Hello
I am starting this new tread since a number of projects in CR are approaching the final 6 months of completion. Mahagaun recently paid penalty cheques to all the owners in Mascot for any delay .

Dumping ground issue is out of Dundaheda now and this has come in several news papers now .
NH 24 widening is sanctioned and tender is floated.Does any one have any thing to add .

I am an owner in Mahagun mascot project and am an end user. Would like to see a useful flow in information in this thread for the benefit of all .

Happy threading :)
Read more
Reply
8443 Replies
Sort by :Filter by :
  • Originally Posted by strutes
    ya i have seen and liked it. am i getting good price of Rs. 2700 per sq ft or is it steep?


    Why am I smelling something fishy here, which floor are you getting, is this all inclusive?
    CommentQuote
  • Originally Posted by strutes
    hi guys, I am buying a 2bhk flat (1000 sq ft) in Amrapali Empire in 27 Lakhs. Is it a good deal? Please let me know. Thanks in advance.


    Pakad lo bina der kiye :) if there are no hidden issues in this particular unit...R&D karlena bhai theek se...
    CommentQuote
  • Originally Posted by abhishek1980
    Pakad lo bina der kiye :) if there are no hidden issues in this particular unit...R&D karlena bhai theek se...

    Agree with Abhi

    @Struts
    Grab it Bro, Good deal and also you like it.
    rate is not steep rather lower side.

    Please check all original docs..
    CommentQuote
  • Originally Posted by strutes
    ya i have seen and liked it. am i getting good price of Rs. 2700 per sq ft or is it steep?


    Hi dear..if all docs are in place and property is bankable, trust..i would not mind having it 30 lacs, so an instant profit of Rs 3 lacs (price mentioned is negotiable on upward side) :) Do let me know if interested :):)
    CommentQuote
  • Originally Posted by pscr123
    you sounding very rest less bro :) probably much more than us... koi na wait till 5-6 somthing should come out..



    Wait for few more day is on table.

    ANSAL's matter alongwith case of CROMA and CIPL did not reach on board for hearing and accordingly it stands adjourned.

    Exact date of next date of listing shall be known from the case status on website which will be available by tomorrow.
    CommentQuote
  • Originally Posted by KaamDev
    Why am I smelling something fishy here, which floor are you getting, is this all inclusive?


    Coz i guess Amarpali is not in crossing society(main crossing) its a little out and kind of vacant.
    CommentQuote
  • Originally Posted by ashish1985
    Coz i guess Amarpali is not in crossing society(main crossing) its a little out and kind of vacant.

    Divyansh fabio is I guess also out of CR that way.
    CommentQuote
  • बिल्डर की मनमानी के विरोध में प्रदर्शन

    बिल्डर की मनमानी के विरोध में प्रदर्शन

    नवभारत टाइम्स | Apr 29, 2013, 05.35AM IST
    एनबीटी न्यूज॥ गाजियाबाद : क्रॉसिंग रिपब्लिक में बिल्डर की मनमानी के विरोध में रविवार को रेजिडेंट्स ने प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के बाद आरडब्ल्यूए प्रेजिडेंट गुरुमुख सिंह की अगुवाई में बिल्डर के प्रतिनिधि जी.के. चावला के साथ मीटिंग हुई।

    मीटिंग में बिल्डर ने मेंटनेंस चार्ज मांगा, जबकि रेजिडेंट्स चार्ज न देने पर अड़े रहे। बातचीत में कोई सहमति नहीं बन सकी। आरडब्ल्यूए फेडरेशन के महासचिव मनीष का कहना है कि फ्लैट आंटन के समय स्वीमिंग पूल, क्लब, भरपूर हरियाली और अच्छे फ्लैट का वादा किया गया था। इसे बिल्डर ने निभाया नहीं है।

    आरडब्ल्यूए ने मांगों पर ध्यान देने के लिए एक हफ्ते का वक्त दिया है। इसके बाद बड़ा आंदोलन शुरू करने की चेतावनी दी गई है।
    CommentQuote
  • डंपिंग ग्राउंड की जमीन के लिए कसरत तेज (हाई

    डंपिंग ग्राउंड की जमीन के लिए कसरत तेज

    Apr 29, 2013, 08.00AM IST
    नगर संवाददाता ॥ नवयुग मार्केट
    हाईटेक और इंटीग्रेटेड सिटी के लिए शहर से बाहर डंपिंग ग्राउंड बनाने के लिए कसरत तेज हो गई। इस प्रोजेक्ट के लिए करीब 35 एकड़ जमीन की जरूरत है। जीडीए को अभी तक करीब साढे़ 16 एकड़ जमीन मिल चुकी है।
    जीडीए में प्रोजेक्ट के प्रभारी ज्ञानेंद्र वर्मा ने बताया कि करीब साढ़े छह एकड़ जमीन बिल्डरों ने खरीदकर जीडीए के नाम रजिस्ट्री की है। इससे पहले करीब साढे़ दस एकड़ जमीन जीडीए को मिल चुकी है। बाकी की साढे़ 18 एकड़ जमीन के लिए जीडीए बिल्डरों पर दबाव बनाए हुए है कि जल्द से जल्द जमीन खरीदकर जीडीए के नाम रजिस्ट्री करे। उन्होंने बताया कि जमीन की कीमत जीडीए को बिल्डरों से ही लेनी थी। लेकिन गांव के आसपास के लोगों ने जीडीए के कम कीमत पर जमीन खरीदने का विरोध किया। इस पर जीडीए सीधे जमीन खरीदने से पीछे हट गया। इसके बाद नया प्लान बनाया गया, जिसमें जो बिल्डर इंटीग्रेटिड और हाईटेक सिटी डिवेलप कर रहे है उन्हें ही सीधे किसानों से जमीन खरीदकर जीडीए को देनी है।
    सिटी मेंे 2 जगह डंपिंग ग्राउंड बनाने का काम चल रहा है। पुराने शहर के लिए डंपिंग ग्राउंड फिलहाल डूंडाहेड़ा के पास बनाने का प्रस्ताव है। हालांकि इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में केस विचाराधीन है। हाईकोर्ट में नगर निगम इस केस को जीत चुका है। दूसरा डंपिंग ग्राउंड गाजियाबाद सिटी एरिया से बाहर बन रहा है। यह डंपिंग ग्राउंड गांव गालंद के पास बनेगा।
    CommentQuote
  • Some 5 floors are illegal in Amrapali empire, do your home work well.
    CommentQuote
  • Originally Posted by ManGupta
    डंपिंग ग्राउंड की जमीन के लिए कसरत तेज

    Apr 29, 2013, 08.00AM IST
    नगर संवाददाता ॥ नवयुग मार्केट
    हाईटेक और इंटीग्रेटेड सिटी के लिए शहर से बाहर डंपिंग ग्राउंड बनाने के लिए कसरत तेज हो गई। इस प्रोजेक्ट के लिए करीब 35 एकड़ जमीन की जरूरत है। जीडीए को अभी तक करीब साढे़ 16 एकड़ जमीन मिल चुकी है।
    जीडीए में प्रोजेक्ट के प्रभारी ज्ञानेंद्र वर्मा ने बताया कि करीब साढ़े छह एकड़ जमीन बिल्डरों ने खरीदकर जीडीए के नाम रजिस्ट्री की है। इससे पहले करीब साढे़ दस एकड़ जमीन जीडीए को मिल चुकी है। बाकी की साढे़ 18 एकड़ जमीन के लिए जीडीए बिल्डरों पर दबाव बनाए हुए है कि जल्द से जल्द जमीन खरीदकर जीडीए के नाम रजिस्ट्री करे। उन्होंने बताया कि जमीन की कीमत जीडीए को बिल्डरों से ही लेनी थी। लेकिन गांव के आसपास के लोगों ने जीडीए के कम कीमत पर जमीन खरीदने का विरोध किया। इस पर जीडीए सीधे जमीन खरीदने से पीछे हट गया। इसके बाद नया प्लान बनाया गया, जिसमें जो बिल्डर इंटीग्रेटिड और हाईटेक सिटी डिवेलप कर रहे है उन्हें ही सीधे किसानों से जमीन खरीदकर जीडीए को देनी है।
    सिटी मेंे 2 जगह डंपिंग ग्राउंड बनाने का काम चल रहा है। पुराने शहर के लिए डंपिंग ग्राउंड फिलहाल डूंडाहेड़ा के पास बनाने का प्रस्ताव है। हालांकि इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में केस विचाराधीन है। हाईकोर्ट में नगर निगम इस केस को जीत चुका है। दूसरा डंपिंग ग्राउंड गाजियाबाद सिटी एरिया से बाहर बन रहा है। यह डंपिंग ग्राउंड गांव गालंद के पास बनेगा।


    Man ji no offense...but these sort of news have become boring .... none of these news have name of news correspondent who covered it. GDA is doing kasrat for more than 10 years ... it is better to make it akhara....(mulayam singh is smiling)
    CommentQuote
  • Originally Posted by hb_78
    Man ji no offense...but these sort of news have become boring .... none of these news have name of news correspondent who covered it. GDA is doing kasrat for more than 10 years ... it is better to make it akhara....(mulayam singh is smiling)


    Noone in Noida Extension Sector 16 side or in Crossing Republic side wants it to materialise but ........


    ....... Taklwar to latki huyi hai ......
    CommentQuote
  • Originally Posted by Rohit_Agar
    Hi dear..if all docs are in place and property is bankable, trust..i would not mind having it 30 lacs, so an instant profit of Rs 3 lacs (price mentioned is negotiable on upward side) :) Do let me know if interested :):)


    I think you must know, GDA has sealed upper 5-6 floors (14th onward) few months ago. I dont know the current status. but considering past record of GDA it must be cleared in future after paying some penalty amount + buttering amount!!!!!
    CommentQuote
  • Originally Posted by sscorpio
    I think you must know, GDA has sealed upper 5-6 floors (14th onward) few months ago. I dont know the current status. but considering past record of GDA it must be cleared in future after paying some penalty amount + buttering amount!!!!!


    Again an example of how Crossings builders are known for doing illegal deeds, be it illgeal floors, eating green space or heavy maintance , they are no less than any
    CommentQuote
  • Originally Posted by sepulchar
    Again an example of how Crossings builders are known for doing illegal deeds, be it illgeal floors, eating green space or heavy maintance , they are no less than any


    Does anyone said they are not thief, all builders are same.

    However in crossing 80% are ready to move and owners has taken possession and started living hence defiantly comfort of buyer will be more than the under construction project where till you get the possession you don't know what you will be required to pay.

    Two of my relative is having flat in Puri Pranayam & Piyush height in Neher par area. At the time of Registry Puri has asked payment for Labour cess & escalation of Steel price although flat was booked when all the structure was ready. In Piyush they have sent letter that Super Area has got increased.

    Everywhere it is same story with builder may be way n process of cheating will be different.
    CommentQuote