A lot of companies are advertising for property citing nearness to Dwarka expressway corridor.

Shilas, Indiabulls Centrum Park and Ramprastha Edge Tower come to mind.

Does anybody have news on when this construction will start and when it is likely to finish? Has the contract been awarded and to whom?
Date of completion and start of operation will be vital news for evaluating the pricing of flats sold in this corridor.

Last I heard was that a few houses in Palam Vihar were slated for demolition for this expressway in May June 09 or thereabouts.
Read more
Reply
19760 Replies
Sort by :Filter by :
  • ==Which road is in news, can anyone tell==


    सेक्टर 99 से 115 के बीच बनेगी सड़क

    गुड़गांव। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (हुडा) ने सेक्टर 99 से 115 तक सड़क बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। साढे़ आठ करोड़ की लागत से बनने वाली यह सड़क 60 मीटर चौड़ी होगी। खास बात है कि चार माह के भीतर ही सड़क निर्माण पूरा कर लिया जाएगा।
    हुडा मंडल संख्या पांच के कार्यकारी अभियंता वीरेंद्र श्योकंद ने बताया कि सेक्टर 99 से 115 मानेसर शहरी कांप्लेक्स 2025 के बीच बनने वाली इस सड़क के निर्माण पर आठ करोड़ 56 लाख का अनुमानित खर्च आएगा। सड़क निर्माण के लिए मिट्टी बिछाने, निर्माण सामग्री की आपूर्ति, सब ग्रेड का निर्माण और अन्य कार्यों के लिए टेंडर भी जारी कर दिया गया है। 11 मार्च को साउथ सिटी वन के एम ब्लाक स्थित हुडा मंडल संख्या पांच के कार्यालय में सुबह दस बजे टेंडर खोले जाएंगे। टैंडर जारी होने के बाद चार माह के भीतर ही काम पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। सड़क निर्माण को तय समय पर पूरा कराया जाएगा। ऐसा न करने पर कंस्ट्रक्शन कंपनी को नोटिस जारी किया जाएगा। समय से लेट होने पर कंपनी पर 10 प्रतिशत तक का जुर्माना लगाया जाएगा। इसके बाद भी काम पूरा न करने पर कंपनी से काम छीन लिया जाएगा।
    सेक्टर-51 में बिछेगी सीवेज पाइप लाइन
    सेक्टर-51 में सीवेज पाइप लाइन बिछाने का काम सहित मैनहोल का निर्माण भी शुरू होगा। इसके लिए पांच लाख रुपये का अनुमानित खर्च तय किया गया है। वहीं, सेक्टर-44 में पार्क के चाराें तरफ फुटपाथ बनाने पर चार लाख 98 हजार रुपये खर्च होंगे। विरेंद्र श्योकंद ने बताया कि यहां अलग-अलग विकास कार्यों पर करीब 65 लाख रुपये खर्च होंगे।
    CommentQuote
  • One more breaking news, can this be one more road block remover??
    -------------------------------------------------------------------------------
    दिल्ली को और करीब करेंगे नए रास्ते









    0













    Feb 24, 2013, 08.00AM IST दीपक आहूजा॥ गुड़गांव
    दिल्ली-गुड़गांव का सफर और सुहाना होगा। इसके तहत हरियाणा अर्बन डिवेलपमेंट अथॉरिटी (हूडा) ने एक रोड लिंक बनाने का काम शुरू कर दिया है, जबकि 2 लिंक रोड के लिए फिजिबिलिटी सर्वे कराया जा चुका है, जिससे मिनिस्ट्री ऑफ अर्बन डिवेलपमेंट (गवर्नमेंट ऑफ इंडिया) के अर्बन ट्रांसपोर्ट डिविजन को अवगत करा दिया गया है। अब उनके ग्रीन सिग्नल का इंतजार है। संभावना है कि इन लिंक रोड का निर्माण भी अगले साल तक शुरू कर दिया जाएगा।
    नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड: 18 किलोमीटर लंबी नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड का निर्माण चल रहा है। यह रोड नैशनल हाइवे-8 पर गांव खेड़कीदौला से शुरू हुई है, जो दिल्ली के द्वारका को जोड़ेगी। इस रोड के जरिये द्वारका पहुंचना आसान हो जाएगा। मौजूदा समय में 4-4 लेन चौड़ी रोड बनाई जा रही है। इस रोड के निर्माण पर करीब 500 करोड़ रुपये खर्च आएगा। मौजूदा वक्त में 48 करोड़ रुपये की लागत से 14 किमी लंबी सड़क का निर्माण किया जा रहा है।
    किसे होगा फायदा : दिल्ली से जयपुर जाने वाले वाहन चालक द्वारका से सीधे खेड़कीदौला निकल जाएंगे। इससे शहर को जाम से राहत मिलेगी।
    मंडेला मार्ग टी पॉइंट : एमजी रोड को नाथूपुर गांव के निकट वसंतकुंज फ्लाईओवर के पास नेलसन मंडेला मार्ग टी पॉइंट से जोड़ा जाएगा। यह प्रस्तावित सड़क 90 मीटर चौड़ी होगी। नाथूपुर गांव के पास से यह रोड अरावली पर्वत श्रृंखला से निकाली जाएगी। इसके रास्ते में फार्महाउस, एग्रीकल्चर एरिया और दिल्ली का घिटोरनी क्षेत्र पड़ेगा। अभी गुड़गांव-दिल्ली अप डाउन करने के लिए एमजी रोड या एनएच-8 का चयन करना पड़ता है। नए रूट की लंबाई प्रस्तावित रोड से करीब आधी होगी।
    किसे होगा फायदा-न्यू गुड़गांव से दिल्ली जाने वाला ट्रैफिक इस पर शिफ्ट होगा। इससे एनएच 8 का लोड कम होगा। एमजी रोड से दिल्ली जाने वाले लोग भी इसका इस्तेमाल कर सकेंगे।



    पालम विहार रोड: पालम विहार रोड से नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड को जोड़ा जाएगा, जो आगे जाकर दिल्ली के द्वारका से मिल जाएगा। इस रोड की चौड़ाई करीब 150 मीटर होगी। दिल्ली में इसकी चौड़ाई 80 मीटर होगी।
    किसे होगा फायदा-ओल्ड गुड़गांव के लोगों को इसकाफायदा होगा। इस रोड से होते हुए वाहन चालक द्वारका निकल जाएंगे।
    फिलहाल कैसे पहुंच सकते हंै दिल्ली
    1- कापसहेड़ा बॉर्डर : उद्योग विहार , सेक्टर 21, 22, 23 और सेक्टर -18 से दिल्ली आने जाने वाले लोग इसका इस्तेमाल करते हैं।
    2- सरहौल बॉर्डर ( एनएच 8): जयपुर से आकर दिल्ली जाने वाले इसका इस्तेमाल करते हैं। न्यू व ओल्ड गुड़गांव के लोग इस रास्ते दिल्ली पहुंचते हैं।
    3- महरौली रोड : गुड़गांव से महरौली जाने वाले लोग इस रास्ते का इस्तेमाल करते हैं। न्यू गुड़गांव के लोग आमतौर से इस रास्ते का इस्तेमाल कतरते हैं।
    4- ग्वाल पहाड़ी रोड : ग्वाल पहाड़ी से मंडी रोड वैली व्यू होते हुए भी दिल्ली पहुंचा जा सकता है।
    दिल्ली से कनेक्टिविटी और बेहतर करने के लिए गुड़गांव - दिल्ली के बीच और लिंक रोड तैयार करने की प्लानिंग की जा रही है। इसी प्लानिंग के तहत नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड का निर्माण किया जा रहा है।
    - पंकज कुमरा , चीफ इंजीनियर, हूडा
    पालम विहार रोड: पालम विहार रोड से नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड को जोड़ा जाएगा, जो आगे जाकर दिल्ली के द्वारका से मिल जाएगा। इस रोड की चौड़ाई करीब 150 मीटर होगी। दिल्ली में इसकी चौड़ाई 80 मीटर होगी।
    किसे होगा फायदा-ओल्ड गुड़गांव के लोगों को इसकाफायदा होगा। इस रोड से होते हुए वाहन चालक द्वारका निकल जाएंगे।
    फिलहाल कैसे पहुंच सकते हंै दिल्ली
    1- कापसहेड़ा बॉर्डर : उद्योग विहार , सेक्टर 21, 22, 23 और सेक्टर -18 से दिल्ली आने जाने वाले लोग इसका इस्तेमाल करते हैं।
    2- सरहौल बॉर्डर ( एनएच 8): जयपुर से आकर दिल्ली जाने वाले इसका इस्तेमाल करते हैं। न्यू व ओल्ड गुड़गांव के लोग इस रास्ते दिल्ली पहुंचते हैं।
    3- महरौली रोड : गुड़गांव से महरौली जाने वाले लोग इस रास्ते का इस्तेमाल करते हैं। न्यू गुड़गांव के लोग आमतौर से इस रास्ते का इस्तेमाल कतरते हैं।
    4- ग्वाल पहाड़ी रोड : ग्वाल पहाड़ी से मंडी रोड वैली व्यू होते हुए भी दिल्ली पहुंचा जा सकता है।
    दिल्ली से कनेक्टिविटी और बेहतर करने के लिए गुड़गांव - दिल्ली के बीच और लिंक रोड तैयार करने की प्लानिंग की जा रही है। इसी प्लानिंग के तहत नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड का निर्माण किया जा रहा है।
    - पंकज कुमरा , चीफ इंजीनियर, हूडा
    पालम विहार रोड: पालम विहार रोड से नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड को जोड़ा जाएगा, जो आगे जाकर दिल्ली के द्वारका से मिल जाएगा। इस रोड की चौड़ाई करीब 150 मीटर होगी। दिल्ली में इसकी चौड़ाई 80 मीटर होगी।
    किसे होगा फायदा-ओल्ड गुड़गांव के लोगों को इसकाफायदा होगा। इस रोड से होते हुए वाहन चालक द्वारका निकल जाएंगे।
    फिलहाल कैसे पहुंच सकते हंै दिल्ली
    1- कापसहेड़ा बॉर्डर : उद्योग विहार , सेक्टर 21, 22, 23 और सेक्टर -18 से दिल्ली आने जाने वाले लोग इसका इस्तेमाल करते हैं।
    2- सरहौल बॉर्डर ( एनएच 8): जयपुर से आकर दिल्ली जाने वाले इसका इस्तेमाल करते हैं। न्यू व ओल्ड गुड़गांव के लोग इस रास्ते दिल्ली पहुंचते हैं।
    3- महरौली रोड : गुड़गांव से महरौली जाने वाले लोग इस रास्ते का इस्तेमाल करते हैं। न्यू गुड़गांव के लोग आमतौर से इस रास्ते का इस्तेमाल कतरते हैं।
    4- ग्वाल पहाड़ी रोड : ग्वाल पहाड़ी से मंडी रोड वैली व्यू होते हुए भी दिल्ली पहुंचा जा सकता है।
    दिल्ली से कनेक्टिविटी और बेहतर करने के लिए गुड़गांव - दिल्ली के बीच और लिंक रोड तैयार करने की प्लानिंग की जा रही है। इसी प्लानिंग के तहत नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड का निर्माण किया जा रहा है।
    - पंकज कुमरा , चीफ इंजीनियर, हूडा
    पालम विहार रोड: पालम विहार रोड से नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड को जोड़ा जाएगा, जो आगे जाकर दिल्ली के द्वारका से मिल जाएगा। इस रोड की चौड़ाई करीब 150 मीटर होगी। दिल्ली में इसकी चौड़ाई 80 मीटर होगी।
    किसे होगा फायदा-ओल्ड गुड़गांव के लोगों को इसकाफायदा होगा। इस रोड से होते हुए वाहन चालक द्वारका निकल जाएंगे।
    फिलहाल कैसे पहुंच सकते हंै दिल्ली
    1- कापसहेड़ा बॉर्डर : उद्योग विहार , सेक्टर 21, 22, 23 और सेक्टर -18 से दिल्ली आने जाने वाले लोग इसका इस्तेमाल करते हैं।
    2- सरहौल बॉर्डर ( एनएच 8): जयपुर से आकर दिल्ली जाने वाले इसका इस्तेमाल करते हैं। न्यू व ओल्ड गुड़गांव के लोग इस रास्ते दिल्ली पहुंचते हैं।
    3- महरौली रोड : गुड़गांव से महरौली जाने वाले लोग इस रास्ते का इस्तेमाल करते हैं। न्यू गुड़गांव के लोग आमतौर से इस रास्ते का इस्तेमाल कतरते हैं।
    4- ग्वाल पहाड़ी रोड : ग्वाल पहाड़ी से मंडी रोड वैली व्यू होते हुए भी दिल्ली पहुंचा जा सकता है।
    दिल्ली से कनेक्टिविटी और बेहतर करने के लिए गुड़गांव - दिल्ली के बीच और लिंक रोड तैयार करने की प्लानिंग की जा रही है। इसी प्लानिंग के तहत नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड का निर्माण किया जा रहा है।
    - पंकज कुमरा , चीफ इंजीनियर, हूडा
    पालम विहार रोड: पालम विहार रोड से नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड को जोड़ा जाएगा, जो आगे जाकर दिल्ली के द्वारका से मिल जाएगा। इस रोड की चौड़ाई करीब 150 मीटर होगी। दिल्ली में इसकी चौड़ाई 80 मीटर होगी।
    किसे होगा फायदा-ओल्ड गुड़गांव के लोगों को इसकाफायदा होगा। इस रोड से होते हुए वाहन चालक द्वारका निकल जाएंगे।
    फिलहाल कैसे पहुंच सकते हंै दिल्ली
    1- कापसहेड़ा बॉर्डर : उद्योग विहार , सेक्टर 21, 22, 23 और सेक्टर -18 से दिल्ली आने जाने वाले लोग इसका इस्तेमाल करते हैं।
    2- सरहौल बॉर्डर ( एनएच 8): जयपुर से आकर दिल्ली जाने वाले इसका इस्तेमाल करते हैं। न्यू व ओल्ड गुड़गांव के लोग इस रास्ते दिल्ली पहुंचते हैं।
    3- महरौली रोड : गुड़गांव से महरौली जाने वाले लोग इस रास्ते का इस्तेमाल करते हैं। न्यू गुड़गांव के लोग आमतौर से इस रास्ते का इस्तेमाल कतरते हैं।
    4- ग्वाल पहाड़ी रोड : ग्वाल पहाड़ी से मंडी रोड वैली व्यू होते हुए भी दिल्ली पहुंचा जा सकता है।
    दिल्ली से कनेक्टिविटी और बेहतर करने के लिए गुड़गांव - दिल्ली के बीच और लिंक रोड तैयार करने की प्लानिंग की जा रही है। इसी प्लानिंग के तहत नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड का निर्माण किया जा रहा है।
    - पंकज कुमरा , चीफ इंजीनियर, हूडा
    पालम विहार रोड: पालम विहार रोड से नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड को जोड़ा जाएगा, जो आगे जाकर दिल्ली के द्वारका से मिल जाएगा। इस रोड की चौड़ाई करीब 150 मीटर होगी। दिल्ली में इसकी चौड़ाई 80 मीटर होगी।
    किसे होगा फायदा-ओल्ड गुड़गांव के लोगों को इसकाफायदा होगा। इस रोड से होते हुए वाहन चालक द्वारका निकल जाएंगे।
    फिलहाल कैसे पहुंच सकते हंै दिल्ली
    1- कापसहेड़ा बॉर्डर : उद्योग विहार , सेक्टर 21, 22, 23 और सेक्टर -18 से दिल्ली आने जाने वाले लोग इसका इस्तेमाल करते हैं।
    2- सरहौल बॉर्डर ( एनएच 8): जयपुर से आकर दिल्ली जाने वाले इसका इस्तेमाल करते हैं। न्यू व ओल्ड गुड़गांव के लोग इस रास्ते दिल्ली पहुंचते हैं।
    3- महरौली रोड : गुड़गांव से महरौली जाने वाले लोग इस रास्ते का इस्तेमाल करते हैं। न्यू गुड़गांव के लोग आमतौर से इस रास्ते का इस्तेमाल कतरते हैं।
    4- ग्वाल पहाड़ी रोड : ग्वाल पहाड़ी से मंडी रोड वैली व्यू होते हुए भी दिल्ली पहुंचा जा सकता है।
    दिल्ली से कनेक्टिविटी और बेहतर करने के लिए गुड़गांव - दिल्ली के बीच और लिंक रोड तैयार करने की प्लानिंग की जा रही है। इसी प्लानिंग के तहत नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड का निर्माण किया जा रहा है।
    - पंकज कुमरा , चीफ इंजीनियर, हूडा
    पालम विहार रोड: पालम विहार रोड से नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड को जोड़ा जाएगा, जो आगे जाकर दिल्ली के द्वारका से मिल जाएगा। इस रोड की चौड़ाई करीब 150 मीटर होगी। दिल्ली में इसकी चौड़ाई 80 मीटर होगी।
    किसे होगा फायदा-ओल्ड गुड़गांव के लोगों को इसकाफायदा होगा। इस रोड से होते हुए वाहन चालक द्वारका निकल जाएंगे।
    फिलहाल कैसे पहुंच सकते हंै दिल्ली
    1- कापसहेड़ा बॉर्डर : उद्योग विहार , सेक्टर 21, 22, 23 और सेक्टर -18 से दिल्ली आने जाने वाले लोग इसका इस्तेमाल करते हैं।
    2- सरहौल बॉर्डर ( एनएच 8): जयपुर से आकर दिल्ली जाने वाले इसका इस्तेमाल करते हैं। न्यू व ओल्ड गुड़गांव के लोग इस रास्ते दिल्ली पहुंचते हैं।
    3- महरौली रोड : गुड़गांव से महरौली जाने वाले लोग इस रास्ते का इस्तेमाल करते हैं। न्यू गुड़गांव के लोग आमतौर से इस रास्ते का इस्तेमाल कतरते हैं।
    4- ग्वाल पहाड़ी रोड : ग्वाल पहाड़ी से मंडी रोड वैली व्यू होते हुए भी दिल्ली पहुंचा जा सकता है।
    दिल्ली से कनेक्टिविटी और बेहतर करने के लिए गुड़गांव - दिल्ली के बीच और लिंक रोड तैयार करने की प्लानिंग की जा रही है। इसी प्लानिंग के तहत नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड का निर्माण किया जा रहा है।
    - पंकज कुमरा , चीफ इंजीनियर, हूडा
    पालम विहार रोड: पालम विहार रोड से नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड को जोड़ा जाएगा, जो आगे जाकर दिल्ली के द्वारका से मिल जाएगा। इस रोड की चौड़ाई करीब 150 मीटर होगी। दिल्ली में इसकी चौड़ाई 80 मीटर होगी।
    किसे होगा फायदा-ओल्ड गुड़गांव के लोगों को इसकाफायदा होगा। इस रोड से होते हुए वाहन चालक द्वारका निकल जाएंगे।
    फिलहाल कैसे पहुंच सकते हंै दिल्ली
    1- कापसहेड़ा बॉर्डर : उद्योग विहार , सेक्टर 21, 22, 23 और सेक्टर -18 से दिल्ली आने जाने वाले लोग इसका इस्तेमाल करते हैं।
    2- सरहौल बॉर्डर ( एनएच 8): जयपुर से आकर दिल्ली जाने वाले इसका इस्तेमाल करते हैं। न्यू व ओल्ड गुड़गांव के लोग इस रास्ते दिल्ली पहुंचते हैं।
    3- महरौली रोड : गुड़गांव से महरौली जाने वाले लोग इस रास्ते का इस्तेमाल करते हैं। न्यू गुड़गांव के लोग आमतौर से इस रास्ते का इस्तेमाल कतरते हैं।
    4- ग्वाल पहाड़ी रोड : ग्वाल पहाड़ी से मंडी रोड वैली व्यू होते हुए भी दिल्ली पहुंचा जा सकता है।
    दिल्ली से कनेक्टिविटी और बेहतर करने के लिए गुड़गांव - दिल्ली के बीच और लिंक रोड तैयार करने की प्लानिंग की जा रही है। इसी प्लानिंग के तहत नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड का निर्माण किया जा रहा है।
    - पंकज कुमरा , चीफ इंजीनियर, हूडा
    पालम विहार रोड: पालम विहार रोड से नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड को जोड़ा जाएगा, जो आगे जाकर दिल्ली के द्वारका से मिल जाएगा। इस रोड की चौड़ाई करीब 150 मीटर होगी। दिल्ली में इसकी चौड़ाई 80 मीटर होगी।
    किसे होगा फायदा-ओल्ड गुड़गांव के लोगों को इसकाफायदा होगा। इस रोड से होते हुए वाहन चालक द्वारका निकल जाएंगे।
    फिलहाल कैसे पहुंच सकते हंै दिल्ली
    1- कापसहेड़ा बॉर्डर : उद्योग विहार , सेक्टर 21, 22, 23 और सेक्टर -18 से दिल्ली आने जाने वाले लोग इसका इस्तेमाल करते हैं।
    2- सरहौल बॉर्डर ( एनएच 8): जयपुर से आकर दिल्ली जाने वाले इसका इस्तेमाल करते हैं। न्यू व ओल्ड गुड़गांव के लोग इस रास्ते दिल्ली पहुंचते हैं।
    3- महरौली रोड : गुड़गांव से महरौली जाने वाले लोग इस रास्ते का इस्तेमाल करते हैं। न्यू गुड़गांव के लोग आमतौर से इस रास्ते का इस्तेमाल कतरते हैं।
    4- ग्वाल पहाड़ी रोड : ग्वाल पहाड़ी से मंडी रोड वैली व्यू होते हुए भी दिल्ली पहुंचा जा सकता है।
    दिल्ली से कनेक्टिविटी और बेहतर करने के लिए गुड़गांव - दिल्ली के बीच और लिंक रोड तैयार करने की प्लानिंग की जा रही है। इसी प्लानिंग के तहत नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड का निर्माण किया जा रहा है।
    - पंकज कुमरा , चीफ इंजीनियर, हूडा
    पालम विहार रोड: पालम विहार रोड से नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड को जोड़ा जाएगा, जो आगे जाकर दिल्ली के द्वारका से मिल जाएगा। इस रोड की चौड़ाई करीब 150 मीटर होगी। दिल्ली में इसकी चौड़ाई 80 मीटर होगी।
    किसे होगा फायदा-ओल्ड गुड़गांव के लोगों को इसकाफायदा होगा। इस रोड से होते हुए वाहन चालक द्वारका निकल जाएंगे।
    फिलहाल कैसे पहुंच सकते हंै दिल्ली
    1- कापसहेड़ा बॉर्डर : उद्योग विहार , सेक्टर 21, 22, 23 और सेक्टर -18 से दिल्ली आने जाने वाले लोग इसका इस्तेमाल करते हैं।
    2- सरहौल बॉर्डर ( एनएच 8): जयपुर से आकर दिल्ली जाने वाले इसका इस्तेमाल करते हैं। न्यू व ओल्ड गुड़गांव के लोग इस रास्ते दिल्ली पहुंचते हैं।
    3- महरौली रोड : गुड़गांव से महरौली जाने वाले लोग इस रास्ते का इस्तेमाल करते हैं। न्यू गुड़गांव के लोग आमतौर से इस रास्ते का इस्तेमाल कतरते हैं।
    4- ग्वाल पहाड़ी रोड : ग्वाल पहाड़ी से मंडी रोड वैली व्यू होते हुए भी दिल्ली पहुंचा जा सकता है।
    दिल्ली से कनेक्टिविटी और बेहतर करने के लिए गुड़गांव - दिल्ली के बीच और लिंक रोड तैयार करने की प्लानिंग की जा रही है। इसी प्लानिंग के तहत नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड का निर्माण किया जा रहा है।
    - पंकज कुमरा , चीफ इंजीनियर, हूडा
    CommentQuote
  • Originally Posted by eyeopener
    ==Which road is in news, can anyone tell==


    सेक्टर 99 से 115 के बीच बनेगी सड़क

    गुड़गांव। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (हुडा) ने सेक्टर 99 से 115 तक सड़क बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। साढे़ आठ करोड़ की लागत से बनने वाली यह सड़क 60 मीटर चौड़ी होगी। खास बात है कि चार माह के भीतर ही सड़क निर्माण पूरा कर लिया जाएगा।
    हुडा मंडल संख्या पांच के कार्यकारी अभियंता वीरेंद्र श्योकंद ने बताया कि सेक्टर 99 से 115 मानेसर शहरी कांप्लेक्स 2025 के बीच बनने वाली इस सड़क के निर्माण पर आठ करोड़ 56 लाख का अनुमानित खर्च आएगा। सड़क निर्माण के लिए मिट्टी बिछाने, निर्माण सामग्री की आपूर्ति, सब ग्रेड का निर्माण और अन्य कार्यों के लिए टेंडर भी जारी कर दिया गया है। 11 मार्च को साउथ सिटी वन के एम ब्लाक स्थित हुडा मंडल संख्या पांच के कार्यालय में सुबह दस बजे टेंडर खोले जाएंगे। टैंडर जारी होने के बाद चार माह के भीतर ही काम पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। सड़क निर्माण को तय समय पर पूरा कराया जाएगा। ऐसा न करने पर कंस्ट्रक्शन कंपनी को नोटिस जारी किया जाएगा। समय से लेट होने पर कंपनी पर 10 प्रतिशत तक का जुर्माना लगाया जाएगा। इसके बाद भी काम पूरा न करने पर कंपनी से काम छीन लिया जाएगा।
    सेक्टर-51 में बिछेगी सीवेज पाइप लाइन
    सेक्टर-51 में सीवेज पाइप लाइन बिछाने का काम सहित मैनहोल का निर्माण भी शुरू होगा। इसके लिए पांच लाख रुपये का अनुमानित खर्च तय किया गया है। वहीं, सेक्टर-44 में पार्क के चाराें तरफ फुटपाथ बनाने पर चार लाख 98 हजार रुपये खर्च होंगे। विरेंद्र श्योकंद ने बताया कि यहां अलग-अलग विकास कार्यों पर करीब 65 लाख रुपये खर्च होंगे।


    I guess it's the road behind all thr nothern sectors like 102, 103, 106 etc. meeting Najafgarh road in Delhi, this is good news for projects in these sectors. The only conflict is the width of the road, which I thought was much more than 60m
    CommentQuote
  • I have huge respect for some of the contributors above and have been vocal about them , however on some aspects would like to present a differing view.

    Some of the angst that we have developed by constantly being let down , at times results into a sense of all pervasive cynicism and there is no worse society than an all pervasive cynical society where every constituent doubts the other.

    It starts from politics, goes to beuracracy, then encompasses the security apparatus ( military/ police ) and off late judiciary & media are increasingly coming under this cloud .

    I would urge to bring out problems within these institutions , but not paint the entire institution with the same brush. Let us not focus only on finding problems , instead work towards creating a solution.

    There are outstanding elements within Judiciary, Media and Defence who have done yeoman service to the nation and are at the forefront of some landmark changes . There have been miniscule set of aam aadmi from the civil society who need to be role models, but unfortunately we are so much in the comfort zone that vast majority of people do not follow them , neither participate in any of the activities which can lead to the change. How many of us have opted for judiciary, police, military, politics, media as a career option and want our children to opt for these careers ( with mainstream english media as an exception ).

    We need convenient scapegoats for justifying our failure to contribute towards creating a society that we would want our children to live in. These scapegoats by their brazenness also give enough ammunition for people standing by to crticize them and justifiably so.There are cancerous elements in all the parts of the society be it politics, judiciary, security, media and it is these lumpen elements that we must expose and not defame the entire institution.


    Be the change you want to see in others and there is no other alternative . Keep on blaming the system till the lumpen elements take over the society and the only option is to run away from the problem to another country / society .

    Coming back to DEW, while everyone of us know that there have been severe delay in rolling out the promised infrastructure projects, but i have seen significant improvements also , with active participation of the citizens of gurgaon helped by the judiciary. several projects have been implemented and there is no denying the fact. One can and should hope for better and better things and fight for the same .

    Despite all the negatives in the past, it does appear DEW will come, though i am not sure when. Also people should be highly cautious while investing at atrocious prices of some of the new launches which have no correlation to the present status of the infra on ground.
    CommentQuote
  • A pindrop sielence from past few hours ?
    CommentQuote
  • Anybody visited the NPV area to confirm the news shard by GdHOdy on the forum ?
    CommentQuote
  • just heard from one of my senior (in real estate) colleague that there is a fresh Stay order few NPV residents had sought over weekend. As of now I will classify it as a unconfirmed news (you may call it rumour as well), until some boarder having sniff of ground reality confirms it.
    CommentQuote
  • Originally Posted by sellerno007
    just heard from one of my senior (in real estate) colleague that there is a fresh Stay order few NPV residents had sought over weekend. As of now I will classify it as a unconfirmed news (you may call it rumour as well), until some boarder having sniff of ground reality confirms it.


    If this is true, looks like that NPR is scheduled for another round of litigation & unprecedented delays .

    ...........& if no solution is found in the coming months, we could see mass panic selling here .
    CommentQuote
  • And the silence is broken!!

    Itna Sannata kyun hai Bhai!!!
    CommentQuote
  • nothing negative is going to happen & everything will be clear by 1st week of march & it would be positive for sure, 75 mts road along sector 103 towards 108 is progressing very well, went today, also sector road from 103 bisecting dhanwapur rd going towards npr is going well, work was full on, this should benefit projects in 103 such as spire, centrum, rahejas 108 projects, dilli wahan se durr nahi lagti
    CommentQuote
  • Inshah Allah!!!
    CommentQuote
  • Originally Posted by laksh2013
    nothing negative is going to happen & everything will be clear by 1st week of march & it would be positive for sure, 75 mts road along sector 103 towards 108 is progressing very well, went today, also sector road from 103 bisecting dhanwapur rd going towards npr is going well, work was full on, this should benefit projects in 103 such as spire, centrum, rahejas 108 projects, dilli wahan se durr nahi lagti




    Lets hope for the best & be prepared for the worst .
    CommentQuote
  • Originally Posted by MANOJa
    If this is true, looks like that NPR is scheduled for another round of litigation & unprecedented delays .

    ...........& if no solution is found in the coming months, we could see mass panic selling here .


    Let the panic selling come, and then there would be masses protesting and coming out on street and demanding answers from Huda lobby.
    CommentQuote
  • worst is over, let's look ahead & hope all who have invested in this region- investors, end users & also NPV residents benefits manifolds.......badhti ka naam zindagi
    CommentQuote
  • Originally Posted by lalitg
    Let the panic selling come, and then there would be masses protesting and coming out on street and demanding answers from Huda lobby.



    Governments come & go . Builders have already sold most of their stocks & have made handsome profits .

    ..........the worst sufferers would be the end users .


    I hope things don't come to that & don't reach a flash point .
    CommentQuote