पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • Originally Posted by ragh_ideal
    बिल्डर के प्रोजेक्ट पर निवेशकों का हंगामा



    नवभारत टाइम्स | Nov 26, 2012, 08.00AM IST
    एनबीटी न्यूज ॥ ग्रेटर नोएडा
    ग्रेटर नोएडा वेस्ट में एक बिल्डर के प्रोजेक्ट पर फ्लैट बुक कराने वाले निवेशकों ने जमकर हंगामा किया। विरोध-प्रदर्शन नोएडा एक्सटेंशन फ्लैट ओनर वेलफेयर असोसिएशन (नेफोवा) के बैनर तले हुआ। निवेशकों ने बिल्डर से चार मांगें रखीं हैं। मांगें पूरी न होने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी दी गई है।

    नेफोवा की जनरल सेक्रेटरी श्वेता भारती ने बताया कि संबंधित बिल्डर के खिलाफ असोसिएशन के पदाधिकारियों को करीब 15 दिनों से शिकायत मिल रही थी। रविवार को नेफोवा के पदाधिकारी और इस प्रोजेक्ट से जुड़े सैकड़ों निवेशक गे्रनो वेस्ट में जमा हुए। पदाधिकारियों ने पहले निवेशकों के साथ मीटिंग कर उनकी सारी समस्याएं सुनीं। फिर पूरी टीम बिल्डर की साइट पर पहुंच गई। निवेशकों ने बिल्डर के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

    श्वेता भारती ने बताया कि प्रोजेक्ट पर मौजूद अधिकारियों से चार मांगे रखी गई हैं। इसमें बिल्डर और बायर्स के बीच एग्रीमेंट, बिल्डर अथॉरिटी की किस्त देकर एनओसी ले ताकि निवेशकों को लोन मिले, निवेशकों को पजेशन देने की घोषणा हो और निवेशकों को भेजे गए डिमांड लेटर वापस लेने की मांग शामिल हैं।

    any idea which builder they are talking about?
    CommentQuote
  • Originally Posted by ncrwala
    any idea which builder they are talking about?

    cud be Earth I think ... they have cancelled max old flats !
    CommentQuote
  • Originally Posted by ncrwala
    any idea which builder they are talking about?



    Shree Group (Shree Radha Sky Garden)
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    Shree Group (Shree Radha Sky Garden)

    isnt this just a new project and builder is new as well
    CommentQuote
  • Is there anyone who taken home loan from State bank of hyderabad ?
    CommentQuote
  • Is any one has invested in Amarpali terrace home ?? Any update on the construction ?
    CommentQuote
  • Originally Posted by bhatiasameer
    Is any one has invested in Amarpali terrace home ?? Any update on the construction ?


    I visited the Site on Saturday. I found out that Construction was going on but at a slow pace (what i felt) Although on asking the guard he told me around 200 to 250 laborers were employed. I did not see such a number maybe because i visited at around 10 AM in the morning
    CommentQuote
  • Originally Posted by bhatiasameer
    Is there anyone who taken home loan from State bank of hyderabad ?

    Yes pleas tell me
    CommentQuote
  • Originally Posted by bhatiasameer
    Is any one has invested in Amarpali terrace home ?? Any update on the construction ?


    Construction is too slow ,They have made demand of 40% of total cost...paid by loan of corporation bank few days back!!!
    CommentQuote
  • Originally Posted by Amit Dang
    Construction is too slow ,They have made demand of 40% of total cost...paid by loan of corporation bank few days back!!!


    bhai think on the positive side .. if corp bank is disbursing in NE then maybe they are positive that SC judgement will be favourable for builders :)
    CommentQuote
  • Solution of NE will come out surely,I have no doubt in that ...all matters at which cost to buyers/investors and how much that delayed the possession!!!
    CommentQuote
  • main defaulters hai-

    Supertech
    Earth
    Exotica
    Shree
    CommentQuote
  • Article view

    PVVNL to provide electricity in GNW
    CommentQuote
  • ग्रेनो वेस्ट में बढ़ेगा इन्फ्रास्ट्रक्चर!


    Nov 27, 2012, 02.44AM IST
    प्रमुख संवाददाता ॥ ग्रेटर नोएडा
    ग्रेटर नोएडा वेस्ट के इंटरनल डिवेलपमेंट और इन्फ्रास्ट्रक्चर पर ग्रेनो अथॉरिटी फिर से एक्सरसाइज करेगी। फ्लोर एरिया रेश्यो (एफएआर) बढ़ने से आबादी बढ़ने की संभावनाओं को देखते हुए इंटरनल डिवेलपमेंट का अध्ययन किया जाएगा। जरूरत के मुताबिक इन्फ्रास्ट्रक्चर को और भी मजबूत बनाया जाएगा। सीईओ ने अफसरों के साथ मीटिंग कर रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए हैं।
    ग्रेनो वेस्ट में टेंशन और इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश के बाद से अगस्त 2012 तक बिल्डरों का काम बंद रहा। ग्रेनो अथॉरिटी के मास्टर प्लान को एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से अप्रूवल मिलने के बाद ही ग्रेनो वेस्ट में बिल्डरों का काम शुरू हुआ है। बिल्डरों का कहना है कि लंबे समय तक काम बंद होने के कारण कंस्ट्रक्शन कॉस्ट बढ़ गई है। इसकी भरपाई तभी हो सकती है जब बिल्डरों को एफएआर बढ़ाकर एक्सट्रा फ्लैट बनाने की अनुमति मिले। इस समय अथॉरिटी ने नोएडा एक्सटेंशन की एफएआर 2.75 कर रखी है। बिल्डर इसे बढ़ाकर 3.5 करने की मांग कर रहे हैं। अथॉरिटी ने भी एफएआर बढ़ाने का मन बना लिया है। सोमवार को सीईओ ने अधिकारियों के साथ मीटिंग कर ग्रेनो वेस्ट में इंटरनल डिवेलपमेंट पर रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए हैं। अथॉरिटी अफसरों ने बताया कि नोएडा एक्सटेंशन में रोड, सीवर व अन्य इन्फ्रास्ट्रक्चर डिवेलप करने में अथॉरिटी ने अब तक 55 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। अगर एफएआर बढ़ता है तो इन्फ्रास्ट्रक्चर भी बढ़ाना होगा। इसलिए डिटेल अध्ययन कर रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं।
    कितने बढें़गे फ्लैट
    नोएडा एक्सटेंशन में इस समय ढाई लाख फ्लैट बन रहे हैं, जिसमें 12 लाख आबादी रहेगी। अगर एफएआर बढ़ता है तो 60 हजार फ्लैट बढ़ जाएंगे। अथॉरिटी के एसीईओ हरीश वर्मा ने बताया कि अथॉरिटी की टाउन प्लानिंग के मुताबिक, एक फ्लैट में 5 लोग रहेंगे। जब एफएआर 2.75 है तो 12 लाख लोगों लिए फ्लैट बन रहे हैं। यदि इसे बढ़ाकर 3.75 कर दिया जाता है तो तीन लाख आबादी और बढ़ जाएगी। तीन लाख आबादी के लिए 60 हजार फ्लैट बनाने होंगे।
    CommentQuote
  • Originally Posted by bhatiasameer
    Is there anyone who taken home loan from State bank of hyderabad ?


    Not sure about SBH but SBP is giving loans
    CommentQuote