पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16356 Replies
Sort by :Filter by :
  • Originally Posted by cookie
    They may like to spend time more in transit than at home....



    :D:D:D:D

    Actually they do'nt like Gurgaon culture (ca'nt make pace with higher society).

    so they want to stay Noida or near areas.
    CommentQuote
  • i have many friends working in RBS Gurgaon who have bought in NE too
    CommentQuote
  • Originally Posted by manoj1981
    Totally agree with you cookie bhai, be smart and buy resale in NE once it gets all cleared from SC..

    and touching 4000 rate is something I cant digest - Pradyot bhai with all due respect





    Just calculate all inclusive rate (BSP in flexi + plc of 9th floor + ifms + lease rent + car parking + club + power backup + electric meter charge + other charges) of Gaur Saundaryam. It is around 4700 psf in case of 1000 sqf flat at 9th floor.


    Now what is your opinion?
    CommentQuote
  • Originally Posted by Pradyot1315sqf
    Just calculate all inclusive rate (BSP in flexi + plc of 9th floor + ifms + lease rent + car parking + club + power backup + electric meter charge + other charges) of Gaur Saundaryam. It is around 4700 psf in case of 1000 sqf flat at 9th floor.


    Now what is your opinion?



    4700psft..?????????:bab (59):
    CommentQuote
  • Originally Posted by Pradyot1315sqf
    Just calculate all inclusive rate (BSP in flexi + plc of 9th floor + ifms + lease rent + car parking + club + power backup + electric meter charge + other charges) of Gaur Saundaryam. It is around 4700 psf in case of 1000 sqf flat at 9th floor.


    Now what is your opinion?


    jada ho gya malik?????
    CommentQuote
  • Originally Posted by ragh_ideal
    jada ho gya malik?????


    What i have heard about this project is that this is being promoted as a high end luxury project by Gaurs with a minimum size of 1440 sq ft approx. Someone got a quote of BSP 3400 with 2% discount. With adding other charges, this project wud be going at approx 3800.

    This is what I could google

    http://www.buniyad.com/project/gaursaundaryam/price-list.html
    CommentQuote
  • Originally Posted by leo1609
    What i have heard about this project is that this is being promoted as a high end luxury project by Gaurs with a minimum size of 1440 sq ft approx. Someone got a quote of BSP 3400 with 2% discount. With adding other charges, this project wud be going at approx 3800.

    This is what I could google

    Gaur Saundaryam Noida Extension

    bhaiya luxury ho chahe kuch bhi ho .. noida extension mein 4000 dene ki jagah mein rent pe hee rehna pasand karoonga .. batao 2000 ka maal double rate mein kyun loon
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    bhaiya luxury ho chahe kuch bhi ho .. noida extension mein 4000 dene ki jagah mein rent pe hee rehna pasand karoonga .. batao 2000 ka maal double rate mein kyun loon


    correct,ye mal to kewal 2000psft ka hi hai.

    half construction(40-50%) ke bad 3000 aur completion time pe (80%)4000 justified hoga.
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    bhaiya luxury ho chahe kuch bhi ho .. noida extension mein 4000 dene ki jagah mein rent pe hee rehna pasand karoonga .. batao 2000 ka maal double rate mein kyun loon


    Thats why its called " to each his own". There seems to be people who are going and booking for projects in NE. Every one and every household have their own thinking...
    CommentQuote
  • ..
    Attachments:
    CommentQuote
  • ye sab paid news hai
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    ..


    There is no discussion about bank/loan/disbursement.
    CommentQuote
  • Originally Posted by iamonpc
    ye sab paid news hai

    Agree.

    Just an Eyewash!!

    Headline should have been like that " Noida Extension Builders on Fast Track to Trap Innocent Guys"
    CommentQuote
  • Originally Posted by iamonpc
    ye sab paid news hai


    very same news being spread out from last week, nothing new.
    CommentQuote
  • Originally Posted by ragh_ideal
    There is no discussion about bank/loan/disbursement.


    None is talking about litigation/SC and farmers Issue also
    Just showing rosy picture, not real picture...
    CommentQuote