पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16356 Replies
Sort by :Filter by :
  • Originally Posted by aazo001
    Hi All,

    Could you please suggest me one of these options for 3 BHK around 1400 sqft :-

    Nirala Aspire / Ajanara Le Garden

    I am inclined towards nirala because of the possession linked plan theyre offering (40% now and 60% on possession) however, I am not able to make sure of the reliability of the builder.

    Could you all please share your valued suggesstions.


    This plan would be self financing.......... No bank loan....
    CommentQuote
  • Originally Posted by pkumar843
    If I am not mistaken, Nirala Aspire is under litigation because of some disputes.



    Please confirm other sources.








    Sent from my Lumia 800 using Tapatalk

    thanks for sharing your inputs..i am trying to find out from other sources but am not getting much info...so any info frm this forum will be really useful as i am looking to book really soon.. thanks!!
    CommentQuote
  • I heard some builders are giving 18% discount in new flat booking in Noida Extension because of current market situation.
    Please advice which builders are giving maximum discount at present in Noida Extension.
    CommentQuote
  • Hello,
    Good Morning!

    There are few posts about re-sale.
    One query also have.

    There is over supply in this area (if we include crossing kind near by locations than over-over supply).
    Will there be good re-sale deal for residential apartments?
    CommentQuote
  • अगले साल से रीयल एस्टेट को हैं काफी उम्मीदें


    नवभारत टाइम्स | Dec 28, 2013, 09.03AM IST
    अगले साल से हैं उम्मीदें!
    रीयल एस्टेट के बारे में अगर एक लाइन कहनी हो तो वह है आपने लंबी अवधि के लिए निवेश किया है तो यह आपके लिए हमेशा ही फायदेमंद रहता है, ज्यादातर जानकारों का भी यही मानना है। आप अगर दिल्ली-एनसीआर के किसी भी एरिया में निवेश किया है तो उसकी कीमत जरूर बढ़ी है। ऐसे एरिया की कीमतों में भी इजाफा हुआ है, जो अधिक विकसित नहीं हुए हैं या फिर जो थोड़ी विवादों में भी रही है। इसका एक बेहतरीन उदाहरण है नोएडा एक्सटेंशन। तमाम विवादों के बाद भी इस एरिया के फ्लैट में जबर्दस्त उछाल आया है। आज से 4 साल पहले जिस फ्लैट की बूकिंग 18 से 20 लाख रुपये में हुई थी अब वह 30 लाख से ऊपर की हो चुकी है। यानी हर साल 10 से 20 फीसदी तक की बढोतरी।

    साल की समीक्षा करें

    समीक्षा की बात तो वैसे हर जगह लागू होती है पर आपने नगर रीटर्न के लिए रीयल एस्टेट में पैसा लगाया है, तो जाते हुए साल में इस पर एक निगाह जरूर डालें। अगर इस इन्वेस्टमेंट ने आपको अधिक फायदा नहीं दिया है, तो आप नए साल में दूसरे हॉट एरिया में भी इन्वेस्ट कर सकते हैं ताकि बेहतर रिटर्न मिल सके।

    इंतजार में साल गुजर गया

    मध्यम वर्गीय परिवार के साथ एक समस्या यह होती है कि वह कई बार सोचता रहता है कि यहां प्रॉपर्टी महंगी है, जब रेट थोड़ा कम होगा तब खरीद लेंगे। पर वक्त देखते ही देखते निकल जाता है और फिर इन्वेस्ट करना और भी अधिक मुश्किल हो जाता है। नीरज दिल्ली में रहते हैं और एक इंश्योरेंस कंपनी में काम करते हैं। इन्होंने लगभग पांच साल पहले दिल्ली के बुराड़ी में एक प्लॉट खरीदने की सोची थी, पर उनको लगा कि यह काफी महंगा कीमत थोड़ी कम होगी तो खरीदेंगे। पर एक साल के अंदर ही कीमत दोगुनी हो गई। वे अब भी रेंट पर ही रह रहे हैं। ऐसी कहानी एक की नहीं है। कई उदाहरण हैं। ऐसे में यह जरूरी है कि अगर निवेश करना है चाहे वह फ्लैट हो या फिर जमीन। इंतजार करना सही नहीं है। पूरी जानकारी लें और इन्वेस्ट कर दें।

    साल 14 होगा बेहतर

    डिवेलपर्स गवर्नमेंट और आरबीआई से यह अपेक्षा रखते हैं कि बैंक में इंटरेस्ट रेट कम होनी चाहिए। क्रेडाई एनसीआर के अध्यक्ष डॉ अनिल कुमार शर्मा के अनुसार, लगातार मंहगाई और ऊंची ब्याज दरों की वजह से वर्ष 2013 रियल एस्टेट बाजार की आशाओं पर खरा नहीं उतर सका। फिर भी भारतीय रिज़र्व बैंक ने साल के अंत में ब्याज दरों को न बढ़ाकर मनोवल बढ़ाया है। उम्मीद है कि वर्ष 2014 में बैंक के इस साहसिक कदम की नींव पर मजबूत विकास की इमारत खड़ी होगी।

    वहीं स्टैनफोड डिवेलपर्स के डायरेक्टर सेल्स आदर्श राणा कहते हैं कि यह साल मिला जुला रहा है। साल के अंत में आरबीआई से कुछ अच्छी खबर आई है। हम उम्मीद करते हैं कि अगला साल यानी 14 रीयल एस्टेट के लिए शानदार रहेगा।

    वैसे दिल्ली, गुड़गांव, नोएडा ऐसे डेस्टिनेशन हैं, जहां पर निवेश करने एक आम मध्यमवर्गीय परिवार के बूते से बाहर हो गई है। पर इनके अलावा भी 13 में कई ऐसे एरियाज रहे जिसने प्रॉफिट कमाया।

    एक्सटेंशन: नोएडा एक्सटेंशन और राजनगर एक्सटेंशन एनसीआर के ऐसे दो उदाहरण हैं, जहां लोगों ने 13 में निवेश में दिलचस्पी दिखाई है।

    एक्सप्रेसवे: यमुना एक्सप्रेसवे, केएमपीए एक्सप्रेसवे और कई अन्य ऐसे ही एक्सप्रेसवे हैं जहां पर लोगों ने कनेक्टिविटी की वजह से खूब इन्वेस्ट किया। डिवेलपर्स भी इन जगहों पर हजारों फ्लैट्स तैयार कर रहे हैं।

    दिल्ली कुछ दूर!

    भिवाड़ी, मानेसर, सोहना रोड ऐसे नाम हैं, जो 13 में काफी सुने गए। दिल्ली से कुछ दूरी होने के बावजूद भी इन जगहों ने डिवेलपर्स और इन्वेस्टर्स का ध्यान अपनी ओर खींचा।
    CommentQuote
  • What are the possible 3bhk good investment option in GNW, considering that looking for good location, project which are just starting (less cash out in beginning) and value for money. Experts please share your thoughts.
    Any new launches wherein 3bhk available around 40 lakhs in CLP plan
    CommentQuote
  • Looking to Invest..please suggest!!

    Hi Guys,

    I am looking for an investement in Noida extension. Is there any project under 3000 per sqft (all inclusive)? If not than which one is launched recently with low rates compare to other builders.

    I have seen some projects like Shri Radha Sky Gardens, Eco village, Savious park avenue 14 etc but prices are very high.

    Any best option than please suggest.
    CommentQuote
  • Originally Posted by Sourabh111
    I heard some builders are giving 18% discount in new flat booking in Noida Extension because of current market situation.
    Please advice which builders are giving maximum discount at present in Noida Extension.

    Gaur is giving maximum discount but not 18%
    CommentQuote
  • Hope NE will cross 5K bar in 2014. Happy investment. Happy New Year 2014.
    CommentQuote
  • its difficult to cross 5k (resale) in 2014 NE because of over supply .

    HAPPY NEW YEAR 2014 TO ALL .
    CommentQuote
  • nothing in fresh in 3k all incl.. as per my knowledge..
    pre launches of gaur 14th avenue and savior all incl must be around 3300..

    Originally Posted by ANKITRATHI01
    Hi Guys,

    I am looking for an investement in Noida extension. Is there any project under 3000 per sqft (all inclusive)? If not than which one is launched recently with low rates compare to other builders.

    I have seen some projects like Shri Radha Sky Gardens, Eco village, Savious park avenue 14 etc but prices are very high.

    Any best option than please suggest.
    CommentQuote
  • Happy new year 2014.

    Sent from my Micromax A110 using Tapatalk
    CommentQuote
  • प्लॉट व फ्लैट की योजना जनवरी में ग्रेटर नो

    •अमर उजाला ब्यूरो
    नोएडा। ग्रेटर नोएडा वेस्ट (नोएडा एक्सटेंशन) के फ्लैट खरीदारों का एक और साल अपने आशियाने के इंतजार में निकल गया। विवादों से उबरने के बाद यहां फ्लैटों का निर्माण शुरू तो हो चुका है, लेकिन एकाध को छोड़कर बाकी का पजेशन 2015 से पहले नजर नहीं आ रहा। जबकि लॉन्चिंग के समय फ्लैट की कीमत करीब 1800 रुपये प्रति वर्ग फुट से शुरू हुई थी, जो अब 3500 रुपये प्रति वर्ग मीटर तक पहुंच गई है।
    2009 में नोएडा एक्सटेंशन की शुरुआत हुई थी। उस समय फ्लैटों की बुकिंग कराने वालों को 2013 के अंत तक पजेशन देने का भरोसा दिलाया गया था, लेकिन जमीनी विवाद चलते करीब डेढ़ साल तक निर्माण कार्य रुका रहा। मुआवजा और आवासीय भूखंड की मांग को लेकर शुरू हुआ विवाद सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया, जिससे युद्ध स्तर पर चल रहा निर्माण कार्य ठप पड़ गया। कोर्ट के आदेश पर प्राधिकरण और किसानों के बीच सहमति बनी और फिर से निर्माण कार्य शुरू हुआ। 2012 मध्य से फिर नोएडा एक्सटेंशन में निर्माण कार्य ने रफ्तार पकड़ी।
    विवाद भले ही डेढ़ साल का रहा हो, लेकिन इसने नोएडा एक्सटेंशन को काफी पीछे धकेल दिया। 2013 तक लोग अपने फ्लैटों में रहने की उम्मीद कर रहे थे, लेकिन अभी लगभग एक साल और इंतजार करना होगा। कुछ बिल्डर तो ऐसे हैं, जो 2015 तक पजेशन दे पाएंगे।
    फ्लैट खरीदारों को पजेशन में देरी के अलावा कई और मुद्दों पर झुकना पड़ा।
    प्राधिकरण ने एफएआर को 2.75 से बढ़ाकर 3.50 कर दिया गया। एफएआर बढ़ने के बाद अधिक फ्लैट बनाने के चक्कर में फ्लैट खरीदारों को पजेशन पाने के लिए और इंतजार करना पड़ेगा।
    खुशखबरी
    •अमर उजाला ब्यूरो
    ग्रेटर नोएडा। जो लोग ग्रेटर नोएडा में प्लाट लेना चाहते हैं, उनकी यह इच्छा ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पूरा करने जा रहा है। प्राधिकरण जनवरी में प्लॉटों और फ्लैटों की योजना ला रहा है।
    इसमें करीब चार सौ प्लॉट और एक हजार फ्लैट शामिल होंगे।
    प्राधिकरण ने काफी समय से रिहायशी प्लॉटों की योजना नहीं निकाली है। अब वह जो योजना जा रहा है, उसमें प्लॉट और फ्लैट किसी एक सेक्टर में नहीं, बल्कि विभिन्न सेक्टरों में होंगे। प्राधिकरण के डीसीईओ मानवेंद्र सिंह ने बताया कि ऐसे बहुत से लोग हैं, जिन्होंने किस्तें जमा नहीं की हैं या फिर किसी अन्य वजह से प्राधिकरण ने उनके प्लॉट या फ्लैट रद्द कर दिए हैं। उसने ऐसे फ्लैट और प्लॉटों की सूची तैयार कर ली है। अब वे ही प्लॉट व फ्लैट आवेदन मांगकर ड्रॉ द्वारा लोगों को दिए जाएंगे। मानवेंद्र सिंह ने बताया कि संभवत: 15 जनवरी तक योजना निकाल दी जाएगी।
    ईडब्ल्यूएस फ्लैटों के दाम 60 हजार रुपये होंगे कम
    नोएडा। प्राधिकरण ने सेक्टर-73 के निवासियों को राहत देने का निर्णय लिया है। प्रत्येक फ्लैटों की कीमत में 60 हजार रुपये की कमी की जाएगी। सोमवार को ईडब्ल्यूएस आवंटियों ने प्राधिकरण के डीसीईओ अखिलेश सिंह से मुलाकात की। डीसीईओ ने इन आवंटियों को 60 हजार रुपये कम करने का आश्वासन दिया है। 2006-07 की इस योजना के तहत कुल 1235 आवंटियों को फ्लैट मिले हैं। जिस समय योजना निकाली गई थी, उस समय कीमत 2.50 लाख रुपयेथी, मगर आवंटन और निर्माण की मौजूदा दरों के हिसाब से भूतल पर फ्लैट की कीमत में 3.19 लाख, प्रथम तल पर 2.90, द्वितीय तल पर 2.52 और तृतीय तल पर 2.23 लाख रुपये का इजाफा हो गया है।
    खुशखबरी
    कल होगी लेफ्टआउट फ्लैटों की स्कीम लाॅन्च
    नोएडा (ब्यूरो)। लेफ्टआउट फ्लैटों की योजना एक जनवरी को लांच हो रही है। शहर के छह बैंकों में इसके आवेदन पत्र मिलने लगेंगे। आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 जनवरी तय की गई है।
    इन फ्लैटों के ड्रॉ की संभावित तिथि 15 फरवरी है।
    प्राधिकरण के मुताबिक इस योजना के आवेदन पत्र एक जनवरी से सेक्टर-18 स्थित विजया बैंक, सेक्टर-18 के सोमदत्त टावर स्थित एचडीएफसी बैंक, सेक्टर-6 स्थित केनरा बैंक, सेक्टर 27 स्थित ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, सेक्टर-18 स्थित आईसीआईसीआई बैंक और सेक्टर 16 स्थित ऐक्सिस बैंक से मिलेंगे। आवेदन पत्रों की कीमत 1000 रुपये तय की गई है। एक जनवरी से योजना को लांच करने पर सीईओ की पहले ही अनुमति मिल चुकी है। इसका ब्रोशर भी तैयार हो चुका है। आज यह बैंकों के पास भी पहुंच जाएगा। फ्लैटों की कुल कीमत का लगभग दस फीसदी पंजीकरण राशि के रूप में जमा करना होगा।
    खुशखबरी
    एफआईआर भी दर्ज
    फ्लैटों की बुकिंग और प्रोजेक्ट रद्द करने के बाद किसी और जगह में खरीदारों को शिफ्ट न करने पर नेफोवा व नेफोमा ने बिसरख थाने में मामला भी दर्ज कराया है। हालांकि अभी तक मामले में किसी पर कोई भी कार्रवाई नहीं हुई है। लोग सिर्फ मुंह ताके इंतजार ही कर रहे हैं।
    औद्योगिक भूखंडों का ड्रॉ और खिसका
    नोएडा (ब्यूरो)। औद्योगिक भूखंडों का ड्रॉ और खिसक सकता है। प्राधिकरण ने चार जनवरी तक ड्रॉ की संभावना जताई थी, मगर सीईओ के शहर से बाहर होने के कारण स्वीकृति नहीं मिल सकी। इसके चलते अब सात या आठ जनवरी तक ड्रॉ होने के आसार हैं।
    अगले साल से पजेशन मिलना शुरू हो जाएगा। इंफ्रास्ट्रक्चर पर भी काम चल रहा है। सड़कें पहले से बनी हुई हैं। बिजली व पानी का काम भी प्राधिकरण करवा रहा है। पजेशन के बाद यहां रहने वालों को बिजली-पानी की किल्लत नहीं होगी। मेट्रो का प्रस्ताव भी पहले से बना हुआ है। उस पर भी प्रोसेस चल रहा है।
    - अनिल शर्मा, अध्यक्ष, क्रेडाई एनसीआर
    •2013 के अंत तक पजेशन देने का भरोसा दिया गया था, 2015 से पहले मिलने की उम्मीद नहीं
    शुरुआती दिनों में जितने भी प्रोजेक्ट लॉन्च हुए थे, एक से दो साल में उन पर पजेशन मिलने की बात कही जा रही है। हालांकि कुछ बिल्डर अब भी भुगतान में देरी होने पर फ्लैट का आवंटन रद्द कर रहे हैं। वहीं, कुछ तो सुपर एरिया बढ़ाकर ज्यादा कीमत लेने के लिए नोटिस भेज रहे हैं। इनके खिलाफ एसोसिएशन लगातार आंदोलन करती रहेगी।
    - अभिषेक कुमार, अध्यक्ष, नेफोवा






    Article view
    CommentQuote
  • Originally Posted by Pradyot1315sqf
    Hope NE will cross 5K bar in 2014. Happy investment. Happy New Year 2014.


    Ameen:)
    CommentQuote
  • Originally Posted by ANKITRATHI01
    Hi Guys,

    I am looking for an investement in Noida extension. Is there any project under 3000 per sqft (all inclusive)? If not than which one is launched recently with low rates compare to other builders.

    I have seen some projects like Shri Radha Sky Gardens, Eco village, Savious park avenue 14 etc but prices are very high.

    Any best option than please suggest.




    Sent from my Lenovo A706_ROW using Tapatalk
    CommentQuote