पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • GREATER NOIDA: Noida Extension following instructions from the Greater Noida Authority, developers have hinted at putting some burden even on the existing buyers due to hike in input costs.
    Developers on Monday met the Greater Noida Authority CEO and were issued letters in the evening to resume construction. "We are back to work. Labourers have been called in after getting clearance from the Authority. We expect to deliver our first housing project in the next six months," said CREDAI (NCR) vice-president and Amrapali group CMD, Anil Sharma.
    Even bookings have begun on a full-fledged scale. "Around 50-60 units are being booked each passing day even though we have revised our rates to Rs 3,200 per sq feet," said RK Arora, CMD Supertech, which is constructing 25,000 residential units in the region.
    When asked about putting financial burden on old buyers, Arora said, "Material costs have gone up by 20% while manpower cost has also been increased by 15%. At the same time, the Authority has passed the compensation burden on developers, which is around Rs 200 per sq feet. Under such circumstances, we have demanded that the Authority allow increase in floor area ratio from 2.75 to 3.5%. If the Authority allows additional FAR for free, then only would we be able to put no burden on existing homebuyers," said Arora.
    CREDAI (western UP) president and Gaursons MD, Manoj Gaur, said some developers are already reeling under losses and without passing the burden on existing buyers, their project would not get completed. "Each developer has a different sale agreement with the buyers. Only those developers can demand additional financial support from existing buyers who have mentioned a clause citing additional financial burden to be shared by the allottees. If developers have not mentioned this clause, buyers are not bound to pay additional charges," said Gaur.
    "The Authority has already offered developers waiving off interest and payment of instalments during the zero period. I think giving free FAR to developers would not be possible by the Authority as the state government has issued an order that it can only be purchased," Gaur added.
    CommentQuote
  • एक्सटेंशन में काम शुरू होने में बाधा बनी बारिश

    संवाददाता, ग्रेटर नोएडा : मास्टर प्लान मंजूर होने के बाद नोएडा एक्सटेंशन में निर्माण कार्यो में तेजी नहीं आ पा रही है। कुछ बिल्डरों ने निर्माण कार्य शुरू करने के लिए मजदूरों की व्यवस्था कर ली है, बारिश होने के कारण बुधवार से उनका निर्माण कार्य नहीं शुरू हो पाया। एक्सटेंशन में फ्लैट बुक कराने के लिए नए निवेशकों का आना जारी है। प्राधिकरण भी बारिश का मौसम समाप्त होने के बाद ही एक्सटेंशन में विकास कार्य शुरू कर पाएगा। मुख्य कार्यपालक अधिकारी रमा रमण ने परियोजना विभाग को एक माह के अंदर विकास कार्य के लिए निविदा जारी करने का निर्देश दिया है।

    मास्टर प्लान 2021 एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से 24 अगस्त को मंजूर हो गया था। प्राधिकरण ने बिल्डरों को 27 अगस्त से निर्माण कार्य शुरू करने की हरी झंडी दी थी। प्राधिकरण से हरी झंडी मिलने के बाद भी एक्सटेंशन में बिल्ड...

    रों के साइट पर पूरी तरह से निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाया है। निर्माण कार्य शुरू करने के लिए बिल्डर अभी मजदूरों का इंतजाम करने में लगे हैं। कुछ बिल्डरों ने छुटपुट कार्य शुरू किया, लेकिन बुधवार सुबह लगातार बारिश होने के कारण निर्माण कार्य बंद रहा है। बिल्डरों का कहना है कि बारिश होने पर निर्माण कार्य शुरू करने में बाधा रहेगी। मौसम साफ होने के बाद निर्माण कार्य में तेजी आएगी। इस दौरान मजदूरों की व्यवस्था हो जाएगी।

    इधर, एक्सटेंशन में बिल्डरों ने नए दर पर फ्लैटों की बुकिंग शुरू कर दी है। बिल्डर फ्लैटों की बुकिंग 25 सौ से लेकर 32 सौ रुपये प्रति वर्ग फीट के हिसाब से कर रहे हैं। जबकि एक्सटेंशन में विवाद शुरू होने से पहले 18 सौ से लेकर दो हजार रुपये प्रति फीट के हिसाब से फ्लैट बुक हुए थे। बिल्डरों के फ्लैटों की बुकिंग अब तक 50 फीसद ही हुआ है। प्राधिकरण ने एफएआर (फ्लोर एरिया रेसियो) बढ़ाने की अनुमति दे दी तो फ्लैटों की संख्या बढ़ सकती है।


    dainik jagran
    CommentQuote
  • lol
    Attachments:
    CommentQuote
  • Now EX---TENSION.........COOL

    Noida Extension is now EX-TENSION...SO COOL

    Originally Posted by ragh_ideal
    getting very expensive tension for next Gen/or something else.
    CommentQuote
  • Hv bank started approving projects. On NEfowa someone has written- Amrapali projects are bankable by Bank of maharastra
    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    Hv bank started approving projects. On NEfowa someone has written- Amrapali projects are bankable by Bank of maharastra


    I am sure Amrapali has some internal connection with Bank of Maharastra..
    CommentQuote
  • GNIDA ने मिट्टी हटाने के काम शुरु किया है , बाकि पूरे नोएडा एक्टेशंन में काम शुरु नही हो पाया है । (by NEFOMA)
    Attachments:
    CommentQuote
  • other recent photo...less construction activities (nefoma)
    Attachments:
    CommentQuote
  • nice photos.... very soon, we would want Raina, Gambhir, Dhoni, Jogender singh promoting builders here!!1
    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    Hv bank started approving projects. On NEfowa someone has written- Amrapali projects are bankable by Bank of maharastra


    I have come to know that State Bank of Patiala is planning in big way to provide Home Loans. State Bank of Patiala has already 2 branches in Greater Noida and 2 branches in Noida.
    CommentQuote
  • Originally Posted by TRUE FRIEND
    I have come to know that State Bank of Patiala is planning in big way to provide Home Loans. State Bank of Patiala has already 2 branches in Greater Noida and 2 branches in Noida.



    If you are my TRUE FRIEND ;) let me know what all projects are approves by SBPatiala?

    :)
    CommentQuote
  • Originally Posted by asuyal1
    is Gaur the parent builder ?? ya ... naam use kiya jaa raha hai like bulland elevates...saviour... and some other fews.. they say the location is GC-1,GC-2 ie. gaur city1 ..gaur city 2 ...but builder toh koi aur hi hota hai :bab (45):


    Gaur is not the parent builder...it is Galaxy which has a tower GC3 in gaur city 1. the rates being offered are competitive and location seems to be good...
    CommentQuote
  • Originally Posted by SaandBull
    If you are my TRUE FRIEND ;) let me know what all projects are approves by SBPatiala?

    :)

    I have been told that State Bank of Patiala has approached GNIDA CEO to provide necessary clerance and documents. Meanwhile approval of Subhkamana City project is expected. But let us see.
    CommentQuote
  • Mahagun is not accepting any pending payments for Mywoods project..I have had already paid 10% as booking amount one year back before all this controversy...also signed the BBA..yeaterday went to their office to pay 5% due amount but they refused to accept the payment saying "all the payments are on hold..w'll start taking in an around 20 days" Guys is this the real scenario or they are trying some other practice...??

    Are they intent to cancel such units who have only paid 10% amount ....Can they cancel the unit even after signing BBA as they themselves asked us not to make payments till the clearnace comes?

    Please suggest if someone got this kind of response from Mahagun or nay other builder.
    CommentQuote
  • Originally Posted by arana8
    Mahagun is not accepting any pending payments for Mywoods project..I have had already paid 10% as booking amount one year back before all this controversy...also signed the BBA..yeaterday went to their office to pay 5% due amount but they refused to accept the payment saying "all the payments are on hold..w'll start taking in an around 20 days" Guys is this the real scenario or they are trying some other practice...??

    Are they intent to cancel such units who have only paid 10% amount ....Can they cancel the unit even after signing BBA as they themselves asked us not to make payments till the clearnace comes?

    Please suggest if someone got this kind of response from Mahagun or nay other builder.



    exact situation like me... i also went some 1 month ago and faced the same answer.. let see what they are upto...

    :(
    CommentQuote