पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16357 Replies
Sort by :Filter by :
  • अब 12 गांवों की आबादी का होगा निस्तारण


    ग्रेटर नोएडा
    12 गांव के आबादी के मामलों के निस्तारण के लिए मंगलवार को लिस्ट जारी की जाएगी। 28 सितंबर से आबादी के मामलों का निस्तारण शुरू हो जाएगा। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के सीईओ रमा रमण ने किसानों को इसका आश्वासन दिया है।
    जमीन अधिग्रहण प्रतिरोध आंदोलन के प्रवक्ता डॉ. रूपेश वर्मा ने बताया कि आबादी निस्तारण के लिए सोमवार को समिति के पदाधिकारियों के साथ सीईओ रमा रमण ने मीटिंग की। सीईओ ने आश्वासन दिया कि 28 सितंबर से लगातार 12 गांवों के किसानों की आबादी संबंधित समस्याओं का निस्तारण किया जाएगा। रविवार को चार गांवों की आबादी के मसले सुलझाए गए थे। सोमवार को इन गांवों के बचे आबादी के मामलों का निस्तारण कर दिया गया।

    Navbhrat times
    CommentQuote
  • NEFOWA update

    Following is the reply of RTI from GNIDA regarding the payment due from M/s. Earth Infrastructure on account of land allotted to them.I think this is not the case with earth alone and all the builders more or less on the same platform. The Authority, it seems,giving long rope to Builders in making payment whereas buyers noose is being tightened by these builders hangmen. We should make a strong representation to GNIDA and impress upon them that a single cancellation should not take place on account of delay in payment due or non disbursal of amount by banks
    Attachments:
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    नोएडा एक्सटेंशन में बहार से सूना पड़ा राजनगर


    नोएडा एक्सटेंशन में स्थिति साफ होने के साथ ही राज नगर एक्सटेंशन में नए खरीदारों की संख्या में गिरावट आई है। हालांकि इससे अभी प्रॉपर्टी की कीमतों में कोई कमी देखने को नहीं मिल रही है, लेकिन जानकारों का कहना है कि अगर हालात ऐसे ही रहे तो आने वाले दिनों में कीमतों में कमी देखने को मिल सकती है। नोएडा एक्सटेंशन में प्रॉजेक्ट फंसने के कारण पिछले डेढ़ सालों में राज नगर एक्सटेंशन में प्रॉपर्टी की कीमतों में 100 फीसदी तक की बढ़ोतरी देखी गई है। लेकिन अब डीलरों के मुताबिक यहां सॉफ्ट लॉन्च प्रॉजेक्ट के लिए नए ग्राहक नहीं मिल रहे हैं। दाम में आई तेजी का फायदा उठाने के लिए कई डीलरों ने फाइनैंसर्स के साथ मिलकर 15-20 फ्लैट खरीद लिए हैं, जिससे अब वे दबाव में हैं।

    डीलर्स के मुताबिक यहां रीसेल के लिए आने वाले फ्लैट की संख्या में भी 20-30 फीसदी का इजाफा हुआ है। राजनगर एक्सटेंशन के डीलर प्लैटिनम प्रॉपमार्ट प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर सार्थक अग्रवाल ने कहा, 'नोएडा एक्सटेंशन में बुकिंग शुरू होने से यहां आने वाले संभावित ग्राहकों की संख्या 50-60 फीसदी कम हो गई है। हालांकि अभी कीमतों में बहुत कमी नहीं आई है। लेकिन अगर ऐसा जारी रहा, तो अगले 4-5 महीने में प्रति वर्ग फुट 100-120 रुपए कम हो सकते हैं।' राजनगर एक्सटेंशन में डीलरों ने फाइनैंसर्स के साथ मिलकर सॉफ्ट लॉन्च प्रॉजेक्ट खरीद लिए हैं। अब प्रॉजेक्ट बिक नहीं रहे हैं और डीलरों को अपनी जेब से ब्याज भरना पड़ रहा है। प्रॉपर्टी डीलर मोनिका एंटरप्राइज के मालिक नवदीप गोयल ने कहा, 'डीलर ऐसे प्रॉजेक्ट कम मार्जिन पर निकाल रहे हैं।' उन्होंने बताया कि घाटे और ब्याज भरने से बेहतर वह कम दाम में प्रॉपर्टी निकाल रहे हैं।

    अभी राजनगर एक्सटेंशन में साफ्ट लॉन्च प्रॉजेक्ट में 2 बीएचके फ्लैट 2,600-3,100 रुपए प्रति वर्ग फुट में मिल रहा रहा है। वहीं अंडर कस्ट्रक्शन फ्लैट जो अगले साल मार्च तक मिल जाएंगे, 2,900 से 3,400 रुपए प्रति वर्ग फुट पर मिल रहे हैं। चैतन्य प्रॉपर्टी के मालिक रमेश वर्मा ने कहा, 'यहां रीसेल में भी काफी प्रॉजेक्ट आए हैं। यहां अगले 5-6 महीने कीमतें कम होंगी।' उन्होंने कहा कि काफी निवेशक यहां से पैसा निकालकर नोएडा एक्सटेंशन में प्रॉपर्टी लेना चाह रहे हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि यहां की तुलना में वहां प्रॉपर्टी की कीमत अधिक तेजी से बढ़ेगी।


    डीलरों पर दबाव का आलम यह है कि वे अपने तख्ते लेकर उधर से गुजरने वाली गाड़ियों के सामने आ जाते हैं, जिससे उन लोगों को भी मजबूरन गाड़ियां रोकनी पड़ती हैं, जिन्हें कोई खरीदारी नहीं करनी।

    navbharat times



    Hai hi Raj nagar ex sunsaan jagah par
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    हथियार के दम पर घुसे फ्लैट खरीदने


    घर में हथियार लेकर घुसे बदमाश लूटपाट नहीं बल्कि जबरन फ्लैट का सौदा करने आए। स्कॉर्पियो गाड़ी में सवार होकर आए हथियारबंद बदमाशों ने एक डॉक्टर से पिस्टल की नोंक पर जबरन फ्लैट बेचने का एग्रीमेंट करवाने की कोशिश की। लेकिन मौके पर डॉक्टर का साला पहुंच गया। उसने घर में घुसे बदमाशों को देख पुलिस को फोन कर दिया। पुलिस को आता देख मौके से बदमाश भाग खड़े हुए। डॉक्टर ने इस संबंध में सेक्टर -24 पुलिस स्टेशन में शिकायत की है।

    मूल रूप से पटना के रहने वाले डॉ . जी . एन . चौपाल सेक्टर -22 के एच ब्लॉक में रहते हैं। उन्होंने 2010 में अपनी वाइफ रंजना राय के नाम पर नोएडा एक्सटेंशन में एक बिल्डर के यहां फ्लैट बुक करवाया था। डॉक्टर उस फ्लैट को रीसेल करना चाह रहे थे। इस संबंध में कई लोगों से बात भी की थी। खुद को बिल्डर बताने वाले पटना के ही एक शख्स ने उनसे फ्लैट खरीदने के लिए डील की थी। लेकिन डील कैंसल हो गई। इसके बाद डॉक्टर ने किसी और से फ्लैट बेचने के लिए डील कर दी और उससे कुछ एडवांस भी ले लिया।

    चौपाल के साले तारा चंद्र वर्मा ने बताया कि इस बारे में खुद बिल्डर बता रहे शख्स को पता चल गया। उसने फ्लैट किसी और को न बेचने के लिए डॉक्टर को धमकाना शुरू कर दिया। वर्मा ने बताया कि कुछ समय पहले उनके बहनोई पटना गए थे। वहां पर बिल्डर के दो आदमी उनके घर पहुंच गए और जबरदस्ती दो लाख रुपये दे आए और बोले कि अगर उनकी की हुई डील कैंसल हो गई तो फ्लैट वही खरीदेंगे। लेकिन डील कैंसल नहीं हुई। सोमवार दोपहर को स्कॉर्पियो में सवार होकर हथियारों से लैस पांच बदमाश आए और उनके घर में जबरन घुस गए। इसके बाद उन पर पिस्टल लगवाकर एफिडेविट पर साइन करवाने जा रहे थे। लेकिन उसी समय वह वहां पहुंच गए।

    Navbharat Times


    Shocking , even more shocking is it was for a re-sale flat in Noida Extension !!
    CommentQuote
  • Dr. sahib must be selling at par to avoid NE tension... and builder/gunda is getting good deal.. prices are double...so they are getting at-least 8-12 lakh margin...


    Guys... avoid wearing gold chain in Indirapuram/Vasundhara/Vaishali and avoid keeping re-sale in NE :)
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    नोएडा एक्सटेंशन में बहार से सूना पड़ा राजनगर


    नोएडा एक्सटेंशन में स्थिति साफ होने के साथ ही राज नगर एक्सटेंशन में नए खरीदारों की संख्या में गिरावट आई है। हालांकि इससे अभी प्रॉपर्टी की कीमतों में कोई कमी देखने को नहीं मिल रही है, लेकिन जानकारों का कहना है कि अगर हालात ऐसे ही रहे तो आने वाले दिनों में कीमतों में कमी देखने को मिल सकती है। नोएडा एक्सटेंशन में प्रॉजेक्ट फंसने के कारण पिछले डेढ़ सालों में राज नगर एक्सटेंशन में प्रॉपर्टी की कीमतों में 100 फीसदी तक की बढ़ोतरी देखी गई है। लेकिन अब डीलरों के मुताबिक यहां सॉफ्ट लॉन्च प्रॉजेक्ट के लिए नए ग्राहक नहीं मिल रहे हैं। दाम में आई तेजी का फायदा उठाने के लिए कई डीलरों ने फाइनैंसर्स के साथ मिलकर 15-20 फ्लैट खरीद लिए हैं, जिससे अब वे दबाव में हैं।

    डीलर्स के मुताबिक यहां रीसेल के लिए आने वाले फ्लैट की संख्या में भी 20-30 फीसदी का इजाफा हुआ है। राजनगर एक्सटेंशन के डीलर प्लैटिनम प्रॉपमार्ट प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर सार्थक अग्रवाल ने कहा, 'नोएडा एक्सटेंशन में बुकिंग शुरू होने से यहां आने वाले संभावित ग्राहकों की संख्या 50-60 फीसदी कम हो गई है। हालांकि अभी कीमतों में बहुत कमी नहीं आई है। लेकिन अगर ऐसा जारी रहा, तो अगले 4-5 महीने में प्रति वर्ग फुट 100-120 रुपए कम हो सकते हैं।' राजनगर एक्सटेंशन में डीलरों ने फाइनैंसर्स के साथ मिलकर सॉफ्ट लॉन्च प्रॉजेक्ट खरीद लिए हैं। अब प्रॉजेक्ट बिक नहीं रहे हैं और डीलरों को अपनी जेब से ब्याज भरना पड़ रहा है। प्रॉपर्टी डीलर मोनिका एंटरप्राइज के मालिक नवदीप गोयल ने कहा, 'डीलर ऐसे प्रॉजेक्ट कम मार्जिन पर निकाल रहे हैं।' उन्होंने बताया कि घाटे और ब्याज भरने से बेहतर वह कम दाम में प्रॉपर्टी निकाल रहे हैं।

    अभी राजनगर एक्सटेंशन में साफ्ट लॉन्च प्रॉजेक्ट में 2 बीएचके फ्लैट 2,600-3,100 रुपए प्रति वर्ग फुट में मिल रहा रहा है। वहीं अंडर कस्ट्रक्शन फ्लैट जो अगले साल मार्च तक मिल जाएंगे, 2,900 से 3,400 रुपए प्रति वर्ग फुट पर मिल रहे हैं। चैतन्य प्रॉपर्टी के मालिक रमेश वर्मा ने कहा, 'यहां रीसेल में भी काफी प्रॉजेक्ट आए हैं। यहां अगले 5-6 महीने कीमतें कम होंगी।' उन्होंने कहा कि काफी निवेशक यहां से पैसा निकालकर नोएडा एक्सटेंशन में प्रॉपर्टी लेना चाह रहे हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि यहां की तुलना में वहां प्रॉपर्टी की कीमत अधिक तेजी से बढ़ेगी।


    डीलरों पर दबाव का आलम यह है कि वे अपने तख्ते लेकर उधर से गुजरने वाली गाड़ियों के सामने आ जाते हैं, जिससे उन लोगों को भी मजबूरन गाड़ियां रोकनी पड़ती हैं, जिन्हें कोई खरीदारी नहीं करनी।

    navbharat times


    yehi haalat CR ke brokers ki bhi hai ..
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    Dr. sahib must be selling at par to avoid NE tension... and builder/gunda is getting good deal.. prices are double...so they are getting at-least 8-12 lakh margin...


    Guys... avoid wearing gold chain in Indirapuram/Vasundhara/Vaishali and avoid keeping re-sale in NE :)



    Moderator Pls delete my post showing that i hv booked in NOida extn. Bhaiya doctor saab ki tarah muje bhi koi pakad na le. :D:D
    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    Moderator Pls delete my post showing that i hv booked in NOida extn. Bhaiya doctor saab ki tarah muje bhi koi pakad na le. :D:D


    What is the height of charm....having flat in NE.

    We never heard such news from Bangalore or Gurgaon.

    but problem is ...What should i feel....Happy/sad.
    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    Moderator Pls delete my post showing that i hv booked in NOida extn. Bhaiya doctor saab ki tarah muje bhi koi pakad na le. :D:D


    Mere sath hota to mere khusi ke ansu nikalte.:D :D
    CommentQuote
  • Originally Posted by Sunder_Lal
    yehi haalat CR ke brokers ki bhi hai ..


    CR ki chinta mat karo..visit on Saturdays & Sundays and see the bahaar..Jo Noida Tension mein aata hain woh RTM CR dekhne bhi aa jaata hain..almost same rate par bana banaya makaan logon ko acchha lag raha hain. Problem sirf poore amount ke bank loan ka hain.the way Noida tension is going BP, Hyper tension sab ho hojaayega yahan invest karne waalon ko bhi..end users ko bhi ho hi chuka hain.

    Gaur GC_1 is asking to sign bond agreeing to delivery by September 2015.This is the fastest project aur they are saying to wait for 3 years..baakiyon ka bhagwaan maalik....CR waalon ke pass chat to hain khushi se rehne ke liye...
    CommentQuote
  • Originally Posted by melotus
    Doston RTM, appreciation, premium etc. mujhe kuch nhi chahiye. Bus rahne ke liye ek makkan chahiye. Hay bhagwan mujhe bus mera makkan dilwa dena ....


    SELL NE & come to CR
    CommentQuote
  • Originally Posted by ragh_ideal
    Mere sath hota to mere khusi ke ansu nikalte.:D :D


    Hehehe. Kyu Vo gunde apko flat ki BSP + premium bhi deke jate.
    CommentQuote
  • Guys,

    Is allotment letter same as BBA

    Regards
    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    Guys,

    Is allotment letter same as BBA

    Regards


    It can be same or it cud also be different, I believe it depends on builder to builder. If the allotment letter is a part of a 10 odd page document with the first page on a stamp paper then it is BBA. And these wud have to be signed in duplicate, one for u and one for builder.
    CommentQuote
  • Originally Posted by leo1609
    It can be same or it cud also be different, I believe it depends on builder to builder. If the allotment letter is a part of a 10 odd page document with the first page on a stamp paper then it is BBA. And these wud have to be signed in duplicate, one for u and one for builder.



    What does gaur offer. I inq from gaur guy for BBA. he said BBA and allotment is same thing
    CommentQuote