पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • Originally Posted by don karnage
    Aap GC2 ko include nahi karte good projects mein :/


    Sir ne josh josh mai miss kar diya hoga. 7k per sq ft rate hoga 2018 mai ye manwana tha mujh se tao dhayan nhi raha hoga :bab (59):. Gaur saundaryam and Amrapali Lesiure valley jese bhi projects hein jao ache he nhi bahut ache hein.
    CommentQuote
  • Which one to opt between
    1) Mahagun My Woods
    &
    2) Cherry County
    CommentQuote
  • Originally Posted by Prop Hunter
    Which one to opt between
    1) Mahagun My Woods
    &
    2) Cherry County


    Mahagun my woods.for end user
    Cherry county. For investment purpose
    CommentQuote
  • Originally Posted by nitin_0018
    Mahagun my woods.for end user
    Cherry county. For investment purpose

    Dear Nitin, what about Gaur City 2 in your opinion: For End use or Investment purpose
    CommentQuote
  • Originally Posted by nitin_0018
    Mahagun my woods.for end user
    Cherry county. For investment purpose




    Thanks for the input but what about Construction Quality, Loading, Pricing & Builder.
    CommentQuote
  • Originally Posted by bhutan
    Dear Nitin, what about Gaur City 2 in your opinion: For End use or Investment purpose



    Lets keep it simple- If its good for enduse, it will be good for investment purpose!
    CommentQuote
  • Originally Posted by melotus
    Sir ne josh josh mai miss kar diya hoga. 7k per sq ft rate hoga 2018 mai ye manwana tha mujh se tao dhayan nhi raha hoga :bab (59):. Gaur saundaryam and Amrapali Lesiure valley jese bhi projects hein jao ache he nhi bahut ache hein.



    Amrapalli ka project by 2018! Sir acche jokes maarte ho ;)
    CommentQuote
  • Originally Posted by bhutan
    Dear Nitin, what about Gaur City 2 in your opinion: For End use or Investment purpose


    If you buy in gaur city 1 or 2, then it will be good for both end use or investment purpose.
    Gaur who has given land to other builder in fsi, also entered into a contract and those builder will be required to maintain the quality and possession time of the construction.
    So, overall whatever comes in gaur 1 or gaur 2, it will be good for sure.
    CommentQuote
  • Originally Posted by Prop Hunter
    Thanks for the input but what about Construction Quality, Loading, Pricing & Builder.


    My take would be gaur!
    I would suggest you to create a excel sheet and put the details of both, then compare loading and pricing.
    For quality and builder, i dont think cherry stands anywhere in front of gaur !

    P.S : do check out stellar and arihant, both are decent projects and value for money!
    CommentQuote
  • Originally Posted by don karnage
    Amrapalli ka project by 2018! Sir acche jokes maarte ho ;)


    sir ek baar leisure valley jao tao sahi. keval suni sunayi bataon par na jao. baat keval builder ki he nhi project ki bhi hoti hai.

    Gulshan one of the reputated builder see what happened to his project in NE.
    CommentQuote
  • Originally Posted by nitin_0018
    My take would be gaur!
    I would suggest you to create a excel sheet and put the details of both, then compare loading and pricing.
    For quality and builder, i dont think cherry stands anywhere in front of gaur !

    P.S : do check out stellar and arihant, both are decent projects and value for money!



    Thanks for the advise. I would 100% in line with Stellar as it is one of the best Project of NE with very good quality Construction & Speed of Work. I was about to book the unit there but was little bit apprehended with the Location. Arihant I have not seen.
    CommentQuote
  • Originally Posted by melotus
    sir ek baar leisure valley jao tao sahi. keval suni sunayi bataon par na jao. baat keval builder ki he nhi project ki bhi hoti hai.

    Gulshan one of the reputated builder see what happened to his project in NE.



    Sir, I have been to NE a lot of times. I feel Amrapali has gotten itself into too many projects at the same time and hence it is unable to focus on one project (quality and time wise). All their projects are lagging behind and I am yet to see one project of Amrapali that was delivered on time. I am not even getting into the quality aspects of Amrapali. But then its my POV.

    Investing/buying in NE is a tricky subject. All the projects will not be priced same. We need to understand that the supply will always be huge and hence quality will play a major issue for end users and timely delivery for all types of buyers. A gulshan(or any small time builder) project will never fetch you same return as a Arihant, Stellar or Gaur, even though they might be at the same location (within 2-3kms). In NE it is going to be QUALITY and TIMELY DELIVERY that will win you the deal!
    CommentQuote
  • Originally Posted by don karnage
    Sir, I have been to NE a lot of times. I feel Amrapali has gotten itself into too many projects at the same time and hence it is unable to focus on one project (quality and time wise). All their projects are lagging behind and I am yet to see one project of Amrapali that was delivered on time. I am not even getting into the quality aspects of Amrapali. But then its my POV.

    Investing/buying in NE is a tricky subject. All the projects will not be priced same. We need to understand that the supply will always be huge and hence quality will play a major issue for end users and timely delivery for all types of buyers. A gulshan(or any small time builder) project will never fetch you same return as a Arihant, Stellar or Gaur, even though they might be at the same location (within 2-3kms). In NE it is going to be QUALITY and TIMELY DELIVERY that will win you the deal!



    don bhai ... are u trying to say gulshan is a small time builder while Arihant is a big builder ???

    bhai looks like u r not aware abt gulshan's past projects and their superb work so far in their noida expressway projects
    CommentQuote
  • नेफोवा ने उन तमाम बिल्डर्स के खिलाफ अब consumer court जाने का निश्चय कर लिया है जो लगातार फ्लैट खरीददारों की बुकिंग रद्द कर रहे या करने की धमकी दे रहे. पिछले कई महीनों से नेफोवा लगातार इस कोशिश में लगी थी कि बिल्डर्स cancellation वापिस लेलें . इसके लिए हमने बिल्डर्स के साथ कई मीटिंग की, ग्रेटर नॉएडा अथॉरिटी के सीईओ के साथ मीटिंग की , शहरी विकास मंत्री से मुलाकात की, मुख्य मंत्री तथा अन्य सभी सम्बंधित अधिकारीयों को पत्र लिखा। यहाँ तक कि पुलिस थाने में जाकर बिल्डर के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी और SP से भी इस सम्बन्ध में मुलाकात की .परन्तु हर जगह से हमे झूठे आश्वासन की जगह कुछ नहीं मिला . आजतक उन बिल्डर्स के खिलाफ कोई कारवाई नहीं हुई और ना ही बिल्डर्स ने cancellation वापिस लिया . यहाँ नेफोवा यह पुनः स्पष्ट करना चाहती है कि ग्रेटर नॉएडा वेस्ट के कुछ बिल्डर्स जैसे सुपेरटेक , अर्थ इन्फ्रा, गुलशन होमज़,निराला आदि अधिक मुनाफा कमाने के उद्देश्य से बढे हुई नयी दर पर फ्लैट बेचने के लिए पुराने फ्लैट खरीददारों की बुकिंग रद्द कर रहे . जो लोग २-३ साल पहले फ्लैट बुक कर अपने घर बनने का इंतज़ार कर रहे थे, आज उन्हें अचानक बिल्डर cancellation letter भेज रहा .

    बिल्डर्स द्वारा जारी cancellation तथा अन्य समस्याओं को ध्यान में रखते हुए नेफोवा ने आज सुबह ११ बजे मयूर विहार स्थित स्टार सिटी मॉल में फ्लैट खरीददारों के साथ मीटिंग बुलाई, जिसमे सभी फ्लैट खरीददारों की सहमती से यह निर्णय लिया गया कि जो भी बिल्डर्स cancellation या अपनी अन्य अनुचित मांगो से बायर्स को परेशान कर रहे, उनके खिलाफ नेफोवा अब सीधा consumer कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगी तथा CCI में केस फाइल करेगी। . और इसके मद्देनज़र हमने सारी तैयारियां कर ली है. आज मीटिंग में नेफोवा की तरफ से लीगल एक्सपर्ट भी मौजूद थे, जिन्होंने बायेर्स को कोर्ट में केस फाइल करने सम्बंधित तमाम जानकारियां दी . मीटिंग में पाम ओलम्पिया प्रोजेक्ट के वे तमाम फ्लैट खरीददार भी मौजूद थे, जिन्होंने अपने बिल्डर्स के खिलाफ January, २०१३ में नेफोवा के प्रतिनिधित्व में consumer court (National Consumer Dispute Redressal Commission (NCDRC),New Delhi) में केस फाइल किया था . यहाँ नेफोवा यह बताना चाहती है कि फरबरी माह के दौरान कोर्ट की सुनवाई के दौरान बिल्डर को अगली सुनवाई तक सभी cancellation पर रोक लगाने का आदेश दिया गया था . पिछले दिनों हुई सुनवाई में कोर्ट ने बिल्डर पक्ष के वकील को उनके द्वारा फाइल किये गए petition में गलतियों के लिए फटकार लगायी और बिल्डर को फ्लैट खरीददारों से ब्याज छोड़कर प्रिंसिपल राशि (principal amount ) लेने का निर्देश दिया . कोर्ट द्वारा किये गए इस फैसले का सभी फ्लैट खरीददारों ने स्वागत किया है क्युकि खरीददार principal amount के भुगतान के लिए तैयार है .कोर्ट ने यह फैसला सुनाकर फ्लैट खरीददारों को बहुत बड़ी राहत दी है.

    आज की मीटिंग में पाम ओलम्पिया के अलावा अन्य प्रोजेक्ट के खरीददार भी बिल्डर्स की अनुचित मांगो के खिलाफ कोर्ट जाने का फैसला कर चुके है. मीटिंग में सुपेरटेक , अर्थ, यूनिटेक , निराला , पाम अदि कई प्रोजेक्ट्स के खरीददार मौजूद थे. मीटिंग में नॉएडा के Unitech Project के 20 buyers भी उपस्थित थे जिन्होंने possession मिलने में देरी की शिकायतें की । नेफोवा Unitech buyer के साथ कोर्ट जाएगी .

    मीटिंग में centurian park , Dream Valley , Ajnara अदि प्रोजेक्ट्स के बायेर्स भी काफी संख्या में मौजूद थे. नेफोवा की तरफ से मीटिंग का प्रतिनिधित्व अभिषेक कुमार, श्वेता भारती, इन्द्रिश गुप्ता , अजय कुमार , मिहिर गौतम, प्रीत भार्गव , पुनीत शर्मा ने किया






    CommentQuote
  • CommentQuote