पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • Originally Posted by ManGupta
    Copied from NExFBWA Wall

    Preet Bhargava > NExFBWA-Noida EX-Tension Flat Buyers Welfare Association

    One of my friend today went Gaur's office and he had following observations.

    Rate hike for existing buyers :- Yes, may be but amount will be
    minmum..exact amount will be disclosed in Aug when construction will
    start.

    Due payment :- All demand if banks agree to disburse amount for all
    installments. I had argued that construction is not done as per
    that..in response they said it's not linked to construction.
    Delay in possession :- Yes minmum of 10 month if construction start in aug.
    Approx date of start construction will be in Aug.

    few more important points.............

    As FAR is increase 2nd time so they will increase hight of towers
    atleast 3-4 floor per tower

    2. they had auditor who is auditing legal details of agreements....




    Question to existing buyers of Noida Extension ~

    Folks, I have highlighted a line in Blue Above... Any idea what the hell does that mean, in case true ???

    Have you guys enquired this with Gaurs or ur builders by any chance ??
    CommentQuote
  • नोएडा एक्सटेंशन में अब कीमतों की टेंशन


    अगस्त से नोएडा एक्सटेंशन में काम शुरू होने की उम्मीद ने प्रॉपर्टी डिवेलपर्स और डीलरों के चेहरे पर रंगत ला दी है। इलाके में एनसीआर प्लैनिंग बोर्ड की मंजूरी मिलने के बाद बिल्डरों द्वारा औपचारिकताएं पूरी करने की वजह से कीमत में वृद्धि होना तय माना जा रहा है। इस समय फ्लैट की बुकिंग के लिए पहुंचने वाले ग्राहकों से प्रॉपर्टी डीलर भी निवेश के लिए सिर्फ दो हफ्ते का समय बचे होने की बात कहकर बुकिंग की रफ्तार बढ़ा रहे हैं।

    नोएडा एक्सटेंशन और ग्रेटर नोएडा में प्रॉपर्टी डिवेलपमेंट का काम जल्द शुरू होने के आसार नजर आ रहे हैं। मैजिकब्रिक्स डॉट कॉम की प्रमुख (कंटेंट ऐंड रिसर्च) जयश्री कुरुप ने कहा, 'एनसीआर प्लैनिंग बोर्ड की तकनीकी समिति की मंजूरी हासिल होने के बाद अब प्लैनिंग बोर्ड भी प्लान को मंजूर कर देगा। एक बार मंजूरी मिलने के बाद इलाके में काम तेज रफ्तार से शुरू हो जाएगा। पहले ही इलाके से मेट्रो और ट्रांसपोर्ट की प्लैनिंग हो चुकी है जिसे देखते हुए बिल्डर अब बुकिंग बढ़ने की उम्मीद कर रहे हैं।'

    फ्लैट की बुकिंग के लिए इस समय नोएडा एक्सटेंशन पहुंचना निवेशकों के हिसाब से समझदारी का फैसला हो सकता है। रियल्टी कंपनी सुपरटेक के चेयरमैन आर के अरोड़ा ने कहा, 'नोएडा एक्सटेंशन का विवाद सुलझने के बीच में कई ऐसी चीजें हुई हैं जिनकी वजह से कीमत में वृद्धि हो सकती है। जमीन की कीमत बढ़ गई है और कई दूसरे प्रावधानों की वजह से नोएडा एक्सटेंशन में फ्लैट की कीमत में वृद्धि तय है।'

    नोएडा एक्सटेंशन में फ्लैट की बुकिंग करने वाले प्रॉपर्टी डीलर ऋषिपाल नागर ने कहा, 'इस समय 2,600-3,000 रुपए प्रति वर्ग फुट के दर से की जा रही बुकिंग निवेशकों के लिहाज से ठीक है। एक बार इलाके में काम शुरू हो जाने के बाद कीमतें 3,200-3,500 रुपए प्रति वर्ग फुट तक पहुंच जाएंगी। एनसीआर प्लैनिंग बोर्ड की तकनीकी समिति द्वारा तय की गई शर्त और इलाके के किसानों को बढ़ा हुआ मुआवजा देने के बाद बिल्डरों के सामने रेट बढ़ाने के अलावा कोई चारा नहीं बचा है।'

    नोएडा एक्सटेंशन इलाके में रेट बढ़ना तो तय है, लेकिन अब तक बिल्डरों ने यह तय नहीं किया है दरों में कितनी वृद्धि की जाए। अजनारा के वीपी (मार्केटिंग) विनीत शर्मा ने कहा, 'फ्लैट के लिए रेट बढ़ाने का फैसला बिल्डर अपनी प्राथमिकताओं के हिसाब से तय करते हैं। ऐसा नहीं है कि इलाके में काम कर रहे सभी बिल्डरों ने मिल-बैठकर कोई रणनीति बनाई हो कि दरों में वृद्धि की जानी है। पिछले कुछ समय में सामने आई घटनाओं की वजह से हो सकता है कि कुछ बिल्डर कीमत में इजाफा करने की रणनीति बना रहे हों।'

    नोएडा एक्सटेंशन फ्लैट ओनर वेलफेयर असोसिएशन (नेफोवा) के प्रेजिडेंट अभिषेक कुमार ने कहा, 'मेट्रो के प्रपोजल की वजह से इलाके में रियल्टी के बाजार में हलचल बढ़ गई है।' आम्रपाली ग्रुप के ईडी शिव प्रिय ने कहा, 'इस समय यह कहना मुश्किल है कि कीमत में कितनी वृद्धि होगी, लेकिन कंस्ट्रक्शन और दूसरे खर्च बढ़ने की वजह से कीमतें बढ़ सकती हैं। आम्रपाली ग्रुप अपने पुराने ग्राहकों पर किसी तरह का नया बोझ नहीं डालेगी।' ज्यादातर बिल्डर्स का कहना है नोएडा एक्सटेंशन में आने वाले दिनों में कीमतें 500 रुपए प्रति वर्ग फुट तक बढ़ सकती हैं।


    navbharat times
    CommentQuote
  • मुद्दा एक, राहें जुदा-जुदा

    नोएडा। हाल ही में दो फाड़ हुए नेफोमा और नेफोवा ने रविवार को अलग-अलग बैठक की और नोएडा एक्सटेंशन से जुड़े मुद्दों को उठाया।

    नोएडा एक्सटेंशन फ्लैट ऑनर्स वेलफेयर एसोसिएशन (नेफोवा) की बैठक सेक्टर 15ए के पार्क में हुई। इसमें एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से नोएडा एक्सटेंशन प्रोजेक्ट के अप्रूवल की मौजूदा स्थिति, बिल्डरों को निर्माण कार्य शुरू करने से लेकर पजेशन मिलने तक की गाइडलाइंस जारी कराने, बिल्डरों द्वारा कैंसिलेशन लेटर भेजे जाने का विरोध करने और पूरे विवादित समय को शून्य अवधि मानते हुए भुगतान में राहत देने की मांग की गई है। बिल्डरों के गाइडलाइंस जारी करने की मांग को लेकर जल्द ही नेफोवा क्रेडाई को पत्र लिखेगा। रविवार को बैठक में अभिषेक कुमार, श्वेता भारती, चेतन त्यागी, इंद्रिश गुप्ता, रविंदर जैन, अजय कुमार, सुमित सक्सेना, प्रीत भार्गव, उमर सिबली, गोपी रमन आलोक, मनीष अवस्थी, मनीक्षित यस्क आदि शामिल रहे।

    वहीं, नोएडा एक्सटेंशन फ्लैट ऑनर्स एंड मेंबर्स एसोसिएशन (नेफोमा) की बैठक मयूर विहार में हुई। इसमें उक्त मुद्दों के अलावा शाहबेरी के प्रोजेक्ट में फ्लैट खरीदने वाले बायर्स के लिए विकल्प और बिल्डरों के एफएआर (फ्लोर एरिया रेश्यो) बढ़ाने का विरोध करने सहित कुल आठ बिंदुओं पर चर्चा हुई। इन मुद्दों पर जल्द ही रणनीति तय कर आगे बढ़ने का निर्णय लिया गया।

    देवेंद्र कुमार ने यह भी बताया कि बोर्ड से अप्रूवल हुआ भी नहीं है और बिल्डरों ने अपना ले-आउट प्लान अभी से बदलना शुरू कर दिया है। इसके लिए संबंधित अथॉरिटी से अनुमति भी नहीं ली है। उन्होंने इसका पुरजोर विरोध करने की बात कही। बैठक में एसोसिएशन के संस्थापक देवेंद्र कुमार, डिप्टी चेयरमैन विजय त्रिवेदी, उपाध्यक्ष अन्नू खान, राजन मिश्र व संजय नानिवाल शामिल रहे।
    नोएडा एक्सटेंशन को लेकर दो संगठनों की बैठक
    ले-आउट बदला तो करेंगे पूरा विरोध : नेफोमा
    मांगों को लेकर क्रेडाई को पत्र लिखेगा नेफोवा

    Amar Ujala
    CommentQuote
  • .
    Attachments:
    CommentQuote
  • ...
    Attachments:
    CommentQuote
  • ,.
    Attachments:
    CommentQuote
  • Originally Posted by Naveen
    Question to existing buyers of Noida Extension ~

    Folks, I have highlighted a line in Blue Above... Any idea what the hell does that mean, in case true ???

    Have you guys enquired this with Gaurs or ur builders by any chance ??


    Few days back, I did call the gaur office in noida sec 62 n also the sales person gaur from whom i booked. They confidently said no for any price hike n asked who said this.

    BUt who knows wat will hapn. They not the decision maker.

    Also i think no builder at dis point of time will say that existing buyers will b asked to pay more.Itni problem vaisi hi hai
    CommentQuote
  • hi sanju,

    me too cross checked with Gaur guys on saturday, he was confident that they will not increase price for existing buyers but then its their game..

    Also they had increased price on Gaur web site but whats the current price now? Senior members please.
    CommentQuote
  • Hi,
    I am new to this forum, can anyone tell me which one is best NE or JP Aman2.

    I need to book ASAP.
    CommentQuote
  • Originally Posted by ne1985
    Hi,
    I am new to this forum, can anyone tell me which one is best NE or JP Aman2.

    I need to book ASAP.


    Please ask the proper question.

    Will you book your flat in each project in the whole NE.NE is the area and JPAman2 is one of project.

    so be specific.
    CommentQuote
  • Hi

    Originally Posted by ne1985
    Hi,
    I am new to this forum, can anyone tell me which one is best NE or JP Aman2.

    I need to book ASAP.


    Jaypee aman being in Noida is located on expressway 20 Kms far from sector-18 and free from any Issue and litigation while Noida Extension is located in greater noida and is 8-9 kms away from city center Metro. work in Noida extension is yet to be resumed..


    both are altogether different location..
    CommentQuote
  • NEFOWA LETTER TO CREDAI DATED 16-7-2012

    To
    The President,
    CREDAI (Confederation of Real Estate Developers’ Associations of India),
    201-212, 2nd Floor, Splendor Forum,
    Jasola District Centre, New Delhi – 110 025

    Sub : Request for issuing guidelines to Noida Extension Builders

    ... Dear Sir,

    We, NEFOWA (Noida Extension Flat Owners Welfare Association) are working on behalf of all the Noida Extensoin flat buyers. As the approval of Master Plan – 2021 is about to come very soon, some builders have started their arm twisting acts and raising unethical demands. In this regard we would like to request you to kindly issue guidelines to builders taking the below mentioned points into consideration:

    1. Rate of the flats should not be revised for the existing buyers in any condition. Please note that CREDAI officials had assured for the same in past.

    2. “Zero period” should be declared by all the builders for their buyers during the non construction period. All cancellation/ Demand letters of this period should stand void. Please note that the same has been already announced for the builders / allottees by GNIDA.

    3. Those buyers who have paid 10% of BSP for their flat should not be treated as defaulters for the non payment during the non construction period. Builders can raise demand letter for the amount due alongwith its interest from such buyers.

    4. Those buyers who have booked their flat in Down Payment and paid more than 80-85% for their flat, shall be paid the interest by the builders during the non construction period.

    5. Prior consent should be taken from Buyers, in case of any change in layout plan. There should not be any impact of FAR on the layout plans of already launched projects including built-up area, parking area, green area, swimming pool, club house etc. The ceiling height of the flat should also be unchanged. No additional tower to be constructed in the already launched projects.

    6. No compromise on the quality of material used in any interior / exterior in the construction.

    7. The builders should not issue the demand letters unless the projects become bankable.

    8. The revised possession time should be informed to all the buyers as soon as the approval for Master Plan – 2021 comes.

    9. CREDAI make sure these all the guidelines should also be for the non credai members. CREDAI membership should be mandatory for all the builders of Noida Extension.

    10. The builders should specify alternative options to the buyers of those projects which have been affected by the High Court land quash order

    We would like to say that we buyers are in huge financial crisis as well as mental agony, However, we tried to keep the Noida Extension dream house project alive by way of our demonstrations and protests for the last one year. Builders should also realize that they have been safeguarded by the buyers.

    We therefore request you to take appropriate action in this regard and issue an official order/notice to all the builders taking all the above mentioned points into consideration.

    An early reply from your end is eagerly awaited. We also request you to kindly arrange meeting of CREDAI officials with NEFOWA representatives in this regard.

    Thanking you.
    On behalf of NEFOWA ( Noida Extension Flat Owners Welfare Association )

    Shweta Bharti
    General Secretary
    Dated : 16th July 2012.
    CommentQuote
  • Dear friends,

    Following are the minutes of meeting (MOM) of NEFOWA in detail which took place yesterday in presence of hundreds buyers of Noida Extension. Next course of action related to NCRPB, builders & authority was discussed with buyers and made it final by consent of all buyers-

    1) Current status to be enquired of Master-Plan from NCRPB office and the date of
    board meeting for the same ...purpose.

    2) No interest/penalty to be charge for that period by builders and declare this ZERO PERIOD.

    3) No demand letter to be released by builders unless bank starts funding.

    4) Builders to take back cancellation letters for those buyers who have paid 10% or more.

    5) Not to increase FAR & no change in layout at any cost.

    6) No compromise with construction of quality, loading ratio & to provide promised amenities committed by builder initially.

    7) To give clarity to shahberry customers & shift them to another location & release them allotment letter.

    8) CREDAI should talk with banks on moral ground to declare non-construction period as ZERO PERIOD since builders introduced buyers to banks & claimed to have special tip up with them for their project.

    9) Possession date to be given to buyers by builders once master plan is approved by NCRPB.

    10) There won't be any change in agreement except dates.

    11) Buyers are overburden and paying rent & EMI both, on the other side builders have been earning interest on deposited money by buyers in the past 10 months (non-construction period) for doing nothing. And possession getting delayed day by day and buyers have to spend lakhs more as rent for their existing homes in that extended period! So, CREDAI should consider penalty clause for buyers who have opted down payment plan & given enough money.

    12) A letter to be given to CREDAI & GNIDA chairman for above issues so that both could issue a guideline to all builders considering as a special case since it is crucial & one of its kind. It will help those buyers also whose builders are not under CREDAI. GNIDA guideline will cover those builders.

    Team Nefowa.
    CommentQuote
  • Hello everyone..!

    I was visiting the site office of all the projects in Noida extension this weekend.
    I was shocked to see the massive turnout of buyers there even before the clearence for construction.
    The most in demand projects included amrapai golf homes and amrapali centurian park terrace homes because amrapali is the only bilder who has not revised their prices after the approval of NCRPB of both these projects. These projects are still available at 2700 psf/- but the investors clinic guy told me that the information for the revised prices can come any moment.
    All other builders have revised their prices to an extent of Rs 1000 psf/-
    Gaursons-Gaur city 1 is rite now selling at Rs 3700 psf/- as compared to Rs2,200 psf/- last month and Gaur city 2 is selling at Rs 3045 psf/- as compared to Rs 2000 psf/- last month before the draft approval.

    Supertech eco village is selling at Rs 3045 psf/- as compared to Rs 1800 psf/- before draft approval. Super tech was also giving a away a free Alto car with every booking made at Eco village previously but has now withdrawn the scheme due to increasing demand.

    Other projects like eco village 3, Oxford square, Eastend athena again in the range of 2900 to 3200 psf/-

    Is it really worth paying this much for noida extension.
    I wonder what will happen to the prices if the construction starts.
    CommentQuote
  • Originally Posted by gaussmatin
    i gave only 50 K to JNC park in NE one year ago. they were kind enough to book for me. now they are asking for remaining booking amount.. they are not asking for increased rate but to complete booking amount. Shall i go and pay them all? they are saying they will not give agreement now but i will have to wait for 2 months or so. is there something fishy? please help me take a decision!

    :/

    you must wait till next months cause of uncertainty.what layout you opted and what was AI prices.
    CommentQuote