पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • Next 2-3 years mai NE ka kya hooga. Abhu to construction start hi huyi hai. after getting 80% from buyers, builder will try 2 change the game again.
    CommentQuote
  • Originally Posted by hindustan
    Andhoo mai khana raja to suna hi hooga aap sab ne.



    Bhai area bi toh aisa hai jaha kaane hi hai. In kano ki hi chalti hai. (Indirapuram-noida side)

    Ankh wale aa gaye na (jaypee) toh hum unhe afford bi nhi kr payenge.
    Toh jo hai unsi se khush raho.

    Rate bhi kam, builder bhi A+, area nhi A+. Insan ki laalsa khatm hi nhi hoti.
    CommentQuote
  • If this land bill is approved than all new sectors in G.Noida/Noida will be impacted.

    G.Noida - Noida Ext + ETA, Omicron, XU, MU,

    Noida- Sector 117-120, 74-79 and all new sectors
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    New land acquiation bill which also has three new clauses...

    -this bill is effected from 2007 onwards (5 years old acquisation will be benifited.so NE/G.Noida will sure impacted
    - 80% farmers to agree if land acquisation is done for pvt development and 70% for public development so again NE is impacted.
    -more benifits to farmers and few news paper quoting 20% develop land???



    Wat percent NEx farmers hav approved the land acquisition?

    20 developed area seems to be hoax.

    n i think sonia gandhi rejected the old bill n asked to revise it with 80 cent approval. Wen congress is aggressively bringing reforms this wud put brakes on projects of real estate.

    Kisan of NCR hv become extra smart n over ambitious.
    CommentQuote
  • Except Patwari village in which 81% farmers have taken componsation, all other villages have in between 70-80% ratio.
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    Except Patwari village in which 81% farmers have taken componsation, all other villages have in between 70-80% ratio.



    Matlab khaani latakne ke chances fir se hain ???
    CommentQuote
  • Originally Posted by maxhoney2001
    Matlab khaani latakne ke chances fir se hain ???



    Sikke ka dusra pahlu


    because of this land crisis, :bab (59):Rate phir barenge. :bab (59):
    CommentQuote
  • Originally Posted by maxhoney2001
    Matlab khaani latakne ke chances fir se hain ???




    Sikke ka dusra pahlu


    due ti this land issue :bab (59):Rate phir barenge:bab (59):
    CommentQuote
  • That is the only thing, which will be keep increasing ........I mean Basic Rate.
    Also add the delivery of Flat time in this increasing list.

    Date of Proposed delivery will also increase.

    Sorry Gents & Ladies -- I have no control on this....
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    New land acquiation bill which also has three new clauses...

    -this bill is effected from 2007 onwards (5 years old acquisation will be benifited.so NE/G.Noida will sure impacted
    - 80% farmers to agree if land acquisation is done for pvt development and 70% for public development so again NE is impacted.
    -more benifits to farmers and few news paper quoting 20% develop land???


    If it is implemented with retro effect i.e., from 2007......... , then gayi bhains paani me in Noida Extension ........
    CommentQuote
  • Originally Posted by ManGupta
    If it is implemented with retro effect i.e., from 2007......... , then gayi bhains paani me in Noida Extension ........



    Noida Extension ........ has ........ once again .......... lived up-to its reputation as ........ a Roller Coaster Ride ......

    ........ Enjoy the Ride ......
    CommentQuote
  • Originally Posted by planner
    That is the only thing, which will be keep increasing ........I mean Basic Rate.
    Also add the delivery of Flat time in this increasing list.

    Date of Proposed delivery will also increase.

    Sorry Gents & Ladies -- I have no control on this....




    Bhai koi problem nahi. 2 saal ka or delay. 40% pay kar ke chup- chap wait karo. Next 2-3 years me achchaa appreciation mil jayega. ***

    ***condition applied: Builder reputed hona chahiye.
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    If this land bill is approved than all new sectors in G.Noida/Noida will be impacted.

    G.Noida - Noida Ext + ETA, Omicron, XU, MU,

    Noida- Sector 117-120, 74-79 and all new sectors


    so does it mean further increase in noida prices as well !! ?
    CommentQuote
  • Originally Posted by Pradyot1315sqf

    ***condition applied: Builder reputed hona chahiye.



    Reputed Builder kya hota hai .........


    ...... Wo Billi ...... jo Doodh ka rakhwali karti hai ......
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    so does it mean further increase in noida prices as well !! ?


    Kyon Nahi .......


    ...... Noida Extension only needs an excuse ...... to fuel inflation ...... real as well as artificial ...... and all other areas takes cues from NE ...
    CommentQuote