पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • re: Greater Noida West (Noida Extension) - Latest Updates

    Originally Posted by Johny123
    Got a call today from SBI .. sec-55 noida... mere ghar ke pass waali branch that Gaur Projects and Arihant is bankable in NE ...

    a good indication i must say....:)


    Arihant is also in their list.. its good!!

    Sent from my Micromax A110 using Tapatalk
    CommentQuote
  • Originally Posted by Johny123
    Got a call today from SBI .. sec-55 noida... mere ghar ke pass waali branch that Gaur Projects and Arihant is bankable in NE ...

    a good indication i must say....:)

    can u provide the phone no of sbi.....so that we can go with it
    CommentQuote
  • Originally Posted by Johny123
    Got a call today from SBI .. sec-55 noida... mere ghar ke pass waali branch that Gaur Projects and Arihant is bankable in NE ...

    a good indication i must say....:)


    sahi bataao johny bhai..... yeh toh bahot hi achchi news hai....dono projects risk par hai (being in bisrakh and haibatpur) if we consider the petitions in SC...but if SBI is giving loan then it's a +ve sign
    CommentQuote
  • bro as the forum does not allows the phone number to be published,,,,

    search internet for sec-55 noida SBI branch... and ask for loan executive for that branch... they will confirm you the same what I have said...

    cheers...!!!!
    CommentQuote
  • CommentQuote
  • बिल्डर साइट्स पर नजर रखेगी जॉइंट ऐक्शन टीë

    बिल्डरों की कंस्ट्रक्शन साइट्स पर ग्राउंड वॉटर के इस्तेमाल पर लगी रोक की निगरानी जॉइंट ऐक्शन टीम रखेगी। इस टीम में यूपी पल्यूशन कंट्रोल बोर्ड , सेंट्रल ग्राउंड वॉटर बोर्ड , नोएडा और ग्रेनो अथॉरिटी के अफसर शामिल होंगे। अथॉरिटी के बिल्डिंग सेल और एन्फोर्समेंट टीम के अफसरों को इसमें शामिल करने का प्लान फैसला आने के 2 दिनों बाद ही फाइनल हो गया था।

    इस फाइल पर साइन होने से पहले सीईओ संजीव सरन का ट्रांसफर हो जाने की वजह से अप्रूवल नहीं मिल सका। सेक्टर -1 स्थित यूपी पीसीबी के रीजनल ऑफिस के मुताबिक , जॉइंट ऐक्शन कमिटी के मसौदे को इस हफ्ते फाइनल कर आदेश का उल्लंघन करने वाली साइट्स के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। बता दें कि कुछ दिनों पहले गिरते ग्राउंड वॉटर लेवल के चलते नैशनल ग्रीन ट्रिब्युनल ( एनजीटी ) ने बिल्डर साइट समेत कंस्ट्रक्शन साइट्स पर इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी।

    साथ ही आदेश का अनुपालन कराने की जिम्मेदारी पलूशन कंट्रोल बोर्ड , सेंट्रल ग्राउंड वॉटर बोर्ड के अलावा नोएडा और ग्रेनो अथॉरिटी को सौंपी थी। उल्लंघन करने वाली साइट्स के खिलाफ एक्शन लेकर एनजीटी को भी मामले के बारे में सूचित करना था। सूत्रों के अनुसार , निगरानी कमिटी की गैर मौजूदगी के चलते अभी भी नोएडा , ग्रेनो और ग्रेनो वेस्ट आदि एरिया में कस्ट्रक्शन एक्टिविटी में ग्राउंड वॉटर का इस्तेमाल हो रहा है।
    CommentQuote
  • No response yet. I thought this is the most active thread of Greater Noida and will get responses to my queries. Please let me know if this is not the right thread for below queries. Can you please direct me to appropriate thread to post my queries or if any new thread need to be created.

    Originally Posted by RealBuzz
    Dear Members, please advise.

    I booked apartment in Supertech Eco village 2 in 2010, but due to Supreme Court's order on Shahberi village land, Supertech promised to reallocate my unit to Eco Village 1. After 1 year of follow up with builder, they allocated me unit in Eco village 1 in January first week of 2013. I have still not signed the builder buyer agreement due to extra abusive clauses in new BBA which were not there in old BBA (signed in 2010) and I am following up with builder to remove these clauses. However, builder sent me demand note next day itself after unit allocation to pay the amount till basement construction as newly allotted tower has been constructed till basement whereas there was no construction started for my old unit.
    i have few questions.
    1. Can builder ask for demand for construction completed without signing BBA.
    2. When BBA will be consider as valid... i mean the date when BBA was prepared(which is first week of Jan in my case) or when both builder and buyer sign it.
    3. When signing the BBA, shall we put the date below our signature on each page or just signature is enough.
    4. As builder has raised the demand to pay it immediately and I have not signed the BBA yet, can builder ask for interest till I sign it.
    CommentQuote
  • Originally Posted by RealBuzz
    No response yet. I thought this is the most active thread of Greater Noida and will get responses to my queries. Please let me know if this is not the right thread for below queries. Can you please direct me to appropriate thread to post my queries or if any new thread need to be created.


    Friend, Signing a BBA early always in your favour. So I will suggest you to sign the BBA first, if you want to save your unit. Builder may try to cancel it. One thing you have to be very clear that BBA always made by builder and clauses are made in such a way that it favour builders. If u try 2 be smart with builder, they can put any charge on you as they have people handling these kind of cases daily whereas you would not be having enough time to fight against them. Regarding putting date with signature is good idea as it may save you late payment charges in future if builder claim.
    Regarding demand, it is as per BBA payment plan. Have a look at BBA and check. Normally in towers, the demand start when they complete basement, then upto 4th floor, then 8th floor etc......So it does not necessary they start your floor construction or not.

    1. Can builder ask for demand for construction completed without signing BBA.
    Yes, he can do. When you sign a BBA, it also mention the time when you have booked and how much you pay in next 30 days etc. So once you sign BBA, these all clauses will applicable to you immediately.
    2. When BBA will be consider as valid... i mean the date when BBA was prepared(which is first week of Jan in my case) or when both builder and buyer sign it.
    Legally, when you and builder sign but builder smartly put the back date. Once you sign all clauses will be applicable to you immediately even back date payments.
    3. When signing the BBA, shall we put the date below our signature on each page or just signature is enough.
    U can put signature and date. It may work
    4. As builder has raised the demand to pay it immediately and I have not signed the BBA yet, can builder ask for interest till I sign it.
    Yes
    This is all my POV and anyone open to disagree.
    CommentQuote
  • me too did not get response for my query about noida extension authority plots whether they are safe or not till date. fritolay where are you.
    CommentQuote
  • Originally Posted by anshbalodi
    me too did not get response for my query about noida extension authority plots whether they are safe or not till date. fritolay where are you.


    Friend, As you can see and observe nothing is 100% safe in NE. Authority plots is still safer because in plots you may get return of money in case something will happen from SC verdict. No cost of construction on plots as of now, so may not have big impact in worst situation. My POV.
    CommentQuote
  • Originally Posted by hindustan
    Friend, As you can see and observe nothing is 100% safe in NE. Authority plots is still safer because in plots you may get return of money in case something will happen from SC verdict. No cost of construction on plots as of now, so may not have big impact in worst situation. My POV.



    bhai NE plots main invest karna is TRIPLE risky... reason is

    i think plot allotted at the rate of 15000/- per sq meter... when u find a seller and he asks for premium of say 25000/- per meter...

    imagine you bought a plot of minimum size say 112.. then you have to pay him 112*25000 = 2800000 = 28 lakhs as black....

    you become happy that u are now a genuine plot owner ..... now if at this point of time SC cancels the land ...

    then Authority would return you back 15000*112 = 1680000 as 15000 is the circle rate... authority has no idea of what amount u paid to stellar...

    so mota mota aapke 28 lakhs gaye paani main

    moreover plots main koi CLP/Flexi nahi hota hai ... only down payment....so money goes in ONE shot...


    buying a plot in NE currently is TRIPLE risky
    jaise beer after whiskey is risky...:bab (59):
    CommentQuote
  • If it is risky then why premium is so high ?
    CommentQuote
  • Originally Posted by anshbalodi
    If it is risky then why premium is so high ?



    balodi ji... baat toh sahi keh rahe ho aap...

    risk hai toh gain bhi hai ...

    no pain
    no gain...!!!
    CommentQuote
  • NEFOMA update ...

    CommentQuote
  • किसान आज निकालेंगे ललकार रैली

    ग्रेनो एरिया के किसानों ने अपनी मांगों को लेकर बुधवार को ललकार रैली निकालने का ऐलान किया है। इस रैली में 39 गांवों के किसान शामिल होंगे। ललकार रैली ग्रेनो वेस्ट एरिया में किसान चौक से शुरू होकर दर्जनों गांवों से होते हुए दोपहर 2 बजे घोड़ी - बछेड़ा गांव में किसान शहीद स्थल पहंुचेगी। यहां रैली महापंचायत में तब्दील होगी। किसान महापंचायत कर आगे के आंदोलन की रणनीति बनाएंगे।

    ललकार रैली के संयोजक व ग्रेटर नोएडा किसान संघर्ष समिति के प्रवक्ता मनवीर भाटी ने बताया कि किसानों ने अपनी 4 मांगों को लेकर ग्रेनो अथॉरिटी के सीईओ को दर्जनों बार ज्ञापन दे चुके हैं। लेकिन अथॉरिटी कोई ध्यान नहीं दे रही है। उन्होंने कहा कि मजबूर होकर किसानों को आंदोलन का रास्ता अपनाना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि 39 गांवों के किसानों ने ललकार रैली निकालने के लिए दर्जनों गांवों का दौरा किया। किसान सुबह 11 बजे ग्रेनो वेस्ट में इकट्ठा होकर रैली निकालेंगे। उन्होंने कहा कि महापंचायत कर बड़े आंदोलन की रणनीति तय की जाएगी ताकि किसानों को उनका हक मिल सके।
    CommentQuote