Announcement

Collapse
No announcement yet.

Bisrakh Stay Order: NOIDA's Doomsday Starts Now!

Collapse
X
Collapse

Bisrakh Stay Order: NOIDA's Doomsday Starts Now!

Last updated: July 22 2011
111 | Posts
  • Time
  • Show
Clear All
new posts
  • #71

    #71

    Re : Bisrakh Stay Order: NOIDA's Doomsday Starts Now!

    zee business

    Originally posted by amitkagrawal View Post
    Mr VKumar1,

    Can you pls clarify what is "source confidential" in your message?

    This is an online forum and all information should be supported by facts. It is simply ridiculous on your part to list down the name of projects effected saying source is confidential.

    If you have confidential information, I would suggest you keep it to yourself, if you do not want to disclose the full details. Otherwise, provide the full details on how you obtained that information, so that others can take informed decisions on that basis. Pls don't spread anxiety based on half-baked news.
    Amit,

    the list of Vkumar1 is supported by zee business. i had seen the discussion of supertech MD + MD from another com. (i forgot name) + Katyal of IC...
    the show was aired 2 dyas back in the evening...

    --sid

    Comment

    • #72

      #72

      Re : Bisrakh Stay Order: NOIDA's Doomsday Starts Now!

      Just to add checked with Stellar Jeevan , they are not impacted. One of my friend personally visited site and there is work going on.

      so far so good.. keeping finger cross :-)

      Comment

      • #73

        #73

        Re : Bisrakh Stay Order: NOIDA's Doomsday Starts Now!

        Dainik Jagran E- Paper - city. Local news from 37 locations on Dainik Jagran Yahoo! India E-paper#

        ग्रेटर नोएडा में जमीन होगी और महंगी
        ठ्ठजागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा नोएडा व ग्रेटर नोएडा में जमीन की दर एक बार फिर बढ़ने जा रही है। प्राधिकरण के बाद जिला प्रशासन सर्किल रेट बढ़ाने जा रहा है। नए सर्किल रेट 1 जुलाई से लागू होंगे। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार 15 से 20 प्रतिशत तक दर बढ़ाई जा सकती है। इससे जमीन की रजिस्ट्री करना महंगा हो जाएगा। ग्रेटर नोएडा के सर्किल रेट 14 हजार से 17 हजार रुपए प्रति वर्ग मीटर तक और यमुना प्राधिकरण क्षेत्र का सर्किल रेट 55 सौ रुपये है। गांवों का सर्किल रेट अलग-अलग है। गत माह नोएडा, ग्रेटर नोएडा व यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण ने अपनी सभी तरह की संपत्तियों की दरों में 12.5 फीसदी की वृद्धि की थी। प्राधिकरण ने बढ़ी दरों को 1 अप्रैल से लागू किया था। अब प्रशासन सर्किल रेट (बाजार भाव) बढ़ाने पर गंभीरता से विचार कर रहा है। दरों पर चर्चा के लिए शनिवार को एडीएम वित्त एवं राजस्व शिवकांत द्विवेदी ने तीनों तहसीलों के एसडीएम, सब रजिस्ट्रार व एआइजी स्टांप के साथ बैठक की। इसमें सहमति बनी कि 1 जुलाई से दर बढ़ा दी जाए। इससे पहले प्रशासन गत वर्ष की दर व जिले के प्रत्येक गांव व सेक्टरों की बाजार दरों की समीक्षा करेगा। सब रजिस्ट्रारों को 15 जून तक इस पर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए हैं। एडीएम ने बताया कि गत वर्ष कुछ ही स्थानों पर सर्किल रेट बढ़ाए गए थे। इस बार सभी जगह दरें बढ़ेंगी। प्राधिकरण ने अपनी संपत्तियों में साढ़े बारह प्रतिशत की बढ़ोतरी की है। प्रशासन दरों में इससे अधिक इजाफा करेगा। जिन सेक्टरों व गांवों में खरीद-फरोख्त अधिक हो रही है, वहां दरों में ज्यादा इजाफा करने पर विचार किया जा रहा है। किसानों को अर्जित भूमि की एवज में मिलने वाले सात प्रतिशत भूखंडों का सर्किल रेट ग्रेटर नोएडा में 9 हजार रुपये प्रति वर्ग मीटर है। आवंटन के छह माह के अंदर किसान भूखंड की रजिस्ट्री करा लेते हैं तो उन्हें आवंटन दर पर स्टांप शुल्क देना पड़ता है। इसके बाद बाजार दर (9 हजार) पर पांच प्रतिशत स्टांप शुल्क का प्रावधान है। 1 जुलाई से यह दर 11 हजार रुपये प्रति वर्ग मीटर हो सकती है।

        Comment

        • #74

          #74

          Re : Bisrakh Stay Order: NOIDA's Doomsday Starts Now!

          http://www.livehindustan.com/news/de...catiopnvalue=3

          अदालती हथौड़े ने तोड़ी रजिस्ट्री की कमर
          ग्रेटर नोएडा/हमारे संवाददाता

          मैट्रो की आहट ने शहर में प्रॉपर्टी की कीमतों में जो इजाफा किया था, अधिग्रहण के खिलाफ आए कोर्ट के आदेशों ने उस पर ब्रेक लगा दिया है। भूमि अधिग्रहण के खिलाफ आए कोर्ट के आदेशों का ग्रेटर नोएडा में प्रॉपर्टी की कीमतों पर भारी असर पड़ा है।

          अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि एक्सटेंशन इलाके में प्रोजेक्ट चला रहे बिल्डरों की हालत खराब है। सैकड़ों निवेशकों ने पैसा वापस मांगना शुरू कर दिया है। ग्राहकों को थामने के लिए मजबूर होकर बिल्डर अब यमुना एक्सप्रेस-वे की ओर दौड़ पड़े हैं।

          कोर्ट के आदेशों के बाद से ग्रेटर नोएडा में प्रॉपर्टी निवेश ठहर सा गया है। पिछले एक महीने में प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री का प्रतिदिन औसत 10-15 रह गया है। जबकि पहले रोजाना 70-80 रजिस्ट्री हो रही थी। जो रजिस्ट्री अब हो रही हैं, उसने सारे सौदे पहले हो चुके थे। ग्रेटर नोएडा सब रजिस्ट्रार कार्यालयों में वीरनी छा गई है। ग्रेटर नोएडा एक्सटेंशन इलाके में बिल्डरों की हालत बेहद खराब है।
          जिन बिल्डरों के प्रोजेक्ट आदालती आदेशों से प्रभावित नहीं भी हुए हैं, उनके यहां निवेशक कई तरह की जानकारी हासिल कर रहे हैं। आसानी से बुकिंग करवाने को तैयार नहीं हैं। अधिकांश निवेशकों ने बिल्डरों को दी जाने वाली किस्तों की अदायगी रोक दी है। ग्रेटर नोएडा के पुराने सेक्टरों में भले ही प्रोपर्टी की कीमतें नहीं गिरी हैं लेकिन, अपेक्षित उछाल नहीं मिला है। जबकि मेट्रो के आने की सूचना और एक्सटेंशन में तेजी से निर्माण शुरू होने के कारण शहर में प्रोपर्टी की कीमतों में खासा उछाल आने की संभावना थी।
          ---
          ये सेक्टर हैं सुरक्षित
          सेक्टर अल्फा, बीटा, गामा, डेल्टा, स्वर्ण नगरी, पी थ्री, फाई, चाई, ईटा आदि में औसतन प्लॉटों की कीमतें 25,000 रुपए वर्ग मीटर हैं। प्रापर्टी के जानकारों का कहना है कि ये दरें अब अगले कुछ महीनों में स्थिर रहेंगी। मैट्रो प्रोजेक्ट की घोषणा के बाद से शहर में लगातार जो तेजी देखी जा रही थी, वह अब थम गई है।
          ---
          बिल्डरों पर भुगतान का दबाव
          दो साल लंबी आर्थिक मंदी ने कई कंपनियों को दिवाला निकाल दिया है। ऐसे में रीयल एस्टेट कंपनियों को संभलने में खासा समय लगा। प्राधिकरण ने तमाम रियायतें दीं। जिसके बाद अब हालात सामान्य हो गए थे। लेकिन, अब फिर कंपनियों की आर्थिक दशा बिगड़ने लगी है। दरअसल, एक ओर कंपनियों से निवेशक रुपया वापस मांग रहे हैं तो, दूसरी ओर प्राधिकरण भूमि आवंटन की एवज में किस्तों की अदायगी का दबाव बना रहा है। कई कंपनियों ने प्राधिकरण को राहत देने के लिए पत्र लिखे हैं।
          ---
          ‘पहले भट्टा पारसौल और उसके बाद एक्सटेंशन इलाके से जुड़े प्रकरण ने प्रोपर्टी की खरीद-फरोख्त को बुरी तरह प्रभावित किया है। बाजार में गतिविधियां एक चौथाई रह गई हैं।’
          एसके सिंह, सहायक महानिरीक्षक, संपत्ति निबंधन
          ---
          यमुना एक्सप्रेस-वे पर दौड़
          एक्सटेंशन में चोट खाने के बाद हालात को सामान्य करने और हालातों पर काबू पाने के लिए रीयल एस्टेट कंपनियों ने यमुना एक्सप्रेस-वे का रुख कर लिया है। शनिवार को एक कंपनी ने भूमि पूजन किया है। अगले कुछ दिनों में कई और कंपनियां वहां काम शुरू करने जा रही हैं।
          ---
          अभी और आएंगे अदालती आदेश

          फिलहाल इलाहाबाद हाईकोर्ट में ग्रीष्म अवकाश है। जुलाई-अगस्त में न्यायालय शुरू होगा और आबादी अधिग्रहण के मामलों में दायर याचिकाओं पर सुनवाई होगी। एक बार फिर ऐसे आदेश आने का सिलसिला शुरू होगा। जिससे ग्रेटर नोएडा में दजर्नों प्रोजेक्ट खतरे में पड़ जाएंगे।
          यह बात अधिग्रहण के खिलाफ किसानों को जीत दिलाने वाले अधिवक्ता पंकज दूबे ने कही। वे शाकीपुर और गुलिस्तानपुर में आयोजित स्वागत समारोह में किसानों को सम्बोधित कर रहे थे। पंकज दुबे ने कहा कि बिसरख, गुलिस्तानपुर, इटैड़ा, पतवाड़ी समेत दजर्नों गांवों की 100 से भी ज्यादा याचिकाएं कोर्ट में विचाराधीन हैं। इन सभी मामलों में सुनवाई अब जुलाई में शुरू होगी। जुलाई-अगस्त में आदेश आने शुरू हो जाएंगे। अधिवक्ता ने कहा कि यह किसानों के अधिकारों की जीत है।
          जब-जब सरकारों ने किसानों को परेशान किया है, कोर्ट ने किसानों के हक में फैसले सुनाए हैं। गुलिस्तानपुर के नानकचन्द शर्मा ने इस मौके पर मिठाईयां बांटी और कहा कि आस-पास के गांवों के किसान अधिग्रहण के विरोध की लड़ाई को सामुहिक रूप से लड़ेंगे। कार्यक्रम में दोनों गांवों के सैकड़ों किसान मौजूद थे।

          Comment

          • #75

            #75

            Re : Bisrakh Stay Order: NOIDA's Doomsday Starts Now!

            hi

            Originally posted by sidhant View Post
            Amit,

            the list of Vkumar1 is supported by zee business. i had seen the discussion of supertech MD + MD from another com. (i forgot name) + Katyal of IC...
            the show was aired 2 dyas back in the evening...

            --sid
            well i watched that program and after Zee Business mentioned these projects, the gentleman from Amrapali said that he is not aware of any information about problems with these projects and was visibily annoyed.
            By the way i liked another comment from the representative from Investor's clinic when he said that some credit needs to go to the builders for providing affordable housing projects 5-6 kms from the Noida city center station because of which a lot of middle class working people can afford to have their own apartments and this needs to be kept in mind before making any concrete decision on this whole land issue.

            Comment

            • #76

              #76

              Re : Bisrakh Stay Order: NOIDA's Doomsday Starts Now!

              Jagran - Yahoo! India - News
              नई अधिग्रहण नीति में किसानों की अनदेखी




              Jun 06, 09:14 pm
              बताएं





              ग्रेटर नोएडा, सं : भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष अजय पाल शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा लागू की गई नई जमीन अधिग्रहण नीति में किसानों की अनदेखी की है। किसानों के सुझावों को नई नीति में स्थान नहीं दिया गया। इससे किसानों का हित नहीं होने वाला। वह सोमवार को दनकौर में किसानों की एक बैठक को संबोधित कर रहे थे।
              उन्होंने कहा कि 15 जून तक जिलों के सभी किसान संगठनों से विचार विमर्श किया जाएगा। उसके बाद आगे की रणनीति तय की जाएगी। बैठक में वक्ताओं ने सरकार को आगाह किया किसानों के सुझावों को नई नीति में शामिल किया जाए। यदि 15 जून तक किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए नया कानून नहीं बनाया जाता तो किसानों की रणभेरी सरकार विरोधी होगी, जिसकी जिम्मेदार सरकार होगी। बैठक में बच्चू सिंह, राजीव मलिक, अनिल, पीतम सिंह नागर, मनोज, चंद्रपाल, धनीराम, वेदप्रकाश, सूबेराम, महेंद्र सिंह चौरोली, कुंवरपाल सिंह, श्योराज सिंह, पवन खटाना, पूरण पहलवान, वीर सिंह आदि मौजूद थे।

              Comment

              • #77

                #77

                Re : Bisrakh Stay Order: NOIDA's Doomsday Starts Now!

                Earthcon Casa Royale

                Hi - I have purchased a flat in Casa Royale. Is anyone aware if that property is affected?

                Comment

                • #78

                  #78

                  Re : Bisrakh Stay Order: NOIDA's Doomsday Starts Now!

                  Mahagun moderne Sector 78

                  Is Mahagun moderne project in sector 78, Noida affected.

                  Comment

                  • #79

                    #79

                    Re : Bisrakh Stay Order: NOIDA's Doomsday Starts Now!

                    Originally posted by shridhar View Post
                    Dainik Jagran E- Paper - city. Local news from 37 locations on Dainik Jagran Yahoo! India E-paper#

                    ग्रेटर नोएडा में जमीन होगी और महंगी
                    ठ्ठजागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा नोएडा व ग्रेटर नोएडा में जमीन की दर एक बार फिर बढ़ने जा रही है। प्राधिकरण के बाद जिला प्रशासन सर्किल रेट बढ़ाने जा रहा है। नए सर्किल रेट 1 जुलाई से लागू होंगे। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार 15 से 20 प्रतिशत तक दर बढ़ाई जा सकती है। इससे जमीन की रजिस्ट्री करना महंगा हो जाएगा। ग्रेटर नोएडा के सर्किल रेट 14 हजार से 17 हजार रुपए प्रति वर्ग मीटर तक और यमुना प्राधिकरण क्षेत्र का सर्किल रेट 55 सौ रुपये है। गांवों का सर्किल रेट अलग-अलग है। गत माह नोएडा, ग्रेटर नोएडा व यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण ने अपनी सभी तरह की संपत्तियों की दरों में 12.5 फीसदी की वृद्धि की थी। प्राधिकरण ने बढ़ी दरों को 1 अप्रैल से लागू किया था। अब प्रशासन सर्किल रेट (बाजार भाव) बढ़ाने पर गंभीरता से विचार कर रहा है। दरों पर चर्चा के लिए शनिवार को एडीएम वित्त एवं राजस्व शिवकांत द्विवेदी ने तीनों तहसीलों के एसडीएम, सब रजिस्ट्रार व एआइजी स्टांप के साथ बैठक की। इसमें सहमति बनी कि 1 जुलाई से दर बढ़ा दी जाए। इससे पहले प्रशासन गत वर्ष की दर व जिले के प्रत्येक गांव व सेक्टरों की बाजार दरों की समीक्षा करेगा। सब रजिस्ट्रारों को 15 जून तक इस पर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए हैं। एडीएम ने बताया कि गत वर्ष कुछ ही स्थानों पर सर्किल रेट बढ़ाए गए थे। इस बार सभी जगह दरें बढ़ेंगी। प्राधिकरण ने अपनी संपत्तियों में साढ़े बारह प्रतिशत की बढ़ोतरी की है। प्रशासन दरों में इससे अधिक इजाफा करेगा। जिन सेक्टरों व गांवों में खरीद-फरोख्त अधिक हो रही है, वहां दरों में ज्यादा इजाफा करने पर विचार किया जा रहा है। किसानों को अर्जित भूमि की एवज में मिलने वाले सात प्रतिशत भूखंडों का सर्किल रेट ग्रेटर नोएडा में 9 हजार रुपये प्रति वर्ग मीटर है। आवंटन के छह माह के अंदर किसान भूखंड की रजिस्ट्री करा लेते हैं तो उन्हें आवंटन दर पर स्टांप शुल्क देना पड़ता है। इसके बाद बाजार दर (9 हजार) पर पांच प्रतिशत स्टांप शुल्क का प्रावधान है। 1 जुलाई से यह दर 11 हजार रुपये प्रति वर्ग मीटर हो सकती है।
                    Land prices are sky rocketing throughout India.Common man must think of purchasing land on Moon to build a shelter.
                    Dil Jawan Hai To Jahan Hai

                    Comment

                    • #80

                      #80

                      Re : Bisrakh Stay Order: NOIDA's Doomsday Starts Now!

                      Hi group, RTI has been filled by one of IREF member about 7x and 1xx sectors... hopefully we'll soon receive the details.. .as of now... i don't think so we need to worry.. as these land procurments been done long back i.e. much before NE... even no. of projects are very high... infact there are projects which are about to complete... and been supported by govt nationlized banks..

                      Also request the fellow members not to spread information which is quite sensitive and without proper document proof.

                      Comment

                      Have any questions or thoughts about this?
                      Working...
                      X