पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • 130 मीटर एक्सप्रेस-वे : जल्द दूर होगी 'बाधा'

    130 मीटर चौडे़ एक्सप्रेस-वे के निर्माण में आ रही बाधा जल्द दूर होने वाली है। सोमवार को अथॉरिटी की हाई पावर कमिटी ने मायचा और खैरपुर गुर्जर गांवों के किसानों की छोड़ी गई आबादी पर अपनी मुहर लगा दी है। इसके अलावा जिन दो गांवों के किसानों ने एक्सप्रेस-वे का काम रुकवा रखा है। वहां के किसानों से भी अथॉरिटी की सहमति बन रही है। सीईओ ने किसानों के साथ समझौता करने के लिए ओएसडी योगेंद्र यादव को जिम्मेदारी सौंप दी है।
    ओएसडी योगेंद्र यादव ने बताया कि देवला और खोदना खुर्द गांव के किसानों की डिवेलपमेंट की जो डिमांड थी, उसे पूरा किया जा रहा है। गांव में सीसी रोड, स्कूल, सडक,सीवर, स्ट्रीट लाइट लगाने का काम चल रहा है। किसानों की आबादी की समस्या का समाधान भी कराना शुरू कर दिया गया है। बाकी 8 गांवों के किसानों की आबादी की समस्या भी जल्द सुलझा दी जाएंगी।
    उन्होंने बताया कि एक्सप्रेस-वे ग्रेटर नोएडा वेस्ट एरिया में पर्थला खंजरपुर गांव से लेकर खोदना खुर्द गांव तक बन चुका है। इसके बाद तिलपता गांव के पास से लेकर सिरसा गांव तक भी यह तैयार है। खोदना खुर्द और देवला के किसानों ने करीब डेढ़ किमी एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्य को रोक रखा है। अब वहां के किसानों की लगभग सभी मांगों पर सहमति बन गई है। किसानांे के साथ पूरी तरह सहमति बनते ही रुका हुआ काम शुरू हो जाएगा। उम्मीद है कि काम अप्रैल 2013 तक पूरा हो जाएगा।
    CommentQuote
  • सैटलाइट इमेज देख आबादी के मामले निपटाए

    ग्रेनो : ग्रेटर नोएडा स्टेडियम में सोमवार को डीएम की अध्यक्षता में आबादी निस्तारण के लिए बनी हाई पावर कमिटी की एक मीटिंग हुई। सैटलाइट ईमेज देखने के बाद कमिटी ने मायचा और खैरपुर गुर्जर गांव के आबादी के मामलों का निस्तारण कर दिया। जल्द ही 6 अन्य गांवों की आबादी के मामलों का भी निस्तारण कर दिया जाएगा। हाई पावर कमिटी की मीटिंग में डीएम एमकेएस सुंदरम, एसएसपी प्रवीण कुमार, सीईओ रमा रमण, एसीईओ हरीश वर्मा, ओएसडी योगेंद्र यादव समेत अथॉरिटी के अन्य कई अफसर शामिल हुए। ओएसडी योगेंद्र यादव ने बताया कि डीएम और एसएसपी ने मायचा और खैरपुर गुर्जर गांवों के सैटलाइट ईमेज का अध्ययन करने के बाद दोनों की आबादी की फाइलों पर मुहर लगा दी। जल्द ही हबीबपुर और तुष्याना समेत 6 अन्य गांवों की आबादी के मामलों का निस्तारण भी कर लिया जाएगा।
    CommentQuote
  • Panchsheel Green Latest Pics !!!

    CommentQuote
  • Panchsheel Green Latest Pics !!!

    CommentQuote
  • Panchsheel Green Latest Pics !!!

    CommentQuote
  • Panchsheel Green Latest Pics !!!

    CommentQuote
  • Panchsheel Green Latest Pics !!!

    CommentQuote
  • Panchsheel Green Latest Pics !!!

    CommentQuote
  • Panchsheel Green Latest Pics !!!

    CommentQuote
  • Panchsheel Green Latest Pics !!!

    CommentQuote
  • Panchsheel Green Latest Pics !!!

    CommentQuote
  • NEFOMA update

    All those 14 buyers of Earth Towne project, who attended the meeting with the City Magistrate, at Sec-19, Noida alongwith Team NEFOWA, complaining problems of their booking in Earth Towne are advised to attend the meeting called by NEFOWA on SUNDAY the 30th December,12 at 12:00 noon at Star City Mall, Mayur Vihar-I, to discuss the progress of solving their problem with Earth, so as to decide the further course of action in the matter soon.
    CommentQuote
  • NEFOMA updates

    NEFOWA along with its members had a meeting with Parmount MD Mr Mukesh Agarwal and ED MR Aswani Prakash. We had very long discussions with them and shared our issues from them. We got verious updates from them along with reply of all points which we raised.

    Please find MOM of todays meeting with Paramount.

    1) All layout should be duely approved and shared with buyers/websites until no demand willbe asked.All demand should have attached photograph.

    Parmount: Latest Layout plan is in press and withis 1 week they will shared it with all buyers. All changes are done accordingly with latest FAR. Exiting construction already modified accordingly.

    2) Payment plan approved by HDFC should be applied on all and this should given in written form without any impact of cost/intrest.

    Parmount: HDFC updated plan will be applied on all customer.

    3) Cost impact(should be calculated on booking price 50-50 preferbly) due to above change should be adjusted at the time of possession.

    Parmount: They are not in poistion to accomdate this due to financial implication (cost of construction has been increased)

    4) Builder should obey its committment and all demands should be asked from first Bank disbursement + 30 days period and no intrest should be asked for this period as committed by builder

    Parmount: They will obey their committment not ask any interest from buyer. They will calculate this period from 1st disbursement of 2 or more banks and will take later. Right now we are in no interest period.

    5) Standard interest on delay payment should be similar home loan interest and current changed regarding same is illegagl and unethical.

    Parmount: They are expecting ZERO period benifits from GNA once it will done they will pass benifits to buyers.

    6) All construction progress/updates should be shared with buyers and same should be uploaded on website.

    Parmount: Agreed and will update once construction level will complete in basements.

    7) Any future demand should give atleast 45 days time frame.

    Parmount: They are agreed for 30 days and all demand will be asked once particular construction level will be done and verified by bank official.

    8) Tower wise updates should be provided specially updates from (Great, Festive, Easy, Delight) towers shoud be transparent.

    Parmount: Constuction will take place in all towers and updation will be available on webpage as well.

    9) Predicted Possesion time should be similar of near by projects.

    Parmount: They will try their best and provide possession much ahead of promised date.

    Few Updates:

    1) Buyers who have booking on 12+ floor need not worry their demand will come once approval will come for those floor + 30 days

    2) All payment is expected as per latest change

    3) Buyers who are unable to cotinue for increased area can opt for downgraded size.

    4) Project will be delivered at once and construction will be done in entire area.

    5) Interext amount (If any) will be asked in next demand.

    Thanks,
    Team Nefowa
    CommentQuote
  • johny bhai in form ........ post pe post !!

    kal latest update doonga bhai logon ... if there is not too much fog then i will visit NE again tomorrow :)
    CommentQuote
  • आखिर कब बनेगा पावर प्लांट

    एक संवाददाता॥ ग्रेटर नोएडा
    अथॉरिटी ने 1991 में एनपीसीएल को ग्रेटर नोएडा में बिजली सप्लाई करने का लाइसेंस दिया था। लाइसेंस की शर्तों के मुताबिक एनपीसीएल को अपना पावर प्लांट बनाना था। पर अभी तक पावर प्लांट नहीं लग पाया है। इस कारण शहर को भरपूर बिजली नहीं मिल रही है। लोग लंबे समय से पावन प्लांट शुरू होने की उम्मीद कर रहे हैं। शहर के रेजिडेंशियल, इंडस्ट्रियल और रूरल एरिया में 6 से 8 घंटे की बिजली कटौती हो रही हैं। गर्मियों में बिजली कटौती से लोग परेशान हो जाते हैं।
    एनपीसीएल शहर में बिजली सप्लाई नहीं कर पा रहा है। रोज कई घंटों की बिजली कटौती हो रही है। गांवों का तो और भी बुरा हाल है। बिजली व्यवस्था सुधारने के लिए कंपनी को जल्द पावर प्लांट बनाना होगा।
    CommentQuote