पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • Not sure about shadara, but sutyana seems to be in GN , near UPSIDC site A.

    Pincode of sutyana, greater noida
    CommentQuote
  • Originally Posted by harpreetsg_delhi
    Not sure about shadara, but sutyana seems to be in GN , near UPSIDC site A.

    Pincode of sutyana, greater noida


    There are 2 villages with almost similar names in hindi but different names in English.

    One is Suthiyana & other Sutyana.

    Suthiyana - One I placed link for (far ahead of sec-150) http://www.geolysis.com/plgmap.php?p=518011395&k=823720570

    Sutyana - in greater noida for one which u pasted link for. Even if u drag the map given in geolysis link above to dadri road post sec-8X, we can see Sutyana village.

    I guess we wrongly map Sutyana to sec-137 as it was misreported in one of the leading news papers few months back & also shared on Iref.
    CommentQuote
  • CommentQuote
  • If this is 143....... Then Logix Greens /Zest ,,, Sikka s could be in DANGER......

    Aandhi aayiiiiiii.............
    CommentQuote
  • The other link you have posted seems to be near dankaur, So It seems other link points somewhere in Y Exp Area

    Originally Posted by newMem7
    There are 2 villages with almost similar names in hindi but different names in English.

    One is Suthiyana & other Sutyana.

    Suthiyana - One I placed link for (far ahead of sec-150) http://www.geolysis.com/plgmap.php?p=518011395&k=823720570

    Sutyana - in greater noida for one which u pasted link for. Even if u drag the map given in geolysis link above to dadri road post sec-8X, we can see Sutyana village.

    I guess we wrongly map Sutyana to sec-137 as it was misreported in one of the leading news papers few months back & also shared on Iref.
    CommentQuote
  • Originally Posted by harpreetsg_delhi
    If this is 143....... Then Logix Greens /Zest ,,, Sikka s could be in DANGER......

    Aandhi aayiiiiiii.............


    Nopes, Shahdara is in sec-141. It is in front of sec-143 separated by proposed FNG & also behind Advent building of sec-142. This village is there as it is. No construction had started, so SC gave in favor of farmers with ease.

    Shahdara village sec-141: http://wikimapia.org/13113403/Sector-141
    CommentQuote
  • Originally Posted by newMem7
    Nopes, Shahdara is in sec-141. It is in front of sec-143 separated by proposed FNG & also behind Advent building of sec-142. This village is there as it is. No construction had started, so SC gave in favor of farmers with ease.

    Shahdara village sec-141: http://wikimapia.org/13113403/Sector-141


    Yes.. you are right... this is in sector 141.. HT has wrongly published same news with "sector 41" few days back. So sector 141 is gone now by SC judgement

    https://www.indianrealestateforum.com/forum/city-forums/ncr-real-estate/noida-real-estate/17437-cloud-over-e-way-projects-farmers-move-high-court-ht?t=19612
    CommentQuote
  • SC has now rejected 1710 acres land acquisition of Shahdara village and many group housing/Institutional projects were going on this land…. Shahdara village is 70% used with farmers hosue so this 1710 acres land acquisition can not be the same location in sector 141 but nearby location …

    Can someone pls check with builder (if you have investment in these projects)… if any impact on project……

    -Logix Zest
    -Logix Blossom
    -Sikka Karnam Green
    -Ansal Corporate Park
    -Paras Tiera

    Builders might give you some response OR tell you the exact location..
    CommentQuote
  • I still have one doubt… In Patwari… HC has cancel land acquisition of 582 acres… in which 10-12 projects were going on (including Authority schemes)…so If 1710 acres land is cancel… than how many project could be stuck.. OR empty land in nearby location..???
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    SC has now rejected 1710 acres land acquisition of Shahdara village and many group housing/Institutional projects were going on this land…. Shahdara village is 70% used with farmers hosue so this 1710 acres land acquisition can not be the same location in sector 141 but nearby location …

    Can someone pls check with builder (if you have investment in these projects)… if any impact on project……

    -Logix Zest
    -Logix Blossom
    -Sikka Karnam Green
    -Ansal Corporate Park
    -Paras Tiera

    Builders might give you some response OR tell you the exact location..


    What is the Source of above Noida 1710 acres land acquisition canceled by SC.... This can not be a small news..... it may storm the forum....

    I doubt if so huge land acquisition is canceled in Noida by HC/SC..
    CommentQuote
  • In this link... they have shown 1710 acre. This was old news when 8 petition were rejected and only one was left

    http://.com/index.php/2011/09/27/noida-the-shahdara-village-in-acquisition/


    नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को नोएडा के शहदरा गांव में अधिग्रहीत भूमि के मामले में यूपी सरकार को बड़ी राहत दी है। कोर्ट ने 2008 में आपात उपबंध के तहत हुए अधिग्रहण के खिलाफ किसानों की आठ याचिकाओं को खारिज कर दिया। हालांकि किसानों की याचिकाएं वापस लेने की मांग को कोर्ट ने अनुमति दे दी। इस क्षेत्र में ग्रुप हाउसिंग सोसायटी और संस्थागत क्षेत्र के कई प्रोजेक्ट चल रहे हैं।

    जस्टिस जीएस सिंघवी की अध्यक्षता वाली बेंच के समक्ष राज्य सरकार की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता ने कहा कि अधिग्रहीत 1710 एकड़ भूमि का मुआवजा किसानों को निर्धारित समय पर दिया गया। राज्य सरकार की ओर से विकास के लिए इस क्षेत्र का अधिग्रहण किया गया था और विकास कार्य जारी है। अधिवक्ता ने कहा कि किसानों की ओर से राधेश्याम मामले के फैसले का हवाला दिया जा रहा है। जबकि शीर्ष अदालत ने राधेश्याम के मामले में मुआवजा एक साल के भीतर न दिए जाने के आधार पर अधिग्रहण को निरस्त किया था।

    लेकिन इस मामले में अधिग्रहण की प्रक्रिया का निपटारा तेजी से किया गया है। इसके बावजूद किसानों को ओर से अदालत में याचिकाएं दायर की गई।
    बेंच ने अधिवक्ता के तर्क से सहमति जताते हुए नत्थू, कुलदीप, हरिदत्त और सतीश सहित अन्य किसानों की दायर आठ याचिकाओं को खारिज कर दिया। हालांकि याचिकाकर्ताओं के अधिवक्ता की ओर से याचिका वापस लिए जाने की मांग को पीठ ने अनुमति प्रदान कर दी जबकि बेंच ने इस मुद्दे पर उस एक याचिका को खारिज नहीं किया है जो किसान ज्ञानचंद की ओर से दाखिल की गई है। अदालत उनकी याचिका पर 14 अक्तूबर को सुनवाई की तिथि लगा दी।
    गौरतलब है कि हाईकोर्ट ने इस मुद्दे पर साल 2008 में ही किसानों की ओर से दायर याचिकाओं को खारिज कर दिया था जिसके बाद मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा था। किसानों ने याचिकाओं में कहा था कि राज्य सरकार की ओर से जनहित के नाम पर आपात उपबंध के तहत भूमि का अधिग्रहण किया जाना अनुचित है। इसलिए अधिग्रहण को निरस्त किया जाना चाहिए। मालूम हो कि नोएडा एक्सटेंशन के शाहबेरी मामले में फैसला सुनाते वक्त इलाहाबाद हाईकोर्ट ने राधेश्याम केस को भी आधार बनाया था।
    CommentQuote
  • CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    SC has now rejected 1710 acres land acquisition of Shahdara village and many group housing/Institutional projects were going on this land…. Shahdara village is 70% used with farmers hosue so this 1710 acres land acquisition can not be the same location in sector 141 but nearby location …

    Can someone pls check with builder (if you have investment in these projects)… if any impact on project……

    -Logix Zest
    -Logix Blossom
    -Sikka Karnam Green
    -Ansal Corporate Park
    -Paras Tiera

    Builders might give you some response OR tell you the exact location..


    Pl. fritolay_ps Dont get confuse and confuse others.

    Sec 143 actually situated in Gari Shadara Village.

    Gari Shahdara is a Village in Bisrakh Mandal , Gautam Buddha Nagar District , Uttar Pradesh State . Gari Shahdara is located 24.1 km distance from its District Main City Noida . It is located 396 km distance from its State Main City Lucknow .

    Other villages in Bisrakh Mandal are Asagarpur Jagir , Badalpur , Bahlolpur , Baidpura , Bangel Begampur , Barola , ... . .

    Towns Near By Dadri(11.7 k.m.) ,Noida(23.6 k.m.) ,Dankaur(28.2 k.m.) ,Jewar(47.6 k.m.)

    Sec 141 is coming under Shadara Village

    http://wikimapia.org/13113403/Sector-141
    CommentQuote
  • My confusion is that maximum area of sector 141 Shadra villege is covered within village homes so which area is impacted…???

    Authority can not acquire village homes…and it should be nearby area (could be undeveloped). I was asking if any buyers can also cross check with builder because builder might have Idea of nearby land and can confirm exact location of land.
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    My confusion is that maximum area of sector 141 Shadra villege is covered within village homes so which area is impacted…???

    Authority can not acquire village homes…and it should be nearby area (could be undeveloped). I was asking if any buyers can also cross check with builder because builder might have Idea of nearby land and can confirm exact location of land.



    I agreed with you buddy ... !!

    I have inquired already .... Sikka Karnam, Victory Cross and Logix Blossom are specifically not impacted because of 2 major reasons which i observed:

    1) These projects are under Gari Village (Sector-143 B) which has no relation with Sahadra Village up to now.

    2) Recently just 1 to 2 months back Sikka Group and Victory Cross both have done the registry of Land, If we assume it was any impact or case on projects then Authority and Builders never took such a risk just few days back.

    But Its possible it effects the land up to border but again time shall speak, we have seen several dramas in Noida ext. alone .... where Patwari was in trouble ann seems like sort it out now but Still Verdicts are pending.

    Lets hope for the best !!! :)
    CommentQuote