पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • Now, zip from South Delhi to Noida Extension


    NOIDA: Spelling relief for commuters, the much-awaited underpass at the busy sector 37 crossing will be thrown open to traffic on Tuesday - the 37th foundation day of Noida. The underpass, a part of the ambitious twin flyover-underpass project of Noida Authority, has been completed eight months ahead of schedule. It is expected to cut travel time between Delhi and Noida Extension.

    Come Tuesday and vehicles can drive uninterrupted by red lights towards Noida Extension from Delhi and vice versa. The underpass has been built cutting across the Master Plan III road, which links Kalindi Kunj and Noida Extension.

    The underpass will also ease traffic flow from Atta market to Greater Noida. With the opening of the underpass, the sector 37 crossing has become a signal-free intersection.

    The uniqueness of the project lies in the fact that the Metro, a flyover and an underpass all exist at the same place at the sector 37 crossing. "Initially, the project was supposed to be completed in 24 months but work was hastened to finish it eight months ahead of schedule," said an official. "There couldn't have been a better day than the city's 37th birthday to formally throw it open," he added.

    Prior to the commissioning of the project, traffic movement used to come to a standstill at this intersection during peak hours as four major roads converge here. Hundreds of vehicles moving from Delhi towards Atta market via the toll bridge or the service road, as well as those travelling from Kalindi Kunj use this junction. Vehicles coming into Noida from Dadri Road also use this route.

    The underpass is a 600-m-long four-lane double carriageway meant for traffic coming from the Dadri Road in one direction and from Atta road in the opposite direction. Built using state-of-the-art engineering technology, the underpass has 173 diaphragm walls, 64 piles, 620 tie beams and 128 strut beams. The flyover, also part of this project, was opened in January this year. It's a 750-m long four-lane single carriageway which facilitates smooth flow of vehicles travelling from Kalindi Kunj to Dadri.

    The two projects have been built at a total cost of over Rs 70 crore. "The early completion of the project has ensured that the Authority has been able to save a lot of taxpayers' money on costs which otherwise get escalated when projects miss their deadlines," said the authority official.

    TOI
    CommentQuote
  • सेक्टर 18 टु छलेराः आज से ‘नॉन स्टाप’

    सेक्टर 18 टु छलेराः आज से ‘नॉन स्टाप’
    अंडरपास में पूरा हुआ स्ट्रीट लाइट का काम, रिफ्लेक्टर लगाए जाने शेष
    •अमर उजाला ब्यूरो
    नोएडा। आज सुबह जब आप यह खबर पढ़ेंगे, तब तक सेक्टर 37 चौक पर बने
    अंडरपास से वाहन गुजरना शुरू कर चुके होंगे। दादरी व ग्रेटर नोएडा की ओर
    जाने वाले वाहन इस अंडरपास से अब फर्राटा भर सकेंगे।
    आम जनता के लिए मंगलवार से अंडरपास खोलने से पहले सोमवार अंतिम तैयारी भी
    पूरी कर ली गई। अंडरपास में रोशनी के लिए एक दर्जन से अधिक स्ट्रीट लाइट
    लगा दी गई हैं। शाम से ही इनको जलाया जा चुका है। फिसलन से रोकने के भी
    पूरे इंतजाम कर दिए गए हैं। अभी रिफ्लेक्टर लगाना शेष है, लेकिन निर्माण
    कर रहे कर्मचारियों ने यह काम अंडरपास चालू कर देने के बाद भी कर लेने की
    बात कही। इस प्रोजेक्ट को देख रहे परियोजना अभियंता समाकांत श्रीवास्तव
    ने आज से अंडरपास खोलने की तैयारी पूरी होने की बात कही है।
    अंडरपास बनाने का काम नवंबर 2010 में शुरू किया गया था। इसे बनाने में
    करीब 17 महीने लगे। इसके चालू होने से सेक्टर 18 से छलेरा की ओर जाने
    वाले सरपट जा सकेंगे। सेक्टर 37 चौक भी सिग्नल फ्री हो जाएगा, जबकि
    सेक्टर 44 से छलेरा की ओर फ्लाईओवर पहले ही चालू हो चुका है। सेक्टर 37
    चौक से रोजाना 50 हजार से अधिक वाहन गुजरते हैं। अब बिना रुके इस चौराहे
    को पार कर सकेंगे। वहीं सेक्टर-37 पर ट्रैफिक जंक्‍शन का काम पूरा होने
    के बाद चौराहे पर जाम की समस्या लगभग पूरी तरह से खत्म हो जाएगी।
    वहीं, इस अंडरपास के खुलने से सेक्टर 36-37, 30-31 के निवासियों को भी
    बड़ी राहत मिल जाएगी। निर्माण कार्य के चलते ट्रैफिक डायवर्जन किया गया
    था, जिसके चलते उक्त सेक्टरों में वाहनों से बढ़े प्रदूषण से भी लोग
    परेशान थे।
    अंडरपास पर एक नजर
    अमर उजाला
    •दादरी और ग्रेटर नोएडा जाने वाले वाहन चालकों को मिली बड़ी राहत
    •सेक्टर-37 चौक पर अंडरपास के साथ ट्रैफिक जंक्शन का काम पूरा
    •अंडरपास-अट्टा से छलेरा की ओर
    •लंबाई-598 मीटर
    •निर्माण लागत -35 करोड़ रुपये करीब
    •निर्माण कार्य शुरू -नवंबर 2010
    •पूरा करने का लक्ष्य था -अक्तूबर 2012
    -amar ujala
    CommentQuote
  • नोएडा एक्सटेंशन में दो माह में काम शुरू होने के आसार

    ग्रेटर नोएडा उत्तर प्रदेश के प्रोटोकाल मंत्री अभिषेक मिश्रा ने कहा है कि प्रदेश सरकार ग्रेटर नोएडा के मास्टर प्लान 2021 को एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से शीघ्र मंजूरी दिलाने का प्रयास करेगी। बोर्ड ने कुछ तकनीकी कमियां बताई हैं। उनका निराकरण कर पंद्रह दिन के अंदर मास्टर प्लान को मंजूरी के लिए एनसीआर प्लानिंग कमेटी के पास भेज दिया जाएगा। उन्होंने उम्मीद जताई की मई के प्रथम सप्ताह में कमेटी मास्टर प्लान को मंजूरी दे देगी। इसके बाद नोएडा एक्सटेंशन में निर्माण का रास्ता साफ हो जाएगा। ग्रेटर नोएडा स्थित एक्सपो मार्ट में चल रहे होम एक्सपो इंडिया में पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रोटोकाल मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार किसान और निवेशक दोनों के हितों का पूरा ख्याल रखेगी। पिछले सरकार की तरह किसानों का दमन कर विकास नहीं किया जाएगा। किसानों की मर्जी से जमीन ली जाएगी। प्रदेश सरकार चाहती है कि किसानों को उनकी जमीन का वाजिब दाम मिले, तभी विकास आगे बढ़ पाएगा। निवेशकों का भी नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। गत माह एनसीआर प्लानिंग बोर्ड के सामने मास्टर प्लान को रखा गया था। बोर्ड ने बैठक से दो दिन पहले मास्टर प्लान को उत्तर प्रदेश सरकार की राय लेने के लिए भेजा था। तकनीकी कारणों से दो दिन के अंदर संस्तुति देना संभव नहीं था। प्रदेश सरकार पंद्रह दिन के अंदर आपत्तियों व तकनीकी कमियों को दूर कर मास्टर प्लान को बोर्ड के पास भेज देगी। बोर्ड ने मास्टर प्लान को मंजूरी देने के लिए बीस सदस्यीय प्लानिंग कमेटी को अधिकृत कर दिया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि कमेटी ज्यादा समय नहीं लेगी। सरकार ग्रेटर नोएडा में नाइट सफारी, बोड़ाकी रेलवे स्टेशन, फ्लाईओवर, मेट्रो आदि अन्य विकास परियोजना को शीघ्र शुरू कराएगी। जनहित के कार्यो पर कोई ब्रेक नहीं लेगा।

    dainik jagran
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    नोएडा एक्सटेंशन में दो माह में काम शुरू होने के आसार

    ग्रेटर नोएडा उत्तर प्रदेश के प्रोटोकाल मंत्री अभिषेक मिश्रा ने कहा है कि प्रदेश सरकार ग्रेटर नोएडा के मास्टर प्लान 2021 को एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से शीघ्र मंजूरी दिलाने का प्रयास करेगी। बोर्ड ने कुछ तकनीकी कमियां बताई हैं। उनका निराकरण कर पंद्रह दिन के अंदर मास्टर प्लान को मंजूरी के लिए एनसीआर प्लानिंग कमेटी के पास भेज दिया जाएगा। उन्होंने उम्मीद जताई की मई के प्रथम सप्ताह में कमेटी मास्टर प्लान को मंजूरी दे देगी। इसके बाद नोएडा एक्सटेंशन में निर्माण का रास्ता साफ हो जाएगा। ग्रेटर नोएडा स्थित एक्सपो मार्ट में चल रहे होम एक्सपो इंडिया में पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रोटोकाल मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार किसान और निवेशक दोनों के हितों का पूरा ख्याल रखेगी। पिछले सरकार की तरह किसानों का दमन कर विकास नहीं किया जाएगा। किसानों की मर्जी से जमीन ली जाएगी। प्रदेश सरकार चाहती है कि किसानों को उनकी जमीन का वाजिब दाम मिले, तभी विकास आगे बढ़ पाएगा। निवेशकों का भी नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। गत माह एनसीआर प्लानिंग बोर्ड के सामने मास्टर प्लान को रखा गया था। बोर्ड ने बैठक से दो दिन पहले मास्टर प्लान को उत्तर प्रदेश सरकार की राय लेने के लिए भेजा था। तकनीकी कारणों से दो दिन के अंदर संस्तुति देना संभव नहीं था। प्रदेश सरकार पंद्रह दिन के अंदर आपत्तियों व तकनीकी कमियों को दूर कर मास्टर प्लान को बोर्ड के पास भेज देगी। बोर्ड ने मास्टर प्लान को मंजूरी देने के लिए बीस सदस्यीय प्लानिंग कमेटी को अधिकृत कर दिया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि कमेटी ज्यादा समय नहीं लेगी। सरकार ग्रेटर नोएडा में नाइट सफारी, बोड़ाकी रेलवे स्टेशन, फ्लाईओवर, मेट्रो आदि अन्य विकास परियोजना को शीघ्र शुरू कराएगी। जनहित के कार्यो पर कोई ब्रेक नहीं लेगा।

    dainik jagran


    Again 2 months. Aise karke toh pura saal hi nikal denge.
    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    Again 2 months. Aise karke toh pura saal hi nikal denge.


    for people who were planning to buy in NE in Jan but have still not gone for it .. this is actually good news :D
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    for people who were planning to buy in NE in Jan but have still not gone for it .. this is actually good news :D


    del_sanju "Again 2 months. Aise karke toh pura saal hi nikal denge"

    del_sanju purchaed in Jan/2012..... yes he will earn good profit when NE solved but issue is WHEN??? and for earning some profit, Is so huge Mental Tension is justified for a common family??... his above reply simply indicate his big worry-ness now...... I never VOTE money earned above Mental Peace.... 2 BHK flat of Noida is better than 3 BHK flat of NE if there is big Mental Tension of months/years in NE..... and as per rate appreciation or profit it is everywhere in NCR no mater its FDB/GGN/Noida/IP/RNE..... so further make any NEW Investment in NE only if it Gets all clearance from SP/SC/NCRBP .
    CommentQuote
  • Originally Posted by saurabh2011
    del_sanju "Again 2 months. Aise karke toh pura saal hi nikal denge"

    del_sanju purchaed in Jan/2012..... yes he will earn good profit when NE solved but issue is WHEN??? and for earning some profit, Is so huge Mental Tension is justified for a common family??... his above reply simply indicate his big worry-ness now...... I never VOTE money earned above Mental Peace.... 2 BHK flat of Noida is better than 3 BHK flat of NE if there is big Mental Tension of months/years in NE..... and as per rate appreciation or profit it is everywhere in NCR no mater its FDB/GGN/Noida/IP/RNE..... so further make any NEW Investment in NE only if it Gets all clearance from SP/SC/NCRBP .


    June tak toh tension nhi hai bcos hvnt takn any loan yet but after that it would surely hav some pressure bcos knowingly ki n ex is in mess i invested here.

    N biggest thing is will the people who have purchased after oct verdict say in dec jan will be asked to pay more.?

    25-30 tak ke budget me aur kuch milega hi nhi except in noida ex but now after more price hike people sud buy after construction start again
    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    June tak toh tension nhi hai bcos hvnt takn any loan yet but after that it would surely hav some pressure bcos knowingly ki n ex is in mess i invested here.

    N biggest thing is will the people who have purchased after oct verdict say in dec jan will be asked to pay more.?

    25-30 tak ke budget me aur kuch milega hi nhi except in noida ex but now after more price hike people sud buy after construction start again


    bhai are u being asked to pay further installments or have u paid only booking amount ?
    CommentQuote
  • Buying now in Noida extension is like buying something in pre launch.
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    for people who were planning to buy in NE in Jan but have still not gone for it .. this is actually good news :D


    How come good news? It can be relieving news. Isme kuch good toh nhi hai. n jisne noida extension me lena hai vo toh lega hi abhi nhi toh 6 mahine ke baad.
    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    How come good news? It can be relieving news. Isme kuch good toh nhi hai. n jisne noida extension me lena hai vo toh lega hi abhi nhi toh 6 mahine ke baad.


    bhai good news ye hai ki even if someone was planning to buy in Jan but didnt buy ... they still have a chance to go for it without too much of a price hike .. agar noida extn abhi tak already resolved hota toh phir prices bhi +500 ho chuki hoti :D
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    bhai are u being asked to pay further installments or have u paid only booking amount ?


    Booked gaur city 2 16 avenue with only 10 cent amount. NO further installmnt. They has clearly told me ki after bank approve again tab hi they would ask for 30 percent
    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    Booked gaur city 2 16 avenue with only 10 cent amount. NO further installmnt. They has clearly told me ki after bank approve again tab hi they would ask for 30 percent


    phir kya tension hai boss ?
    :)
    CommentQuote
  • Nefoma PRESS RELEASE

    RESS RELEASE

    Today, Team Nefoma members Mr. Devender Kumar (Founder), Mr. Abhishek Kumar (President), Annu Khan (Vice President), Mr. Vijay Trivedi (Director), Mr. Indrish Gupta (Co-founder) and Ms. Shweta Bharti, (Gen. Sec.) and Mr. Sanjay Naiwal meet Mr. Abhishek Mishra (Minister of State for Protocol / Urban Development Minister) and gave him Gyapan (copy attached)

    To
    Mr. Abhishek Mishra
    Minister of State for Protocol / Urban Development Minister
    U.P.

    We Noida Extension Flat Owners and Members Association (NEFOMA) on behalf of over 1 Lac flat buyers is like to draw your kind attention towards our problems as under.

    We Noida Extension Flat buyers are middle class people paying our Bank EMI and Rent for the last one year with a dream to have own house in Noida Extension. Due to some political problems and some other reasons our dream home has been delayed.

    We all expecting that NCRPB/ Govt. approval will come in April, and construction work will begin thereafter. But yesterday when we saw your interview, we were very disappointed. That construction work will take another 2-3 months to start.

    We request you to put yourself into our position and think. This whole episode leads to buyer’s trauma, sleepless nights, frustration etc. without our fault. If construction doesn’t start immediately we fear some buyers will take wrong steps and harm themselves.

    We are having very high expectations from this new U.P. Govt., and we presume this new Govt. is serious in solving Noida Extension problem.

    So we request you on behalf of Noida Extension Flat Owners and Members Association (NEFOMA) to take this matter sympathetically and on priority basis and solve this problem.

    Regards.
    On behalf of Noida Extension Flat Owners and Members Association (NEFOMA)

    Abhishek Kumar
    President
    Date: 17th April, 2012
    CommentQuote
  • I hope NEFOMA stays intact with buyers to fight with builders because once things will clear from administration side NEFOMA will not get any support from builder lobby. It is very much evident that later new feud would start between builders and buyers as builders are likely to show their true color.
    In healthy scenario builder earns 30 to 40 % margins and even more, here in NE it is likely that margins will be less. Hence things might turn out different.
    I would appreciate if any senior member, who has witnessed or observed or analyzed similar scenario elsewhere, can share actual outcomes or personal views.
    CommentQuote