कनेक्ट होंगे गुड़गांव, दिल्ली और फरीदाबाद


Oct 9, 2012, 06.00AM IST
एनबीटी न्यूज ॥ ग्रेटर नोएडा
पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिए बदनाम ग्रेटर नोएडा जल्द इस दाग को धो देगा। पब्लिक ट्रांसपोर्ट के मामले में अपना शहर एनसीआर के अन्य शहरों से आगे होगा। अथॉरिटी ने इसके लिए कवायद शुरू कर दी है। रैपिड ट्रांजिट सिस्टम प्रोजेक्ट से दिल्ली , गुड़गांव और फरीदाबाद ग्रेटर नोएडा से सीधे जुड़ जाएंगे। अथॉरिटी के सीईओ रमा रमण ने बताया कि डीएमआईसी प्रोजेक्ट को लेकर केंद्र सरकार के साथ ही अब यूपी गवर्नमेंट भी गंभीर है। इस प्रोजेक्ट को शुरू करने के लिए शासन स्तर पर कई बार मीटिंग और प्रेजेंटेशन हो चुके हैं। ग्रेटर नोएडा को इस प्रोजेक्ट का एक इंडस्ट्रियल डिवेलपमेंट रीजन के तौर पर चिह्नित किया गया है। इसी के तहत रैपिड ट्रांजिट सिस्टम बनाया जाएगा। इससे रेल लिंक के माध्यम से ग्रेटर नोएडा , दिल्ली , गुड़गांव और फरीदाबाद शहर आपस में जुड़ जाएंगे। जल्द ही इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू हो जाएगा।
Read more
Reply
2429 Replies
Sort by :Filter by :
  • आईपीएल के लिए ग्रेनो स्टेडियम होगा फिट
    नवभारत टाइम्स | Apr 8, 2013, 12.21AM IST
    महकार भाटी
    ग्रेटर नोएडा।। ग्रेटर नोएडा व आसपास के लोग भविष्य में आईपीएल क्रिकेट जैसे स्तरीय मैचों का मजा ले सकेंगे। ग्रेटर नोएडा स्टेडियम को नैशनल स्तर का बनाने की योजना तैयार की गई है। अथॉरिटी इसे अपग्रेड करने जा रही है। स्टेडियम में सीटिंग अरेंजमेंट्स और लाइटिंग जैसी सुविधाओं को डबल किया जा रहा है। सुविधाओं को जांचने परखने के लिए हाल ही में दिल्ली डेयर डेविल्स के चीफ कोच और उनकी टीम ने ग्रेटर नोएडा स्टेडियम का दौरा किया। स्टेडियम को आईपीएल जैसी सुविधा मुहैया कराए जाने को लेकर मंगलवार को स्टेडियम में बोर्ड की सीईओ रमा रमण ने महत्वपूर्ण मीटिंग बुलाई है।

    जेपी ग्रीन्स गोल्फ कोर्स के सामने अथॉरिटी ने 40 एकड़ एरिया में स्पोर्ट्स कॉॅॅम्प्लेक्स का निर्माण करा रही है। यहां करीब 8 एकड़ एरिया में ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न की तर्ज पर क्रिकेट स्टेडियम भी बनाया गया है। इस स्टेडियम में फिलहाल 300 सीटें हैं। साथ ही यहां घास पर बैठकर क्रिकेट मैच देखने की व्यवस्था है।
    सीईओ रमा रमण ने बताया कि स्टेडियम में आईपीएल जैसे क्रिकेट मैच कराए जा सकें , इसके लिए दिल्ली डेयर डेविल्स की टीम से बातचीत हुई।



    टीम के चीफ कोच टी . ए . शेखर और सुनील वालसन आदि की टीम ने हाल ही में ग्रेटर नोएडा क्रिकेट स्टेडियम का दौरा किया। उन्होंने यहां की सुविधाएं और कमियों को परखा। इसे आईपीएल जैसे मैच कराने लायक बनाने के लिए सिटिंग अरेंजमेंट और रात में खेलने के लिए लाइट की सुविधाएं करने का सुझाव दिया है। सीईओ ने बताया कि फिलहाल स्टेडियम में तीन सौ सीटें हैं।

    दिल्ली डेयर डेविल्स के सुझाव के अनुसार स्टेडियम को नैशनल स्तर का बनाया जाएगा। इसके लिए अथॉरिटी ने तैयारी शुरू कर दी हैं। इसके तहत स्टेडियम में 30 हजार एक्स्ट्रा सीट लगाई जाएंगी। रात में मैच के लिए लाइटें लगाई जाएंगी। इसके अलावा अन्य सुविधाओं का भी विकास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि तैयारियों व योजना बनाने के लिए मंगलवार को मीटिंग बुलाई गई है जिसमें महत्वपूर्ण फैसले किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि स्टेडियम में आईपीएल मैचों के अलावा अंडर -14 और अंडर -19 क्रिकेट मैच भी कराए जाएंगे।
    CommentQuote
  • Amazing.. :bab (59): ..kya baat hai....Greater noida chamak railaa hai beedu log!!! N-GN expressway bhi ab chikna ho raila hai aur bhi ab to....ADB meeting ke lie ban railee hai... jhakaaaas! saw this saturday.
    CommentQuote
  • नोएडा, ग्रेटर नोएडा में अथॉरिटी की प्रॉपरî

    इकनॉमिक टाइम्स | Apr 8, 2013, 11.25AM IST

    नोएडा।। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में अथॉरिटी की प्रॉपर्टी के ऐलोकेशन रेट में 10-12 फीसदी तक की वृद्धि की जा सकती है। अथॉरिटी ने इसके लिए एक कमिटी बनाई है जो एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट देगी और उस आधार पर रेट बढ़ाने का फैसला किया जाएगा। इसके अलावा अथॉरिटी किसानों को दिए जाने वाले मुआवजे की दरें बढ़ाने पर भी विचार कर रही है। मंगलवार को अथॉरिटी की बैठक में इस योजना पर मुहर लग सकती है।

    नोएडा और ग्रेटर नोएडा में अथॉरिटी की बिल्डिंग और प्लॉट के रेट बढ़ाए जा सकते हैं। प्लॉट की कीमत बाजार भाव से कम होने की वजह से अथॉरिटी ने वरिष्ठ अधिकारियों की एक कमिटी बनाई है जो इसे मार्केट प्राइस के बराबर लाने पर विचार कर रही है। नोएडा अथॉरिटी के सीईओ रामारमण ने ईटी से कहा, 'अथॉरिटी रेट और मार्केट रेट में काफी अंतर है। कुछ इलाके में मार्केट रेट डबल है। अथॉरिटी इनमें इजाफा करने पर विचार कर रही है और रिपोर्ट मिलने के बाद इस बारे में फैसला किया जाएगा।' उन्होंने कहा कि कमर्शल प्लॉट की कीमत में अधिक बढ़ोतरी हो सकती है क्योंकि ग्रेटर नोएडा इलाके में इनके मार्केट प्राइस में काफी अंतर है। रमण ने कहा कि मार्केट प्राइस इंडेक्स के साथ तुलना कर कमेटी को प्रॉपर्टी और प्लॉट के रेट तय करने के लिए कहा गया है।

    रेजिडेंशल, इंस्टीट्यूशनल, कमर्शल और इंडस्ट्रियल प्लॉट के रेट 20 फीसदी तक बढ़ाए जा सकते हैं। जमीन की कमी और जमीन अधिग्रहण के लिए अधिक रकम खर्च करने की दिक्कतों की वजह से अथॉरिटी ने रेट बढ़ाने का फैसला किया है। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के एसीईओ हरीश कुमार वर्मा ने ईटी से कहा, 'अथॉरिटी ने पिछले कुछ अनुभवों से सबक लेते हुए प्लॉट की कीमत बढ़ाने का फैसला किया है। इससे मुआवजा देने संबंधी मसले में मदद मिलेगी और अथॉरिटी के पास डिवेलपमेंट के लिए अधिक फंड रहेगा।'

    ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेस वे में अथॉरिटी के प्लॉट प्रीमियम के साथ बिक रहे हैं। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के एक अधिकारी ने कहा, 'अगर प्लॉट की कीमत 20,000 रुपए प्रति वर्गमीटर है और उसे बाजार में 30,000 रुपए में बेचा जा रहा है तो अथॉरिटी के पास रेट बढ़ाने की पूरी गुंजाइश है। अथॉरिटी इसी पॉइंट पर काम करते हुए अलग-अलग इलाके में ऐलोकेशन रेट में इजाफा करने की संभावनाएं तलाश रही है।' उन्होंने कहा कि ग्रेटर नोएडा में इंस्टिट्यूशन और कमर्शल प्लॉट के ऐलोकेशन रेट में सबसे अधिक वृद्धि हो सकती है।
    CommentQuote
  • All Investors!

    MPOV......Greater Noida is the city of future for sure,Reasons for same;

    1.The kind of planned development it carries,fails many upcoming and existing city becuase of goverment support GN carries.

    2.Greater Noida's Proximity to delhi and already operation Connectivity along with metro makes it a top investement destination in coming 10 years.

    3.Investement in Yamuna expressway....which is 10 Kms from Pari chowk...would take 15 years to occupy by atleast50% beacuase of lack of basic infrastucture and connectivity......where FNG being approved since 90's is still a dream.....Thus GN scoring high hereas well.

    4.GN any day has seen the king of infrstructural backing from Goverment may it be any Mayawati or akhilesh...because of its importance for UP and whole North India.......Seen in lieu of project annoucements recently by akhilesh!

    5.GN is already a habitated place with lots of space and supply ready for consumption and with intreset of top Builders in GN....compared to other ares of UP...Top Builders like//
    JAYPEE,ELDECO,UNITECH,PURVANCHAL,ATS etc to mention a few....Now by top I mean Top in terms of Quality of construction not Time of deleivery...lols


    SO her is my POV.....for all of u!
    CommentQuote
  • Originally Posted by Doodieman
    Amazing.. :bab (59): ..kya baat hai....Greater noida chamak railaa hai beedu log!!! N-GN expressway bhi ab chikna ho raila hai aur bhi ab to....ADB meeting ke lie ban railee hai... jhakaaaas! saw this saturday.

    OH !!

    Even I have heard the same That entire Noida-Expressway along with service lane is being relaid..cool though expressway was good before also.:)

    Also,Greater Noida Authority is widening the road around of Pari Chowk and also providing the direct connectivity to Expo Center from Expressway.

    Greater Noida Rocks
    CommentQuote
  • Originally Posted by cookie
    OH !!

    Even I have heard the same That entire Noida-Expressway along with service lane is being relaid..cool though expressway was good before also.:)

    Also,Greater Noida Authority is widening the road around of Pari Chowk and also providing the direct connectivity to Expo Center from Expressway.

    Greater Noida Rocks


    yes bro .. if u come to portion of service lane which starts from near akriti shantiniketan (sec 143) and then from there just keep driving on service lane itself .. man that portion of service lane now is even better than main expressway itself .. so damn SMOOTH !! :)
    CommentQuote
  • How abt omicron3 . Wats the update there. I m asking because i have booked in stellar mi citi home.
    CommentQuote
  • Originally Posted by sumit35
    How abt omicron3 . Wats the update there. I m asking because i have booked in stellar mi citi home.

    Sumit Sir

    Omicron sector is located bang on Greater noida-NE expressway, once that expressway is ready, you will then see some development.
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    yes bro .. if u come to portion of service lane which starts from near akriti shantiniketan (sec 143) and then from there just keep driving on service lane itself .. man that portion of service lane now is even better than main expressway itself .. so damn SMOOTH !! :)

    It's a mini expressway itself, have been using day and night :)
    CommentQuote
  • so can we expect omcron 3 to be livable by 2016 (will be getting positon).Last weekened i went there and as of now its very isolated though i personally liked the place becuse od the quality of roads , green land & looks like planned city.....
    CommentQuote
  • Much earlier I would say. I have seen 3-4 rtm houses in Omicron 3 60 sqm. Also, quite a few families have moved in Omicron 2 and 5-6 in 1A. So, these omicron sectors should be bustling by next year or so.
    -R
    CommentQuote
  • Sharmistha Mukherjee | New Delhi April 9, 2013 Last Updated at 18:56 IST
    Yamaha sets up its second Integrated Development Centre

    YMRI says it will work closely with engineers at Yamaha headquarters in Japan to develop low cost models for the company globally


    Japanese two-wheeler major Yamaha Motor Company (YMC), which today announced the establishment of Yamaha Motor Research & Development India (YMRI) at its Greater Noida facility, is looking at leveraging India as a procurement hub to source components for its two-wheeler operations globally. India would be the fourth regional procurement hub for Yamaha worldwide apart from China, Japan and the Asean.

    Yuh Motoyama, senior general manager, engineering section (motorcycle business operations), YMC, said, “The R&D set-up in India is an Integrated Development Centre, the second such facility for Yamaha globally. The vendor base in India is strong and cost competitive and the potential to source parts from here for our operations globally is very promising.” YMC has inaugurated its first Integrated Development Centre in Asean in Thailand last year.

    Besides purchasing, YMRI would work closely with engineers at Yamaha headquarters in Japan to develop low cost models for the company globally.

    “YMRI is the fifth overseas R&D facility for Yamaha. Every centre has a mandate. While the unit in Taiwan concentrates on developing products in the 150 cc category, the centre in Italy focuses on developing two-wheelers for the European market. While platforms would continue to be made in Japan, YMRI will modify them to create low cost products for the domestic market”, added Motoyama. The ‘root model’ can then be altered for exports to markets in Africa and Latin America.

    Toshikazu Kobayashi, managing director, YMRI said, “Our aim is to develop the lowest cost model in the world and lowest cost parts. Our aim is to develop a low-cost bike at around $ 500 for both the domestic as well as exports markets.” He, however, declined to specify a timeline for launching the product in the Indian market. Yamaha’s move is a part of its strategy to expand its footprint in the mass commuter segment in the country.

    Yamaha, at present, has marginal share in the low-cost commuter segment with the YBR110 and Crux which together sells around 4300 odd units every month. The segment accounts for over 65 per cent of motorcycle sales in India.

    Additionally, to enhance its presence in the domestic two-wheeler industry India Yamaha Motor (IYM) will launch a new scooter every year till 2016. Hiroyuki Suzuki, chief executive officer and managing director, IYM said, “We intend to sell one million units by 2016 and grab 10 per cent of the domestic two-wheeler industry. In the scooter segment, we will launch one new product every year to attain market share of 20 per cent in the same period.”

    In the current financial year the company is eyeing sales of 710,000 units, which is an increase of around 45 per cent over the 490,000 units sold last fiscal. While 500,000 units will be sold in the domestic market, the remaining numbers would come in from exports.

    Business Standard
    CommentQuote
  • HI friends,

    DO anybody know whether there any functional Office space/corporate towers in yamuna expressway.

    There buzz in our office dat ofice getting shiftd to yamuna expressway. Is there any possibility?
    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    HI friends,

    DO anybody know whether there any functional Office space/corporate towers in yamuna expressway.

    There buzz in our office dat ofice getting shiftd to yamuna expressway. Is there any possibility?

    There is Tech Zone spread cross 600 acres land on YEA in Greater Noida.
    NIIT Technologies is there only. WTC,Stellar Business Park, Ansal IT Campus, AMR Manthan are under construction. and also Unitech, Wipro,Infosys have land..
    CommentQuote
  • Originally Posted by cookie
    There is Tech Zone spread cross 600 acres land on YEA in Greater Noida.
    NIIT Technologies is there only. WTC,Stellar Business Park, Ansal IT Campus, AMR Manthan are under construction. and also Unitech, Wipro,Infosys have land..



    Means there are operational offices:(.
    CommentQuote