पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • Originally Posted by cookie
    could you tell in details.... since My digital TV doesn't provide Total TV.


    watch online now

    Total Tv Live
    CommentQuote
  • Originally Posted by cookie
    could you tell in details.... since My digital TV doesn't provide Total TV.


    total Tv pe niche ticker pe likh ke aa raha ki metro NE nahi pari chowk jayegi.
    CommentQuote
  • Originally Posted by Sunder_Lal
    yaar ye total tv pe kya news aa rahi hai ki Metro NE nahi balki Pari chowk jayegi.



    ho sakta hai ... shayad pari chowk ke aas pass ke builder ki inventory khaali padi hogi..use beechna hoga toh metro ka muh pari chowk ki taraf ko mood diya...

    i am waiting for the news ki metro yamuna expressway hote hua agra tak jaayegie :bab (59):
    CommentQuote
  • Congrats Mr Fritolays, Your thread have crossed 6000 posts.
    CommentQuote
  • I am expecting proposed Metro from Noida to Lucknow :) Each village will have own metro station...speacial coach for cows/bulls.... in Metro stations.. we normally see "pls do not spit, 200 Rs. fine"... than we will have new one " Pls do not dung, 2 litter milk fine "
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    I am expecting proposed Metro from Noida to Lucknow :) Each village will have own metro station...speacial coach for cows/bulls.... in Metro stations.. we normally see "pls do not spit, 200 Rs. fine"... than we will have new one " Pls do not dung, 2 litter milk fine "



    2002 main gr. noida ke college main engineering kar raha tha tab se sun raha hoon night safari.... airport... NH-24 widening... pata nahi UP ke kis chief mniniter ki 3rd ya 4th generation inauguration karegi in projects ka .. ya tak tak sab proposed yeh banega proposed woh banega ka ball game hi chalta rahega
    CommentQuote
  • CommentQuote
  • Noida Extension work may start this week

    GREATER NOIDA: The NCR Planning Board's nod to Greater Noida Master Plan 2021 has come as a huge relief not only to homebuyers but also Greater Noida Authority that had been relentlessly trying to ensure resumption of construction work in the area for almost one year-and-a-half now.

    Welcoming the decision, Authority CEO Rama Raman said that work on stalled housing projects — barring those in Shahberi — will resume by the end of the month. The Authority will submit an affidavit in the Allahabad high court next week regarding the approval.

    A high-level meeting has been scheduled on Monday with senior officials from Greater Noida and Lucknow to decide the future course of action. "The approval has finally ended the Noida Extension crisis, offering immense relief not just to the state but also to one lakh homebuyers who have invested in the area as well as the developers. We want to assure all stakeholders that as soon as the affidavit is submitted, we will recommence the construction work," he said.

    "We will hold a detailed meeting on Monday to review the status of each project, pacts reached with farmers, and compensation packages already disbursed, among other things," Raman added.

    The Authority, however, is yet to figure out its plan for Shahberi, where most of the denotified 608 hectares of land has already been returned to farmers in accordance with a Supreme Court order. Besides, petitions from several farmers from the 13 villages that constitute the Noida Extension area, are also pending in courts.

    However, Raman said that construction in these areas will be resumed nevertheless. "The courts have not ordered a stay in any village except Shahberi. We have already accepted all the pre-conditions set by the Allahabad high court, including the payment of enhanced compensation to farmers," he said. "If and when courts pass orders on individual petitions, we will take the necessary action," he added.

    Meanwhile, thousands of jubilant homebuyers gathered at the Noida Extension roundabout on Saturday evening to celebrate the planning board's approval. "All our efforts, our protests and innumerable rallies have finally paid off. We can't wait for the construction work to resume," said Abhishek Kumar of Noida Extension Flat Owners Welfare Association. A delegation of buyers will meet the Authority CEO on Monday.


    TOI
    CommentQuote
  • एक्सटेंशन में मनी दीपावली हर्षोल्लास
    अमर उजाला ब्यूरो
    नोएडा। ग्रेटर नोएडा मास्टर प्लान 2021 को हरी झंडी मिलने के साथ ही नोएडा एक्सटेंशन की टेंशन खत्म हो गई। इस मौके पर नोएडा एक्सटेंशन फ्लैट ओनर्स एंड मेंबर्स एसोसिएशन (नेफोवा) ने खरीदारों के साथ मिलकर दीपावली मनाई। शनिवार शाम नोएडा एक्सटेंशन के गोल चक्कर पर एकत्र होकर दीप जलाए गये, पटाखे छुड़ाए गये और फिर मिठाइयां बांटकर एक-दूसरे को बधाई दी। इस मौके पर बड़ी संख्या में खरीदार, निवेशक और रियल एस्टेट से जुड़े लोग मौजूद रहे।

    शनिवार की शाम को नोएडा एक्सटेंशन के गोल चक्कर पर दीपावली मनाई गई। डेढ़ साल से आशियाने का सपना देखने वालों को आखिरकार शुक्रवार को राहत मिली। एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से ग्रेटर नोएडा का मास्टर प्लान मंजूर होते ही फोन और एसएमएस का दौर शुरू हो गया। नेफोवा के अध्यक्ष अभिषेक कुमार की अगुवाई में शनिवार को जश्न मनाया गया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि यह काफी राहत की खबर है। केंद्रीय मंत्री कमलनाथ के मास्टर प्लान पर हस्ताक्षर करते ही अपने घर का सपना पूरा होता हुआ दिखाई पड़ा। इस मौके पर नेफोवा के सदस्य इंद्रेश कुमार ने बताया कि मई में पहली बार हाईकोर्ट से आए निर्णय के बाद खरीदारों के माथे पर बल पड़ा, जिसके बाद यह दौर जुलाई तक जारी रहा। इस दौरान यह महसूस होने लगा कि आशियाना पाने के चक्कर में कहीं जीवन भर की कमाई डूब न जाएं।

    अभिषक ने बताया कि शनिवार को छुट्टी का दिन रहा। इसलिए नेफोवा ने सोशल नेटवर्किंग साइट और अपने से जुड़े हुए खरीदारों और निवेशकों से संपर्क कर एक साथ मिलकर दीपावली मनाने का निर्णय लिया। गोल चक्कर पर शाम साढ़े चार बजे से ही भीड़ एकत्र होना शुरू हो गई। रिमझिम बारिश के बीच सवा पांच बजे तक अधिकांश लोग एकत्र हो गए। इसके बाद पटाखे जलाकर और मिठाइयां बांटकर जश्न मनाया। क्षितिज सिंह, नरेंद्र नायक, मृदुल मंडल, गिरीश जोशी, एम. यश, गोपी रमा आलोक, अवनीश कुमार, उमर सिबली, मनोज पांडेय, जे. कुमार आदि मौजूद रहे।

    स्थल निरीक्षण करने वालों की बढ़ी संख्या
    नोएडा एक्सटेंशन को हरी झंडी मिलने के बाद शनिवार को बड़ी संख्या में लोग अपने-अपने प्रोजेक्ट को देखने पहुंचे। दिल्ली से आए दंपति आशीष और संगीता ने बताया कि एक्सटेंशन में घर बुक करवाया। सुबह अखबार से मिली जानकारी के बाद मौके पर स्थिति देखने आए हैं।

    ‘कमेटी की शर्तें करनी होंगी पूरी’
    ग्रेटर नोएडा (ब्यूरो)। एनसीआर प्लानिंग बोर्ड (एनसीआरपीबी) ने ग्रेनो के मास्टर प्लान-2021 के पास होने के लिए प्रदेश सरकार को एनओसी जारी कर दी है, लेकिन याद भी दिलाया कि वैधानिक कमेटी ने जो शर्तें रखीं थीं, उनको पूरा करना होगा। अब प्राधिकरण सोमवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट में शपथ पत्र दाखिल करके एनओसी मिलने की जानकारी देगा। इसके बाद नोएडा एक्सटेंशन में निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा।

    एनसीआरपीबी की सचिव नैनी जयसीलेन ने प्रदेश सरकार के प्रिंसिपल सेकेटरी (हाउसिंग डिपार्टमेंट) एस.एन. शुक्ला को 24 अगस्त को हस्ताक्षरित पत्र भेज दिया है। एनओसी की कॉपी नोएडा एक्सटेंशन फ्लैट ऑनर वेलफेयर एसोसिएशन को भी भेजी गई है।
    प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने बताया कि एनओसी मिलने के बाद अब सोमवार को इस संदर्भ में प्राधिकरण में बैठक होगी और हाईकोर्ट में शपथ पत्र के साथ एनओसी मिलने की सूचना देंगे। इसके बाद निर्माण शुरू हो जाएगा।

    Amar ujala
    CommentQuote
  • ऑफिस हुए गुलजार

    ग्रेटर नोएडा मास्टर प्लान 2021 को हरी झंडी मिलने के बाद ग्रुप हाउसिंग कंपनियों के ऑफिस फिर से गुलजार हो गए। शनिवार को छुट्टी होने के कारण बड़ी संख्या में लोग अपने प्रोजेक्टों की जानकारी और पुराने भुगतान की जानकारी लेने पहुंचे। सेक्टर-62 स्थित आम्रपाली, सेक्टर-58 स्थित सुपरटेक, सेक्टर-24 स्थित एसोटेक कार्यालय में खरीदारों और निवेशकों की संख्या बढ़ी।

    दोनों सरकारों ने समझा दर्द
    केंद्रीय मंत्री से एक्सटेंशन को हरी झंडी मिलने के बाद अपने आशियाने की आस पूरी होती दिखाई पड़ रही है। राज्य और केंद्र दोनों सरकार ने खरीदारों की परेशानी को समझा और मामले पर निर्णय लिया। -अश्वनी चौधरी


    बोर्ड ने सकारात्मक रवैया अपनाया
    नोएडा एक्सटेंशन पर खरीदार और किसान दोनों परेशान रहे हैं। एनसीआर प्लानिंग बोर्ड ने सकारात्मक रवैया अपनाकर लोगों के सपनों को सजाने में मदद की है। -डॉ. ज्ञानेश शर्मा

    मंजूरी का रास्ता साफ हुआ
    एक्सटेंशन की टेंशन को समाप्त करने में सबसे ज्यादा मशक्कत ग्रेनो सीईओ रमा रमण ने की है। हर कदम पर खरीदारों से किसानों तक से वार्ता करके उन्हें आश्वस्त किया और आज उसका नतीजा है कि मास्टर प्लान मंजूरी मिली। -अवनीश

    पूरे जीवन की पूंजी लगाई
    एनसीआर में अपने आशियाने के लिए पूरे जीवन की पूंजी लगा दी थी। शनिवार की सुबह आई खबर ने राहत दी है। अब लग रहा है कि जल्द ही एनसीआर में एक अदद घर मिल सकेगा। -संतोष

    करनी होगी तेज कार्रवाई
    ग्रेटर नोएडा मास्टर प्लान के मंजूर होने के बाद अब बिल्डर्स को कार्रवाई तेजी से पूरी करनी होगी। सवा साल से अटके प्रोजेक्टों को समय पर पूरा करने के लिए योजनाबद्ध तरीके से काम करना होगा। -यूके मैनी
    CommentQuote
  • ..
    Attachments:
    CommentQuote
  • ,.
    Attachments:
    CommentQuote
  • ,..
    Attachments:
    CommentQuote
  • .-
    Attachments:
    CommentQuote
  • CAN’T RESUME IN NOIDA EXTN metro FARMERS CLAIM CONSTRUCTION

    A day after the National Capital Region Planning Board approved the Greater Noida Master Plan 2021, paving the way of construction of over two lakh flats in Noida Extension, angry farmers staged a protest.

    The farmers threatened that they will not allow any construction activity till the Supreme Court settles all land dispute cases.

    A group of about 60 farmers under the banner of Kisan Sangharsh Samiti burnt Union urban development minister Kamal Nath in effigy at Noida Extension.


    "How can the developers resume construction until all the land dispute cases are pending in the Supreme Court? We will not let it happen. We will request the apex court to order a stay over construction," said Dushyant Nagar, one of the farmers' leaders.

    About 400 cases are pending in the apex court. "All the developers' are involved in litigation with the farmers over their project land. Therefore, construction will not be allowed to resume," added Nagar.
    However, the Greater Noida authority rejected farmers' contention. "The high court in its October, 2011 order had clearly stated that developers can only start the construction once the NCRPB approves the Master Plan 2021 for Greater Noida. Since the NCRPB has approved it on Friday, the developers can begin the construction. I think the Supreme Court may not appreciate farmers' request because the high court had already settled the matter," said a Greater Noida official, requesting anonymity.

    HT
    CommentQuote