पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • the best I like about mahagun is they are clear in their business...

    any ad you see of them in newspaper... they even mention the sale deed details with noida / Gr noida authority at the bottom of the ad...
    CommentQuote
  • Originally Posted by Johny123
    Today we all members of NEFOWA express our deepest condolence on the departure of the brave girl 'Damini'. May God give peace to her soul. NEFOWA also convey message to her family members that 'We are with the bereaved family and we pledge that her loss will not be left barren. The whole society is some what responsible for this loss. We appeal to all the citizen that the movement for the safety, security & respect for women which has began after the tragic incident be continued so that such type of incident be not repeated any more. Each individual will have to take responsibility and initiative for a safer society for women.

    This tragic incident has jolted us a lot. We take pledge to make India a iconic country where our women are safe, respectful and free of any fear.

    The sacrifice of 'Damini' has left a question for all of us -
    'Will every person put a step ahead to change the society and the system ???'

    NEFOWA family

    on that note, I write something:
    मुझे कुछ नहीं कहना, एक मौन है जो चिल्ला रहा है
    अब क्या हो ऐसा, कि बेटियाँ कहें अच्छा समय रहा है
    देख दामिनी तेरी मौत से, देश में एक क्रान्ति गयी
    दिल में गुस्से की आग से, बदलाव की मशाल सुलग गयी
    तू व्यर्थ नहीं मरी, समाज को जिन्दा कर गयी
    शायद अब तेरी मौत का अँधेरा, देगा सुबह नयी
    दुखी है आज देश सारा, भीगे हैं सब के नैना
    अगर आज हमने कुछ नहीं किया तो
    हर माँ कहेगी 'मझे बिटिया देना' - 'मुझे बिटिया देना'
    CommentQuote
  • Hi All,
    WISH YOU VERY HAPPY NEW YEAR..
    PLEASE LET ME ABOUT """ PREMIA PROJECT NOIDA EXTENSION""

    IS THIS GOOD PROJECT TO INVEST THE MONEY ???
    CommentQuote
  • Originally Posted by newindiauser
    Hi All,
    WISH YOU VERY HAPPY NEW YEAR..
    PLEASE LET ME ABOUT """ PREMIA PROJECT NOIDA EXTENSION""

    IS THIS GOOD PROJECT TO INVEST THE MONEY ???


    Abhi kahna muskil lagta hai dost.
    Premia ka bhi ek Thread hai IREF par

    We also wish you Happy New year
    CommentQuote
  • Originally Posted by newindiauser
    Hi All,
    WISH YOU VERY HAPPY NEW YEAR..
    PLEASE LET ME ABOUT """ PREMIA PROJECT NOIDA EXTENSION""

    IS THIS GOOD PROJECT TO INVEST THE MONEY ???


    Happy New year Dost.
    Regarding Premia project, check the premia thread. I would say at this time it is more risky to invest in Premia project. Builder was never heard before in Noida and no coming suddenly with such a big project. Something Fishy ...:fish2:
    CommentQuote
  • तीनों अथॉरिटी की बोर्ड बैठक 11 को

    तीनों अथॉरिटी की बोर्ड बैठक 11 को


    नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेस-वे अथॉॅरिटी की बोर्ड बैठक 11 जनवरी को होगी। तीनों अथॉरिटी में बोर्ड बैठक का एजेंडा तैयार किया जा रहा है। यह जानकारी अथॉरिटी के सीईओ रमा रमण ने दी। ग्रेटर नोएडा में सबसे अहम एजेँडा जीबीयू से मेडिकल यूनिवर्सिटी के लिए जमीन ट्रांसफर का है। जीबीयू में पहले से बुद्धिस्ट म्यूजियम के लिए आरक्षित जमीन मेडिकल यूनिवर्सिटी के लिए दी जा रही है। इसके अलावा किसानों के लिए छोड़ी गई आबादी के मामले, जहांगीरपुर के पास 765 केवीए के सबस्टेशन के लिए जमीन मुहैया कराने और यमुना अथॉरिटी के मास्टर प्लान 2031 के सेकंड फेज को बोर्ड बैठक में रखा जाना


    तीनों अथॉरिटी की बोर्ड बैठक 11 को - Authority board meeting of three to 11 - Navbharat Times
    CommentQuote
  • किसानों ने अथॉरिटी दफ्तर पर जड़ा ताला

    किसानों ने अथॉरिटी दफ्तर पर जड़ा ताला

    ग्रेटर नोएडा
    किसानों ने सोमवार सुबह यमुना अथॉरिटी के दफ्तर पर ताला जड़ दिया। किसानों ने अधिकारियों को अथॉॅरिटी में घुसने नहीं दिया। उन्होंने मेन गेट पर महापंचायत भी की। अथॉॅरिटी अधिकारियों ने दो बार किसानों को वार्ता का प्रस्ताव भेजा लेकिन किसानांे ने यह कहकर प्रस्ताव ठुकरा दिया कि जब तक उनकी मांगंे पूरी नहीं जातीं, वे वार्ता नहीं करेंगे। किसानांे का कहना है कि वे रोज सुबह 9:30 बजे से शाम 5 बजे तक अथॉॅरिटी गेट पर धरना देंगे। किसानों की अगुवाई बीकेयू के प्रदेश उपाध्यक्ष चौधरी महेंद्र सिंह चौरोली कर रहे थे। इस दौरान सीओ आलोक प्रियदर्शी दनकौर, कासना, ग्रेटर नोएडा समेत कई कोतवाली की पुलिस के साथ पहंुचे लेकिन सब कुछ चुपचाप देखते रहे। चंद मिनट बाद ही वे मौके से चले गए।
    बीकेयू के जिलाध्यक्ष अजयपाल शर्मा ने कहा कि यमुना अथॉॅरिटी के अधिकारी किसानों कि मांगों को अनसुना कर रहे हंै। उन्हांेने बताया कि यमुना एरिया के 47 गांवों की जमीन अथॉॅरिटी ने अब तक अधिग्रहण की है। सभी गांवों के किसानों को 64 प्रतिशत बढ़ा हुआ मुआवजा, दस प्रतिशत आबादी के प्लॉट और पुनर्वास नीति 2001 से लागू की जाए।
    बीकेयू के प्रदेश उपाध्यक्ष चौधरी महेंद्र सिंह चौरोली ने कहा कि अथॉॅरिटी किसानांे की जमीन को औने-पौने दामों पर लेकर उन्हें बर्बाद कर रही है। किसानों ने ऐलान किया है कि जब उनकी सभी मांगंे पूरी हो जाएंगी, तभी आंदोलन खत्म होगा। महापंचायत को मास्टर श्यौराज, चंद्रपाल, शमशाद, मनोज चौधरी, धनीराम, ओमप्रकाश कसाना, जावेद, लज्जाराम प्रधान, प्रताप, जीवन सिंह आदि ने भी संबोधित किया।

    किसानों ने अथॉरिटी दफ्तर पर जड़ा ताला - Authority office hit farmers lock - Navbharat Times
    CommentQuote
  • किसानों के लिए आएगी फार्म हाउस स्कीम

    किसानों के लिए आएगी फार्म हाउस स्कीम


    ग्रेटर नोएडा
    अथॉरिटी किसानांे के लिए फार्म हाउस स्कीम लॉन्च करने जा रही है। इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है। बोर्ड मीटिंग में प्रस्ताव को रखा जाएगा। बोर्ड की मुहर लगते ही स्कीम लॉन्च कर दी जाएगी। किसानों के लिए ऐसी स्कीम लॉन्च करने वाली ग्रेनो अथॉरिटी प्रदेश की पहली इंडस्ट्रियल अथॉरिटी होगी। इस स्कीम से पर्यावरण को भी स्वच्छ बनाए रखने में मदद मिलेगी।
    अफसरांे ने बताया कि स्कीम के लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है। अलॉटमेंट रेट का निर्धारण बोर्ड मीटिंग में तय किया जाएगा। फार्म हाउस उन्हीं किसानों को अलॉट किया जाएगा जो पुश्तैनी हैं और जिनकी जमीन अथॉरिटी ने अधिग्रहीत की है। फार्म हाउस अलॉट होने के बाद किसान दस साल तक उसे नहीं बेच सकेंगे। अफसरांे ने बताया कि फार्म हाउस के अंदर किसानों को सब्जी और फल उगाने व डेयरी खोलने की छूट होगी। बहुत ही कम एरिया में परमानेंट कंस्ट्रक्शन की अनुमति दी जाएगी। अफसरों ने बताया कि फार्म हाउस स्कीम के तहत काफी बड़ा एरिया ओपन रहेगा। इस स्कीम से शहर में ग्रीन बेल्ट का एरिया और बढ़ जाएगा।


    किसानों के लिए आएगी फार्म हाउस स्कीम - Scheme for farmers will farm - Navbharat Times
    CommentQuote
  • शाहबेरी में अधिग्रहण की तैयारी शुरू

    Jan 1, 2013, 03.10AM IST
    एनबीटी न्यूज॥ ग्रेटर नोएडा
    ग्रेटर नोएडा वेस्ट एरिया के शाहबेरी गांव में अथॉरिटी दोबारा जमीन अधिग्रहण करने की तैयारी में जुट गई है। इसके साथ ही अवैध कॉलोनियों पर अथॉरिटी का पीला पंजा भी चलेगा। अफसरांे ने साफ कर दिया है कि अधिग्रहण रद्द होने के कारण जहां भी अवैध कॉलोनी काटी गई है, उन सभी को ध्वस्त किया जाएगा। गौरतलब है कि मई 2011 में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने शाहबेरी में 156 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण निरस्त कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट के फैसले पर अपनी मुहर लगा दी थी।
    एसीईओ हरीश वर्मा ने बताया कि दोबारा जमीन अधिग्रहण की तैयारी शुरू कर दी गई है। धारा-4 की कार्रवाई के लिए यूपी गवर्नमेंट को प्रस्ताव भेजा गया है। धारा-4 के प्रकाशन के साथ ही अधिग्रहण की कार्रवाई शुरू हो जाएगी। उन्होंने बताया कि इस बार अर्जेंसी क्लॉज लगाकर किसानों की जमीन नहीं ली जाएगी। धारा-4 के बाद धारा-5 की कार्रवाई होगी। धारा-5 के तहत किसानों को अपना पक्ष रखने का मौका मिलेगा।
    अवैध कॉलोनियों भी निशाने पर
    एसीईओ ने बताया कि जमीन अधिग्रहण निरस्त होने के बाद ग्रेटर नोएडा वेस्ट एरिया में कई जगहों पर अवैध कॉलोनी काटी जा रही है। कॉलोनाइजरों ने लोगों को झांसा दिया कि शाहबेरी की तरह अन्य गांवों का अधिग्रहण भी निरस्त हो जाएगा। एसीईओ ने बताया कि अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू करने के साथ ही अभियान चलाकर अवैध कॉलोनियों को तोड़ा जाएगा। अथॉरिटी अधिसूचित एरिया में सुनियोजित तरीके से रेजिडेंशल या किसी अन्य सेक्टर का डिवेलपमेंट करेगी। इस अभियान की भी तैयारी शुरू कर दी गई है। प्रोजेक्ट डिपार्टमेंट से ऐसी कॉलोनियों और कॉलोनी काटने वाले लोगांे की लिस्ट मांगी गई है।
    CommentQuote
  • Yeh to Bada hi bura hua.

    Anyway, wish you all happy new year
    CommentQuote
  • Originally Posted by planner
    Yeh to Bada hi bura hua.

    Anyway, wish you all happy new year

    kya Bada Bura hua... aaj toh 1st jan he hai!!!!!!!!!!!
    CommentQuote
  • Shahberi ka Lafda.
    CommentQuote
  • Originally Posted by planner
    Shahberi ka Lafda.

    What lafda????? don't think so
    Its good Authority is going to acquire the land again.
    Authority is just doing its job.. acquiring land.. The don't do anything else. :D
    CommentQuote
  • you are also correct,
    Authority is also correct.

    But Tough time for me, If they will take my unauthorised plot in Shahberi (Just after the nala of CR).

    Big plot

    But........
    CommentQuote
  • Originally Posted by planner
    you are also correct,
    Authority is also correct.

    But Tough time for me, If they will take my unauthorised plot in Shahberi (Just after the nala of CR).

    Big plot

    But........

    so you have invested in Unauthorized Plot.... didn't I tell you.. don't drink too much. :D
    CommentQuote