नोएडा

शहर के कई सेक्टरों में छोटे कमर्शल प्लॉट की स्कीम का इंतजार 3 साल से हो रहा है। अथॉरिटी ने पिछले साल दीवाली से पहले ऐलान किया था कि छोटे कमर्शल प्लॉट की स्कीम जल्द आने वाली है लेकिन अब तक स्कीम को फाइनल टच नहीं दिया गया है। अब भी कमर्शल विभाग के अफसरों का कहना है कि जल्द ही इस पर फैसला होगा। इस स्कीम में लगभग 25 से 30 प्लॉट ऐसे हैं जो सेक्टरों के बीच मौजूद कमर्शल कांप्लेक्स के अंदर हैं। इसके अलावा लगभग 400 छोटी दुकानें भी बची हुई हैं। अधिकतर दुकानों की पेमेंट पूरी न होने के कारण अथॉरिटी ने लीज कैंसल कर इन्हें कब्जे में ले लिया था।

जब से नोएडा में प्राइवेट सेक्टर को रेजिडेंशल प्लॉट आवंटित करने शुरू किए हैं तब से अथॉरिटी ने छोटे प्लॉट की कोई स्कीम ही नहीं निकाली है। सेक्टर-46 निवासी ज्ञानेंद्र कुमार का कहना है कि मॉल व मल्टीप्लेक्स में दुकानें खरीदना सबके बस की बात नहीं है। अथॉरिटी पहले 10 से 200 मीटर तक के प्लॉट व कमर्शल कांप्लेक्स की दुकानें बेचती थी। इन दुकानों को तैयार होने के बाद ही आवंटित किया जाता था, तब लोगों को यह स्कीम सरल लगती थी। इससे जरूरतमंद दुकानें खरीदकर अपना कोई छोटा-मोटा कारोबार कर लेते थे। सेक्टर-44 निवासी महेश चौहान का कहना है कि अथॉरिटी को जल्द से जल्द छोटे प्लॉट की स्कीम लाकर लोगों को रोजगार का अवसर देना चाहिए। सूत्रों का कहना है कि पहले अथॉरिटी दीवाली पर 20 से 25 दुकानों की स्कीम लाने वाली थी। इसकी लिस्ट भी तैयार कर ली गई थी। अचानक फैसला बदल गया और फाइल दब गई। ये दुकानें सेक्टर-12, 15, 16, 39, 40, 50, 51, 63 व 110 में खाली पड़ी हंै। नोएडा अथॉरिटी के कमर्शल विभाग से जुड़े अफसरों ने संकेत दिया है कि जल्द ही यह स्कीम आने वाली

-Navbharat times
Read more
Reply
0 Replies
Sort by :Filter by :
No replies found for this discussion.