comment

            • #26

              #26

              Re : Greater Faridabad News Updates Progress

              मार्च नहीं, अब सितंबर तक पूरा होगा काम

              Jan 7, 2014, 08.00AM IST

              एनबीटी न्यूज ॥ फरीदाबाद
              ग्रेटर फरीदाबाद में बन रही स्टॉर्म वॉटर ड्रेन का काम अभी और लंबा चलेगा। काम काफी धीमी गति से चलने के कारण मार्च 2014 की डेडलाइन को बढ़ाकर अब सितंबर 2014 कर दिया गया है। हूडा अधिकारियों का कहना है कि आने वाले दिनों में काम में तेजी लाई जाएगी।
              गौरतलब है कि बारिश के दिनों में शहर की सड़कों पर जलभराव की समस्या आम हो जाती है। ग्रेटर फरीदाबाद के सेक्टरों में इस तरह की समस्या न हो, इसके लिए हूडा ने यहां पर स्टॉर्म वॉटर ड्रेन बनाने का काम शुरू किया हुआ है। मास्टर रोड के साथ बनने वाली ड्रेन पर हूडा 144 करोड़ रुपये खर्च कर रहा है। एस्टिमेट को मंजूरी मिलने के बाद अप्रैल 2013 में ड्रेन बनाने का काम शुरू किया गया था। उस समय इसकी डेडलाइन मार्च 2014 तय की गई थी, लेकिन काम की धीमी गति के कारण अब हूडा ने इसकी डेडलाइन को बढ़ाकर सितंबर 2014 कर दिया है। ड्रेन का काम पूरा न होने से कई जगहों पर मास्टर रोड का काम भी प्रभावित हो रहा है। वहीं, हूडा अधिकारियों का कहना है कि आने वाले दिनों में ड्रेन बनाने के काम में तेजी लाई जाएगी।
              वर्जन
              कई कारणों के चलते ग्रेटर फरीदाबाद में स्टॉर्म वॉटर ड्रेन का काम काफी देरी से शुरू हो पाया है। आने वाले दिनों में हम काम में और ज्यादा तेजी लाएंगे। सितंबर महीने तक काम पूरा कर लिया जाएगा। - सतपाल दहिया, हूडा ईएक्सईएन

              Comment

              • #27

                #27

                Re : Greater Faridabad News Updates Progress

                दो महीने में लग जाएंगी सभी स्ट्रीट लाइटें

                Jan 10, 2014, 08.00AM IST

                एनबीटी न्यूज ॥ फरीदाबाद : नहर पार डिवेलप हो रहे ग्रेटर फरीदाबाद में स्ट्रीट लाइटें लगाने का काम तेजी से किया जा रहा है। अभी तक हूडा ने लाइटें लगाने का लगभग 78 प्रतिशत काम पूरा कर लिया है। हूडा अधिकारियों का कहना है कि अगले दो महीने में स्ट्रीट लाइटें लगाने का काम पूरा कर लिया जाएगा। हूडा यहां लगभग 45 किलोमीटर लंबा मास्टर रोड तैयार कर रहा है। इस रोड पर पहले चरण में हूडा 29 किलोमीटर एरिया में स्ट्रीट लाइटें लगा रहा है। इस प्रोजेक्ट पर लगभग 5 करोड़ 11 लाख रुपये खर्च किए जा रहे हैं। यहां पर स्ट्रीट लाइटों के 850 खंभे खड़े किए जाने हैं। प्रत्येक खंभे पर 250 वॉट की दो सोडियम लाइटें लगाई जाएंगी। हूडा बिजली विंग एसडीओ जोगेंद्र सिंह का कहना है कि स्ट्रीट लाइटें लगाने का काम तेजी से किया जा रहा है। जिन जगहों पर रोड तैयार नहीं हैं, वहां पर काम करने में दिक्कत हो रही है। उम्मीद है कि हम अगले दो महीने में सारा काम पूरा कर लेंगे।

                Comment

                • #28

                  #28

                  Re : Greater Faridabad News Updates Progress

                  ग्रेटर फरीदाबाद के सेक्टरों में इंटरनल डिवेलपमेंट की तैयारी

                  Jan 13, 2014, 08.00AM IST

                  सचिन हुड्डा ॥ फरीदाबाद
                  नहर पार डिवेलप हो रहे ग्रेटर फरीदाबाद में अभी तक सेक्टरों की बाहरी डिवेलपमेंट का काम चल रहा है। अब हूडा ने सेक्टरों की अंदरूनी डिवेलपमेंट करने की प्लानिंग भी शुरू कर दी है। पहले चरण में हूडा सेक्टर-77 और 78 को डिवेलप करेगा। इसके लिए हूडा लगभग 100 करोड़ रुपये खर्च करेगा।
                  ग्रेटर फरीदाबाद में 15 नए सेक्टर डिवेलप किए जा रहे हैं। इनमें से हूडा ने 4 सेक्टरों की जमीन अधिग्रहण का काम पूरा कर लिया गया है। अब हूडा ने सेक्टरों की अंदरूनी डिवेलपमेंट शुरू करने की तैयारियां भी शुरू कर दी हैं। जिन सेक्टरों की जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया पूरी हो चुकी है और कब्जा लेने की प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी है, उन सेक्टरों में हूडा की ओर से अंदरूनी डिवेलपमेंट किया जाना है। हूडा ने पहले सेक्टर-77 और 78 में अंदरूनी डिवेलपमेंट करने की प्लानिंग की है। सेक्टर-77 और 78 की अंदरूनी डिवेलपमेंट पर हूडा लगभग 100 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसमें हूडा सेक्टर की अंदरूनी सड़कें बनाई जाएंगी, जो सेक्टरों को बाहरी सड़कों से कनेक्ट करेंगी। इसके अलावा अंदरूनी सीवर लाइन, वॉटर सप्लाई लाइन और बारिश के दौरान जल भराव की समस्या से निपटने के लिए स्ट्रॉम वॉटर ड्रेन लाइन डालने का काम किया जाएगा। हूडा अधिकारियों के अनुसार सेक्टरों की अंदरूनी डिवेलपमेंट के लिए एस्टिमेट तैयार किए जा चुके हैं, जिसमें से कुछ को मंजूरी भी मिल चुकी है। जल्द ही इनके लिए टेंडर की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। हूडा ईएक्सईएन राजीव शर्मा ने बताया कि ग्रेटर फरीदाबाद के सेक्टरों में अंदरूनी डिवेलपमेंट शुरू करने की प्लानिंग की जा रही है। इसके लिए एस्टिमेट तैयार किए जा चुके हैं। जल्द ही टेंडर की प्रक्रिया शुरू करने के बाद सेक्टरों के अंदर सड़कें, सीवर लाइन आदि बनाने का काम शुरू कर दिया जाएगा।

                  Comment

                  • #29

                    #29

                    Re : Greater Faridabad News Updates Progress

                    ग्रेफ को जगमग करेंगे 51 सब-स्टेशन


                    ब्यूरो
                    मंगलवार, 14 जनवरी 2014

                    नहर पार विकसित हो रहे ग्रेटर फरीदाबाद (ग्रेफ) और मास्टर प्लान-2031 के तहत बनने वाले नए सेक्टरों में बिजली की बेहतर सप्लाई देने की कवायद शुरू हो गई है। इसके तहत 51 नए सब स्टेशन बनाए जाने का फैसला लिया गया है।

                    सोमवार को नगर योजनाकार कार्यालय में हरियाणा बिजली प्रसारण निगम (एचवीपीएन) के अधिकारियों और नगर योजनाकार के बीच बैठक हुई। इसमें एसई (एनसीआर प्लानिंग) गुलशन नागपाल, एचवीपीएन के एसई एमसी त्यागी, नगर योजनाकार रेणुका सिंह एवं कार्यकारी अभियंता राजीव शर्मा मुख्य रूप से शामिल रहे।

                    बैठक के दौरान ग्रेफ व मास्टर प्लान-2031 के तहत बनने वाले सब स्टेशनों की साइटों को चिन्हित किया गया। बताया जाता है कि पहले जिन साइटों को चिन्हित किया गया था, उसे रद्द कर दिया गया है।

                    बिजली निगम के अधिकारियों ने हवाला दिया कि ग्रेटर फरीदाबाद के रूप में 15 नए सेक्टरों को लेकर पहले योजना तैयार की गई थी। लेकिन अब इस योजना में मास्टर प्लान-2031 को शामिल कर लिया गया है। इसलिए बदलाव जरूरी था।

                    इस बारे में बिजली निगम ने एक सर्वे कराया है, जिसमें मास्टर प्लान-2031 के तहत बनाए जाने वाले 71 नए सेक्टरों को भी शामिल किया गया है। यानी 51 सब-स्टेशन 86 सेक्टरों को जगमग करेंगे।

                    एचवीपीएन के एसई एमसी त्यागी ने कहा कि नगर योजनाकार से 400 केवी के सब स्टेशन के लिए 15-15 एकड़ जमीन मांगी गई है। जबकि 220 केवी के सब स्टेशनों के लिए चार-चार एकड़ जमीन मांगी गई है। 220 केवी के पांच सब स्टेशन आठ एकड़ में बनेंगे।

                    Comment

                    • #30

                      #30

                      Re : Greater Faridabad News Updates Progress

                      किसानों ने मांगा मुआवजा और नौकरी


                      कुंदन तिवारी
                      मंगलवार, 14 जनवरी 2014

                      ग्रेटर फरीदाबाद के दर्जन भर लोगों ने भूमि अर्जन प्रक्रिया में आपत्ति जताकर हुडा प्रशासन के सामने मुसीबत खड़ी कर दी है। किसानों ने कहा कि अगर सरकार को उनकी जमीन चाहिए तो उसे किसानों को नई दर से मुआवजा देना होगा, साथ ही जमीन देने वाले किसान परिवार के सदस्यों को नौकरी भी देनी होगी।

                      हुडा के भूमि अर्जन अधिकारी ने पूरी रिपोर्ट तैयार कर सरकार के पास विचार के लिए भेज दिया है। हुडा ने पिछले दिनों सेक्टर 72-73 की डिवाइडिंग रोड बनाने के लिए नीमका व मुर्तजापुर गांव में 10.625 एकड़ जमीन पर सेक्शन चार लागू किया था। जिस पर 30 दिन के भीतर किसानों से आपत्ति मांगी थी।

                      हुडा के पास तीन किसान परिवारों के 12 दावेदारों ने आपत्ति दर्ज कराई है। उसमें कहा गया है कि सरकार को अब अगर जमीन चाहिए तो उसे नई दर से मुआवजा राशि देनी होगी।

                      साथ ही गरीब किसानों के परिवार के सदस्यों को नौकरी भी देनी होगी। उसके बाद ही सरकार जमीन का अधिग्रहण कर सकती है। हुडा ने इस बारे में जो रिपोर्ट सरकार के पास भेजी है।

                      हुडा अधिकारियों के मुताबिक नीमका गांव में 6.25 एकड़ जमीन का अधिग्रहण होना है। जिसके लिए दो किसान परिवार दावेदार हैं। जिसमें पहली आपत्ति प्रकाश चंद व संतराम और दूसरी आपत्ति दानीराम सहित सात लोगों ने दर्ज कराई है। वहीं मुर्तजापुर में 4.375 एकड़ जमीन पर प्रहलाद सिंह, भूप सिंह और बीरपाल की आपत्ति आई है।

                      Comment

                      Have any questions or thoughts about this?
                      Working...
                      X