पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • ग्रेनो की 94 वीं बोर्ड बैठक संपन्न

    शुक्रवार को ग्रेटर नोएडा की 94 वीं बोर्ड बैठक संपन्न हो गई। र्बोउ बैठक में ग्रेटर नोएडा में निर्माणाधीन मान्यवर कांशीराम मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल को चिकित्सा विश्वविद्यालयके रूप् में विकसित करने के लिए गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय की 31 .5 एकड़ भूमि, आवासीय उपयोग हेतु चिन्हित 10 एकड़ भूमि कुल 56-50 एकड़ भूमि प्रस्तावित चिकित्सा विश्वविद्यालय को स्थांतरित करने के संबध में निर्णय लिया गया। वहीं नोएडा -ग्रेटर नोएडा मेट्रो परियोजना का क्रियान्वयन डीएमआरसी से कराये का निर्णय लिया गया है। वहीं समाज के सभी वर्गों हेतु वहन योग्य 7000 भवनों की योजना लाये जाने का निर्णय लिया गया।
    वहीं उद्योग के लिए 2000 वर्ग मीटर तक के भूखण्डों अब ड्रा के माध्यम निकाला जाएगा। क्षेत्र के उद्योगों में निवेशकों को बढ़ावा देने के लिए उ0प्र0 नीति 2012 के आधार पर लीज डीड निष्पादन, क्रियाशीलता एवं विलम्ब शुल्क को युक्त संगति एवं उद्योगपरक किया गया।
    कृषकों के आबादी विनयमितीकरण को सरल करने के लिए नयी नियमावली प्रस्थापित करने का अनुमोदन दिया गया। वहीं ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण के क्षेत्रान्र्तगत इन्फोटेल ब्राडबैंड सर्विसेज को 4 जी ब्राडबैंड वायर वायरलेस एक्सेस सर्विस कैबिल की अनुमति दिये जाने का निर्णय लिया गया।
    वहीं मुआवजे को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया गया है।
    CommentQuote
  • जल्द शुरू होगा इस रोड का काम

    ग्रेटर नोएडा
    सूजरपुर स्थित न्यू हॉलैंड कंपनी के पास से ग्रेटर नोएडा वेस्ट होते हुए एनएच-24 तक सर्विस लेन का काम जल्द शुरू हो जाएगा। फंड की कमी के कारण इस सर्विस रोड का काम रुका हुआ था। अथॉरिटी अफसरों ने बताया कि सर्विस रोड का 55 फीसदी काम पूरा कर लिया गया है।
    सूजरपुर टी-पॉइंट के पास यामाहा कंपनी से ग्रेटर नोएडा वेस्ट होते हुए राहुल विहार के पास एनएच-24 तक रोड शुरू हो गई है। अगस्त 2011 में 60 मीटर चौड़ी इस रोड के साथ सर्विस रोड का काम भी शुरू हुआ था। इस काम का एस्टिमेट तीन करोड़ 12 लाख रुपये रखा गया था। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी की वित्तीय स्थिति गड़बड़ाने की वजह से इस रोड का काम रुक गया था। अथॉरिटी अफसरों ने बताया कि सर्विस रोड का जल्द बना लिया जाएगा। पानी की निकासी के लिए रोड के साथ ड्रेन भी बनाई जा रही है। अनुमान है कि अगले पांच साल में ग्रेनो वेस्ट में आबादी बसने पर 60 मीटर रोड पर ट्रैफिक का दबाव काफी बढ़ जाएगा। इसके मद्देनजर ही यह रोड बनवाई जा रही है।
    CommentQuote
  • मीटिंग में खुला विकास का पिटारा

    बोर्ड मीटिंग के बाद ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के एसीईओ हरीश कुमार वर्मा ने पास हुए प्रस्तावों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि नोएडा से ग्रेटर नोएडा तक मेट्रो प्रोजेक्ट को डीएमआरसी से पूरा करने के प्रस्ताव को बोर्ड ने हरी झंडी दे दी है। इसका खर्च नोएडा और ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी मिलकर वहन करेगी। इस संबंध में अगले सप्ताह अथॉरिटी अधिकारियों की डीएमआरसी के साथ मीटिंग होगी। इसका काम अप्रैल से चालू करने की योजना है। इससे पहले इसे पीपीपी मॉडल पर बनाने पर विचार चल रहा था। पीपीपी मॉडल पर निर्माण के लिए दो साल पहले डीपीआर भी फाइनल कर दी गई थी।
    रेजीडेंशल स्कीम
    ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी अगले दो महीनों के अंदर सभी वर्गों को ध्यान में रखते हुए 7 हजार मकानों की स्कीम लाएगी। यह स्कीम ग्रेनो वेस्ट और जू सेक्टर के आसपास लाने की तैयारी है। वहीं 2 हजार वर्ग मीटर तक साइज के इंडस्ट्रियल प्लॉट का आवंटन ड्रॉ के माध्यम से किया जाएगा।
    इंडस्ट्री के लिए सरल नीति
    इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लिए नियमों को सरल किया जाएगा। नोएडा अथॉरिटी की तर्ज पर लीज-डीड, फंक्शनल करने और लेट फीस जैसे कामों को आसान किया जाएगा।

    किसानों की आबादी नियमावली
    अथॉरिटी ने किसानों की आबादी नियमावली में भी बदलाव किया है। आबादी विवाद निस्तारण के लिए अब 3 के बजाय सिर्फ एक कमिटी होगी। इसमें से डीएम और एसएसपी की छुट्टी कर दी गई है। अब सीईओ की अध्यक्षता में एसीईओ, डीसीईओ, एसडीएम और डीएसपी इस कमिटी में होंगे।
    घरों पर मोबाइल टावर नहीं
    मीटिंग में शहर में 4जी ब्रॉडबैंड वायर लाइन/वायरलैस एक्सेस सर्विस केबल बिछाने का भी फैसला किया गया। इसमें सभी कंपनियां अपना नेटवर्क डाल सकेंगी। वहीं घरों पर मोबाइल टॉवर किसी भी सूरत में नहीं लगेगा। इसके लिए अलग से स्पेस दिया जाएगा। सेक्टर की ग्रीन बेल्ट में 70 से 250 वर्ग मीटर साइज का प्लॉच मोबाइल कंपनियों को टॉवर के लिए दिया जाएगा।


    मीटिंग में खुला विकास का पिटारा - Meeting open development box - Navbharat Times
    CommentQuote
  • किसानों के 'सपनों' पर लगी मुहर

    मुआवजे व आबादी को लेकर किसानों व अथॉरिटी के बीच लंबे समय से चल रही खींचतान में अब कुछ राहत मिलने के आसार नजर आने लगे हैं। शुक्रवार को हुई बोर्ड बैठक में अथॉरिटी ने किसानों से जुड़ी लगभग आधा दर्जन मांगें मान ली हैं।
    सीईओ संजीव सरन ने बताया कि अब ऐसे किसानों को भी 5 पर्सेंट आबादी प्लॉट का लाभ मिल सकेगा, जिन्होंने 17 अप्रैल 1976 के बाद कृषि के पट्टे प्राप्त किए थे और अथॉरिटी ने उनकी वह जमीन अधिग्रहीत कर ली थी। बशर्ते वे अधिग्रहण से पहले संक्रमणीय भूमिधर हो चुके हों। इसी तरह, अथॉरिटी की मौजूदा पॉलिसी में यदि किसी काश्तकार की जमीन का रकबा 40 वर्ग मीटर से कम था तो उसे कोई प्लॉट नहीं दिया जाता था। अब अथॉरिटी ऐसी जमीन अधिग्रहण करने पर उसे कम से कम 40 वर्ग मीटर का प्लॉट देगी मगर उसे 20 मीटर अतिरिक्त के लिए सेक्टर रेट के आधार पर अथॉरिटी को पेमेंट करनी होगी।
    उन्होंने बताया कि अथॉरिटी में किसानों की पात्रता वाली स्कीम का ड्रॉ मार्च 201्3 तक करा दिया जाएगा। इसके अलावा, अभी तक अथॉरिटी का इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट गांवों में किसी भी विकास कार्यों को करने से पहले भू लेखा डिपार्टमेंट से एनओसी लेता था। अब एनओसी की बाध्यता को समाप्त कर दिया है। उन्होंने बताया कि अथॉरिटी को हाई कोर्ट के आदेशानुसार 64.7 पर्सेंट बढ़े हुए मुआवजे के रूप में कुल 1100 करोड़ रुपये का वितरण करना था। इसमें से 2 किश्तों के रूप में 650 करोड़ बांटे जा चुके हैं, बाकी 450 करोड़ रुपये की किश्तें भी जारी कर दी गई हैं। डीएम को निर्देश दिया गया है कि वह एडीएम के माध्यम से गांव- गांव में कैंप लगाकर किसानों को घर बैठे मुआवजा दिलाएं।


    किसानों के 'सपनों' पर लगी मुहर - Farmers 'dreams' endorsement in - Navbharat Times
    CommentQuote
  • re: Greater Noida West (Noida Extension) - Latest Updates

    Water problems for projects in Noida now..delays and cost escalations on your way
    CommentQuote
  • Noida board okays Metro link to Greater Noida



    By Ayesha Arvind TNN | Jan 12, 2013, 04.15 AM IST









    NOIDA: The Noida and Greater Noida authorities on Friday approved the much-awaited 30km extension of the Metro line to Greater Noida which would not only provide a fast link between the two townships but also bring these places closer to the national capital.

    The decision was taken at the 178th joint board meeting of the authorities, convened after being postponed several times in the past six months. The line, to be funded theNoida authority and built by the Delhi Metro Rail Corporation, will have 22 stations connecting some of the busiest spots across Noida and Greater Noida.

    The project is expected to cost around Rs 5,000crore. Sources said the proposal will be sent to the Uttar Pradesh government for approval on Monday. Sources expect work to start next month and the line to be ready in two-and-a-half years.

    The authorities expect the Metro announcement to boost the realty sector in both townships. The detailed project report for the line has already been prepared by DMRC. The authorities had earlier been mulling a public private partnership model but decided on using the Noida Authority's own funds for the project.

    "The idea of the Noida-Greater Noida Metro link was first proposed in 2010. However, the project could not take off at the time due to several reasons. We have finally decided to revive the project and the board has also approved it. The DPR will just be updated now and we will forward it to the state," said Sanjiv Saran, CEO,
    Noida Authority.

    The Authority CEO said, "As per the Master plan 2021, the population in Noida and Greater Noida is set to increase considerably. Besides, several new housing schemes are also in the pipeline. Considering that thousands of more people will inhabit the area in the near future, the Metro link will prove very useful. It will also serve the several residential, industrial and IT units along the expressway."

    The line will extend from City Center and culminate at Bodaki in Greater Noida. Some of the proposed stations on the route include Sector 51, Sector 50, Sector 78, Sector 101, Sector 81, Dadri Road, Sector 83, Sector 137, Sector 143, Sector 147, Sector 144, Sector 153, and Sector 149 in Noida and Knowledge Park 2, Pari Chowk, Alpha 1 Alpha 2, Delta, Knowledge Park 4 and Bodaki (depot stations) in Greater Noida. According to DMRC and the Authority's estimates, nearly 65,000 passengers are expected to use the link every day.

    The joint board meeting also gave its nod to the proposal to extend the City Center Metro line by 6.67km to Sector 62, touching NH 24. The DPR for this much-delayed project will be forwarded to the state government now.

    Meanwhile, the Authority has decided to go ahead with civil work on the Metro link between Noida and Greater Noida west (Noida Extension) that it had proposed earlier last year. However, the DPR for the project will be prepared by DMRC only after a sizeable population moves into Noida Extension.

    While the idea for a Metro link between Noida and Greater Noida was initially proposed in 2010 during the reign of the BSP, the project could not take off at the time. It got further delayed due to a change of regime and delay in the appointment of senior Authority officials.

    Considering the projected increase in population as per the Master Plan 2031 and need for better connectivity between the twin cities, the authorities have decided to finally speed up the project.
    Share your views










    THE TIMES OF INDIA
    Powered by INDIATIMES


    CommentQuote
  • Originally Posted by planner
    Noida board okays Metro link to Greater Noida



    By Ayesha Arvind TNN | Jan 12, 2013, 04.15 AM IST










    The Authority CEO said, "As per the Master plan 2021, the population in Noida and Greater Noida is set to increase considerably. Besides, several new housing schemes are also in the pipeline. Considering that thousands of more people will inhabit the area in the near future, the Metro link will prove very useful. It will also serve the several residential, industrial and IT units along the expressway."

    The line will extend from City Center and culminate at Bodaki in Greater Noida. Some of the proposed stations on the route include Sector 51, Sector 50, Sector 78, Sector 101, Sector 81, Dadri Road, Sector 83, Sector 137, Sector 143, Sector 147, Sector 144, Sector 153, and Sector 149 in Noida and Knowledge Park 2, Pari Chowk, Alpha 1 Alpha 2, Delta, Knowledge Park 4 and Bodaki (depot stations) in Greater Noida. According to DMRC and the Authority's estimates, nearly 65,000 passengers are expected to use the link every day.



    Does it mean, Metro will not be coming in noida extension ??? Gaur Gol Chakkar or on the road where steller and other projects are located ??
    CommentQuote
  • Originally Posted by maxhoney2001
    Originally Posted by planner
    Noida board okays Metro link to Greater Noida



    By Ayesha Arvind TNN | Jan 12, 2013, 04.15 AM IST










    The Authority CEO said, "As per the Master plan 2021, the population in Noida and Greater Noida is set to increase considerably. Besides, several new housing schemes are also in the pipeline. Considering that thousands of more people will inhabit the area in the near future, the Metro link will prove very useful. It will also serve the several residential, industrial and IT units along the expressway."

    The line will extend from City Center and culminate at Bodaki in Greater Noida. Some of the proposed stations on the route include Sector 51, Sector 50, Sector 78, Sector 101, Sector 81, Dadri Road, Sector 83, Sector 137, Sector 143, Sector 147, Sector 144, Sector 153, and Sector 149 in Noida and Knowledge Park 2, Pari Chowk, Alpha 1 Alpha 2, Delta, Knowledge Park 4 and Bodaki (depot stations) in Greater Noida. According to DMRC and the Authority's estimates, nearly 65,000 passengers are expected to use the link every day.



    Does it mean, Metro will not be coming in noida extension ??? Gaur Gol Chakkar or on the road where steller and other projects are located ??



    Noida Extension Metro has not been approved...


    Noida Extension Metro has not been approved...
    CommentQuote
  • the Authority has decided to go ahead with civil work on the Metro link between Noida and Greater Noida west (Noida Extension)

    wats does it mean? Civil work? Also wat d status of sec 62 metro? Has work begin on it?



    Originally Posted by planner
    Noida board okays Metro link to Greater Noida



    By Ayesha Arvind TNN | Jan 12, 2013, 04.15 AM IST


    Meanwhile, the Authority has decided to go ahead with civil work on the Metro link between Noida and Greater Noida west (Noida Extension) that it had proposed earlier last year. However, the DPR for the project will be prepared by DMRC only after a sizeable population moves into Noida Extension.








    NOIDA: The Noida and Greater Noida authorities on Friday approved the much-awaited 30km extension of the Metro line to Greater Noida which would not only provide a fast link between the two townships but also bring these places closer to the national capital.

    The decision was taken at the 178th joint board meeting of the authorities, convened after being postponed several times in the past six months. The line, to be funded theNoida authority and built by the Delhi Metro Rail Corporation, will have 22 stations connecting some of the busiest spots across Noida and Greater Noida.

    The project is expected to cost around Rs 5,000crore. Sources said the proposal will be sent to the Uttar Pradesh government for approval on Monday. Sources expect work to start next month and the line to be ready in two-and-a-half years.

    The authorities expect the Metro announcement to boost the realty sector in both townships. The detailed project report for the line has already been prepared by DMRC. The authorities had earlier been mulling a public private partnership model but decided on using the Noida Authority's own funds for the project.

    "The idea of the Noida-Greater Noida Metro link was first proposed in 2010. However, the project could not take off at the time due to several reasons. We have finally decided to revive the project and the board has also approved it. The DPR will just be updated now and we will forward it to the state," said Sanjiv Saran, CEO,
    Noida Authority.

    The Authority CEO said, "As per the Master plan 2021, the population in Noida and Greater Noida is set to increase considerably. Besides, several new housing schemes are also in the pipeline. Considering that thousands of more people will inhabit the area in the near future, the Metro link will prove very useful. It will also serve the several residential, industrial and IT units along the expressway."

    The line will extend from City Center and culminate at Bodaki in Greater Noida. Some of the proposed stations on the route include Sector 51, Sector 50, Sector 78, Sector 101, Sector 81, Dadri Road, Sector 83, Sector 137, Sector 143, Sector 147, Sector 144, Sector 153, and Sector 149 in Noida and Knowledge Park 2, Pari Chowk, Alpha 1 Alpha 2, Delta, Knowledge Park 4 and Bodaki (depot stations) in Greater Noida. According to DMRC and the Authority's estimates, nearly 65,000 passengers are expected to use the link every day.

    The joint board meeting also gave its nod to the proposal to extend the City Center Metro line by 6.67km to Sector 62, touching NH 24. The DPR for this much-delayed project will be forwarded to the state government now.

    Meanwhile, the Authority has decided to go ahead with civil work on the Metro link between Noida and Greater Noida west (Noida Extension) that it had proposed earlier last year. However, the DPR for the project will be prepared by DMRC only after a sizeable population moves into Noida Extension.

    While the idea for a Metro link between Noida and Greater Noida was initially proposed in 2010 during the reign of the BSP, the project could not take off at the time. It got further delayed due to a change of regime and delay in the appointment of senior Authority officials.

    Considering the projected increase in population as per the Master Plan 2031 and need for better connectivity between the twin cities, the authorities have decided to finally speed up the project.
    Share your views










    THE TIMES OF INDIA
    Powered by INDIATIMES


    CommentQuote
  • Originally Posted by del_sanju
    the Authority has decided to go ahead with civil work on the Metro link between Noida and Greater Noida west (Noida Extension)

    wats does it mean? Civil work? Also wat d status of sec 62 metro? Has work begin on it?







    It seems for the planning stage. Also it says they will be working for metro when a sizable population starts living ... which no one knows as when it will happen in current going stage.
    Noida extension is still on air and have unseen future....
    CommentQuote
  • Please....
    Please..........
    I am innocent.....
    nO WAY CONNECTED TO THIS NEWS -- Planning or excecution,
    I just posted it from news Paper to here for the benifit to members,


    Hope things are clear and no one will blame me for this in future.....I know this is all bulls**t news.

    Everywhere people blame me.
    1. In house -- The Minister
    2. In Hotel -- Girl Friend
    3. In Office -- Client
    4. on Forum -- You people
    CommentQuote
  • hi, Friends.
    i owned a house in FUTURE ESTATE Noida ext sector-1
    with a very prime location.
    CommentQuote
  • Originally Posted by maxhoney2001
    It seems for the planning stage. Also it says they will be working for metro when a sizable population starts living ... which no one knows as when it will happen in current going stage.
    Noida extension is still on air and have unseen future....



    I thought sirf Pillar pillar bana denge. train tabhi utarenge jab log aa jayenge nex me:D
    CommentQuote
  • heehehhehe..

    brokers ke office main jao toh newspaeer cuttings paste ki rehti hain board pe : few headlines aaise hoti hain jaise..

    1. AB nahi banega Dumping ground Crossing republic main .

    2. 2 sall main pharaantah bhareegi metro Noida extention main .

    3. Kissaanoon ke saare maamle sulat gaye hain ...

    4. Diwali tak ghar book karwaa lein verona heights main warna 30% rates badh jaaynege....


    aur main un logoon se maje lene ke liye aaisa innocent banke poochta hoon jaise hamare PM sahab 2G/coal scam hone ke baad bane rehte hain..
    CommentQuote
  • Originally Posted by Johny123
    heehehhehe..

    brokers ke office main jao toh newspaeer cuttings paste ki rehti hain board pe : few headlines aaise hoti hain jaise..

    1. AB nahi banega Dumping ground Crossing republic main .

    2. 2 sall main pharaantah bhareegi metro Noida extention main .

    3. Kissaanoon ke saare maamle sulat gaye hain ...

    4. Diwali tak ghar book karwaa lein verona heights main warna 30% rates badh jaaynege....


    aur main un logoon se maje lene ke liye aaisa innocent banke poochta hoon jaise hamare PM sahab 2G/coal scam hone ke baad bane rehte hain..


    hahahah,

    Nice observation.
    Have you observed some good sales girks too in office.
    Also the treatment (Same Like a Damaaad ji).
    Do you know the purpose please....(Directly /indirectly)
    CommentQuote