GZB Metro Phase II :: Route cleared from Dilshad Garden to Mohan Nagar - Amar Ujaala



https://api.indianrealestateforum.com/api//v0/attachments/fetch-attachment?node_id=2577
Attachments:
Read more
Reply
629 Replies
Sort by :Filter by :
  • Originally Posted by PULOKITO
    sIMPLE. they dont wnt to make it real. Pahle lag raha tha ki 2040 tak ban jaegi Metro. Now thats also doubtful


    Yes, Metro could be beneficial for GZB, but real pain is distance between GZB and Noida. If this finger count differnce were brought down, GZB would be a real boom, for sure.
    CommentQuote
  • Metro coming to Ghaziabad has now become a Joke. Basically, the file will keep revolving between GDA, nagar nigam and UP Govt. This is what builder wants. Every time file goes from Dept A. to B and then to C, newspapers will carry the news and innocent people's interest will be maintained. This will ensure false demand of real estate in Ghaziabad for some more time as builders are very quick to popularize such news, they even have full map of metro engraved in their offices for people to feel good about their projects.
    CommentQuote
  • Originally Posted by rajat1
    Metro coming to Ghaziabad has now become a Joke. Basically, the file will keep revolving between GDA, nagar nigam and UP Govt. This is what builder wants. Every time file goes from Dept A. to B and then to C, newspapers will carry the news and innocent people's interest will be maintained. This will ensure false demand of real estate in Ghaziabad for some more time as builders are very quick to popularize such news, they even have full map of metro engraved in their offices for people to feel good about their projects.



    Slightly disagree on this; this was supposed to get delayed because of multiple stakeholders, real pain is Narak Nigam and GDA differences. But yes, MOU will be signed in April for sure ;) Secret Disclosed
    CommentQuote
  • Originally Posted by KaamDev
    Slightly disagree on this; this was supposed to get delayed because of multiple stakeholders, real pain is Narak Nigam and GDA differences. But yes, MOU will be signed in April for sure ;) Secret Disclosed

    If this gets through then surely it will be a boom for ghaziabad ....Prices of RNE should touch close to 4500 - 5000 easily in 1-2 years time span....
    CommentQuote
  • Originally Posted by KaamDev
    Slightly disagree on this; this was supposed to get delayed because of multiple stakeholders, real pain is Narak Nigam and GDA differences. But yes, MOU will be signed in April for sure ;) Secret Disclosed


    MOU ka secret - unsolved mystery. one failed secret was in 2011 and other one in 2012 too. Hope this secret news is last secret......
    CommentQuote
  • lagta hai CID ki team ko bulana padega

    DAYA pata karo
    yahan kuch to gadbad hain
    CommentQuote
  • https://api.indianrealestateforum.com/api//v0/attachments/fetch-attachment?node_id=24017
    Attachments:
    CommentQuote
  • Great News , Is this the right time to Invest in RNE??
    CommentQuote
  • इंदिरापुरम टु नोएडा सेक्टर 62 : मेट्रो प्रोजेक्ट की रफ्तार बढ़ी
    Mar 17, 2013, 08.00AM IST


    - इस रूट पर एक स्टेशन सीआईएसएफ के पास बनाने का प्रस्ताव
    - दूसरा स्टेशन इंदिरापुरम एसटीपी के सामने डेढ़ सौ फुटा रोड पर बनाया जाएगा
    - स्टेशनों के नाम इंदिरापुरम वन और इंदिरापुरम टू रखने का प्रस्ताव
    क्या होगा आगे
    1 . डीपीआर मिलने के बाद अब जीडीए कॉस्ट को लेकर डीएमआरसी से दोबारा बात कर सकता है
    2. कॉस्ट तय होने पर जीडीए प्रस्ताव भेजेगा यूपी शासन के पास

    3. शासन से पहले चरण की मंजूरी मिलने पर जीडीए यह देखेगा कि अपने हिस्से के योगदान में और किन विभागों को साझेदार बनाया जा सकता है
    4. फिर फंडिंग प्लान पेश किया जाएगा शासन के सामने
    5. शासन से मंजूरी के बाद कैबिनेट के पास जाएगा फंडिंग प्लान
    6. कैबिनेट से ओके होने पर जीडीए और डीएमआरसी के बीच एमओयू साइन होने की दिशा में बढ़ेंगे कदम
    2.67
    किमी. होगी इस रूट की कुल लंबाई
    2
    स्टेशन बनाने का प्रस्ताव है इस रूट पर
    764
    करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान
    371
    करोड़ रुपये जीडीए को देने होंगे
    223
    करोड़ रुपये देगा डीएमआरसी
    170
    करोड़ रुपये का योगदान करना है केंद्र को

    किरणपाल राणा॥ नवयुग मार्केट

    नोएडा सेक्टर 62 से इंदिरापुरम तक प्रस्तावित मेट्रो प्रोजेक्ट की डीपीआर डीएमआरसी ने शनिवार को जीडीए को सौंप दी। :) इसके साथ ही एक और मेट्रो प्रोजेक्ट से जुड़ने की राह पर गाजियाबाद के कदम बढ़ गए। इस रूट पर मेट्रो आने से नोएडा आने - जाने वाले लाखों लोगों को फायदा होगा। डीएमआरसी की फिजिबिलिटी रिपोर्ट के मुताबिक , शुरुआती दिनों में इस रूट पर रोज औसतन डेढ़ लाख लोगों के ट्रैवल करने की संभावना है।
    जीडीए वीसी को भेजी डीपीआर :
    डीएमआरसी के प्रोजेक्ट मैनेजर जी . सी . शर्मा की ओर से शनिवार को डीपीआर जीडीए वीसी संतोष कुमार यादव को भेजी गई। करीब ढाई किलोमीटर लंबे रूट के लिए डीएमआरसी ने 764 करोड़ रुपये खर्च होने का एस्टीमेट बनाया है।
    डीपीआर के लिए दिए थे 12 लाख रुपये :
    जीडीए वीसी के मुताबिक , नोएडा सेक्टर 62 से इंदिरापुरम तक मेट्रो प्रोजेक्ट की डीपीआर बनाने के लिए जीडीए ने कई महीने पहले डीएमआरसी को 12 लाख रुपये दिए थे।
    नोएडा सिटी सेंटर से सेक्टर 62 तक मेट्रो का विस्तार होना है। इस प्रोजेक्ट को डीएमआरसी पहले ही नोएडा अथॉरिटी के साथ फाइनल कर चुका है।
    एसटीपी तक आएगी मेट्रो :
    नोएडा सेक्टर 62 से लेकर इंदिरापुरम में मेट्रो का ट्रैक डीपीएस से आगे सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट ( एसटीपी ) तक बनेगा। सेक्टर 62 से इंदिरापुरम एसटीपी के सामने तक इस रूट की कुल लंबाई 2.668 किमी . होगी।
    दो स्टेशन बनेंगे :
    डीपीआर के मुुताबिक , सेक्टर 62 से इंदिरापुरम एसटीपी के सामने तक इस रूट पर दो स्टेशनों का प्रस्ताव है। पहला स्टेशन सीआईएसएफ के पास बनेगा। दूसरा इंदिरापुरम एसटीपी के सामने 150 फुटा रोड पर बनेगा। इन दोनों स्टेशनों के नाम इंदिरापुरम वन और सेकंड रखने का प्रस्ताव है।
    क्या होगा फायदा :
    इस रूट के तैयार होने पर गाजियाबाद एक और मेट्रो रूट से जुड़ जाएगा। नोएडा आने - जाने के लिए अभी लोगों को ऑटो , बसों और अपनी गाडि़यों पर निर्भर रहना पड़ता है। डीएमआरसी की फिजिबिलिटी रिपोर्ट के मुताबिक , इस रूट पर रोज औसतन डेढ़ लाख लोगों के ट्रैवल करने की संभावना है। इसमें समय के साथ इजाफा ही ह ोगा।
    https://api.indianrealestateforum.com/api//v0/attachments/fetch-attachment?node_id=24202
    Attachments:
    CommentQuote
  • baad ki planing baad me pahle first project to shuru ho yhan to ak pair rakhne se pahle dusra teesra aur choutha pair utha rahe hai
    CommentQuote
  • Making Castles in the air..

    Though it is very good news for the Indirpuram area but since Sector 62 Noida does not have any concrete plans on the ground (Except few approvals in Jan 2013 after years of lobbying). Making new plans of a new Metro line from Indirapuram to Sector 62 is like "Making castles in the air". I wish I'm proven wrong and it takes good shape in next 1-2 years.
    CommentQuote
  • https://api.indianrealestateforum.com/api//v0/attachments/fetch-attachment?node_id=24280
    Attachments:
    CommentQuote
  • इंदिरापुरम मेट्रो : छोटा रूट, ज्यादा लागत
    Mar 18, 2013, 08.00AM IST

    नगर संवाददाता॥ नवयुग मार्केट : नोएडा सेक्टर-62 से इंदिरापुरम मेट्रो रूट की लागत नया बस अड्डा मेट्रो रूट से ज्यादा होगी। करीब 9.5 किमी लंबे नया बस अड्डा मेट्रो रूट का बजट 1770 करोड़ रुपये है, वहीं सिर्फ 2.66 किमी लंबे इंदिरापुरम रूट की लागत डीएमआरसी ने 764 करोड़ रुपये बताई है। जीडीए में मेट्रो सेल के इंचार्ज एस. सी. गौड़ के अनुसार, डीएमआरसी ने प्रोजेक्ट में मेट्रो के कोचों की लागत भी जोड़ दी है। यह रकम करीब 246 करोड़ रुपये है। बीते दिनों आई फिजिबिलिटी रिपोर्ट से भी यह साफ हो गया है कि इस रूट पर पैसेंजर्स की कोई कमी नहीं रहेगी। पैसेंजरों की संख्या के मद्देनजर डीएमआरसी को रूट पर कोच भी बढ़ाने होंगे। इससे प्रोजेक्ट की लागत बढ़ जाएगी।
    CommentQuote
  • GOOD MORNING JOKES

    मेट्रो मसूरी तक अंडरग्राउंड
    Ghaziabad | Last updated on: March 19, 2013 5:31 AM IST

    गाजियाबाद। अभी तक हवा में सफर कर रही मेट्रो विस्तार के अगले चरण में अंडरग्राउंड ट्रैक पर दौड़ेगी। जीडीए ने विस्तार के चौथे चरण में नया बस अड्डा से मसूरी तक मेट्रो का ट्रैक अंडरग्राउंड बनाने की योजना बनाई है। 9.5 किलोमीटर लंबाई वाला यह शहर का पहला अंडरग्राउंड मेट्रो ट्रैक होगा। 2016 में इस रूट के जरिए मेट्रो विस्तार की कवायद तेजी पकड़ेगी।
    13 से 15 मार्च के बीच ग्रेटर नोएडा में आयोजित म्यूनिसिपालिका-2013 में जीडीए ने शहर के भावी स्वरूप का खाका खींचा। इसमें जीडीए ने मेट्रो से जुड़ी भविष्य की योजनाओं की भी जानकारी दी। इसके मुताबिक जीडीए थर्ड फेज में सेक्टर-62 से इंदिरापुरम और वैशाली से इंदिरापुरम तक मेट्रो का विस्तार करेगा। फिलहाल जीडीए ने अगले चार वर्षों में सेकेंड फेज में दिलशाद गार्डन से नया बस अड्डा और लोनी मेट्रो के काम को पूरा करने का लक्ष्य रखा है। इस फेज में करीब 11.11 किलोमीटर मेट्रो ट्रैक बनाया जाएगा।
    जीडीए उपाध्यक्ष संतोष यादव ने बताया कि भविष्य की जरूरतों के मद्देनजर मास ट्रांसपोर्ट सिस्टम को डेवलप करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसी कड़ी में मेट्रो विस्तार के नए रूटों का प्रस्ताव बनाया गया है। इसके जरिए भविष्य की आबादी को सुगम ट्रांसपोर्ट की सुविधा दी जा सकेगी। मेट्रो विस्तार के सेकेंड फेज के बाद अगले फेज पर काम किया जाएगा।
    CommentQuote
  • Originally Posted by ndmsdq
    GOOD MORNING JOKES

    मेट्रो मसूरी तक अंडरग्राउंड
    Ghaziabad | Last updated on: March 19, 2013 5:31 AM IST

    गाजियाबाद। अभी तक हवा में सफर कर रही मेट्रो विस्तार के अगले चरण में अंडरग्राउंड ट्रैक पर दौड़ेगी। जीडीए ने विस्तार के चौथे चरण में नया बस अड्डा से मसूरी तक मेट्रो का ट्रैक अंडरग्राउंड बनाने की योजना बनाई है। 9.5 किलोमीटर लंबाई वाला यह शहर का पहला अंडरग्राउंड मेट्रो ट्रैक होगा। 2016 में इस रूट के जरिए मेट्रो विस्तार की कवायद तेजी पकड़ेगी।
    13 से 15 मार्च के बीच ग्रेटर नोएडा में आयोजित म्यूनिसिपालिका-2013 में जीडीए ने शहर के भावी स्वरूप का खाका खींचा। इसमें जीडीए ने मेट्रो से जुड़ी भविष्य की योजनाओं की भी जानकारी दी। इसके मुताबिक जीडीए थर्ड फेज में सेक्टर-62 से इंदिरापुरम और वैशाली से इंदिरापुरम तक मेट्रो का विस्तार करेगा। फिलहाल जीडीए ने अगले चार वर्षों में सेकेंड फेज में दिलशाद गार्डन से नया बस अड्डा और लोनी मेट्रो के काम को पूरा करने का लक्ष्य रखा है। इस फेज में करीब 11.11 किलोमीटर मेट्रो ट्रैक बनाया जाएगा।
    जीडीए उपाध्यक्ष संतोष यादव ने बताया कि भविष्य की जरूरतों के मद्देनजर मास ट्रांसपोर्ट सिस्टम को डेवलप करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसी कड़ी में मेट्रो विस्तार के नए रूटों का प्रस्ताव बनाया गया है। इसके जरिए भविष्य की आबादी को सुगम ट्रांसपोर्ट की सुविधा दी जा सकेगी। मेट्रो विस्तार के सेकेंड फेज के बाद अगले फेज पर काम किया जाएगा।


    Will this Phase -4 be covering NH-24 along sides of Crossing Republic or some where else. If anybody can help me with this.
    CommentQuote