पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • Originally Posted by Sunder_Lal
    bhai ye kaun sa shodh sansthan hai ? Yaha Gujjar shodh kar rahe hain ya shujjaro pe shodh ho raha hai ? :D :D :D


    ye ansal plaza ke paas hai .. near pari chowk
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    ye ansal plaza ke paas hai .. near pari chowk

    yeah I have seen That opposite Ansal Plaza. That could be called "Gujjar Fan Club"
    CommentQuote
  • main to padh ke dang reh gaya .. mujhe laga ki kahi government ne koi research institute khol diya :D
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    ye ansal plaza ke paas hai .. near pari chowk



    ek paper bhi aata hai .. uska naam hai Gujjar darshan :bab (34):
    Attachments:
    CommentQuote
  • Jai ho Gujjar baba ki.....:D
    Originally Posted by asuyal1
    ek paper bhi aata hai .. uska naam hai Gujjar darshan :bab (34):
    CommentQuote
  • Originally Posted by singhpa
    Jai ho Gujjar baba ki.....:D


    isiliye desh ki ye halat hai .. akhbaar bhi caste ke naam pe nikal rahe hain ..
    Kab sudhrega desh.

    Vo 8 saal se loot rahi hai desh ko ... aur hum aapas me jaat ke naam pe lad rahe hain.
    CommentQuote
  • how can mr anil sharma he is not aware about the news. In front of him the newsreader was crying that stay away from the Ajnara homes, Mywoods mahagun , steller jjeeva, earth town and so many project. Only gaur sons, amarpali and supertech are the reliable builder in NE according ZEE NEWS (worst channel). ZEE news history they always demand money for showing anything on their channel. GN CEO said that metro will execute max up to 2016. Are bhai pahle kaam shuru karo, and people will live there then metro ka socho. Sari public ulloo hai kya. NE ke tension ke asli responsible GN hi hai. Ab public ko phir se gumrah kar rahe hai jisse public phirse apna paisa NE mein lagaye. Spreading news through print media, news channel etc. Metro will execute, but nobody knows. Lets try to start the full speed work in NE and resolve the supreme court problem. People will automatically come to builders. Dont confuse the investors, I request GN responsible people.

    Originally Posted by asuyal1
    NEFOWA updates on yestrday Zee show on NE

    Just now Team NEFOWA had teletalk with Mr. Anil Sharma, CMD (Amrapali group) regarding yesterday's TV show telecasted on Zee Business, in which many projectes (except Amrapali,Supertech, Gaur) of Noida Extension were told to be unsafe and risky and buyers were being suggested by the panalists to stay away and exit from those projects. Mr. Sharma told us that this is rubbish and totally wrong .All Noida extension projects are safe. He told that he also talked with this news channel and warned if this type of wrong news is shown by any news channel ,he will not participate such programs. yeah aaj ka update hai NEFOWA admin se
    CommentQuote
  • bhai HDFC ne approve kar dia hai Mahagun Mywoods ko....mahagun waale bhi yahi bol rahe hain aur call bhi aayi hai HDFC se yahi...


    dekhte hain in coming week if this is true ya publicity stunt hai.. jo builders friday aur weekend pe dete hain taaki zayda se zyada bheed aaye gaur gol chaakar pe weekend pe
    CommentQuote
  • arora jie son is also involved in deals now.. that day i saw he was promoting western UP and supertech's role in that ...

    lekin jab azam khaan saab aaye Video Conferencing then all were mute speculators...

    aur mantri jie Gr. Noida / Noida ki barbaadi ka gyan deke chale gaye ;)


    Originally Posted by fritolay_ps
    Kahi aisa na ho ki 2020 tak kuchh bhi nahi bane aur rate 10000psf ban jaye.. investors are happy... and new investors are buying in re-sale and selling on higher premium... Buyers have retired and their son are fighing for home... called new org..NEBKA Noida Extension's Buyers Kid Association.... supertech/amrapali announcing that problem will be solved in next months... other members become too old...

    CommentQuote
  • किसान रोकेंगे नोएडा एक्सटेंशन में निर्माण

    ग्रेटर नोएडा : किसान रविवार को नोएडा एक्सटेंशन में बिल्डर परियोजनाओं का निर्माण कार्य बंद कराएंगे। किसानों का कहना है कि प्राधिकरण ने उनसे किया वादा पूरा नहीं किया है। जब तक मुआवजा, बैकलीज व आबादी के लंबित प्रकरण निस्तारित नहीं किए जाएंगे, तब तक बिल्डरों को निर्माण कार्य शुरू नहीं करने दिया जाएगा। किसानों का कहना है कि विधानसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लागू होने से पहले प्राधिकरण ने वादा किया था कि चुनाव संपन्न होते ही आबादी के लंबित प्रकरण निस्तारित कर दिए जाएंगे। सरकार को बने पांच माह हो गए हैं। प्राधिकरण ने आबादी निस्तारण की प्रक्रिया शुरू नहीं की है। जिन किसानों के आबादी के प्रकरण निस्तारित हो चुके हैं, उनकी बैकलीज नहीं की जा रही है। हाईकोर्ट के निर्देश पर प्राधिकरण ने मार्च, 2012 तक शत-प्रतिशत किसानों को मुआवजा बांटने का आश्वासन दिया था। सितंबर आ गया है, लेकिन अब तक तीस फीसद किसानों को ही अतिरिक्त मुआवजा मिला है। हाईकोर्ट ने दस फीसद जमीन देने के निर्देश दिए थे। इस पर भी अमल नहीं हुआ है।



    Dainik Jagran
    CommentQuote
  • किसानों को कैंप लगाकर बंटेगा मुआवजा: सीईओ
    अमर उजाला ब्यूरो
    ग्रेटर नोएडा। प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन का कहना है कि नोएडा एक्सटेंशन का मास्टर प्लान पास होने के बाद अब सबसे पहले किसानों की लंबित मांगों को पूरा किया जाएगा। मुआवजा वितरण के लिए गांवों में कैंप लगाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। आबादी निस्तारण के लिए शीघ्र ही कमेटी की बैठक बुलाई जाएगी। उन्होंने किसानों से अपील की है कि वे नोएडा एक्सटेंशन में ऐसा कोई काम न करें, जिससे माहौल खराब हो।

    सीईओ के अनुसार, बिल्डर पैसा जमा करने लगे हैं। वह पैसा सबसे पहले किसानों को मुआवजा वितरण में खर्च किया जाएगा। उसी पैसे से गांवों का विकास भी कराया जाएगा। कोर्ट के आदेश के मुताबिक 64 फीसदी अतिरिक्त मुआवजा वितरण के लिए शीघ्र की कैंप लगाने की तिथि घोषित कर दी जाएगी। जो किसान आबादी के लाभ से वंचित रह गए हैं, उनके लिए शीघ्र की हाईपावर कमेटी की बैठक होगी। किसी भी किसान के साथ भेदभाव नहीं होगा। जिन किसानों की आबादी छोड़ी जा चुकी है, उनकी बैक लीज की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। किसानों को 10 फीसदी जमीन देनेे के कोर्ट के फैसले पर भी अमल किया जाएगा।
    उधर, किसान संघर्ष समिति के नेता मनवीर भाटी ने बताया कि रविवार को नोएडा एक्सटेंशन के बिल्डरों का काम रोका जाएगा।
    आबादी निस्तारण के लिए कमेटी की बैठक होगी जल्द
    किसान संघर्ष समिति का काम रोको आंदोलन आज

    Amar Ujala
    CommentQuote
  • .
    Attachments:
    CommentQuote
  • ..
    Attachments:
    CommentQuote
  • Whats happening with Ajnara dont know ? Ye bhi supertech banta ja raha hai . There lst two projects panorana and ambrosia are still in pre launch stage from 7-8 months.
    CommentQuote
  • Construction Resumes !

    Hi ! I spoke to Vednatam Projects NE they have resumed construction and also dispersed loan request from Bank !!
    Let them work and stop at Grahapravesh !!



    Originally Posted by cookie
    Has any builder in Noida Extension resumed construction?
    CommentQuote