जमीन मालिकों की याचिका पर सुनवाई करते हुए पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने हूडा को उन्हें अतिरिक्त मुआवजा देने का फैसला किया है। इससे सेक्टर-51 व 52 के प्लॉट अलॉटियों की जेब पर बोझ बढ़ने वाला है वहीं जमीन मालिक मालामाल होंगे।

अब यह अतिरिक्त मुआवजा राशि हूडा की ओर से अलॉटियों को वसूली जाएगी। सूत्रों के अनुसार हूडा की ओर से एक सप्ताह के अंदर अलॉटियों को नोटिस जारी किए जाएंगे। उन्हें बढ़ी राशि को एक साथ या किश्तों में डिपार्टमेंट को जमा करवाने के लिए एक महीने का समय दिया जाएगा। सेक्टर-51 के जनरल कैटिगिरी के अलॉटी पर 3,330.80 रुपये प्रति वर्ग गज, ईडब्ल्यूएस कैटिगिरी के अलॉटी पर 498.03 रुपये प्रति वर्ग गज जबकि सेक्टर-52 के जनरल कैटिगिरी के अलॉटी पर 2,395.39 रुपये प्रति वर्ग गज, ईडब्ल्यूएस कैटिगिरी के अलॉटी पर 358.16 रुपये प्रति वर्ग गज का अतिरिक्त भार पड़ेगा। बताया जा रहा है कि इन दोनों सेक्टरों में 1,500 से अधिक प्लॉट हैं।


सेक्टर 51 : हूडा ने इस सेक्टर के लिए जमीन का अधिग्रहण वर्ष 2000 में किया था। यह सेक्टर 170.93 एकड़ में बसा हुआ है। यहां 50.80 एकड़ में रेजिडेंशल प्लॉट व 7.11 एकड़ में ग्रुप हाउसिंग सोसायटी के लिए जमीन दी गई थी। सेक्टर में 46 एकड़ एरिया में ग्रीन बेल्ट और 3.91 एकड़ में शॉपिंग सेंटर है। हूडा ने जिन जमीन मालिकों की जमीन का अधिग्रहण इस सेक्टर को बसाने के लिए किया गया था, उनमें से अधिकतर ने हाई कोर्ट की शरण ली। यहां याचिका दायर की गई कि हूडा की ओर से मुआवजा राशि कम दी गई है। अब हाई कोर्ट की ओर से हूडा को निर्देश जारी किए गए हैं कि जमीन मालिकों को 717 रुपये प्रति वर्ग गज से हिसाब से अतिरिक्त मुआवजा दिया जाए। हूडा की ओर से सेक्टर-51 के जनरल कैटिगिरी के अलॉटी को यह जमीन 3,344 रुपये प्रति वर्गगज व ईडब्ल्यूएस कैटिगरी को 500 रुपये प्रति वर्ग गज के हिसाब से बेची है। हाई कोर्ट के आदेश के बाद हूडा ने बढ़ी मुआवजा राशि को इन अलॉटियों पर डाल दिया है।


सेक्टर 52 : हूडा ने वर्ष 2000 में सेक्टर के लिए जमीन अधिग्रहण किया था। सेक्टर 200.89 एकड़ एरिया में विकसित है। 81.08 एकड़ में रेजिडेंशल प्लॉट व 29.90 एकड़ में ग्रुप हाउसिंग सोसायटी हैं। इस सेक्टर में 70 एकड़ एरिया में ग्रीन बेल्ट और 12.80 एकड़ में शॉपिंग सेंटर है। हूडा ने सेक्टर को लॉन्च करने के दौरान जरनल कैटेगिरी के लिए 3,344 रुपये व ईडब्ल्यूएस कैटेगिरी के लिए 500 रुपये प्रति वर्ग गज की राशि निर्धारित की थी।


क्या कहते हैं हूडा के अधिकारी

हूडा के एक अधिकारी ने बताया कि चीफ ऐडमिनिस्ट्रेटर की ओर से अतिरिक्त मुआवजा राशि वसूलने के दिशा - निर्देश मिल चुके हैं। एक सप्ताह के अंदर अलॉटियों को नोटिस जारी किए जाएंगे। अलॉटी एक महीने के अंदर सारी राशि व किश्तों में इस राशि को जमा कर सकता है। किश्तों पर राशि जमा कराने पर उनसे ब्याज वसूला जाएगा।

_navbharat times
Read more
Reply
88 Replies
Sort by :Filter by :
No replies found.