पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • I am again confused abt one ongoing development ....
    Why are they constructing the service lanes on 130m wide road stretch between noida sector 121 and gaur gol chakker?
    These service lanes are of no use as they hit a dead end at hindon since width of bridge is fixed

    Also they have already kind of created a small boundary wall on the edge of these service lanes and so they can't be used for going down towards the fields or villages on the side

    Then what's the purpose? Any comments friends :)
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    I am again confused abt one ongoing development ....
    Why are they constructing the service lanes on 130m wide road stretch between noida sector 121 and gaur gol chakker?
    These service lanes are of no use as they hit a dead end at hindon since width of bridge is fixed

    Also they have already kind of created a small boundary wall on the edge of these service lanes and so they can't be used for going down towards the fields or villages on the side

    Then what's the purpose? Any comments friends :)


    Pandey ji aap bhi kamaal karte ho. Last time bataya to tha :bab (59):
    CommentQuote
  • Originally Posted by hindustan
    Pandey ji aap bhi kamaal karte ho. Last time bataya to tha :bab (59):


    Bhai read my post again.... accessto go down towards villages or fields is restricted by a boundary wall on the side.. aapki theory fit nahin baithi
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    Bhai read my post again.... accessto go down towards villages or fields is restricted by a boundary wall on the side.. aapki theory fit nahin baithi


    Haa bhai, Missed the lines. Sorry for confusion
    CommentQuote
  • Originally Posted by hindustan
    Haa bhai, Missed the lines. Sorry for confusion


    bhai ye service lanes toh mystery ban gayi .. kuch info mile iske baare mein toh batana .. kahin aisa toh nahin ki bridge mein bhi additional carriage way banake widen karne ka plan ho in future !! :D
    :bab (59):
    CommentQuote
  • Thanks dude


    Originally Posted by trialsurvey
    Ne updates...
    1 three jcb machines cud be seen doin excavation on amrapali verona plot for the first time!
    2 projects where construction is goin on at a good pace.. earth town, supertech ecov 1 & 2 , amrapali leisure valley, stellar , arihant, gaur city, mahagun mywoods, avj
    3 projects where construction is goin on at a decent pace - radicon, panchsheel, cherry county, ecov 3, all amrapali projects except dream valley, supercity mayfair
    4 projects where construction is slow or stalled - amrapali dream valley, nirala estate, gayatri aura, capital athena, habitech panchtatva, patel neotown, paramount emotions , trident embassy, all shubhkaamna projects, rudra
    5 lots of brokers tryin to sell premia city but no progress on site
    6 some kind of temporary structure created on trustone commercial project plot.. might be sample office space or studio appt sample
    7 infra work by authority goin on in full swing
    8 first sign of activity at gaur saundaryam plot .. they were creating some kind of batching plant it seems
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    bhai ye service lanes toh mystery ban gayi .. kuch info mile iske baare mein toh batana .. kahin aisa toh nahin ki bridge mein bhi additional carriage way banake widen karne ka plan ho in future !! :D
    :bab (59):


    Might be they will expand the hindon bridge. lets see bro.
    CommentQuote
  • Originally Posted by hindustan
    Might be they will expand the hindon bridge. lets see bro.


    if that happens .. it would be just superb for the NE region in future :)
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    if that happens .. it would be just superb for the NE region in future :)


    instead of expanding the same, if they build another bridge over Hindon River, that would be MAHA superb.
    CommentQuote
  • Originally Posted by cookie
    instead of expanding the same, if they build another bridge over Hindon River, that would be MAHA superb.


    true bro ...

    btw do u have any info whats the purpose of widening the 130m road stretch which falls between noida 121 and gaur gol chakker ?
    (no use if they dont build an additional carriage way over hindon)
    CommentQuote
  • Originally Posted by trialsurvey
    true bro ...

    btw do u have any info whats the purpose of widening the 130m road stretch which falls between noida 121 and gaur gol chakker ?
    (no use if they dont build an additional carriage way over hindon)

    No yarr.. I have not been to NE for more than an year..
    CommentQuote
  • मांगों को लेकर किसान आज करेंगे महापंचायत

    मांगों को लेकर किसान आज करेंगे महापंचायत


    ग्रेनो एक्सटेंशन एरिया के किसान भी जमीन अधिग्रहण के विरोध मंे उठ खडे़ हुए हैं। किसानों ने फैसला किया है कि भूमि अधिग्रहण बिल लोकसभा में पास होने तक नही जमीन अधिग्रहण नहीं करने देंगे। किसानांे ने अपनी दस सूत्रीय मांगों को लेकर रविवार को चिटहरा गांव में महापंचायत करने का ऐलान किया है। इसमें चिटहरा, दतावली, बढ़पुरा, धूममानिकपुर, नरौली समेत दर्जनों गांवों के किसान शामिल होंगे। किसान मंच के नेता और महापंचायत के संयोजक सुनील फौजी ने बताया कि किसानांे की दस मांगांे को लेकर किसानों ने डीएम को ज्ञापन सौंपा था। इसमें किसानों ने डीएम को शनिवार तक का समय दिया था। अब तक मांगों पर कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने बताया कि महापंचायत में अधिक से अधिक किसानों को शामिल करने के लिए यूपीएसआईडीसी से प्रभावित गांवों में जन जागरण अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि किसानों की मांग है कि लोकसभा में भूमि अधिग्रहण बिल पास होने और सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने तक सभी निर्माण कार्य बंद कराए जाएं।

    मांगों को लेकर किसान आज करेंगे महापंचायत - Demands the farmer would today Mahapanchayat - Navbharat Times
    CommentQuote
  • Wah, Wah,
    ---------Wah, Wah.

    Barbaad Gulistaan ko karne, bus ek hi ullu kaafi tha,
    Har Shakh pe ullu Baitha hai, Anjaaaam gulisthan kya hoga???????????????
    CommentQuote
  • Originally Posted by cookie
    instead of expanding the same, if they build another bridge over Hindon River, that would be MAHA superb.



    Can some one tell me please....
    How to send this idea to Autority.
    Passing the Idea to Authority is our part.
    Implementation / not --is their Part.

    Please help to do my Part.
    CommentQuote
  • Originally Posted by planner
    Can some one tell me please....
    How to send this idea to Autority.
    Passing the Idea to Authority is our part.
    Implementation / not --is their Part.

    Please help to do my Part.


    You can go to this link of authority site
    Contact | Greater Noida: Welcome to the Future

    You cans end a mail directly to the listed contacts or Authority.
    CommentQuote