Announcement

Collapse
No announcement yet.

Impact of SP Govt on Noida Real Estate

Collapse
X
Collapse

Impact of SP Govt on Noida Real Estate

Last updated: April 18 2012
245 | Posts
  • Time
  • Show
Clear All
new posts

  • Re : Impact of SP Govt on Noida Real Estate

    नहीं रुकेंगे प्रोजेक्ट:- रियल्टी विशेषज्ञों का मानना है कि अखिलेश युवा और प्रगतिशील राजनीतिज्ञ हैं। शायद बदले की भावना से कुछ नहीं करेंगे और विकास से जुड़ी गतिविधियां नहीं रुकेंगी। नोएडा व आसपास फ्लैट के निर्माण चलते रहने की उम्मीद है।

    उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के नई सरकार बनाने से पहले रियल एस्टेट जगत ग्रेटर नोएडा और नोएडा में बन रहे नए रियल एस्टेट प्रोजेक्ट्स में किसी तरह की रुकावट नहीं आने की उम्मीद कर रहा है। रियल एस्टेट कंपनियों और विशेषज्ञों का मानना है कि अखिलेश यादव शिक्षित, युवा और प्रगतिशील राजनीतिज्ञ हैं और उम्मीद है कि बदले की भावना के साथ वे कुछ भी नहीं करेंगे और यहां विकास से जुड़ी गतिविधियां नहीं रुकेंगी।


    जोंस लेंग लासले इंडिया के सीईओ-ऑपरेशन्स संतोष कुमार ने बिजनेस भास्कर को बताया कि अखिलेश यादव का यूपी को लेकर विजन विकास से प्रेरित हैं और चूंकि वे युवा और शिक्षित हैं,उनका पूरा जोर विकासशील गतिविधियों को बढ़ाने पर रहेगा।


    वैसे भी आजकल किसी राज्य की सरकार कॉरपोरेट सेक्टर को हिलाने की पक्षधर नहीं है, ऐसे में ग्रेटर नोएडा और नोएडा में रियल एस्टेट प्रोजेक्ट्स पर असर पडऩे की संभावना नहीं दिखाई पड़ती। नोएडा एंटरप्रेन्योर्स एसोसिएशन के प्रेसिडेंट विपिन मल्हान का आकलन है कि नई सरकार बदले की भावना से राज्य में काम नहीं करेगी, इसलिए फिलहाल चल रहे प्रोजेक्ट्स पर कोई असर नहीं पडऩे की संभावना है।


    इस समय नोएडा में अंडरपास, रोड्स, सिटी सेंटर्स और फार्म हाउस से जुड़े हजारों करोड़ के प्रोजेक्ट्स पर काम चल रहा है। उम्मीद है कि इन सारे प्रोजेक्ट्स को समय रहते पूरा किया जा सकेगा। इसके अलावा मल्हान ने बताया कि आम्रपाली, सुपरटेक, डिवाइन इंडिया इत्यादि कंपनियों ने यहां रियल एस्टेट प्रोजेक्ट्स में काफी बड़ा निवेश हो चुका है जिनमें लाखों निवेशकों के हित के अलावा हजारों लोगों को रोजगार मिला हुआ है।


    आम्रपाली ग्रुप के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर शिव प्रिय ने बताया कि अखिलेशजी प्रगतिशील सोच वाले नेता हैं और उम्मीद है कि आगे भी विकास से जुड़ी गतिविधियों को जारी रखेंगे। वैसे भी हमारी कंपनी के सारे प्रोजेक्ट्स रजिस्टर्ड हैं और सब पर काम चल रहा है, इसलिए हमें किसी बाधा की आशंका नहीं लगती है।

    कंज्यूमर प्रोटेक्शन ड्राइव लांच
    नई दिल्ली बिल्डर्स के खिलाफ घरों के कब्जे मिलने में हो रही देरी, प्रतिबद्धताओं को पूरा न कर पाने, तय कीमत से ज्यादा रकम मांगने और बिके हुए क्षेत्रों में दुविधा जैसी शिकायतें आम हो गई हैं।


    इसी को ध्यान में रखते हुए रियल एस्टेट कंपनियों के संगठन कनफेडरेशन ऑफ रियल एस्टेट डेवलपर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (क्रेडाई) के सभी सदस्यों ने ग्राहकों के साथ इस तरह के मामलों पर पारदर्शिता बरतने के मद्देनजर आचार संहिता पर दस्तखत किए हैं और कंज्यूमर प्रोटेक्शन ड्राइव लांच किया है।


    इसके अलावा रियल एस्टेट डेवलपर प्रोजेक्ट की डिलीवरी में देरी पर ग्राहकों को मुआवजा भी देगा। क्रेडाई के प्रेसिडेंट पंकज बजाज के मुताबिक सेल्फ गवर्नेंस अपने आप में बहुत शक्तिशाली उपकरण हैं और ग्राहकों की सबसे बड़ी चिंता पारदर्शिता और जिम्मेदारी लेना है। क्रेडाई के साथ इस समय 8,000 से ज्यादा ग्राहक जुड़े हुए हैं। (ब्यूरो)

    - Bhasker news

    Comment


    • Re : Impact of SP Govt on Noida Real Estate

      सियासी फेरबदल से मुरझाए निवेशकों के चेहरे


      सिकंदराबाद (बुलंदशहर) : सूबे में चुनाव के बाद हुए बड़े सियासी फेरबदल से ककोड़ व रबुपुरा क्षेत्र में प्रापर्टी में करोड़ों रुपये का निवेश करने वाले निवेशकों के चेहरों पर उदासी छा गई है। सत्ता बदलने के बाद क्षेत्र में प्रस्तावित योजनाओं को ग्रहण लगने की आशंका मात्र से ही निवेशक काफी चिंतित नजर आ रहे हैं। ककोड़ व रबुपुरा क्षेत्र में बाहर के काफी तादाद में निवेशकों ने प्रापर्टी में मोटी धनराशि लगा रखी है।
      बता दें कि कुछ समय पूर्व ककोड़ व रबुपुरा के दर्जनों गांवों को यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण द्वारा अधिसूचित किए जाने पर दिल्ली, नोएडा व गाजियाबाद के बड़े निवेशकों ने क्षेत्र में तत्कालीन सरकार की कई बड़ी प्रस्तावित योजनाओं के चलते प्रापर्टी में करोड़ों रुपये का निवेश किया था। यमुना एक्सप्रेस वे के किनारे प्रस्तावित हाइटेक सिटी, जेवर का इंटरनेशनल एयरपोर्ट व गौतमबुद्धनगर की सीमा से सटे ककोड़ क्षेत्र के कई गांवों में भूमि का अधिग्रहण कर विभिन्न प्रस्तावित योजनाओं के चलते निवेशकों ने क्षेत्र में ऊंचे दामों पर जमीन खरीदी थी। प्राधिकरण की योजनाओं के चलते निवेशकों ने सिकंदराबाद-जेवर मार्ग पर बीस लाख रुपये से लेकर तीस लाख रुपये प्रति बीघा तक जमीनों की खरीद की थी। ककोड़ क्षेत्र के सिकंदराबाद-जेवर हाइवे के किनारे व आसपास के प्राधिकरण द्वारा अधिसूचित गांवों में स्थित जमीनों पर निवेशकों ने मोटा दांव खेला था। निवेशकों को उम्मीद थी कि इस क्षेत्र में प्रापर्टी खरीदने से उनको मोटा मुनाफा होगा। गत साल सात मई को गौतमबुद्धनगर के भट्टा गांव में किसानों व पुलिस पीएसी में हुए संघर्ष के बाद से ही क्षेत्र में यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण की प्रस्तावित योजनाओं को विराम लग गया था, मगर निवेशकों को प्रापर्टी में किए गए निवेश से काफी उम्मीद बंधी हुई थी। अब विधानसभा चुनाव के बाद सूबे में हुए बड़े सियासी फेरबदल के बाद से ही निवेशकों की चिंता बढ़ गई है। उनको आशंका है कि नई सरकार बनने पर क्षेत्र की प्रस्तावित योजनाओं में फेरबदल न हो जाए। अगर ऐसा हुआ तो निवेशकों को भारी नुकसान होना तय माना जा रहा है। आगे क्या होगा ये तो भविष्य के गर्त में ही छिपा हुआ है?

      Jagran news

      Comment


      • Re : Impact of SP Govt on Noida Real Estate

        update
        Attached Files

        Comment


        • Re : Impact of SP Govt on Noida Real Estate

          my 2 cents - time to be cautious agst developers who have exposure to Noida Extn...especially Supertech and Amrapali...

          I know in my circle Amrapali is paying interest @2.5% p.m (30% p.a)...These are all unsecured loans...i wonder how the developer is surviving at this cost and with this exposure...I just dont get this...I think its just a matter of time!!!

          If this logic of mine holds good then the following scenario will emerge -

          Developers 'NOT' having exposure in Noida Extn will do very well in Noida..e.g 3c, Logix, Purvanchal etc..Prices will further escalate on account of limited supply by above developers. Not more than 5-6 developers will give possession in the next 2 yrs which is (LB, LP, One Hamlet, LBC, Paras Tieriea, Amrapali Sapphire, a couple of projects in 137 like exotica, shubkamna, couple of projects in 78 like Mahagun etc) This supply will easily be absorbed by the jobs being created in 126/ 132/ 144/ 135 etc...

          Cheers!

          Comment


          • Re : Impact of SP Govt on Noida Real Estate

            also like to add i personally dont like the developers who have promoted this corruption in Noida extn...It was very clear from day 1 that these land parcels will be challenged in court as there were acquired with malafide intentions....Not even a single developer of REPUTE like ATS/ 3C/ Logix/ Unitech etc picked up land in this pocket... Lets see how the future of Noida Extn Shapes up..I think this definitely warrants a case study for people to understand what all to look for before investing their hard earned money into such risky assets!!

            Comment


            • Re : Impact of SP Govt on Noida Real Estate

              Prakash ji,

              corruption kya Noida ke projects me nahi hua?

              Comment


              • Re : Impact of SP Govt on Noida Real Estate

                Mahagun and Eros are present in NExt. These have bettter repuation that logix at least.

                But I agree to your points that builders with NE exposure should be avoided. But this includes Mahagun as well.

                Comment


                • Re : Impact of SP Govt on Noida Real Estate

                  Samajwadi Party to review status of projects undertaken by Mayawati government in Uttar Pradesh

                  Samajwadi Party to review status of projects undertaken by Mayawati government in Uttar Pradesh
                  AKASH VASHISHTHA NOIDA/ GHAZIABAD, MARCH 8, 2012 | UPDATED 07:56 IST

                  The two development zones in Uttar Pradesh west - Gautam Budh Nagar and Ghaziabad - may undergo a complete revamp, if the Samajwadi Party (SP) insiders are to be believed.

                  Though the new government is yet to be sworn in, key party functionaries said the two revenue earning districts, close to the national Capital, might witness a complete transformation.

                  The party's office-bearers have already got down to the job of reviewing the status of several projects undertaken by the Mayawati government.

                  Sources said the party high command was kept informed of the state of affairs in Gautam Budh Nagar and Ghaziabad over the last five years.

                  One of the sources said two giant developers with numerous projects in Gautam Budh Nagar and "who almost acted as personal firms of Mayawati and her family" would be the ones to be reined in first by the new government.

                  "Noida, Greater Noida and Yamuna Expressway areas became the hub of corruption during Mayawati's rule. They (the companies) looted the farmers. They sold off Noida land to builders, leaving very little for the farmers," Veer Singh Yadav, president of the SP in Noida and close to chief ministerial candidate Mulayam Singh Yadav, alleged.

                  "The interests of farmers will be of prime consideration now," he added.

                  The new government might also spell trouble for liquor baron and property developer Ponty Chadha in Noida. The group's business centre in Sector-32 might also face a review.

                  "We are looking at ways to see if that land can be returned to the farmers. Two sectors were combined and sold off to Wave City and the bids manipulated to help Chadha win. We kept protesting against it and Akhil ji and Mulayam ji are aware of it," Veer said.

                  "We intend to write to the party high command and demand the cancellation of the allotments. Fresh tenders should be invited and the allotments made in a fair and transparent manner so that the revenue goes directly to the government exchequer and not into some politician's account," he added.

                  He also said that a letter would be sent to the new chief minister demanding a "thorough and proper investigation" into all the scams that occurred in the district and seeking a probe against a number of Noida and Greater Noida authority officials.

                  "All culprits should be punished. We have the names of many such officials in the Noida authority and we will write to the CM and get them probed. There were several officials who also acted as BSP agents during the elections and distributed cash to garner votes for Mayawati. We have those names as well," an SP loyalist said.

                  Projects in the scam-hit Noida Extension would also be re-examined.

                  "This area was riddled with corruption during Mayawati's rule. In SP's tenure, no land will be forcefully acquired. If there happens to be an urgency, land will be taken at six times the market rate, as per our manifesto," Fakir Chand Nagar, the district party president, said.

                  The Yamuna Expressway area is also on the SP radar. The party has already assured farmers that land would not be snatched away from them as was done by the last government.

                  Comment


                  • Re : Impact of SP Govt on Noida Real Estate

                    [QUOTE=saurabh2011;355571]Samajwadi Party to review status of projects undertaken by Mayawati government in Uttar Pradesh
                    AKASH VASHISHTHA NOIDA/ GHAZIABAD, MARCH 8, 2012 | UPDATED 07:56 IST

                    The two development zones in Uttar Pradesh west - Gautam Budh Nagar and Ghaziabad - may undergo a complete revamp, if the Samajwadi Party (SP) insiders are to be believed.

                    Hi Saurabh,

                    Why Ghaziabad......

                    Gautam Budh Nagar has land acqisition issues, but AKAIK land in Ghaziabad is freehold and do not have any issue.

                    Any idea...

                    Comment


                    • Re : Impact of SP Govt on Noida Real Estate

                      Originally posted by ManGupta View Post
                      Samajwadi Party to review status of projects undertaken by Mayawati government in Uttar Pradesh
                      AKASH VASHISHTHA NOIDA/ GHAZIABAD, MARCH 8, 2012 | UPDATED 07:56 IST

                      The two development zones in Uttar Pradesh west - Gautam Budh Nagar and Ghaziabad - may undergo a complete revamp, if the Samajwadi Party (SP) insiders are to be believed.

                      Hi Saurabh,

                      Why Ghaziabad......

                      Gautam Budh Nagar has land acqisition issues, but AKAIK land in Ghaziabad is freehold and do not have any issue.

                      Any idea...
                      Ghaziabad is not totally freehold specially in Dasana, Wave City , Aditya NH-24.. Wave City is of Ponty and 100% fraud by BMW, already lots of application of Farmers in courts.....

                      In all upcoming areas of Ghaziabad, Crossing Republic & Raj Nagar Extension are FULLY FREE HOLD.

                      Comment

                      Have any questions or thoughts about this?
                      Working...
                      X