Announcement

Collapse
No announcement yet.

Who say GDA do nothing to increase Greenery in GZB

Collapse
X
Collapse

Who say GDA do nothing to increase Greenery in GZB

Last updated: September 25 2011
5 | Posts
1913 | Views
  • Time
  • Show
Clear All
new posts

  • Who say GDA do nothing to increase Greenery in GZB

    Below new ECHO Park is in the final stage along Hindon river, it is just at the starting of RNE Express Way Cut. There is already a very big boating club on the other side of Hindon river at GT ROAD just after Hindon OLD Bridge. This boating club have more than 30 boats of every type at very nominal charges to use (Rs 50 for 30 minutes) with family. In this Boating club there is itself a very big children park and lot of children ghoole , entry fee in this boating club cum Entertainment Jone is just 10 rupees per person. All is managing GDA itself, hence cheaper. This new Echo park & already existing boating club is just 4-5 KM from the starting of main RNE residential societies. So do boating in the middle of summer season and enjoy with family.

    जुलाई से हिंडन के किनारे ईको पार्क का मजा
    31 May 2011, 0400 hrs IST

    Navbharat Times - Echo Park at Hindon for RNE

    नगर संवाददाता॥ नगर निगम

    सिटी में ईको पार्क का मजा जल्दी ही मिलने जा रहा है। इसके लिए अब केवल दो महीने का इंतजार बाकी है। पार्क के बन जाने के बाद हिंडन के किनारे लोगों को ग्रीनरी का मजा मिलेगा। इस प्रोजेक्ट पर करीब ढाई करोड़ रुपये खर्च हो रहे हैं।

    हिंडन नदी के किनारे करीब 40 बीघा जमीन में नगर निगम ईको पार्क बना रहा है। नगर निगम ने करीब एक साल पहले इस पार्क को बनाने का ठेका दिया था। पार्क को बनाने के लिए जल निगम कार्य करा रहा है। ईको पार्क को बनाने का कार्य तेजी के साथ चल रहा है।

    मेयर दमयंती गोयल का कहना है कि जल निगम इस प्रोजेक्ट को जुलाई तक पूरा करने की बात कर रहे हैं। इसके पूरा होते ही हिंडन नदी के किनारे यह ऐसा पहला पार्क होगा जहां लोगों को पूरी हरियाली का मजा मिलेगा। इस पार्क के पास ही करीब दो सौ बीघा जमीन में फैला साई उपवन क्षेत्र है।

    गत दिनों इस पार्क को विकसित करने के लिए चल रहे कार्य को देखने के लिए नगर आयुक्त बसंत लाल गए थे। जल निगम का कहना है कि पार्क को कुछ इस तरह से डिजाइन किया जाएगा कि वहां छाया दार पौधे भी लगाए जाएंगे। ताकी गर्मी के दौरान लोगों को प्राकृतिक छटा भी देखने को मिले। पार्क में एक सौ से ज्यादा प्रजाति के पेड़ भी देखने को मिलेंगे।
    Last edited May 31 2011, 04:34 PM.
  • #2

    #2

    Re : Who say GDA do nothing to increase Greenery in GZB

    हराभरा नजर आएगा महाराजपुर बॉर्डर
    30 May 2011, 0400 hrs IST

    Navbharat Times - हराभरा नजर आएगा महाराजपुर बॉर्डर

    एनबीटी न्यूज॥ महाराजपुर बार्डर
    महाराजपुर बॉर्डर पर पीडब्ल्यूडी ने पार्क में पौधे लगाने का काम शुरू कर दिया है। 2 लाख रुपये की लागत से पार्क में 1500 पौधे लगाए जाएंगे। पीडब्ल्यूडी के एक अफसर के मुताबिक पार्क बनाने से पहले यहां मिट्टी की भराई की गई है। अब पौधे लगाए जा रहे हैं। गमले रखे जाएंगे और पत्थरों से पार्क सुंदर भी बनाया जाएगा। पार्क की सुरक्षा के लिए चारों ओर लोहे की ग्रिल लगाने का काम पहले ही किया जा चुका है।

    आनंद विहार आईएसबीटी के सामने यू टर्न बंद करके यह पार्क डिवेलप किया जा रहा है। कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले ही इस पार्क का सौंदर्यीकरण किया जाना था लेकिन कुछ कारणों से यह काम उस वक्त नहीं हो सका। पार्क बनाने के लिए पहले यहां मिट्टी भरी गई और फिर चारों ओर लोहे की रेलिंग लगाई गई। अब यहां पौधे लगाने का काम किया जा रहा है।

    दरअसल महाराजपुर बॉर्डर से सीधे आनंद विहार आईएसबीटी तक जाने के लिए पैदल यात्री पार्क से होकर गुजर रहे थे क्योंकि फुट ओवरब्रिज का काम खत्म नहीं हो सका था। विभाग की योजना थी कि जब फुट ओवरब्रिज शुरू हो जाएगा , तो राहगीर इस पार्क से होकर नहीं गुजरेंगे। तभी यहां पौधे लगाने का फायदा होगा वरना पौधे पैरों तले कुचल जाएंगे। अब पैदल यात्रियों को रोकने के लिए पार्क के चारों ओर लोहे की रेलिंग लगा दी गई है।

    Comment

    • #3

      #3

      Re : Who say GDA do nothing to increase Greenery in GZB

      Coming up over 200 acres of land between Hindon Pushta and Raj Nagar Extension



      Coming up over 200 acres of land between Hindon Pushta and Raj Nagar Extension

      The Ghaziabad Development Authority (GDA) is all set to increase the green cover in the city. Besides going ahead with its annual plantation programme, it has proposed to develop a picnic spot over 200 acres of land between Hindon Pushta and Raj Nagar Extension.
      Some of the land in the marshy area near the riverbank belongs to Ghaziabad Nagar Nigam, UP Irrigation Department and some portion belongs to the farmers in the area.

      GDA incharge (horticulture), SC Sisodia said the area will be cleaned and developed after the land is acquired for the purpose. “We will begin the exercise in right earnest after June 15. The cost of the project is Rs 4.50 crore,“ he said.

      Sisodia said ornamental plants and shrubs of various varieties will be planted besides providing canopies, benches, swings and walkways at the picnic spot. He said a committee headed by the additional district magistrate (finance), Ghaziabad, has been constituted to work out the modalities of developing a city forest on 60 acres of land near Nandi Park.

      Sisodia said the parks, Ambedkar Park, Vaishali Park, Chitragupta Park and Krishna Vatika, which were destroyed in the process of providing the Metro rail service to Ghaziabad, will also be developed again.

      As for the annual plantation programme, Sisodia said GDA has set a target of planting 1.04 lakh plants from July to September this year.
      Ornamental plants and shrubs such as amaltas, gulmohar, alastonia, peepul, neem, jamun, chakresia, papri, gurhal, chandni, bougainvillea, will be planted in various parts of the city.

      However, skeptics feel that the plantation drive is not going to be any different from the similar exercises in the previous years by various agencies and will not show any major impact on the ground. “Lakhs of plants are sown in the district every year. But how many of them survive? It is an annual feature for the authorities. After planting a sapling they forget all about it. The people around the places where the plantation is done are equally callous. If we really care about our green cover, public participation is a must. Let each person adopt a few plants and nurture them,“ said Amitesh Sharma, a resident of Raj Nagar.

      Comment

      • #4

        #4

        Re : Who say GDA do nothing to increase Greenery in GZB

        सिटी में होगा पहला ईको फ्रेंडली पार्क
        26 Jun 2011, 0400 hrs IST
        आर्टिकल
        कॉमेंट्स





        नगर संवाददाता ॥ हिंडन


        हिंडन नदी के किनारे कुछ दिन बाद लोग सिटी के पहले ईको फ्रेंडली पार्क का मजा ले सकेंगे। करोड़ों रुपये की लागत से इस पार्क को आधुनिक तौर तरीकों से डिवेलप किया जा रहा है। करीब 8 एकड़ में इस पार्क को डिवेलप करने का काम अगले महीने पूरा होने की संभावना है। इसे जल निगम की कंस्ट्रक्शन एंड डिजाइन विंग तैयार करने में लगी है। इस प्रोजेक्ट पर आने वाला खर्च नगर निगम वहन कर रहा है।

        एयर फोर्स प्रशासन की आपत्ति बनी वजह

        नगर आयुक्त बसंत लाल के मुताबिक इस पार्क को डिवेलप करने में करीब 4.5 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। जहां इसे बनाया जा रहा है वहां कभी नगर निगम ने हजारों मीट्रिक टन कूड़ा डाला हुआ था , जिसकी वजह से यहां ज्यादा पक्षी आते थे। इसको लेकर हिंडन एयर फोर्स प्रशासन ने गंभीर आपत्ती जताई थी। इसके बाद निगम प्रशासन ने यहां से डंपिंग ग्राउंड शिफ्ट कर दिया और यहां ईको फ्रेंडली पार्क बनाने के प्रोजेक्ट को ओके किया। पार्क बनाने का काम करीब पिछले 1 साल से चल रहा है।

        जुलाई में हो सकते हैं आम जनता को दर्शन

        नगर आयुक्त का दावा है कि यह पार्क अगले महीने तक बनकर तैयार हो जाएगा। उन्होंने बताया कि जल निगम की कंस्ट्रक्शन एंड डिजाइन विंग ने पार्क का करीब 90 प्रतिशत काम पूरा कर लिया है , बाकी काम कुछ दिनों में पूरा होने की संभावना है। नगर निगम का कहना है कि इस पार्क को आम जनता के लिए जुलाई में खाला जा सकता है।

        कूड़े की खाद से कूड़े के ढेर पर ग्रीनरी तैयार

        मेन सिटी में वैसे तो ऐसे कई पार्क हैं जो आम जनता के आकर्षण का केंद्र बने रहते हैं , मगर यह पार्क अन्य पार्कों से काफी अलग होगा। सिटी का यह ऐसा पहला पार्क होगा जो कूड़े से तैयार की गई खाद से कूड़े के ढेर पर ग्रीनरी तैयार करके डिवेलप किया जा रहा है। इस पार्क में ग्रीन घास लगाने , फुटपाथ बनाने , आकर्षक पौधे लगाने , रात में पार्क को और भी खूबसूरत बनाने के लिए रंगीन लाइटें लगाने का काम चल रहा है।

        पार्क की लोकेशन भी है बेहद खास

        नगर आयुक्त के मुताबिक इस पार्क में सुबह के समय जॉगिंग करने के लिए अलग से फुटपाथ होगा जो गहरी ग्रीनरी और पेड़ों के बीच से निकलेगा , ताकि मॉर्निंग वॉक का मजा दुगना हो सके। इस पार्क के एक छोर पर गंदा नाला भी बहता है , उसे ग्रीन प्लास्टिक की चादरों से ढक दिया जाएगा ताकि उससे दुर्गंध न आए। पार्क की लोकेशन भी काफी खास है। इसके एक और सिटी का साईं उपवन है , सामने दिल्ली - गाजियाबाद रेलवे लाइन है और एक छोर से होकर हिंडन नदी गुजर रही है। इस पार्क के पूरी तरह से डिवेलप होने के बाद पर्यावरण प्रेमी यहां काफी सुकून महसूस करेंगे।

        Comment

        • #5

          #5

          Re : Who say GDA do nothing to increase Greenery in GZB

          See 200 Acre Green Area just 3 KM far from IP & 5 KM far from RNE

          See 200 Acre Green Area just 3 KM far from IP & 5 KM far from RNE,
          in Indira Priyadarshani Park there is also 25 Boats BOATING CLUB....(All types boats
          including patrol engine or manual from 2 to 6 person ...) by GDA at very cheap rate....
          Huge foot fall in this BOATING CLUB after 5 PM...
          This BOATING Club also has very HUGE Green Ground and have lots of lots of
          Baccho Ke Ghoole (around 10+ different types)....

          Comment

          Have any questions or thoughts about this?
          Working...
          X