पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16356 Replies
Sort by :Filter by :
  • Originally Posted by Sunder_Lal
    Bhai jo expert baithe hain unme se ek to pehle noida me aamrapali me thekedari ka kaam karta tha. Ab expert ban gaya. :D


    Woh expert hi hain...Logo ko bevakuf banakar hawa main ghar bechne main :D
    CommentQuote
  • Originally Posted by abhitmanohar
    Rahul bhai, do you have any alternative investing plan post you exit out of noida ex...


    Frankly speaking Abhit ji, Nothing !!
    Will may go more deep into Mutual Funds or gold ETFs or maybe some where in plots but everything is still in mind and nothing concrete. Exiting from NE will still have to be decided/approved from family. let's see ...
    But if it's not too personal to ask, have you taken any loan for your property and are you a salaried person like avg mango people or .. ??
    CommentQuote
  • jaise rate increase ho rahe hai zindagi 800/1000 sqft me simat ke reh jayegi ...usse to bashir badr ka sher yaad aata hai
    Zindagi Tune Mujhe Kabr Se Kam Di Hai Zameen
    Paanv Failayoon To Deewar Mein Sar Lagta Hai
    CommentQuote
  • Originally Posted by irahulsingh
    Frankly speaking Abhit ji, Nothing !!
    Will may go more deep into Mutual Funds or gold ETFs or maybe some where in plots but everything is still in mind and nothing concrete. Exiting from NE will still have to be decided/approved from family. let's see ...
    But if it's not too personal to ask, have you taken any loan for your property and are you a salaried person like avg mango people or .. ??


    Am a salaried person...very much mango....gained in gold etf :D lost in mutual fund .... Rest PM kar diya hain aapko
    CommentQuote
  • Originally Posted by abhitmanohar
    Am a salaried person...very much mango....gained in gold etf :D lost in mutual find ....


    Even I have lost in mutual funds.
    Mutual funds are never mutual. :(
    CommentQuote
  • I hope you guys don't lose and get lost in Noida Extension.... :D:D:D
    CommentQuote
  • Esliye to naam hi change kar rahe hai GN west. :bab (59):
    CommentQuote
  • Originally Posted by cookie
    I hope you guys don't lose and get lost in Noida Extension.... :D:D:D


    Has lo cookie bhai..aap to veteran player ho RE ke uda lo hasi hum rookies ki
    CommentQuote
  • friends which one is recommended for buying as an investment as well as may be end use in NE among RG residency and Stellar Jeevan...

    need some advice from the forum as i am now in mood to book one seeing the increase in prices on regular basis...

    thanks
    CommentQuote
  • Originally Posted by hindustan
    Esliye to naam hi change kar rahe hai GN west. :bab (59):


    I hope "West" would bring "GoodLuck".
    j
    CommentQuote
  • IMO This name change is not good ... Greater noida has poor 'Brand' value as compared to noida... return on RE was not good in GN and RE is just game of perception. for example if i sell something as gurgaon extension i will surely get more buyers than if i sell same as Faridabad extension (no offeneces to NP guyz)
    CommentQuote
  • Originally Posted by cookie
    I hope "West" would bring "GoodLuck".
    j


    Goodluck ayehga Cookie ji, western touch jo hai :D
    CommentQuote
  • Originally Posted by hindustan
    Goodluck ayehga Cookie ji, western touch jo hai :D


    Haan ji like "FDI in Name" :D:D:D
    CommentQuote
  • Originally Posted by abhitmanohar
    Has lo cookie bhai..aap to veteran player ho RE ke uda lo hasi hum rookies ki


    I second that cookie sir, real estate mein ghusne ke pehle kadam par hi yeh haal hai hamara .... NE ho ya RE .... sochke hi baal khade ho jate hain, chandrakanta ke kroor singh jaise :bab (5):
    CommentQuote
  • Originally Posted by abhitmanohar
    Has lo cookie bhai..aap to veteran player ho RE ke uda lo hasi hum rookies ki


    Na na ji... na
    I am already lost in Noida Extension, hope to get out soon ...:D don't know about profit though :(
    CommentQuote