पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • NEFOWA meeting with Supertech management

    Today NEFOWA had meeting with Supertech management, participant were Mr. Khera (Director) & Mr. Mohit Arora (Director)with NEFOWA core team. Following is the outcome of meeting and same points will be mentioned in meeting with City Magistrate by Supertech management-

    1. Whoever has been issued shifting letter from Supertech & buyers have given their acceptance on* that through email or in writing, their flat will not be cancelled.

    2. Flat will not be cancelled of those buyers Who has paid 10% of BSP or more.

    3. Supertech is considering defaulter to those buyers who haven't paid 10% of BSP.
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    arre sir aap mazaak samajhne lage ...

    ismein padho

    ::: Amrapali Group ::: Company Profile > Amrapali Group– An Introduction

    sahi mein IIT se hai banda :)
    "Established by Mr. Anil Sharma, a civil engineer from IIT Kharagpur and a former government employee, Amrapali is run by a group of highly competent engineers"



    hmm former government employee hain tabhi bureaucrats pe pakad hai aur tabhi sharma jie... is sitting on a huge land bank in NE and Noida ...


    in and out pata hain inhe sab deparmenets ke ;);)
    CommentQuote
  • Originally Posted by asuyal1
    hmm former government employee hain tabhi bureaucrats pe pakad hai aur tabhi sharma jie... is sitting on a huge land bank in NE and Noida ...


    in and out pata hain inhe sab deparmenets ke ;);)


    haan bhaiya i just hope arvind kejriwal ki nazar naa pad jaye inpe ! :P
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    haan bhaiya i just hope arvind kejriwal ki nazar naa pad jaye inpe ! :P


    Are ye authority wale muawaja baant de fatafat to kejriwal ya kisi ka koi dar nahi hai .. Vaise IAC wale unpe hi najar lagaye hue hain jo kursi pe hain.
    Aur NE to BMW ka kaarnama hai .. uska bhrshatachar public ke saamne rakhne me filhaal koi fayda nahi hai bechari already ignored hai is samay.
    CommentQuote
  • ग्रेनो वेस्ट : किसान संगठनों ने कसी कमर
    Updated on: Sun, 21 Oct 2012 11:15 PM (IST)

    संवाददाता, ग्रेटर नोएडा : ग्रेटर नोएडा वेस्ट की दुश्वारियां कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अपनी मांगों को लेकर निर्माण कार्य बंद कराने की किसान संगठनों में होड़ मच गई है। शनिवार को एक किसान संगठन ने निर्माण कार्य बंद कराया था। रविवार को मायचा गांव में किसान संघर्ष समिति ने पंचायत कर 25 अक्टूबर से निर्माण कार्य बंद कराने का निर्णय लिया है।

    पंचायत में किसानों ने कहा कि आज ही के दिन 21 अक्टूबर, 2011 को हाईकोर्ट की तीन सदस्यीय बेंच ने छह फीसद की बजाय दस फीसद आवासीय विकसित भूखंड व 64.7 फीसद अतिरिक्त मुआवजा देने व एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से मास्टर प्लान 2021 मंजूर कराने का निर्देश दिया था। हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद आज तक प्राधिकरण ने एक भी किसान को दस फीसद विकसित भूखंड नहीं दिया है। दस फीसद विकसित भूखंड के लिए जमीन भी चिन्हित नहीं की है। मुआवजा देने के नाम पर किसानों के साथ प्राधिकरण एवं एडीएम एलए कार्यालय एक-दो करोड़ रुपये गांवों में भेज कर मजाक कर रहा है। पंचायत में किसानों ने कहा कि प्राधिकरण किसानों की समस्याओं को लेकर गंभीर नहीं है। पिछले कई वर्षो से आबादी का निस्तारण भी नहीं किया गया है। प्राधिकरण द्वारा 25 सितंबर की वार्ता में किसानों को 15 अक्टूबर तक सभी गांवों में आबादी निस्तारण करने एवं सभी गांवों में मुआवजा बांटने का आश्वासन दिया गया था। बावजूद इसके प्राधिकरण द्वारा किसी भी एक गांव का पूर्ण आबादी का निस्तारण नहीं किया गया है। पंचायत में किसानों ने निर्णय लिया कि 25 अक्टूबर को तीन-चार टीमें बनाकर ग्रेटर नोएडा वेस्ट में निर्माण कार्य बंद कराया जाएगा। पंचायत में मनवीर भाटी, सूबेदार रमेश रावल, राजेंद्र, प्रमोद भाटी, पवन शर्मा, नवाब भाटी, वीर सिंह, कपिल गुर्जर, पप्पू प्रधान, रामपाल, अजब सिंह सूरज, प्रकाश, विनोद भाटी, अजय, बिजेंद्र, साधु सिंह, जगदीश खारी, डा. जगदीश नागर, भीम सिंह नागर, मान सिंह, जतिन, अमित, सूबेराम भाटी, मनोज, पंकज रावल, सोनू भाटी, करतार, धर्मेद्र, रणवीर यादव, आदेश भाटी, सत्यपाल, सुनील, नदीम खान, गौरव भाटी आदि लोग मौजूद थे।
    CommentQuote
  • 25 को ग्रेनो वेस्ट में काम रोकेंगे किसान

    नवभारत टाइम्स | Oct 22, 2012, 12.57AM IST
    एक संवाददाता ।। ग्रेटर नोएडा
    किसानों ने मायचा गांव में महापंचायत करके 25 अक्टूबर को ग्रेनो वेस्ट में बिल्डर और अथॉरिटी के चले रहे निर्माण कार्यों को बंद कराने का फैसला लिया है। महापंचायत में किसान नेता मनवीर भाटी ने कहा कि 21 अक्टूबर 2010 को हाई कोर्ट के 3 जजों की बेंच ने फैसला सुनाया था। इसमें किसानों को 64 प्रतिशत बढ़ा हुआ मुआवजा और दस प्रतिशत आबादी की जमीन 39 गांवों के किसानों को दिए जाने के आदेश ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी को दिए थे। इसके अलावा एनसीआर प्लैनिंग बोर्ड से मास्टर प्लान पास करने को कहा था।

    उन्होंने आरोप लगाया कि हाई कोर्ट के फैसले के बावजूद अथॉरिटी ने किसानों को मुआवजा और प्लॉट नही दिए हैं। आरोप है कि मुआवजा देने के नाम पर एडीएम लैंड किसानों से रिश्वत मांग रहे हैं। राजेंद्र प्रधान मायचा ने कहा कि अथॉरिटी किसानों की मांगों के प्रति गंभीर नही है। 25 सितंबर को अथॉरिटी सीईओ रमा रमण ने किसानों के साथ वार्ता करके 15 अक्टूबर तक सभी गांवों के किसानों की आबादी की समस्या का निस्तारण करने का आश्वासन दिया था। लेकिन अथॉरिटी ने एक भी गांव की आबादी का निस्तारण नही किया है।

    पंचायत में निर्णय लिया गया कि ग्रेनो वेस्ट में किसानों की 4 टीमें लगाई जाएंगी। चारों टीमें अलग-अलग सेक्टरों में निर्माण कार्य बंद कराएंगी। पंचायत में रमेश रावल, प्रकाश प्रधान, नवाब भाटी, बिजेंद्र प्रधान, विनोद भाटी, जगदीश खारी, अमित, बलराज प्रधान, अजब सिंह, मनोज प्रधान, सत्यपाल प्रधान, गौरव भाटी, भीम सिंह नागर सहित 20 गांवों के किसान शामिल थे।
    CommentQuote
  • नोएडा एक्सटेंशन में किसानों ने फिर रोका काम


    नवभारत टाइम्स | Oct 21, 2012, 02.19AM IST
    ग्रेटर नोएडा।। आबादी और मुआवजे की मांग को लेकर शनिवार को एक बार फिर किसानों ने ग्रेटर नोएडा वेस्ट में बिल्डरों की साइटों पर काम रुकवा दिया। किसानों ने चेतावनी दी है कि जब तक सुप्रीम कोर्ट का निर्णय नहीं आ जाता, तब तक वे काम होने नहीं देंगे।

    संयुक्त किसान संघर्ष समिति के बैनर तले ग्रेटर नोएडा वेस्ट के किसान शनिवार को पतवाड़ी के गोलचक्कर पर जमा हुए। किसान नेता इंद्र नागर ने कहा कि अथॉरिटी किसानों की जमीन लूट रही है। जमीन छिन जाने से किसान बेरोजगार हो गया है। बिल्डरों को फायदा पहुंचाने और उनसे रिश्वत लेने के लिए उन्हें औने-पौने दाम में जमीन दे दी गई है।

    उन्होंने कहा कि सीएम अखिलेश यादव ने सर्कल रेट का 6 गुणा मुआवजा देने का लॉलीपॉप दिया था, लेकिन अब तक सरकार ने अपने वादे को नहीं निभाया है। मीटिंग में किसानों ने सर्कल रेट का 6 गुणा मुआवजा देने की मांग की।
    CommentQuote
  • Advise me

    Hello everybody, I am a New member. I read all threads of IREF. Here I want advise from members. I booked a 2 bedroom Flat (940sqf-2700 bsp) in Habitech panchtatva in fifth floor in month of sep.ab duvidha yeh hai ki kya yeh mera sahi faisla hai ya nahi. 130 m road par yeh project hai amarpali dream valley ke paas. is rate mein ab kahi flat nahi hai. kya main isme banna rahoon or I will exit from this project. please advise me.
    CommentQuote
  • Sanjay Bhai... Jameen / Flat / Gold yain sub aisee cheese hai kee jab khareedo tab sasti... my advise to be there...
    CommentQuote
  • Another small project in gaur city 2


    CASA WOODSTOCK
    CommentQuote
  • Originally Posted by sanjjay
    Hello everybody, I am a New member. I read all threads of IREF. Here I want advise from members. I booked a 2 bedroom Flat (940sqf-2700 bsp) in Habitech panchtatva in fifth floor in month of sep.ab duvidha yeh hai ki kya yeh mera sahi faisla hai ya nahi. 130 m road par yeh project hai amarpali dream valley ke paas. is rate mein ab kahi flat nahi hai. kya main isme banna rahoon or I will exit from this project. please advise me.



    :) Sanjay Ji, ye double mind hona thik nahi hai. Ye sab booking karne se pahle sochna tha. Once you have already taken the decision, you have given your best. Saare builder ek se hai. no one you can taken for guranted. Ishliye tension mat lo bhai...
    CommentQuote
  • Originally Posted by rohit_warren
    hey guys I went to Noida 12x sectors saw parteek la.... amrapali platinum -- and then crossed river to reach Noida Ext went right from the roundabout - saw some projects - here is a small travelogue

    Only thing which I felt was chaos - please do not take it in a wrong sense everyone seems to be in so much of hurry and most of the roadside brokers seems chuathi fail - sorry brokers - however I liked the crowd there ;)


    rohit

    Again its a pdf file less than 6 mb in size ;)

    Rohit must say you are deeply in love with properties...NP or Noida Extension..my time frame is 5 years...please give your unbiased views
    CommentQuote
  • Advise me

    Originally Posted by akhil121177
    Sanjay Bhai... Jameen / Flat / Gold yain sub aisee cheese hai kee jab khareedo tab sasti... my advise to be there...


    sahi kaha aapne. advise ke liye thanks. vaise indore (m.p.) mein 2bhk flat RTM 2300 se 2600 sqf mein milte hain naye area mein bombay hospital AB bypass road par (cream area). indore mein appreciation 25% year hai. agar wahan invest karoon to har month rent hi 9000 to 10000 rs milega. jbki Noida Ex. mein flat 4-5 saal se pahle nahi banega. indre mein IT Sector devlop ho raha hai super corridor road par. tata jaise aa rahe hain. yaani city IT HUB banegi. IIT aur IIM wahan hai. akelee city hai india mein jahan ye dono institute hain. to kya better rahega noida ex. yaa indore. Please advise members.
    CommentQuote
  • Aati sunder ... Builder aur IT services ka difference ekdam clear ho gaya.:bab (26):

    Originally Posted by Sunder_Lal
    bhai IT ki naukri ke liye padhai karni padti hai .. aur buider banane ke liye ladai karni padti hai.
    Padhai to sab kar lete hain .. lekin ladai karna sab ke bas ki baat nahi hai.
    CommentQuote
  • Originally Posted by sanjjay
    sahi kaha aapne. advise ke liye thanks. vaise indore (m.p.) mein 2bhk flat RTM 2300 se 2600 sqf mein milte hain naye area mein bombay hospital AB bypass road par (cream area). indore mein appreciation 25% year hai. agar wahan invest karoon to har month rent hi 9000 to 10000 rs milega. jbki Noida Ex. mein flat 4-5 saal se pahle nahi banega. indre mein IT Sector devlop ho raha hai super corridor road par. tata jaise aa rahe hain. yaani city IT HUB banegi. IIT aur IIM wahan hai. akelee city hai india mein jahan ye dono institute hain. to kya better rahega noida ex. yaa indore. Please advise members.


    You are in Nested Loops after purchased.

    Project{Builder{Area{City}}}:)

    You have a bunch of reason for Indore and you purchased in NCR even G.Noida even NE even Habitech panchtatva at very off location.

    I have a BIG doubt on your query.No one can help you except you.
    CommentQuote