Attachments:
Read more
Reply
9 Replies
Sort by :Filter by :
  • Several times GDA has launched this Madhuban multi society flats scheme during last 1 year and every times it flops badly. I can not understand that this location is not better that RNE & CR then why launching rates in Madhuban multi society flats are so high and costing even small 2 BHK Type A in 32Lac+ , I think marketing persons of GDA are living in dreams for Madhuban multi society flats.
    CommentQuote
  • wats the size and psf price? looks okay to me. bmw trying to do damage control.
    CommentQuote
  • Joke of the day -- Janta ki maang par:D
    Attachments:
    CommentQuote
  • GDA pagal ho gayi hai......33L for a 2 BHK flat......Bandha 3-4L aur kharch kare aur IP mein le le....
    CommentQuote
  • GDA needs to revise the rates, considering the markets values. 33L is too too high.
    CommentQuote
  • Does anyone has access to the floor plans and site map?
    CommentQuote
  • At this point of time No wise man will put his money in this scheme.
    CommentQuote
  • जमीन देने वाले किसानों को जल्द मिलेंगे प्लॉट


    मधुबन - बापूधाम प्रोजेक्ट में जीडीए के साथ समझौता कर जमीन देने वाले किसानों को अब प्लॉट आवंटित किए जाएंगे। इस कार्यवाही के तहत करीब 715 किसानों को आवंटन पत्र जारी किए जाएंगे। फर्स्ट फेज में करीब 350 किसानों को आवंटन लेटर जारी किया जाएगा। हालांकि , इस महीने सभी किसानों को आवंटन लेटर जारी कर दिए जाएंगे।

    जीडीए के ओएसडी आर . पी . पांडे के मुताबिक फर्स्ट फेेज में उन 350 किसानों को प्लॉट के आवंटन लेटर जारी किए जा रहे हैं जिनको 20 वर्ग मीटर से लेकर करीब 300 वर्ग मीटर तक के प्लॉट दिए जाने हैं। फर्स्ट फेज के किसानों को जल्द ही प्लॉट का आवंटन लेटर दे दिया जाएगा। सेकंड फेज में किसानों को 20 सितंबर के बाद प्लॉट का आवंटन लेटर जारी किया जाएगा।

    उन्होंने बताया कि समझौता के मुताबिक किसानों को 1100 रुपये प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से जमीन का मुआवजा दिया गया है। साथ ही किसानों से जीडीए ने यह भी समझौता किया था कि उन्हंे कुल अधिग्रहित जमीन का चार प्रतिशत रेजिडेंशल और दो प्रतिशत जमीन विकसित प्लॉट के तौर पर दिया जाएगा।

    हालांकि , जीडीए किसानों से अलग से डिवेलपमेट शुल्क ले रहा है। उन्होंने बताया कि किसानों को किसी तरह की शिकायत हो तो वह आवंटन लेटर मिलने के 15 दिनों के अंदर अपना आपत्ति पत्र जीडीए में जमा कर सकते हैं। अगर कोई किसान चाहता है कि उन्हें पूरी छह प्रतिशत जमीन रेजिडेंशल यूज की चाहिए तो वह उपलब्ध कराया जाएगा।


    -Navbharat times
    CommentQuote
  • I think GDA approved project Madhuban Bapudham is good. as there is no prob for land acquisition as this is GDA alloted and as per investment it is also very good. Now real estate is on boom in NCR.

    please give me your valuable suggestion...
    CommentQuote