पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • 30 हजार आवंटियों को नोटिस दिया
    दो माह के भीतर पैसा जमा न करने पर खत्म माना जाएगा जीरो पीरियड

    ग्रेटर नोएडा। नोएडा एक्सटेंशन समेत ग्रेटर नोएडा के 30 हजार आवंटियों को प्राधिकरण ने जीरो पीरियड देकर राहत दे दी है। इसके लिए दो माह के अंदर बकाया भुगतान अदा करना होगा। ऐसा न करने वालों के लिए जीरो पीरियड खत्म माना जाएगा और उन्हें भारी पेनाल्टी देनी होगी।

    प्राधिकरण के डीसीईओ सीके पांडे ने बताया कि नोएडा एक्सटेंशन समेत 30 हजार आवंटी इलाहाबाद हाईकोर्ट के 21 अक्तूबर 2011 के निर्णय से प्रभावित हुए थे। कोर्ट ने कहा था कि प्राधिकरण तब तक कोई विकास कार्य आगे नहीं बढ़ाएगा, जब तक एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से मास्टर प्लान-2021 पास न करा लिया जाए। बीती 24 अगस्त को बोर्ड ने मास्टर प्लान पास कर दिया था।

    प्राधिकरण ने सभी आवंटियों को राहत देते हुए करीब आठ माह का जीरो पीरियड रखकर कोई अतिरिक्त बोझ नहीं डाला। अब सभी आवंटियों को नोटिस भेजकर कहा गया है कि बकाया किस्त और अतिरिक्त राशि को दो माह के अंदर जमा करना होगा।

    अगर इस दौरान कोई आवंटी ऐसा नहीं करता है तो जीरो पीरियड समाप्त हो जाएगा और शुरू से लेकर भुगतान करने तक की अवधि की पेनाल्टी भरनी होगी।

    नोएडा एक्सटेंशन में 81 बिल्डरों को जमीन आवंटित की गई थी। इसके अलावा संस्थागत और व्यक्तिगत आवंटी भी शामिल हैं। प्राधिकरण ने अभी तक कुल 45 हजार आवंटन किए हैं, उनमें से 30 हजार कोर्ट के निर्णय से प्रभावित हो गए थे।
    CommentQuote
  • एक्सटेंशन की मंजूरी पर सवाल
    नोएडा (ब्यूरो)। नोएडा एक्सटेंशन सहित ग्रेटर नोएडा के मास्टर प्लान को अप्रूवल देने पर देहात मोर्चा ने विरोध जताया है। मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष केसरी सिंह गुर्जर ने सेक्टर 15 में आयोजित प्रेसवार्ता में कहा कि अभी 45 गांवों के किसानों ने हाईकोर्ट में और 28 गांवों के किसानों ने सुप्रीम कोर्ट में रिट दायर कर रखी है। इसके बावजूद एनसीआर प्लानिंग बोर्ड ने मास्टर प्लान को कैसे मंजूर कर लिया।

    Amar Ujala
    CommentQuote
  • किसान रोंकेगे नोएडा एक्सटेंशन का काम
    ग्रेटर नोएडा (ब्यूरो)। मांगें पूरी करने की जिद पर अड़े किसानों की बुधवार को घोड़ी बछेड़ा गांव में हुई पंचायत में निर्णय लिया गया कि रविवार को नोएडा एक्सटेंशन के सभी बिल्डरों का काम रोका जाएगा। इस संबंध में शुक्रवार को गुर्जर भवन में सभी किसान संगठनों की बैठक भी बुलाई गई है।

    पंचायत के निर्णय की जानकारी देते हुए जमीन अधिग्रहण प्रतिरोधक आंदोलन के नेता डॉ. रूपेश वर्मा और किसान संघर्ष समिति के नेता मनवीर भाटी ने बताया कि किसानों ने प्राधिकरण को शनिवार तक का समय दिया था।


    Amar Ujala
    CommentQuote
  • Lo.. ho gaya jughhi ghar
    Attachments:
    CommentQuote
  • Apne laalach ke liye Noida Ext. kao bekar kar denge builders
    CommentQuote
  • At end of the day sabse jada fayda builders ka hi hua hai par ye jarur existing buyers ko abhi bhi tang karenge.
    CommentQuote
  • =======================================================
    Finally, welcome to the new Noida extension which would be known as crossingpuram(crossing+indirapuram).

    since ghaziabad authority did have huge FAR 10-15 yrs back, hence most of buildings were G+8 or so. then came crossing rebublic, small plot, many builders, huge FAR, hence born crossing republic.

    Now, noida extension with FAR of 3.5, has the most of plots laying vacant, hence they can erect G+25 or so. since plot is big, they would have worst feature of 2 bad example, indirapuram for its congestion and crossing for its high rises.


    I feel ashamed to be part of a group which bought a home in noida extension. long live raman and long live these pathetic builder.

    ======================================================
    CommentQuote
  • does any one have input on the first mall of NE, the regal emporia. they are neither advertising nor booking . seems some thing fishy. please some one have any inputs
    CommentQuote
  • I think made good decision by taking GC 16 as it is corner plot from were n ex starts. Hope ye FAR ka effect na pade ispar
    CommentQuote
  • Only one winner - Builder

    I see only one winner in whole NE episode, and the prize goes to builder.

    1) Its possible that NE builder might have caused all this delay in this NCRPB approval. So that they can sell there Noida projects at higher price. Now once the Noida inventory is sold, NE opens up.

    2) Meanwhile they kept increasing the price on Noida project on quarterly basis.

    3) Now again buyers are comparing NE with other areas and feel the NE is the only cheaper option. And they queue up to buy in NE.


    Sometime I feel all this as a game. Builder/Authority is playing with buyers.
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    NEFOWA update

    Few weeks back NEFOWA had written a letter to GNIDA in which it had strongly opposed the increase in FAR in Noida Extension projects. With reference to the same, GNIDA had called NEFOWA for a meeting today. The meeting was presided over by Mr. Harish Kr Verma , Asst. CEO, GNIDA alongwith four officials. NEFOWA was represented by 10 of its core members.

    GNIDA requested NEFOWA members to enlist its objections against the increase in FAR. NEFOWA pointed out some ill effects of FAR increase like reduction of green area due to increase in number of towers, weakening of building by increase of floors whose foundation is already completed, impact of dense population on infrastructural ammenities like lift, water, sewerage, road, power, parking area etc.

    In addition to the points mentioned, NEF...OWA added that Noida Extension Housing Project is believed to be a 'World Class Project' and we buyers do not want to have any variance in our believe.

    GNIDA assured that it will take above mentioned points into consideration and will try to accommodate all those points and issue guidelines to builders accordingly.

    "There will be no new towers, no floor addition on the under construction projects and there will be increase in the service facilities on the projects in which additional floor will be added.".said Mr. Verma.


    As stated above ( no new towers, no floor addition on the under construction projects), can we take in writing from our builders that they will follow these norms??
    CommentQuote
  • NEFOMA update

    Dear Buyers,

    As all you are aware that Super tech & Earth has sent so many cancellation to so many buyer & discussed as below:
    ...

    SUPERTECH…Yesterday Met with Mr Guneet Singh Sodhi(agm-Crm) & raised the issue of cancellation which has been earlier sent to so many buyers & requested on below points:

    1.10% of BSP must be adhere as pe...
    r policy

    ...
    2. Buyers who have paid up to Rs20000/- less amount as per allotment letters should not be canceled but charge interest on them.

    Regarding all these points he said to talk with the management & said to wait for two days.

    EARTH INFRA….Today met with Bhushra Aslam(Associate Vice President) along with the effected buyers & discussed about the cancellation & 2 cases she has taken & assure to reply very shortly besides this issue of one buyer will considered after 2 day days when the meeting of management will be finalized & a universal policy will be made for all buyers.

    But after all the discussion as I have noted that this Earth has no policy for buyers so all buyers please update if any one who is effected please send your details at admin@nefoma.org
    If in case of any query you are free to call at NEFOMA.

    Regards
    CommentQuote
  • NEFOWA update

    NEFOWA got confirmation on PS meeting from Mr. Manoj Indoria. Panchsheel Buyers and management meeting has been fixed on 8th September (Saturday) at 11.30 am in Panchsheel Office. NEFOWA requests all the Panchsheel Buyers to be present there (Panchsheel Office, Sec-63, Noida).NEFOWA is thankful to Panchsheel Officials who have agreed to conduct All Panchsheel Buyer’s Meeting. We appreciate PS management for having the guts to face the buyers and clarify their queries. NEFOWA appeals to all the NE builders to organise meetings with their respective buyers.
    Attachments:
    CommentQuote
  • NEFOWA update

    Today Team NEFOWA (Noida Extension Flat Owners Welfare Association) Members were invited for a meeting with Mr. Harish Verma Dy.CEO GNIDA along with other concerned officials. We submit them our letter and asked them to resolve these issue as early as possible.

    Today we filed our objections for increase in FAR and asked Authority not to increase FAR in Noida Extension. Buyers will not accept any extra tower or reduction in green area/ open area in projects. They register our complaint and will reply within 1-2 weeks time.

    Yesterday when we met CREDAI Vice president Mr. Anil Sharma and got promise on our demands. Today again in our meeting we raised same demands to GNIDA and ask them to resolve these problems and issue guidelines to all builders.
    ...
    Thanking you.
    On behalf of NEFOWA (Noida Extension Flat Owners Welfare Association)
    Attachments:
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    NEFOWA update

    Today Team NEFOWA (Noida Extension Flat Owners Welfare Association) Members were invited for a meeting with Mr. Harish Verma Dy.CEO GNIDA along with other concerned officials. We submit them our letter and asked them to resolve these issue as early as possible.

    Today we filed our objections for increase in FAR and asked Authority not to increase FAR in Noida Extension. Buyers will not accept any extra tower or reduction in green area/ open area in projects. They register our complaint and will reply within 1-2 weeks time.

    Yesterday when we met CREDAI Vice president Mr. Anil Sharma and got promise on our demands. Today again in our meeting we raised same demands to GNIDA and ask them to resolve these problems and issue guidelines to all builders.
    ...
    Thanking you.
    On behalf of NEFOWA (Noida Extension Flat Owners Welfare Association)



    Ye Gnoida ka temporary office hai kya? Plaster bhi nhi kia:D. See the walls.
    Kahi builder ke sath ye bhi baag jaye
    CommentQuote