GZB Metro Phase II :: Route cleared from Dilshad Garden to Mohan Nagar - Amar Ujaala



https://api.indianrealestateforum.com/api//v0/attachments/fetch-attachment?node_id=2577
Attachments:
Read more
Reply
629 Replies
Sort by :Filter by :
  • मोहन नगर तक मेट्रो को लाने की कवायद शुरू
    13 Jul 2011, 0400 hrs IST

    Navbharat Times - मोहन नगर तक मेट्रो को लाने की कवायद शुरू

    प्रमुख संवाददाता ॥ जीडीए
    गाजियाबाद में मेट्रो के सेकंड फेज शुरू होने की सुगबुगाहट शुरू हो गई है। सेकंड फेज में मेट्रो रेल को दिलशाद गार्डन से मोहन नगर तक लाने की योजना है। मंगलवार को जीडीए की बोर्ड बैठक में यह तय किया गया कि सेकंड फेज के खर्च में जीडीए के साथ - साथ उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास निगम और उत्तर प्रदेश आवास विकास परिषद की हिस्सेदारी तय की जाएगी। डीएम की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में विभागों का शेयर तय किया जाएगा। यह जानकारी यूपी के अडिशनल कैबिनेट सेके्रट्री रवींद्र सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी।

    मंगलवार को जीडीए की बोर्ड बैठक हुई , जिसकी अध्यक्षता यूपी के अडिशनल कैबिनेट सेके्रट्री रवींद्र सिंह ने की। वह आवास विभाग के प्रमुख सचिव भी हैं। इस बैठक में जीडीए के उपाध्यक्ष एन . के . चौधरी , डीएम शशि भूषण लाल समेत कई अधिकारी और जीडीए बोर्ड के गैर सरकारी सदस्य मौजूद थे। रवींद्र सिंह ने बताया कि सेकंड फेज में मेट्रो को दिलशाद गार्डन से अर्थला ( मोहन नगर ) तक लाने की योजना है। डीएमआरसी ने 7.31 किलोमीटर और छह स्टेशनों वाली इस प्रोजेक्ट की लागत 1282 करोड़ रुपये बताई है। फंडिंग पैटर्न के अनुसार इस प्रोेजेक्ट के लिए भारत सरकार 275 करोड़ रुपये और डीएमआरसी 192 करोड़ रुपये देगा जबकि जीडीए को 815 करोड़ रुपये देने होंगे। बोर्ड बैठक में तय हुआ कि शासन से जीडीए के खर्च में यूपीएसआईडीसी और आवास विकास परिषद की हिस्सेदारी तय करने की गुजारिश की जाएगी।
    CommentQuote
  • अर्थला तक मेट्रो के लिए कमिश्नर को लेटर
    11 Aug 2011, 0400 hrs IST

    Navbharat Times - अर्थला तक मेट्रो के लिए कमिश्नर को लेटर


    जीडीए का प्रस्ताव, 836 करोड़ रुपया होगा खर्च

    जीडीए के अलावा नगर निगम, यूपीएसआईडीसी और आवास-विकास बांटंेगे खर्च

    नगर संवाददाता ॥ गाजियाबाद
    आनंद विहार से वैशाली के बाद अब दिलशाद गार्डन से मोहननगर अर्थला तक मेट्रो लाने के लिए प्रयास तेज हो गए हैं। जीडीए के चीफ टाउन प्लानर जी. एस. गोयल का कहना है कि इस संबंध में हमने नगर निगम, यूपीएसआईडीसी, आवास विकास परिषद और जीडीए के अधिकारियों की बैठक बुलाने के लिए मेरठ मंडल के कमिश्नर को लेटर लिखा है।

    बजट

    गोयल के मुताबिक इस प्रोजेक्ट के लिए जीडीए ने 836 करोड़ रुपये का बजट बनाया है। इस रुपयों का बंटवारा जीडीए के अलावा यूूपीएसआईडीसी, आवास विकास परिषद और नगर निगम के बीच होगा। इसी संबंध में चर्चा करने के लिए कमिश्नर को पत्र लिखा गया है। यह मीटिंग इस महीने के अंत तक हो सकती है। इसके बाद डीएमआरसी के साथ कॉ-ऑर्डिनेट किया जाएगा। डीएमआरसी पहले ही दिलशाद गार्डन से अर्थला तक के मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए डीपीआर (डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट) तैयार कर जीडीए को भेज चुका है। आनंद विहार से वैशाली तक मेट्रो लाने के लिए जीडीए ने अकेले 268 करोड़ रुपये खर्च किए थे। अब जीडीए ने अर्थला तक मेट्रो के प्रोजेक्ट पर अकेेले खर्च करने में असमर्थता जता दी है। इस प्रोजेक्ट के लिए जीडीए पहले भी यूपीएसआईडीसी, आवास विकास परिषद और नगर निगम के साथ बैठक कर चुका है। तब इन विभागों ने अपने हिस्से का खर्च उठाने की सहमति दी दी थी। अब इस कवायद पर मेरठ कमिश्नर की मुहर लगनी बाकी है।

    प्रस्ताव

    अर्थला प्रोजेक्ट के प्रस्ताव जीडीए बोर्ड बैठक में पहले ही पास हो चुका है। प्रदेश सरकार भी इस पर सहमति दे चुकी है।

    कितने होंगे स्टेशन

    दिलशाद गार्डन से अर्थला तक मेट्रो के चार स्टेशन हांेगे। इनमें शहीद नगर , राजेंद्र नगर , मोहन नगर और अर्थला शामिल हैं।

    जमीन

    प्रोजेक्ट के लिए जीडीए डीएमआरसी को ट्रैक और स्टेशन बनाने के लिए जमीन उपलब्ध कराएग
    CommentQuote
  • ya read this today ..keeping fingers crossed.
    CommentQuote
  • Originally Posted by maxcapri
    ya read this today ..keeping fingers crossed.


    Frankly speaking, Apart from DELHI all other NCR cities are taking too much time for starting the work of NEW Metro lines. This new line is important not only for Mohan Nagar GZB but for RNE also because after new hindon bridge finished, the upcoming Mohan Nagar Metro Station will be only 4 KM far from RNE. All of us have to keeping our fingers crossed. :bab (22):
    CommentQuote
  • Originally Posted by saurabh2011
    Frankly speaking, Apart from DELHI all other NCR cities are taking too much time for starting the work of NEW Metro lines. This new line is important not only for Mohan Nagar GZB but for RNE also because after new hindon bridge finished, the upcoming Mohan Nagar Metro Station will be only 4 KM far from RNE. All of us have to keeping our fingers crossed. :bab (22):


    UP politicians are chors, this will be just an announcement so dont get carried away by this.
    This is and will remain an election announcement. I remember lots of things were also planned for indirapuram connectivity, even the stations were also finalized but nothing happened there.
    BMW would like to get some votes of innocent middle class by announcing this.
    CommentQuote
  • Well u r not wrong ..but the project discussion has reached at tht stage where one can start keeping his fingers crossed.:)
    Originally Posted by smart111
    UP politicians are chors, this will be just an announcement so dont get carried away by this.
    This is and will remain an election announcement. I remember lots of things were also planned for indirapuram connectivity, even the stations were also finalized but nothing happened there.
    BMW would like to get some votes of innocent middle class by announcing this.
    CommentQuote
  • मेट्रो फेज टू : इंतजार का दूसरा फेज शुरू
    16 Aug 2011, 0400 hrs IST

    - क्या है प्रोजेक्ट : दिलशाद गार्डन से अर्थला तक मेट्रो प्रोजेक्ट

    - कुल खर्च : डीएमआरसी की डीपीआर के मुताबिक 836 करोड़ रुपये

    -कितने बनेंगे स्टेशन : शहीद नगर, राजबाग, राजेंद्र नगर, मोहन नगर और अर्थला

    - रूट की लंबाई : करीब सात किलोमीटर

    - काम शुरू होना था : जनवरी 2008 में

    - डेडलाइन - दिसंबर 2011 तक

    गाजियाबाद में मेट्रो की एंट्री हो चुकी है। फर्स्ट फेज में जब मेट्रो आनंद विहार से वैशाली सेक्टर-चार तक पहुंची, तभी इंतजार का दूसरा दौर शुरू हो गया। सेकंड फेज में मेट्रो का दिलशाद गार्डन से अर्थला तक विस्तार होना है। जीडीए ने 2005 में ही दिलशाद गार्डन से नया बस अड्डे तक का डीपीआर तैयार कराया था। तब उम्मीद जताई गई थी कि जनवरी 2008 में काम शुरू हो जाएगा मगर ऐसा नहीं हुआ। जीडीए बोर्ड की बैठक में प्रस्ताव की मंजूरी और प्रदेश सरकार से हरी झंडी मिलने के बाद उम्मीद जताई जा रही है कि अब जल्द ही मेट्रो अर्थला तक पहुंच जाएगी।

    क्यों अटका है प्रोजेक्ट

    दिलशाद गार्डन से अर्थला तक के मेट्रो प्रोजेक्ट को अभी कई बाधा पार करनी है। इसमें सबसे बड़ी बाधा फंडिंग की है। जीडीए के कार्यवाहक चीफ इंजीनियर जी. एस. गोयल का दावा है कि इस प्रोजेक्ट के लिए पैसे की कमी नहीं होगी। उनका कहना है कि इस प्रोजेक्ट पर पूरा खर्च जीडीए नहीं उठाएगा। नगर निगम, यूपीएसआईडीसी और आवास विकास परिषद भी जीडीए के साथ खर्च मंे हिस्सेदारी करेगी। खर्च के बंटवारे को लेकर मेरठ कमिश्नर की अध्यक्षता में जल्दी ही मेरठ में संबंधित विभागों की बैठक होने जा रही है। उम्मीद है कि इस प्रोजेक्ट पर इसी महीने मेरठ कमिश्नर की मुहर लग जाएगी।

    क्या होगा फायदा

    अर्थला तक मेट्रो के आने का सीधा फायदा कारोबार और नौकरी करने के लिए दिल्ली आने - जाने वालों को होगा। मेट्रो के इस रूट से लोग दिल्ली के शास्त्री पार्क तक पहुंच सकेंगे। इसका एक फायदा यह भी होगा कि मोहन नगर में ट्रैफिक जाम की प्रॉब्लम भी दूर हो जाएगी।

    अथॉरिटी का दिलशाद गार्डन से अर्थला तक मेट्रो लाने की तैयारी कर रही है। जीडीए की बोर्ड बैठक में इस प्रोजेक्ट को मंजूर किया जा चुका है। प्रदेश सरकार से भी मौखिक तौर पर अनुमति मिल चुकी है। जीडीए की कोशिश है कि जल्द से जल्द इस प्रोजेक्ट के लिए डीएमआरसी से एमओयू साइन हो और काम शुरू हो।

    - जी . एस . गोयल , कार्यवाहक चीफ इंजीनियर , जीडीए
    CommentQuote
  • Lets keep our finger's crossed, that the result of the meeting Meerut for the Funding % should be positive, and each of the civic bodies should accept the same. :bab (59):
    CommentQuote
  • they had this meeting once b4 too in meerut and all had agreed...but I guess tht was not official. Am waiting to see some action staring ..ek baar shuru ho jaye to ho hi jayega ..kitne bhi saal lagein....:)

    GNN, UPSIDC, Awas Vikas...bhai aap log aagey badho!! join in the party:)
    CommentQuote
  • The recently approved and funded proposal for phase 3 of Metro doesn't include Mohannagar. It indicates no metro for mohannagar atleast till 2016.
    So, where is the metro in Mohannagar?
    CommentQuote
  • Originally Posted by jaijai
    The recently approved and funded proposal for phase 3 of Metro doesn't include Mohannagar. It indicates no metro for mohannagar atleast till 2016.
    So, where is the metro in Mohannagar?


    You are saying for Delhi Metro Phase 3 approval, this will connect Anand Vihar with South Delhi / AIIMS / Dhaula Kuan. This is different route and has been approved, work on this line be start from Nov and after this line South Delhi / Airport line from Dhaula Kuan / Gurgaon Line from AIIMS will becomes more close from Anand Vihar & GZB, it will save atleast 20 minutes of Metro Travel of us toward GGN (as well as some Fair Also).

    Mohan Nagar metro will also be developed by DMRC but this is not under Delhi, it has been approved by GZB and Final Approval File with DPR has been send to Meerut commissioner for starting the work, hopefully this work will also be start with in 6 Month, rest all depends upon LUCK.
    CommentQuote
  • Hey saurabh, I had a doubt abt this ..What u said I agree to tht as I have also been following this mohan naagr metro stuff for long ..the above same logic applies to the new noida metro if u see it hasnt been discussed in the PhIII discussions but that section is a different additional section funded by NA.

    but howcome they discussed abt Faridabad metro, it not being in delhi ...this was one thing I wasnt able to undrstand.
    CommentQuote
  • Originally Posted by maxcapri
    Hey saurabh, I had a doubt abt this ..What u said I agree to tht as I have also been following this mohan naagr metro stuff for long ..the above same logic applies to the new noida metro if u see it hasnt been discussed in the PhIII discussions but that section is a different additional section funded by NA.

    but howcome they discussed abt Faridabad metro, it not being in delhi ...this was one thing I wasnt able to undrstand.


    FDB Metro mai Center Government 100 Caror de rahe hai, FDB is only place in NCR where metro has not reached at all hence Center Government has approved 100 budget from their end and hence included in 3rd phase. GZB METRO is entirely different neither for Vaishali GDA takes anything form Center neither it will take anything for Mohan Nagar hence it is entirely different. Same for Noida Sec 32 to N-Expressway Metro line it is also independent.

    Other Metro line of GZB is getting huge amount from Center for Meerut-GZB (RNE & Mohan Nagar) -DELHI RRTS High Speed Metro and this is really very costly development work and this is the project of Center Government and have no link with DMRC.
    CommentQuote
  • thanks for the info mate
    and yes correctly said for the RRTS,,.its being funded by cetre govt/NCRPB no funding from GDA
    CommentQuote
  • अर्थला मेट्रो प्रोजेक्ट : प्रदेश सरकार से मांगेंगे आधा खर्च
    13 Sep 2011, 0400 hrs IST

    ?????? ?????? ????????? : ?????? ????? ?? ???????? ??? ????- Navbharat Times

    नगर संवाददाता

    कमिश्नर भुवनेश कुमार की अध्यक्षता में हुई अवस्थापना निधि की बैठक करोड़ों रुपये के प्रस्तावों को हरी झंडी मिली। बैठक में प्रदेश सरकार से अर्थला मेट्रो के प्रोजेक्ट के लिए आधा पैसा मांगने का प्रस्ताव पास हुआ। वैशाली मेट्रो स्टेशन के पास बीओटी के आधार पर पार्किंग बनाने और मोदीनगर में एनएच 58 को छह लेन करने समेत कई प्रस्तावों पर कमिश्नर ने मुहर लगा दी।


    मेयर ने जताई आपत्ति

    अवस्थापना निधि की बैठक में सोमवार को अर्थला मेट्रो प्रोजेक्ट पर होने वाले खर्च का मुद्दा उठा। गौरतलब है कि पहले इस प्रोजेक्ट पर होने वाले खर्च का बंटवारा जीडीए , नगर निगम , यूपीएसआईडीसी और आवास विकास परिषद के बीच होना था। मगर मेयर ने इस पर आपत्ति जताई थी। मेयर का कहना था कि अवस्थापना निधि से निगम को प्रत्येक वर्ष सिर्फ 45 करोड़ रुपये मिलते हैं। अगर ये पैसे निगम मेट्रो के लिए दे देगा तो शहर के विकास कैसे होगा। जीडीए के चीफ इंजीनियर आर . के . सिंह के अनुसार कमिश्नर ने तय किया कि इस प्रोजेक्ट के लिए 50 फीसद पैसा प्रदेश सरकार से मांगा जाएगा। बाकी बची धनराशि का 50 फीसदी जीडीए और शेष नगर निगम , आवास विकास परिषद और यूपीएसआईडीसी देगा।

    - बीओटी पैटर्न पर बनेगी वैशाली मेट्रो स्टेशन पर पार्किंग

    वैशाली सेक्टर -4 के पास पार्किंग अब छोटी पड़ रही है , इसलिए बैठक में नगर निगम ने बड़े नाले को कवर कर 13 करोड़ रुपये की लागत से एक बड़ी पार्किंग बनाने का प्रस्ताव रखा। मेयर दमयंती गोयल पार्किंग बीओटी ( बिल्ड ऑपरेट ट्रांसफर ) बेस पर बनाने की मांग की , जिसे मंजूर कर लिया गया।

    - मोदीनगर में एनएच 58 होगा 6 लेन का

    मोदीनगर में ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिए सड़क को 6 लेन चौड़ा करने का प्रस्ताव पास किया। सड़क चौड़ी करने और हाईटेंशन लाइन को अंडरग्राउंड करने के लिए बैठक में 41 करोड़ रुपये खर्च करने की स्वीकृति मिल गई।
    CommentQuote