पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16356 Replies
Sort by :Filter by :
  • CommentQuote
  • Originally Posted by Deepakh
    aaj tak news channel showing that NCRPB meeting is on 28June. Let see and hope it will get approved.


    Bhai janta itna halla macha rahi hai ki .. aane wala hai .. aane wala hai..

    mujhe to dar lag raha hai ki kahi kela na ho jaye .. Bhagwan se prarthna karo ki is baar klpd na ho.
    CommentQuote
  • प्राधिकरण को जुलाई में मास्टर प्लान मंजूर होने की उम्मीद


    ग्रेटर नोएडा : प्राधिकरण को उम्मीद है कि शहर का मास्टर प्लान 2021 एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से 15 जुलाई तक मंजूर हो जाएगा। निवेशकों व किसानों को थोड़ा और धैर्य रखने के लिए कहा गया है। मास्टर प्लान को लेकर एक्सटेंशन के निवेशक व किसान संयुक्त रूप से मंगलवार को एनसीआर प्लानिंग बोर्ड जाकर अधिकारियों को ज्ञापन सौपेंगे।
    मास्टर प्लान मंजूर होने में हो रही देरी को देखते हुए नोएडा एक्सटेंशन के फ्लैट खरीदारों व किसानों ने एक मंच आकर आंदोलन का रास्ता अपना लिया है। एनसीआर प्लानिंग बोर्ड पर दबाव बनाने के लिए लगातार धरना-प्रदर्शन भी जारी है।
    एक सप्ताह पूर्व मास्टर प्लान को लेकर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी रमा रमण व एनसीआर प्लानिंग बोर्ड के अधिकारियों के साथ बैठक भी हुई थी, जिसमें सीईओ ने मास्टर प्लान को लेकर एनसीआर प्लानिंग बोर्ड के सामने विस्तृत रूप से जानकारी रखी थी। बोर्ड अधिकारियों की तरफ से सीईओ को आश्वासन दिया गया था कि जल्द ही मास्टर प्लान को मंजूर कर दिया जाएगा। सीईओ रमा रमण ने बताया कि 15 जुलाई तक मास्टर प्लान 2021 एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से मंजूर हो जाएगा। मास्टर प्लान में कोई ऐसी कमी नहीं रह गई, जिसकी मंजूरी में कोई बाधा हो। उन्होंने कहा कि निवेशकों, किसानों को थोड़ा और धैर्य रखने की जरूरत है। प्राधिकरण अपने स्तर से मास्टर प्लान को मंजूर कराने के लिए पूरा प्रयास कर रहा है, इसलिए किसानों, निवेशकों सभी के सहयोग की जरूरत है।



    dainik jagran
    CommentQuote
  • सीईओ के भरोसे पर
    जाम स्थगित किया
    ठोस आश्वासन मिलने पर मान गए किसान और नेफोमा

    अमर उजाला ब्यूरो
    ग्रेटर नोएडा। किसानों और नेफोमा द्वारा एनसीआर प्लानिंग बोर्ड को ज्ञापन सौंपने के बाद डीएनडी रोड जाम करने की योजना प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन के ठोस आश्वासन पर स्थगित हो गई है। सीईओ ने किसानों से कहा कि उनकी समस्या का समाधान अब बेहद करीब है। वह थोड़ा सब्र रखें। इसके बाद किसानों और निवेशकों ने उनका ऐतबार करते हुए जाम का फैसला टाल दिया।

    मालूम हो कि तीन दिन पहले किसानों और नेफोमा ने साथ मिलकर नोएडा एक्सटेंशन की जंग लड़ने का ऐलान किया था। किसानों ने नेफोमा का समर्थन करते हुए था कि वे 26 जून को प्लानिंग बोर्ड को ज्ञापन सौंपेंगे। इसके बाद किसी भी दिन डीएनडी रोड जाम किया जाएगा। किसान नेता आमोद भाटी ने बताया कि मंगलवार सवेरे ही सीईओ रमा रमन का फोन उनके पास आया। सीईओ ने उनसे कहा कि किसानों और निवेशकों की समस्या का हल बेहद करीब है। इसलिए आंदोलन स्थगित कर दिया जाए। आमोद के मुताबिक, सीईओ ने माना कि किसानों और निवेशकों की मांगें जायज हैं। मास्टर प्लान पास होने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। ऐसे में आंदोलन करने से माहौल बिगड़ेगा। किसानों ने इसके बाद नेफोमा को सीईओ की बात बताई। नेफोमा भी आंदोलन फिलहाल टालने के लिए राजी हो गई।

    आमोद ने बताया कि नोएडा एक्सटेंशन के किसान नैतिकता के आधार पर नेफोमा का साथ दे रहे हैं। एक्सटेंशन विवाद में सबसे बड़ा नुकसान तो किसानों का ही हुआ है। आंदोलन स्थगित किए जाने की सूचना मंगलवार को दीपक भाटी और टीकम सिंह ने सभी किसानों तक पहुंचाई।
    सीईओ ने कहा, हल होने के बेहद करीब है एक्सटेंशन मामला
    किसानों ने कहा, शहर की भलाई के लिए काम करेंगे

    Amar Ujala
    CommentQuote
  • what the Hell is this?? again postponed to 15 July....
    God.... save us ...........

    I am now dead sure nothing is gonna happen before SC hearing..

    Damn these Goons and greedies
    CommentQuote
  • Originally Posted by cookie
    what the Hell is this?? again postponed to 15 July....
    God.... save us ...........

    I am now dead sure nothing is gonna happen before SC hearing..

    Damn these Goons and greedies


    There are the powers who dont want this issue to be resolved and my pridiction is its the builder lobby. all the NE builders are on Noida Eway as well. if NE issue is resolved then there properties on Eway would face the heat. Tht too when NA is after Eway projects.

    Cookie bhai...NE issue will not be resolved before the projects of Eway are almost complete.

    Seeing the activity of NEFOMA and farmers..i can say: Muddai sust, gawah chust.
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    सीईओ के भरोसे पर
    जाम स्थगित किया
    ठोस आश्वासन मिलने पर मान गए किसान और नेफोमा

    अमर उजाला ब्यूरो
    ग्रेटर नोएडा। किसानों और नेफोमा द्वारा एनसीआर प्लानिंग बोर्ड को ज्ञापन सौंपने के बाद डीएनडी रोड जाम करने की योजना प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन के ठोस आश्वासन पर स्थगित हो गई है। सीईओ ने किसानों से कहा कि उनकी समस्या का समाधान अब बेहद करीब है। वह थोड़ा सब्र रखें। इसके बाद किसानों और निवेशकों ने उनका ऐतबार करते हुए जाम का फैसला टाल दिया।

    मालूम हो कि तीन दिन पहले किसानों और नेफोमा ने साथ मिलकर नोएडा एक्सटेंशन की जंग लड़ने का ऐलान किया था। किसानों ने नेफोमा का समर्थन करते हुए था कि वे 26 जून को प्लानिंग बोर्ड को ज्ञापन सौंपेंगे। इसके बाद किसी भी दिन डीएनडी रोड जाम किया जाएगा। किसान नेता आमोद भाटी ने बताया कि मंगलवार सवेरे ही सीईओ रमा रमन का फोन उनके पास आया। सीईओ ने उनसे कहा कि किसानों और निवेशकों की समस्या का हल बेहद करीब है। इसलिए आंदोलन स्थगित कर दिया जाए। आमोद के मुताबिक, सीईओ ने माना कि किसानों और निवेशकों की मांगें जायज हैं। मास्टर प्लान पास होने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। ऐसे में आंदोलन करने से माहौल बिगड़ेगा। किसानों ने इसके बाद नेफोमा को सीईओ की बात बताई। नेफोमा भी आंदोलन फिलहाल टालने के लिए राजी हो गई।

    आमोद ने बताया कि नोएडा एक्सटेंशन के किसान नैतिकता के आधार पर नेफोमा का साथ दे रहे हैं। एक्सटेंशन विवाद में सबसे बड़ा नुकसान तो किसानों का ही हुआ है। आंदोलन स्थगित किए जाने की सूचना मंगलवार को दीपक भाटी और टीकम सिंह ने सभी किसानों तक पहुंचाई।
    सीईओ ने कहा, हल होने के बेहद करीब है एक्सटेंशन मामला
    किसानों ने कहा, शहर की भलाई के लिए काम करेंगे

    Amar Ujala


    How NEFOMA can give them assurance for next step.

    they must wait till 28th meeting then should have take any decision.

    all efforts gonna worthless.

    Aur to aur bat bhi uski man rhe hai jo es sabka jimmedar hai...
    CommentQuote
  • In ne nothong is going to happen before sc verdict
    CommentQuote
  • Originally Posted by cookie
    what the Hell is this?? again postponed to 15 July....
    God.... save us ...........

    I am now dead sure nothing is gonna happen before SC hearing..

    Damn these Goons and greedies



    Has the NCRPB Meeting date changed? It was on 28th?
    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    Has the NCRPB Meeting date changed? It was on 28th?


    Aaj tak news channel is showing meeting is on 28th June.....
    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    Has the NCRPB Meeting date changed? It was on 28th?

    yeah they are meting on 28th as per the news.
    but at the same time I read somewhere NE issue to be resolved by 15th July.
    CommentQuote
  • Originally Posted by cookie
    yeah they are meting on 28th as per the news.
    but at the same time I read somewhere NE issue to be resolved by 15th July.



    Toh sayad 28 ko baithenge aur 15 koh uthenge. Itni lambi meeting. :)

    Puri world ka Master plan bana rahe hai hamare ncrpb
    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    Toh sayad 28 ko baithenge aur 15 koh uthenge. Itni lambi meeting. :)

    Puri world ka Master plan bana rahe hai hamare ncrpb

    That's I why said "meting" not "meeting".
    :D:D:D
    CommentQuote
  • Originally Posted by cookie
    yeah they are meting on 28th as per the news.
    but at the same time I read somewhere NE issue to be resolved by 15th July.


    NE issue is resolved on 15th of every month since last 1.5 years. :(
    CommentQuote
  • Originally Posted by cookie
    yeah they are meting on 28th as per the news.
    but at the same time I read somewhere NE issue to be resolved by 15th July.


    28th June Comitte constituted by Chairman NCRPB will sit and may approve the plan and by 15th July it will get final approval from Board.
    Not sure how 21 memebers who are CM's from different states gonna approve this.
    CommentQuote