पतवाड़ी के किसानों का लिखित समझौता
जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा किसानों के साथ समझौते की दिशा में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बृहस्पतिवार को बड़ी सफलता हासिल हुई। पतवाड़ी गांव के किसानों के साथ प्राधिकरण का समझौता हो गया। इससे बिल्डरों व निवेशकों को बहुत बड़ी राहत मिली है। समझौता भी किसानों के लिए फायदेमंद रहा। उन्हें अब 550 रुपये प्रति वर्गमीटर अतिरिक्त मुआवजा देने पर सहमति बन गई है। साथ ही आबादी व बैकलीज की शर्तो को हटा लिया गया है। हालांकि नोएडा के सेक्टर-62 में गुरुवार को देर रात तक अन्य मुद्दों पर प्राधिकरण व किसानों के बीच बातचीत जारी थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 19 जुलाई को पतवाड़ी गांव की 589 हेक्टयेर जमीन का अधिग्रहण रद कर दिया था। अधिग्रहण रद होने से सात बिल्डरों के प्रोजेक्ट प्रभावित हुई हुए थे। 26 हजार निवेशकों के फ्लैट का सपना भी टूट गया था। प्राधिकरण के ढाई हजार भूखंड़ों, चार सौ निर्मित मकानों व दो इंजीनियरिंग कॉलेज की योजना भी अधर में लटक गई थी। 26 जुलाई को हाईकोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों की सुनवाई के दौरान प्राधिकरण, बिल्डर व किसानों को 12 अगस्त तक आपस में समझौते करने का सुझाव दिया था। हाईकोर्ट के सुझाव पर प्राधिकरण ने किसानों से समझौते के लिए वार्ता की पहल शुरू की। 27 जुलाई को प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन ने सबसे पहले पतवाड़ी गांव के प्रधान को पत्र भेज कर वार्ता करने के लिए आमंत्रित किया। दूसरे दिन ग्राम प्रधान रेशपाल यादव ने प्राधिकरण कार्यालय पहुंच कर सीईओ से बातचीत कर उनका रुख जानने का प्रयास किया था। 30 जुलाई को सीईओ ने गांव पतवाड़ी जाकर किसानों से सामूहिक रूप में बात की। इस दौरान मुआवजा वृद्धि को छोड़कर किसानों के साथ अन्य मांगों पर प्राधिकरण ने सकारात्मक रुख दिखाया। मुआवजा बढ़ोतरी पर बातचीत करने के लिए किसानों को आपस में कमेटी गठित कर वार्ता का प्रस्ताव सीईओ दे आए थे। इसके बाद किसानों के साथ गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-62 में बैठक बुलाई गई। इसमें प्राधिकरण के सीईओ रमा रमन, ग्रामीण अभियंत्रण मंत्री जयवीर ठाकुर, सांसद सुरेंद्र सिंह नागर व जिलाधिकारी के साथ किसानों की वार्ता शुरू हुई। आठ घंटे तक वार्ता चलने के बाद किसान समझौते के लिए तैयार हो गए। सूत्रों के अनुसार पतवाड़ी गांव के किसानों को मिले 850 रुपये प्रति वर्गमीटर के अलावा 550 रुपये प्रति वर्गमीटर और देने पर सहमति बन गई है। देर रात तक बैठक जारी थी। अभी इसकी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। हालांकि गांव के कुछ किसानों ने वार्ता की पुष्टि की है। इससे पूर्व किसानों की आबादी को पूरी तरह से अधिग्रहण मुक्त रखा जाएगा। बैकलीज की शर्ते हटा ली जाएगी। पतवाड़ी गांव का समझौता होने पर प्राधिकरण को नोएडा एक्सटेंशन के अन्य गांवों में किसानों के साथ समझौता करने की राह आसान हो गई है। नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने रोके खरीददार : नोएडा एक्सटेंशन विवाद ने समूचे ग्रेटर नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में संपत्तियों की खरीद-फरोख्त पर ब्रेक लगा दिया है। दोनों जगह ढूंढे से भी खरीददार नहीं मिल रहे हैं। कुछ समय पहले तक जो लोग शहर में अपना आशियाना बनाने के लिए आतुर थे, वे अब यहां संपत्ति खरीदने से हिचकिचा रहे हंै। पिछले बीस दिनों में भूखंड व मकानों की गिनी-चुनी रजिस्ट्री हुई हैं। सिर्फ गांवों में कृषि व आबादी भूमि की रजिस्ट्री हो रही है। इससे प्रदेश सरकार को राजस्व की भी हानि उठानी पड़ रही है
-Dainik Jagran.
Read more
Reply
16355 Replies
Sort by :Filter by :
  • update,.,..........
    Attachments:
    CommentQuote
  • जमीन अधिग्रहण के विरोध में पंचायत


    जमीन अधिग्रहण के विरोध में दुजाना गांव में रविवार को महापंचायत हुई। इसमें निर्णय लिया गया कि जिन किसानों की जमीन अधिग्रहण की गई है, उस पर खेती की जाएगी। रविवार को प्रतिरोध संघर्ष समिति के बैनर तले किसानों की महापंचायत हुई। समिति के संयोजक ऋषिराज ने कहा कि किसानों की जमीन को सस्ती दर पर खरीदी गई थी, उस पर अब किसान खेती करेंगे। किसानों के खेतों में जो खंभे लगाए जा रहे हैं, उन्हें उखाड़ा जाएगा। सरकार ने यदि अधिग्रहण की कार्रवाई बंद नहीं की तो 16 नवंबर को जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना दिया जाएगा। 25 नवंबर को दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदेश सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद की जाएगी और आने वाले चुनाव में मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।

    -D. Jagran
    CommentQuote
  • किसानों में आज से फिर बंटेगा मुआवजा


    ग्रेटर नोएडा: दो दिन के अवकाश के बाद प्राधिकरण सोमवार से किसानों को जमीन का फिर से मुआवजा बांटेगा। छह गांवों में मुआवजे की फाइल तैयार की जाएगी। रोजा याकूबपुर व मायचा गांव में जिन किसानों की फाइल तैयार हो चुकी हैं, उन्हें मुआवजे के चेक दिए जाएंगे। अन्य गांवों के किसानों के साथ इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले पर सहमति बनाने व आबादी की समस्या निस्तारित करने के लिए प्राधिकरण बैठक करेगा।

    एडीएम एलए हरनाम सिंह ने बताया कि रोजा याकूबपुर में 72 किसानों की फाइल जमा हो चुकी हैं। सोमवार की दोपहर तक उनके मुआवजे के चेक तैयार हो जाएंगे। मायचा गांव में भी दो दर्जन किसानों के चेक बनाए जाएंगे। किसानों द्वारा जमा की गई फाइलों की जांच का कार्य तेजी से किया जा रहा है। कोई व्यक्ति फर्जी तरीके से किसानों के मुआवजे को न उठा ले, इसके लिए पूरी सावधानी बरती जा रही है। पूर्व में उठाए गए मुआवजे की फाइल से भी नई फाइलों का मिलान किया जा रहा है। फोटो एक जैसे नहीं मिले तो मुआवजे के चेक रोक दिए जाएंगे। प्राधिकरण सोमवार को पाली, सादोपुर, खैरपुर गुर्जर, लुकसर, अजायबपुर व घरबरा गांव में शिविर लगाकर मुआवजे की फाइल तैयार कराएगा। भूमि व परियोजना विभाग के प्रबंधकों के साथ गांव का लेखपाल (पटवारी) व एडीएम एलए आफिस के बाबू व अमीन भी मौजूद रहेंगे। चिपियाना खुर्द, तुस्याना, साकीपुर, डाढ़ा, मथुरापुर व बिरौंड़ा गांव में जो किसान शनिवार को लगाए गए शिविर में फाइल नहीं बनवाए पाए थे, उनकी फाइल भी सोमवार को तैयार की जाएगी। एडीएम ने किसानों से अपील की कि वे फाइल तैयार कराने से पहले सीसी फार्म, खसरा-खतौनी की प्रति, बैंक से सत्यापित हस्ताक्षर, दो फोटो, एक निवास प्रमाणपत्र व एक आइडी का साक्ष्य बनाकर तैयार रखें। इससे मुआवजे की फाइल तैयार करने में कम समय लगेगा।

    -D. jagran
    CommentQuote
  • चार गांवों की याचिकाओं पर अगले सप्ताह सुनवाई की उम्मीद


    ग्रेटर नोएडा : क्यामपुर गांव में रविवार को किसानों की पंचायत हुई। इसमें किसानों ने बताया कि हाईकोर्ट में उनकी याचिका पर अगले सप्ताह सुनवाई होने की संभावना है। कोर्ट ने 38 गांवों के संदर्भ में फैसला सुनाया था, लेकिन रामपुर फतेहपुर, सिरसा व घंघोला गांव की याचिकाओं पर सुनवाई नहीं हो सकी थी। क्यामपुर के किसानों ने भी बाद में याचिका दायर की थी।

    एडवोकेट संतराम भाटी ने बताया कि चारों गांवों की याचिकाओं पर अगले सप्ताह सुनवाई की उम्मीद है। डाढ़ा गांव के किसानों का कहना है कि प्राधिकरण ने मुआवजा उठाने के लिए गांव में जो फार्म बांटे हैं, उनमें कई शर्त सही नहीं हैं। दस प्रतिशत जमीन के चार प्रतिशत हिस्से का प्राधिकरण पैसा देना चाहता है। वह कितना होगा, इसका खुलासा नहीं किया गया है।

    -D. Jagran
    CommentQuote
  • Latest Noida News, Breaking News Noida, News Headlines -Noida- Amar Ujala

    बिल्डरों ने जमा किए ३०० करो


    Story Update : Saturday, November 12, 2011 2:05 AM
    ग्रेटर नोएडा। एक तरफ प्राधिकरण पैसों का इंतजाम कर रहा है तो दूसरी तरफ किसानों को मुआवजा के चेक बांटे जा रहे हैं। शुक्रवार को बिल्डरों ने प्राधिकरण के खाते में करीब ३०० करोड़ रुपये जमा कर दिए। दूसरी तरफ प्राधिकरण ने शुक्रवार को मायचा गांव में कैंप लगाकर १५ किसानों को २५० करोड़ रुपये चेक वितरित किए। मालूम हो कि प्राधिकरण ने नोएडा एक्सटेंशन के बिल्डरों से कहा था कि वह कुल आवंटन राशि का पांच फीसदी एकमुश्त जमा कर दें ताकि किसानों को मुआवजा बांटा जा सके। दो दिन पहले बिल्डरों की तरफ से १०० करोड़ रुपये आ गए थे। बृहस्पतिवार को आखिरी तिथि थी। प्राधिकरण के खाते में ३०० करोड़ जमा हो गए हैं। यही पैसे बिसरख, रोजा याकूबपुर, इटैड़ा, हैबतपुर, ऐमनाबाद आदि एक्सटेंशन के गांवों के किसानों को बांटे जाएंगे।
    प्राधिकरण ने चार दिन पहले मायचा के गांव में भी दौरा करके किसानों के कागजात जमा किए थे। शुक्रवार को प्राधिकरण की तरफ से मुआवजा वितरण का काम शुरू कर दिया गया है। प्राधिकरण कोशिश कर रहा है कि किसानों को आबादी, प्लाट और मुआवजा का वितरण कर दिया जाए ताकि विकास कार्य आगे बढ़ाए जा सकें।
    CommentQuote
  • Long way for nod to Greater Noida Plan


    NOIDA: The Uttar Pradesh cell of the NCR Planning Board may have passed the Greater Noida Master Plan, however officials fear that the future of Noida Extension and Yamuna Expressway may get trapped in a cross-fire between the state government and the Centre. In 2009, the Yamuna Expressway Master Plan was sent to the NCRPB in Delhi, but it is still waiting for the nod.

    Speaking to TOI, former commissioner of the NCR Planning Cell Promilla Shankar said, "Just approving the Master Plan by the UP planning cell does not mean that the roadblock for construction in the area has been cleared. In 2009, the Yamuna Expressway Master Plan was sent to the NCRPB by the UP planning cell with an expected population of seven lakh. With the delay in passing the Plan, within two years the Cell is set to send a revised plan to the Board with an expected population of 35 lakh."

    Shankar said that the situation given in the Yamuna Expressway Master Plan is unrealistic and it will not be easy to get a nod from the Board. "Greater Noida was established in 1991 and even after two decades the population is not more than 1.5 lakh. It seems unrealistic that the population of Yamuna Expressway would be 35 lakh in the next 20 years as it is much further from Delhi compared to Greater Noida," Shankar added.

    Sources in Greater Noida Authority have a similar tale to tell, "The NCR Planning Board falls under the Centre while the Planning Cell is under the state government. Getting approval from the Cell was easy, however we are keeping our fingers crossed that in the next weeks the Board passes the Plan. UP polls are around the corner and chief minister Mayawati has been cracking down heavily on Rahul Gandhi. Amidst such political cross-fire, it seems tough to get the nod," sources said.

    The NCR Planning Board member secretary Naini Jayaseelan recently stated that no deviation from the regional plan would be permitted. If there were any violations, they would not be allowed in any form. "So far, the NCR Planning Board has not received the sub-regional plan from UP. After getting that, the Board will examine it to see if it is in accordance with the NCR Regional Plan 2021. In case of anomalies, the state government can be asked to make certain changes," said sources in NCR Planning Board.

    -TOI
    CommentQuote
  • नोएडा एक्सटेंशन में टेंशन फुर्र


    ग्रेटर नोएडा
    नोएडा एक्सटेंशन में रौनक लौटने लगी है। बिल्डरों के दफ्तरों पर बुकिंग के लिए स्टाफ की ड्यूटी लगने लगी है। इलाके से गुजरने वाले लोगों को प्रचार की पर्ची भी बांटी जा रही है।

    इलाहाबाद हाई कोर्ट ने नोएडा एक्सटेंशन में कंस्ट्रक्शन शुरू करने से पहले ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी को मास्टर प्लान -2021 को एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से अप्रूव कराने के आदेश दिए हैं। अथॉरिटी के मास्टर प्लान -2031 को 11 नवंबर को बोर्ड के यूपी रीजन से मंजूरी मिल गई। बिल्डरों को उम्मीद है कि अथॉरिटी के मास्टर प्लान को जल्द ही एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से भी अप्रूवल मिल जाएगा। अथॉरिटी के अफसरों के मुताबिक इसमें एक - डेढ़ महीने लगेगा।

    इस बीच छह महीने के ब्याज के मुद्दे पर बिल्डरों और मौजूदा निवेशकों में तकरार बढ़ने लगी है। यह कहते हुए कि पिछले छह महीने से कोई काम नहीं हुआ है , नोएडा एक्सटेंशन फ्लैट ऑनर मेंबर असोसिएशन ने पर ब्याज न देने फैसला लिया है। मामले का हल निकालने के लिए सोमवार को बिल्डरों की संस्था क्रेडाई के साथ असोसिएशन की मीटिंग होगी। मीटिंग में फ्लोर एरिया रेश्यो और शाहबेरी के शिफ्टेड निवेशकों से जुड़ी नाइंसाफी का भी मुद्दा उठेगा।

    बढ़ गए दाम
    नोएडा एक्सटेंशन में अब फ्लैट खरीदने के लिए जेब ज्यादा ढीली करनी पड़ेगी।

    10 महीने पहले रेट

    1800 से 2000 रुपये प्रति वर्ग फीट

    बिल्डरों का दावा था

    200 रुपये अधिकतम रेट में बढ़ोतरी होगी

    अब हो गए रेट

    2400 से 2600 रुपये प्रति वर्गमीटर होगा

    -NB times
    CommentQuote
  • महंगा हुआ घर का सपना


    ग्रेटर नोएडा

    अब नोएडा एक्सटेंशन में फ्लैट बुक कराने वालों को ज्यादा जेब ढीली करनी पड़ेगी। 10 महीने पहले जिस फ्लैट की बुकिंग 1800 से 2000 रुपये/वर्ग फीट के हिसाब से हुई थी, अब उसकी कीमत 2400 से 2600 रुपये प्रति वर्गमीटर है। आम्रपाली ग्रुप के मार्केटिंग इग्जेक्यूटिव मनीष कुमार ने बताया कि अभी रफ रेट आया है। इसके मुताबिक रेट में 400 से 500 रुपये तक की ही वृद्धि हुई है। दो-चार दिनों में फाइनल रेट आ जाएगा। बिल्डरों ने दावा किया था कि रेट में अधिकतम 200 रुपये की वृद्धि की जाएगी, लेकिन नया रेट इसका दोगुना है।

    ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के मास्टरप्लान-2031 को यूपी रीजन के एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से अप्रूवल मिलने के बाद नोएडा एक्सटेंशन में फिर से रौनक लौटने लगी है। बिल्डरों के साइट ऑफिसों पर बुकिंग के लिए स्टाफ की ड्यूटी लगने लगी है। बिल्डरों ने इन्वेस्टर्स से संपर्क साधना भी शुरू कर दिया है। प्रोजेक्ट के प्रचार-प्रसार के लिए एक्सटेंशन से गुजरने वालों को प्रोजेक्ट से संबंधित ब्रोशर भी दिए जा रहे हैं। गौड़ संस चौराहे पर यह नजारा आम हो गया है। बिल्डरों को उम्मीद है कि अब जल्द ही एनसीआर प्लानिंग बोर्ड दिल्ली से भी मास्टरप्लान को मंजूरी मिल जाएगी।


    नोएडा एक्सटेंशन के गांव शाहबेरी का जमीन अधिग्रहण निरस्त होने के बाद बिल्डर और निवेशक दोनो टेंशन में आ गए थे। बिल्डरों के साइट ऑफिस पर सन्नाटा पसरा रहता था। फ्लैटों की बुकिंग भी थम सी गई थी। हाई कोर्ट के फैसले से बिल्डरों को राहत तो मिली लेकिन काम शुरू नहीं हो पाया। लेकिन अब अथॉरिटी के मास्टरप्लान-2031 से बिल्डरों के साथ-साथ निवेशकों के चेहरे पर भी खुशी लौट आई है। ग्रेनो अथॉरिटी ने नोएडा एक्सटेंशन में करीब 50 बिल्डरों को प्लॉट अलॉट किए हैं।


    -NB times
    CommentQuote
  • ब्याज पर बिल्डरों-निवेशकों में तकरार


    ग्रेटर नोएडा

    नोएडा एक्सटेंशन की टेंशन खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। अब किस्त पर ब्याज को लेकर बिल्डरों और इन्वेस्टर्स में तकरार शुरू हो गया है। निवेशकों की संस्था नोएडा एक्सटेंशन फ्लैट ओनर मेंबर असोसिएशन (नेफोमा ) ने पिछले 6 महीनों का ब्याज न देने का फैसला किया है। मामले का हल निकालने के लिए सोमवार को बिल्डरों की संस्था क्रेडाई के साथ असोसिएशन की मीटिंग होगी। मीटिंग में एफएआर और शाहबेरी के शिफ्टेड निवेशकों का मुद्दा भी उठाया जाएगा। इन्वेस्टर्स का कहना है कि प्रोजेक्ट पर पिछले 6 महीने से कोई काम नहीं हुआ है, इसलिए वह किसी भी कीमत पर इस अवधि के लिए बिल्डरों को ब्याज नहीं देंगे। हालांकि वह किस्त देने को तैयार हैं।


    आज की मीटिंग में होगी चर्चा

    नोएडा एक्सटेंशन फ्लैट ऑनर मेंबर असोसिएशन के प्रेजिडेंट अभिषेक कुमार ने बताया कि बिल्डर निवेशकों से ब्याज की मांग कर रहे हैं। जो निवेशक इसका विरोध कर रहे हैं, उन्हें फ्लैट की बुकिंग कैंसल करने की चेतावनी दी जा रही है। हालांकि ब्याज की डिमांड करने वाले ज्यादातर छोटे बिल्डर हैं। उन्होंने बताया कि असोसिएशन ने अपने सदस्यों को किसी भी कीमत पर ब्याज नहीं देने को कहा है। इस मामले में सोमवार को क्रेडाई के साथ असोसिएशन के पदाधिकारियों की मीटिंग होगी। मीटिंग नोएडा स्थित आम्रपाली ग्रुप के ऑफिस में होगी। इसमंे असोसिएशन की ओर से प्रेजिडेंट और जनरल सेक्रेटरी के अलावा कुछ खरीदार भी शामिल होंगे। वहीं क्रेडाई की ओर से क्रेडाई एनसीआर के वाइस प्रेजिडेंट व आम्रपाली ग्रुप के चेयरमैन अनिल शर्मा के साथ एक-दो अन्य सदस्य होंगे। असोसिएशन की योजना क्रेडाई के माध्यम से सभी बिल्डरों को यह निर्देश दिलाने का है कि कोई भी बिल्डर निवेशकों से 6 महीने का ब्याज न मांगे।


    शिफ्टेड निवेशकों का भी मुद्दा उठेगा

    मीटिंग में फ्लोर एरिया रेश्यो ( एफएआर ) और शाहबेरी के शिफ्टेड निवेशकों का भी मुद्दा उठेगा। नेफोमा के प्रेजिडेंट ने बताया कि शाहेबरी में फ्लैट की बुकिंग कराने वाले कई निवेशक यह शिकायत कर रहे हैं कि उनसे अधिक पैसे लिए जा रहे हैं। इसके अलावा कुछ लोगों की शिकायत है कि उन्हें उस फ्लोर पर फ्लैट नहीं दिया जा रहा है , जिस पर उन्होंने बुकिंग कराई थी। इस मामले को भी मीटिंग में उठाया जाएगा। इसके अलावा एफएआर को लेकर निवेशकों की मांग है कि जो नक्शा देखकर उन्होंने फ्लैट की बुकिंग कराई थी , उसमें किसी प्रकार का बदलाव नहीं होना चाहिए।


    एक डेढ़ महीने तक बंद रहेगा काम !

    मामला कोर्ट में विचाराधीन होने के कारण नोएडा एक्सटेंशन में बिल्डरों का काम 6 महीने से बंद है। अब भी प्रोजेक्ट पर काम शुरू नहीं हुआ है। हाई कोर्ट ने अपने आदेश में यह कहा है कि जब तक ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के मास्टरप्लान 2021 को एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से अप्रूवल नहीं मिलता , सभी प्रोजेक्ट पर यथा स्थिति बनी रहेगी। अथॉरिटी अफसरों के मुताबिक मास्टरप्लान को एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से मंजूरी मिलने में कम से कम एक से डेढ़ महीने का समय लगेगा।


    -NB times
    CommentQuote
  • एक्सप्रेस-वे का काम हुआ शुरू


    ग्रेटर नोएडा

    एक्सप्रेस वे का काम फिर से शुरू हो गया है। फिलहाल यह एक्सप्रेस-वे नोएडा एक्सटंेशन एरिया के पर्थला खंजपुर से शुरू होकर सिरसा गांव के पास एसके रोड तक बनाया जा रहा है। इसके बाद इसे यमुना एक्सप्रेस-वे अथॉरिटी एरिया में सेक्टर-18 और 20 होते हुए जेवर तक बनाए जाने की योजना है। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने नोएडा पर्थला खंजरपुर गांव के पास हिन्डन नदी से नोएडा एक्सटंेशन होते हुए शहर के बीचों बीच से निकाला जा रहा है। एक्सप्रेस-वे 130 मीटर चौड़ा और 28 किलोमीटर लंबा होगा।

    ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी इसे दिल्ली के बीआरटी कॉरीडोर की तरह बना रही है। 8 लेन वाले एक्सप्रेस-वे पर अलग-अलग वाहनों के लिए लेन चिह्नित की गई है। इसके अलावा एक्सप्रेस-वे पर एक से डेढ़ किलोमीटर दूरी पर खूबसूरत गोलचक्कर बनाए जा रहे हैं। कई गोलचक्करांे पर महापुरुषों की मूर्तियां लगाई जा रही हैं। एक्सप्रेस-वे को प्रदूषण से मुक्त रखने के लिए डिवाइडर पर भी पेड़ लगाए जा रहे हैं। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के चेयरमैन एवं सीईओ रमा रमण का कहना है कि 130 मीटर एक्सप्रेस-वे का काम अथॉरिटी की आर्थिक तंगी के कारण बंद हो गया था। अब एसके रोड से डेंसांे कंपनी के पास से लेकर साकीपुर जीटा सेक्टर तक एक्सप्रेस-वे का निर्माण फिर से शुरू हो गया है।

    अथॉरिटी इंजीनियरिंग विभाग के सिनियर मैनेजर डी. आर. सिंह का कहना है कि एक्सप्रेस-वे का एरिया करीब साढे़ 3 किलोमीटर है जिस पर काम शुरू हो गया है। उन्होंने बताया कि नोएडा एक्सटेंशन पर्थला खंजरपुर से लेकर सिरसा तक एक्सप्रेस-वे की लागत सवा सौ करोड़ के आसपास आएगी। उन्होंने बताया कि करीब 23 किलोमीटर एक्सप्रेस-वे बनकर तैयार हो गया है। करीब 5 किलोमीटर का काम अभी बाकी है।


    -NB times
    CommentQuote
  • Originally Posted by silly_boy20
    मामला कोर्ट में विचाराधीन होने के कारण नोएडा एक्सटेंशन में बिल्डरों का काम 6 महीने से बंद है। अब भी प्रोजेक्ट पर काम शुरू नहीं हुआ है। हाई कोर्ट ने अपने आदेश में यह कहा है कि जब तक ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के मास्टरप्लान 2021 को एनसीआर प्लानिंग बोर्ड से अप्रूवल नहीं मिलता , सभी प्रोजेक्ट पर यथा स्थिति बनी रहेगी

    the devil is always in details ;)



    Even when there was no trouble on horizon for NEx, there was less sales,discounts were at there maximum and most importantly no resale, why would sales start picking up at little bit higher rate.
    Did somebody thought about that. !!!!!:bab (38):
    CommentQuote
  • Originally Posted by vatsalbajpai
    Even when there was no trouble on horizon for NEx, there was less sales,discounts were at there maximum and most importantly no resale, why would sales start picking up at little bit higher rate.
    Did somebody thought about that. !!!!!:bab (38):


    i also think new sales will take time to start. But since rates in 7x and N Exp has touched 4000 level, N Extn is still 1000-1500 less priced.
    So this will fuel sales once approval of NCR board comes..
    Thanks..
    CommentQuote
  • Thanx fritolay bhai for the update.
    i just want to know which is this expressway. does this connect to ghaziabad from greater noida? if so, at what location does it connect in ghaziabad. will this expressway be beneficial for crossing residents?
    Amit

    Originally Posted by fritolay_ps
    एक्सप्रेस-वे का काम हुआ शुरू


    ग्रेटर नोएडा

    एक्सप्रेस वे का काम फिर से शुरू हो गया है। फिलहाल यह एक्सप्रेस-वे नोएडा एक्सटंेशन एरिया के पर्थला खंजपुर से शुरू होकर सिरसा गांव के पास एसके रोड तक बनाया जा रहा है। इसके बाद इसे यमुना एक्सप्रेस-वे अथॉरिटी एरिया में सेक्टर-18 और 20 होते हुए जेवर तक बनाए जाने की योजना है। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने नोएडा पर्थला खंजरपुर गांव के पास हिन्डन नदी से नोएडा एक्सटंेशन होते हुए शहर के बीचों बीच से निकाला जा रहा है। एक्सप्रेस-वे 130 मीटर चौड़ा और 28 किलोमीटर लंबा होगा।

    ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी इसे दिल्ली के बीआरटी कॉरीडोर की तरह बना रही है। 8 लेन वाले एक्सप्रेस-वे पर अलग-अलग वाहनों के लिए लेन चिह्नित की गई है। इसके अलावा एक्सप्रेस-वे पर एक से डेढ़ किलोमीटर दूरी पर खूबसूरत गोलचक्कर बनाए जा रहे हैं। कई गोलचक्करांे पर महापुरुषों की मूर्तियां लगाई जा रही हैं। एक्सप्रेस-वे को प्रदूषण से मुक्त रखने के लिए डिवाइडर पर भी पेड़ लगाए जा रहे हैं। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के चेयरमैन एवं सीईओ रमा रमण का कहना है कि 130 मीटर एक्सप्रेस-वे का काम अथॉरिटी की आर्थिक तंगी के कारण बंद हो गया था। अब एसके रोड से डेंसांे कंपनी के पास से लेकर साकीपुर जीटा सेक्टर तक एक्सप्रेस-वे का निर्माण फिर से शुरू हो गया है।

    अथॉरिटी इंजीनियरिंग विभाग के सिनियर मैनेजर डी. आर. सिंह का कहना है कि एक्सप्रेस-वे का एरिया करीब साढे़ 3 किलोमीटर है जिस पर काम शुरू हो गया है। उन्होंने बताया कि नोएडा एक्सटेंशन पर्थला खंजरपुर से लेकर सिरसा तक एक्सप्रेस-वे की लागत सवा सौ करोड़ के आसपास आएगी। उन्होंने बताया कि करीब 23 किलोमीटर एक्सप्रेस-वे बनकर तैयार हो गया है। करीब 5 किलोमीटर का काम अभी बाकी है।


    -NB times
    CommentQuote
  • Yes.. this is 130sqm wide road coming from Sector 71 to NE flyover and moving towards G.Noida....

    Another proposed 4 line road (60-70% complete) is coming from NH-24 to NE via Gaurs City.

    Authority also planned 2 line service road from CR (via Skytech Merion/Exotica Easter court) via Shahberi villege..to NE. Not sure if this is still under process after Shahberi mess.. temp road is there but not fully constructed road
    CommentQuote
  • Originally Posted by fritolay_ps
    Yes.. this is 130sqm wide road coming from Sector 71 to NE flyover and moving towards G.Noida....

    Another proposed 4 line road (60-70% complete) is coming from NH-24 to NE via Gaurs City.

    Authority also planned 2 line service road from CR (via Skytech Merion/Exotica Easter court) via Shahberi villege..to NE. Not sure if this is still under process after Shahberi mess.. temp road is there but not fully constructed road


    Fritolay bhai,

    This 130 m is going to be huge. Current Noida greater noida expressway is 120 m... so it is even wider than that. Do you think the properties lying along it will qppreciate. More specifically will ansals golf link 2 will appreciate... as the rates are still low there... about rs. 14000-16000/sq yd and it is bang on this expressway.
    thanks
    CommentQuote